अध्यापन और प्रशिक्षण के रहस्य
Rishimukh Hindi|September 2020
दुनिया शिक्षकों से भरी है। सृष्टि का हर पहलू हमें कुछ सिखा सकता है। हमें बस अच्छे छात्र बनना है।

शिक्षक हर जगह हैं

दुनियाँ शिक्षकों से भरी है। सृष्टि का हर पहलू हमें कुछ सिखा सकता है। हमें बस अच्छे छात्र बनना है। सभी लोग एक शिक्षक हैं। जैसे हर कोई किसी का बेटा या बेटी या भाई या बहन है, वैसे ही हर कोई किसी न किसी समय एक शिक्षक है और, शिक्षक जो छात्र के विकास के अलावा कुछ नहीं चाहता है, वह जो शिष्य की उन्नति से खुश होता है, वह सच्चा गुरु है।

छात्र का उत्थान करते समय, एक शिक्षक के ध्यान का एकमात्र केंद्र छात्र हो जाता है, वह केवल शिक्षा प्रदान नहीं करता,बल्कि उससे बढ़ कर एक प्रतिपालक बन जाता है और शिष्य में विवेक जागृत करता है। यह एक गुरु की भूमिका है। इसलिये, जब कोई किसी के उत्थान के लिए कुछ करता है, तो वह व्यक्ति गुरु की भूमिका निभाता है। इसका मतलब यह नहीं है कि कल से आप हर किसी को बताते फिरें कि, 'ठीक है,अब से मैं आपका गुरु हूं, आप ‘सोहम्' करें।'

एक सच्चा शिक्षक होने के लिये, हमें सरल और स्वाभाविक होना चाहिये । एक प्रोफेसर हर समय एक प्रोफेसर की तरह व्यवहार नहीं कर सकता, वह अपनी पत्नी और अपने बच्चों के लिये इस भूमिका में नहीं रह सकता । इसी तरह हर समय शिक्षक न रहें। आपका परिवार तब मुश्किल में पड़ जायेगा। वे आप से थक जाएंगे!

जानते हैं, एक बार एक दम्पति हमारे आर्ट ऑफ लिविंग कोर्स में भाग लेने आया था। जब भी शिक्षक एक पॉइंट बताते जैसे कि, 'लोग जैसे हैं, उन्हें वैसे ही स्वीकार करो' तो पति तुरंत पत्नी की ओर मुड़ता और कहता,-देखो मैंने तुम्हें यह पहले ही नहीं बताया था?

वह अपनी पत्नी को तो बता रहा है, लेकिन खुद पर यह ज्ञान लागू नहीं कर रहा ! इसलिये सभी का सम्मान करें। स्वाभाविक रहें, और साथ ही, ज्ञान और ध्यान की गहराई को जानें। एक शिक्षक के रूप में आपको एक उदाहरण स्थापित करना होगा।

श्रेष्ठ शिक्षक

एक अच्छा शिक्षक वह है जो छात्र को अच्छी तरह से समझता है और उसकी उलझनों को दूर करता है। जब छात्र सीख रहा होता है, तो उलझने तो आती ही है। उलझन में होना एक वरदान है, क्योंकि उलझन की स्थिति में आपके दिमाग में एक अवधारणा टूट जाती है और एक नई अवधारणा बन जाती है। यह प्रगति का संकेत है।

स्कूल के समय को याद करने पर आपको उन सभी विभिन्न शिक्षकों की उपस्थिति का अहसास होता है, जो आपको आगे बढ़ने में सहायता करने के लिये उपलब्ध रहे। यदि आप एक शिक्षक हैं, तो आपको वे सभी तरह की तैयारियाँ करनी पडती हैं, जिन से आप अपने छात्रों के विकास में उत्साहपूर्ण और रचनात्मक बने रहें। छात्र-शिक्षक संबंध में पारस्परिक प्रशंसा और एक दूसरे की सफलता और उत्कृष्टता की इच्छा निहित रहती है।

