ठंडी बयार
Akhand Gyan - Hindi|February 2021
सर्दियों में भले ही आप थोड़े सुस्त हो गए हों, परन्तु हम आपके लिए रेपिड फायर (जल्दी-जल्दी पूछे जाने वाले) प्रश्न लेकर आए हैं। तो तैयार हो जाइए, निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए। उत्तर 'हाँ' या 'न' में दें।

1) क्या आपका सुबह देर तक बिस्तर छोड़ने का मन नहीं करता?

2) क्या आजकल आप गरिष्ठ भोजन का सेवन बड़े चाव से कर रहे हैं?

3) क्या एक ज़माना हो गया है, आपको सूर्य देवता की गोद में बैठे हुए?

4) क्या आप नहाने का कार्यक्रम अक्सर एक दिन छोड़ कर करने लगे हैं?

5) क्या आप सैर पर जाने से कतराने लगे हैं?

6) क्या इन दिनों व्यायाम का आपने तर्पण कर दिया है?

7) क्या आप हर समय हीटर के आसपास रहना पसंद करते हैं?

यदि इस प्रश्नावली के किसी एक भी प्रश्न का उत्तर 'हाँ' में है, तो आपके लिए यह लेख बहुत फायदेमंद होने वाला है।

विज्ञान और आयुर्वेद ने सर्दियों को सबसे स्वास्थ्यवर्धक मौसम कहा है। परन्तु फिर भी इन दिनों अधिकतर लोग नाक पर रुमाल रखे हुए, छींक मारते हुए, शरीर में कहीं दर्द से कराहते हुए, बुखार से पीड़ित क्यों दिखाई देते हैं? क्योंकि इस मौसम में हमसे कुछ ऐसी छोटी-छोटी लापरवाहियाँ हो जाती हैं, जो हमारे शरीर को हानि पहुँचाती हैं। हमारी इन असावधानियों के कारण ही बीमारियाँ हम पर धावा बोल देती हैं। जैसे कि-

समय-प्रातः पाँच बजे! ट्रिन...ट्रिन...ट्रिन... विपिन जी अपनी रजाई में सिकुड़े-सिमटे हुए लेटे हैं। बड़ी मुश्किल से उन्होंने रजाई से अपना हाथ बाहर निकाला और अलार्म घड़ी बंद की। फिर शुरु हो गया संघर्ष उनके मन और बुद्धि के बीच।

मन- भला इतनी ठंड में कौन सैर के लिए जाता है!

बुद्धि- पर डॉक्टर ने तो कहा है कि बिना सैर के मेरा मोटापा कम नहीं हो पाएगा।

मन- बाहर कोहरा बहुत होगा... कोहरे में तो नहीं जाना चाहिए।

बुद्धि- ऑफिस में पूरा दिन एक सीट पर बैठकर निकालना है। चल उठ जा। सैर न सही, लेकिन घर पर ही थोड़ा व्यायाम कर ले... ट्रैडमिल पर ही खड़ा हो जा!

मन- अच्छा, अभी बस पाँच मिनट में उठता हूँ...

होता है न, सर्दियों में आए दिन ऐसा ही द्वंद्व हमारे मन और बुद्धि के बीच भी! और अक्सर देखा जाता है कि हमारा मन हमारी बुद्धि पर हावी हो जाता है। हम रजाई में दुबक कर, अलार्म बंद करके फिर सो जाते हैं। ठण्ड लग जाने के भय से सैर को और आलस में व्यायाम को तिलांजलि दे देते हैं। पर विशेषज्ञों का कहना है कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए सैर व व्यायाम केवल गर्मियों में ही नहीं, सर्दियों में भी उतने ही आवश्यक हैं। इसलिए सर्दियों में-

1) आप गरम कपड़े अच्छी तरह पहनकर सैर पर जाएँ। लेकिन सुबह की ताज़ी हवा का लुत्फ ज़रूर लें और शरीर को तंदुरुस्त रखें।

2) यदि ज़्यादा ही ठंड है, धुंध/कोहरा हैतो घर में ही कुछ वार्म-अप (हल्के-फुल्के व्यायाम) कर लें।

3) लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें।

माँ- चलो चिंटू! नहाने चलो!