महान शिक्षकों में 3 गुण होते हैं

१.धैर्य

एक छात्र एक धीमा शिक्षार्थी हो सकता है, लेकिन एक शिक्षक का धैर्य स्थिति को बदल सकता है। अच्छे शिक्षकों में बहुत धैर्य होना चाहिये। छात्रों को समझना, यह जानना कि वे कहाँ से आते हैं, और हर कदम पर उनका मार्गदर्शन करना आवश्यक है। एक अच्छा शिक्षक छात्र को एक ही अवधारणा पर पकड़ बनाने की अनुमति नहीं देता। अवधारणा एक कदम की तरह है। अगले कदम पर बढ़ने के लिये छात्र को पहली अवधारणा को छोडना ही पड़ता है। एक शिक्षक को उलझन की स्थिति में छात्र का मार्गदर्शन करना चाहिये और आवश्यकता पड़ने पर उलझन पैदा भी करनी पड़ती है

२. प्यार करने वाला, परंतु सख्त

आपको ऐसे शिक्षक मिलते हैं जो बहुत प्यार करते हैं, और फिर आपको ऐसे शिक्षक भी मिलते हैं, जो बहुत सख्त होते हैं। उनमें से प्रत्येक पृथक रूप से अच्छा शिक्षक नहीं बन सकता। तो, आप में दोनों गुण होने चाहिये। मुझे याद है कि हमारी एक इतिहास की शिक्षिका थी, और वह बहुत प्यारी थी, इसलिये हर कोई उसकी कक्षा में रहना पसंद करता था। भौतिक विज्ञान के शिक्षक बहुत सख्त, बहुत कठोर थे, इसलिये हर कोई उनसे डरता था, लेकिन उनकी कक्षा में उच्च अंक प्राप्त करता था। तो, आपको सख्त और मीठा दोनों होने की आवश्यकता है, अन्यथा आप उन छात्रों का उस ओर मार्गदर्शन करने में सक्षम नहीं होंगे, जहाँ आप उन्हें ले जाना चाहते हैं।

३. छात्र की उत्कृष्टता चाहने वाला

भारत में, छात्र-शिक्षक संबंधों के बारे में एक बहुत ही सुंदर लेकिन अदभुत विचार है। गुरु कहता है कि मेरे शिष्य को मुझ से जीतना चाहिये, और शिष्य कहता है कि गुरु को जीतना चाहिये। दोनों एक दूसरे के लिये जीत की कामना करते हैं, यह सर्वाधिक स्वास्थ्यप्रद स्थिति है।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM RISHIMUKH HINDIView All

देवी की अनंत ज्योति

धर्मशाला से करीब ५० किलोमीटर दूर हिमाचल के शिवालिक की गोद में ज्वाला जीष्कांगड़ा जगह उपस्थित है। ज्वाला जी या ज्वालामुखी ऐसे ही अनूठे स्थानों में से एक हैं, जहां आग की लपटें जलती हुई रहती है , कहा से यह ज्ञात नहीं है जिस समय से यह जाना जाता है । नौ लपटें जवरात्रिके नौ देवी के रूप को दर्शाती हैं। ये लपटें सदियों से जल रही हैं, बिना रोके एवम बिना किसी ईधन के -देवी की शाश्वत ज्वाला।

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

अन्नपूर्णा पूर्णता से पूर्णता की ओर

एक बार कैलाश पर्वत पर पार्वती जी ने शिवजी को पासों का खेल खेलने के लिए आमंत्रित किया। जैसे एक पिता अपने बच्चे को खुश करने के लिए उसके साथ खेलता है, शिवजी मुस्कुराए और तैयार हो गए।

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

क्या आप जानते है

क्या आप जानते है

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

जब देवी ने अनंत का अनावरण किया

जब देवी ने अनंत का अनावरण किया

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

नवरात्रि-अपने भीतर जाने के लिये ९-दिवसीय यात्रा

नवरात्रि हमारी आत्मा को उन्नत करने के लिये मनाये जाते हैं। यह हमारी आत्मा ही है, जो सभी नकारात्मक गुणों (जड़ता, अभिमान, जुनून, राग, द्वेष आदि) को नष्ट कर सकती है। नवरात्रि के दौरान भीतर की ओर मुड़कर और आत्मा से जुड़कर, हम इन नकारात्मक प्रवृत्तियों को दूर कर सकते हैं और हमारे भीतर मौजूद सकारात्मक गुणों का आह्वान कर सकते हैं । इस प्रकार, हम उन्नत और पांतरित अनुभव कर सकते हैं।

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

भगवद् गीता-दिव्य गान

ब्रह्मांड चेतना की एक शानदार अभिव्यक्ति है। यहां जो कुछ भी आप देख रहे हैं, वह और कुछ नहीं है, बल्कि चेतना की अपनी संपूर्ण कांति के साथ अभिव्यक्ति है। अपनेपन का बोध, जिस की अनुभूति हर वस्तु और हर जीव को होती है, कुछ और नहीं बल्कि उस ‘संपूर्ण' का एक भाग है। गीता इसी से शुरू होती है ...

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

व्रत का विज्ञान

लोग व्रत क्यों रखते हैं? इसे धर्म में क्यों रखा गया है क्या यह तप है या क्या इसके कुछ लाभ हैं ?

1 min read
Rishimukh Hindi
October 2020

कोविड 19 से बचाव के लिए रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाएं

योग को, रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के प्रभावी एवं प्राकृतिक तरीके के रूप में जान जाता है। एक व्यवहारिक चिकित्सा जर्नल के हाल ही में प्रकाशित शोध पत्र में बताया गया कि योग आपकी रोग प्रतिरोधक प्रणाली को बढ़ाने और शरीर में प्रदाह को कम करने में सहायक हो सकता है।

1 min read
Rishimukh Hindi
September 2020

ऑनलाइन शिक्षा में अभिभावकों की भूमिका

मातापिता अपने बच्चों की शिक्षा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। माना जाता है कि अभिभावकविद्यालय की साझेदारी का इस महामारी के समय में बहुत महत्व है।

1 min read
Rishimukh Hindi
September 2020

अध्यापन और प्रशिक्षण के रहस्य

दुनिया शिक्षकों से भरी है। सृष्टि का हर पहलू हमें कुछ सिखा सकता है। हमें बस अच्छे छात्र बनना है।

1 min read
Rishimukh Hindi
September 2020
RELATED STORIES

The End of The World as I knew it

The heartbreaking loss of her daughter gave Susann Montgomery-Clark a new life's mission: to educate other women about the subtle signs of domestic abuse.

10+ mins read
Good House Keeping - US
October 2022

‘I Didn't Really Learn Anything': Covid Grads Face College

Angel Hope looked at the math test and felt lost. He had just graduated near the top of his high school class, winning scholarships from prestigious colleges. But on this test — a University of Wisconsin exam that measures what new students learned in high school — all he could do was guess.

5 mins read
Techlife News
August 13, 2022

Here is exactly what your dad wishes he could tell you

We asked dads to reveal how they really feel (yep, even in the trickiest sitches)—and they delivered. Read on for heartfelt confessions *and* practical advice...

6 mins read
Girls' Life magazine
June/July 2022

FEDS: THOUSANDS MAY HAVE STUDENT DEBT THAT SHOULD BE ERASED

Record-keeping failures by the federal government may have left thousands of Americans saddled with student debt that should have been automatically canceled through a benefit for low-income borrowers, according to a new federal study.

4 mins read
Techlife News
April 23, 2022

Wide Awake

He may not be able to sleep without a blanket and a lullaby, but this kid could argue circles around a lot of adults.

2 mins read
Country Woman
April/May 2022

COLONIZED FROM WITHIN

THE WORLD'S ELITE WANT THEIR CHILDREN TO HAVE WHITE TEACHERS AND WESTERN OUTLOOKS, AND INTERNATIONAL SCHOOLS AIM TO PLEASE

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
March 07, 2022

Wondrium: Wide Variety of Education Videos

Couch-side edutainment for the curious

8 mins read
PC Magazine
February 2022

The lost girls of covid

For 25 years, girls in developing countries have been on a remarkable trajectory of progress. The pandemic is reversing it

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
January 10, 2022

I Began to Truly Live Yoga When I Quit Teaching It

Walking away from my practice actually drew me closer to it.

5 mins read
Yoga Journal
January - February 2022

This Is The End Of Affirmative Action

We have to face the reality that our education system is, and always has been, separate and unequal.

9 mins read
The Atlantic
September 2021