चिंटू- माँ, आज फिर... कल ही तो नहाया था। सर्दियों में रोज़ कौन नहाता है? आज मैं बस हाथ-मुँह धो लेता हूँ। पर उसके लिए पानी गर्म कर दो।

सच, सर्दियों में सबसे मुश्किल काम नहाना लगता है। यदि नहाते भी हैं, तो अत्यधिक गर्म पानी से! न नहाने के और अधिक गर्म पानी से नहाने के बहुत नुकसान हैं-

1) नहाने से हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली (Immunity System) ) मजबूत रहती है। इसलिए प्रतिदिन नहाएँ।

2) नहाने से हमारा तंत्रिका तंत्र सक्रिय होता है, जिससे बीटा-एंडोर्फिन और नोरएड्रीनलिन हॉर्मोन की मात्रा में वृद्धि होती है। इस कारण मानसिक अवसाद दूर होता है।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM AKHAND GYAN - HINDIView All

एका बना वैष्णव वीर!

आपने पिछले प्रकाशित अंक (मार्च 2020) में पढ़ा था, एका शयन कक्ष में अपने गुरुदेव जनार्दन स्वामी की चरण-सेवा कर रहा था। सद्गुरु स्वामी योगनिद्रा में प्रवेश कर समाधिस्थ हो गए थे। इतने में, सेवारत एका को उस कक्ष के भीतर अलौकिक दृश्य दिखाई देने लगे। श्री कृष्ण की द्वापरकालीन अद्भुत लीलाएँ उसे अनुभूति रूप में प्रत्यक्ष होती गईं। इन दिव्यानुभूतियों के प्रभाव से एका को आभास हुआ जैसे कि एक महामानव उसकी देह में प्रवेश कर गया हो। तभी एक दरोगा कक्ष के द्वार पर आया और हाँफते-हाँफते उसने सूचना दी कि 'शत्रु सेना ने देवगढ़ पर चढ़ाई कर दी है। अतः हमारी सेना मुख्य फाटक पर जनार्दन स्वामी के नेतृत्व की प्रतीक्षा में है।' एका ने सद्गुरु स्वामी की समाधिस्थ स्थिति में विघ्न डालना उचित नहीं समझा और स्वयं उनकी युद्ध की पोशाक धारण करके मुख्य फाटक पर पहुँच गया। अब आगे...

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
April 2021

'सुख' 'धन' से ज्यादा महंगा!

हेनरी फोर्ड हर पड़ाव पर सुख को तलाशते रहे। कभी अमीरी में, कभी गरीबी में, कभी भोजन में, कभी नींद में कभी मित्रता में! पर यह 'सुख' उनके जीवन से नदारद ही रहा।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
April 2021

कैसा होगा तृतीय विश्व युद्ध?

विश्व इतिहास के पन्नों में दो ऐसे युद्ध दर्ज किए जा चुके हैं, जिनके बारे में सोचकर आज भी मानवता काँप उठती है। पहला था, सन् 1914 में शुरु हुआ प्रथम विश्व युद्ध। कई मिलियन शवों पर खड़े होकर इस विश्व युद्ध ने पूरे संसार में भयंकर तबाही मचाई थी। चार वर्षों तक चले इस मौत के तांडव को आगामी सब युद्धों को खत्म कर देने वाला युद्ध माना गया था।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
April 2021

अपने संग चला लो, हे प्रभु!

जलतरंग- शताब्दियों पूर्व भारत में ही विकसित हुआ था यह वाद्य यंत्र। संगीत जगत का अनुपम यंत्र! विश्व के प्राचीनतम वाद्य यंत्रों में से एक। भारतीय शास्त्रीय संगीत में आज भी इसका विशेष स्थान है। इतने आधुनिक और परिष्कृत यंत्र बनने के बावजूद भी जब कभी जलतरंग से मधुर व अनूठे सुर या राग छेड़े जाते हैं, तो गज़ब का समाँ बँध जाता है। सुनने वालों के हृदय तरंगमय हो उठते हैं।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
April 2021

चित्रकला में भगवान नीले रंग के क्यों?

अपनी साधना को इतना प्रबल करें कि अत्यंत गहरे नील वर्ण के सहस्रार चक्र तक पहुँचकर ईश्वर को पूर्ण रूप से प्राप्त कर लें।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
April 2021

ठक! ठक! ठक! क्या ईश्वर है?

यदि तुम नास्तिकों के सामने ईश्वर प्रत्यक्ष भी हो जाए, तुम्हें दिखाई भी दे, सुनाई मी, तुम उसे महसूस भी कर सको, अन्य लोग उसके होने की गवाही भी दें, तो भी तुम उसे नहीं मानोगे। एक भ्रम, छलावा, धोखा कहकर नकार दोगे। फिर तुमने ईश्वर को मानने का कौन-सा पैमाना तय किया है?

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
March 2021

आइए, शपथ लें..!

एक शिष्य के जीवन में भी सबसे अधिक महत्त्व मात्र एक ही पहलू का हैवह हर साँस में गुरु की ओर उन्मुख हो। भूल से भी बागियों की ओर रुख करके गुरु से बेमुख न हो जाए। क्याकि गुरु से बेमुख होने का अर्थ है-शिष्यत्व का दागदार हो जाना! शिष्यत्व की हार हो जाना!

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
March 2021

अंतिम इच्छा

भारत की धरा को समय-समय पर महापुरुषों, ऋषि-मुनियों व सद्गुरुओं के पावन चरणों की रज मिली है। आइए, आज उन्हीं में से एक महान तपस्वी महर्षि दधीची के त्यागमय, भक्तिमय और कल्याणकारी चरित्र को जानें।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
March 2021

भगवान महावीर की मानव-निर्माण कला!

मूर्तिकार ही अनगढ़ पत्थर को तराशकर उसमें से प्रतिमा को प्रकट कर सकता है। ठीक ऐसे ही, हर मनुष्य में प्रकाश स्वरूप परमात्मा विद्यमान है। पर उसे प्रकट करने के लिए परम कलाकार की आवश्यकता होती है। हर युग में इस कला को पूर्णता दी है, तत्समय के सद्गुरुओं ने!

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
March 2021

ठंडी बयार

सर्दियों में भले ही आप थोड़े सुस्त हो गए हों, परन्तु हम आपके लिए रेपिड फायर (जल्दी-जल्दी पूछे जाने वाले) प्रश्न लेकर आए हैं। तो तैयार हो जाइए, निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर देने के लिए। उत्तर 'हाँ' या 'न' में दें।

1 min read
Akhand Gyan - Hindi
February 2021
RELATED STORIES

Ashton Robinson Cook - Meteorologist

Ashton Robinson Cook always knows when a tornado, hurricane, or winter storm is coming. It’s his job to know. As a meteorologist, he analyzes weather data to figure out where and when storms are likely to hit. Typical weather forecasting tools can look only up to a week ahead. But Cook has developed software called WeatherDeep that can make predictions up to two months in advance. Cook was the first African American man to earn a PhD in meteorology at the University of Oklahoma and also earned the 2017 American Association of State Climatologists (AASC) Dissertation Award for his research on tornadoes.

3 mins read
Muse Science Magazine for Kids
July/August 2021

The Final Summit

This year’s race to be the first-ever climbers to make a risky winter summit of K2 was ripe with ego and intrigue and ended in both triumph and tragedy.

10+ mins read
Men's Journal
July - August 2021

AGRI SHOPPER

Transform Your Patio Into a Comfy Summer Hotspot

3 mins read
Central Florida Ag News
May 2021

Torah Bright – Olympic Golden Girl OF Snowbarding

Torah Jane Bright OAM is an Australian professional snowboarder. She is Australia's most successful Winter Olympian, former Olympic gold and silver medalist, two time X Games gold medalist, three times US Open winner, two time Global Open Champion, three time World Super pipe Champion, former TTR World Champion and recipient of the Best Female Action Sports Athlete at the ESPY awards. In 2014 Bright became the first Olympic athlete (male or female) to qualify for all three snowboarding disciplines; half pipe, slope style and boardercross.

9 mins read
Women Fitness
May - June 2021

AGRISHOPPER

Fun Projects Can Help Youth Get Interested in Agriculture

3 mins read
Central Florida Ag News
March 2021

NO REGRETS

Gessler Clinic’s Dr. Alan Gasner Approaches 50 Years of Medical Practice

3 mins read
Central Florida Health News
April 2021

IN MEMORIAM - Leslie West

Ten months before Mountain’s Top 40 debut with the powerful “Mississippi Queen,” the band performed “For Yasgur’s Farm” and eight more songs at Woodstock. In our 2009 Woodstock 40th anniversary interview article, guitarist and vocalist Leslie West told Goldmine, “We were performing at the Fillmore West and Winterland in California, heard about what was going on back east, and knew we were going to it. We had to rent our own helicopter, because there was no way we were getting upstate in New York with the freeway closed. I almost fell out of the helicopter when I saw all those people. All of a sudden, in the middle of nowhere, you saw a city. It was something else. I was really nervous. When I did my guitar solo, it sounded pretty loud.

4 mins read
GOLDMINE
March 2021

Ben Harper

Why this multifaceted artist knew it was time to let his lap steel shine

10+ mins read
Guitar World
March 2021

TEAMING WITH TECHNOLOGY

BayCare to Implement Virtual Health Care Assistant in Hospital Rooms

4 mins read
Central Florida Health News
February 2021

Florida Roots

Longtime Citrus Advocate Bobby McKown Talks About His Career and the Future of Citrus

4 mins read
Central Florida Ag News
January 2021