क्यों होती है लक्ष्मी-गणेश की संयुक्त पूजा?
Jyotish Sagar|November 2020
दीपावली पर लक्ष्मी जी के साथ भगवान् विष्णु की पूजा नहीं होती है, वरन गणेश जी की पूजा होती है। कभी आपने विचार किया है कि ऐसा क्यों होता है?

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM JYOTISH SAGARView All

गंगाद्वार हरिद्वार

हरिद्वार हिन्दुओं के जहाँ धार्मिक तीर्थ के रूप में प्रतिष्ठा प्राप्त है, वहीं भारत का महत्त्वपूर्ण सांस्कृतिक नगर भी है।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

भरत जी की चित्रकूट यात्रा

मानसपीठ (भाग-102)

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

कुम्भ पर्व हरिद्वार

इस वर्ष अप्रैल-मई माह में बृहस्पति कुम्भ राशि में तथा सूर्य मेष राशि में रहेंगे, फलतः हरिद्वार में कुम्भ महापर्व का आयोजन होगा।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

भारत भी खोज रहा है चाँद पर पानी!

भारत भी अपने मून मिशन चन्द्रयान के माध्यम से चन्द्रमा पर पानी एवं खनिजों की खोज कर रहा है। चन्द्रयान-2 के ऑर्बिटर ने चाँद के 60 प्रतिशत ध्रुवीय क्षेत्र का भ्रमण कर लिया है। इससे मिले आँकड़ों के आधार पर अगले एक साल में भारत यह अनुमान लगाने की स्थिति में होगा कि चाँद पर कहाँ, कितना पानी है।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

नक्षत्रीय आधार पर रुचकादि पंचमहापुरुष योगों का फल

स्वाति नक्षत्र में स्थित शश योग सर्वश्रेष्ठ फलकारक होता है। ऐसे योग में उत्पन्न जातक को इस योग के सभी शास्त्रोक्त शुभ फलों की प्राप्ति होती है। ऐसा जातक राजनेता, उच्च अधिकारी, निर्जन स्थान पर रहने वाले, कुशाग्र बुद्धि वाले तथा प्रत्येक कार्य को सोच-विचार कर करने वाले होते हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

प्रेम विवाह और उसकी सफलता के उपाय

चन्द्रकान्त मणि चन्द्रमा की किरणों को सोखकर धारणकर्ता के शरीर में प्रविष्ट करा देती है और उनके मन में प्रेम, समर्पण, कामुकता आदि का भाव जाग्रत कर देती है। ऐसी भी मान्यता चली आ रही है कि चन्द्रकान्त मणि को धारण करे लेने से प्रेम प्रसंगों में भी शीघ्र सफलता प्राप्त हो जाती है।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

मकर संक्रान्ति एक, रूप अनेक

भारतीय परम्परा के अन्तर्गत जनजीवन के साथ त्योहारों का घनिष्ठ रिश्ता रहा है। कृषि प्रधान देश होने की वजह से ज्यादातर त्योहारों की पृष्ठभूमि में कृषि रही है। विश्लेषण करने से विदित होता है कि भारतवर्ष के पर्वत्योहार मास तथा मौसम के ऊपर आधारित है। इन त्योहारों को विशेष रूप से सूर्य प्रभावित करता है। धरा पर रहने वाले मनुष्य, जीव-जंतु, पक्षी और कीड़े विभिन्न वजहों से सूर्य के प्रति ऋणी हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

कमला हैरिस अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति

सामान्यतः अमेरिकी राजनीति में उपराष्ट्रपति की प्रत्यक्ष भूमिका दृष्टिगोचर नहीं होती, परन्तु कमला हैरिस के ग्रहयोगों एवं दशाओं से यह परम्परा टूटती हुई दिखाई देगी।

1 min read
Jyotish Sagar
January 2021

जो बाइडेन चुनौतियाँ और ग्रह-स्थिति

उनके समक्ष जो चुनौतियाँ वर्तमान में दिखाई दे रही हैं, उनका वे बेहतर तरीके से सामना करने में सफल होंगे और अमेरिकी समाज, अर्थव्यवस्था तथा राजनीति को एक नई दिशा देने में सफल होंगे।

1 min read
Jyotish Sagar
December 2020

चाँद पर मिला पानी!

हाल ही में नासा ने घोषणा की है कि उन्हें चाँद की सतह पर पानी होने के निर्णायक साक्ष्य मिले हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
December 2020
RELATED STORIES

An Epic Phone-a-Thon

India’s smartphone shoppers will be spoiled for choice this festive season

4 mins read
Bloomberg Businessweek
November 09, 2020

अयोध्या में राम मंदिर के नींव का निर्माण शुरू

अयोध्या के राम जन्मभूमि में रामलला के गर्भ गृह स्थल पर गुरुवार से नींव के निर्माण का कार्य शुरू कर दिया गया।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
January 22, 2021

इस देश में दीवाली पर होती है कुत्तों की पूजा

दीवाली हिंदुओं का एक बड़ा त्यौहार है. भारत में इसे बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं. इस मौके पर पटाखे छोड़े जाते हैं और मिठाइयां बांटी जाती हैं. हर जगह उत्साह का माहौल होता है. इस दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है. वैसे तो दीवाली दुनिया के लगभग सारे देशों में मनाई जाती है, लेकिन एक देश ऐसा भी है जहां दीवाली कुछ अलग ढंग से मनाई जाती है, वह देश है नेपाल.

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2020

लक्ष्मी पूजन फिर भी जेब खाली की खाली

कोरोना के नाम पर पूरे देश में केंद्र सरकार द्वारा असफल तालाबंदी लागू की गई. परिणाम इतना भयावह है कि तालाबंदी थोपे जाने के 8 माह बाद भी देश किसी भी स्तर पर संभल नहीं पाया है. मजबूरीवश देशवासियों ने इस साल तमाम त्योहारों पर हाथ भींच लिए और अब दीवाली, शादियों की धूमधाम भी तालाबंदी की भेंट चढ़ रही है.

1 min read
Sarita
December First 2020

दिवाली पर प्रदूषण का साया क्यों?

तेजोमय उल्लास के महापर्व दीपावली के आते ही पर्यावरण प्रदूषण की बात जोरों से उठती है। एक शाश्वत सवाल हर बार उठाया जाता है कि दीपावली पर आतिशबाजी करने की मान्यता का क्या कोई धार्मिक इतिहास है? माता लक्ष्मी को पूजने के पुरातन इतिहास से आतिशबाजी कब व कैसे जुड़ी? यदि यह धर्मशास्त्र द्वारा बनाई रीति नहीं है तो दीपावली पर पटाखों का चलाना कैसे रस्म बनता गया? इस सवाल का जवाब जरूरी है कि पारंपरिक पर्व पर प्रदूषण का साया क्यों पड़ा हुआ है?

1 min read
Rajasthan Diary
November 2020

रोशनी का दिव्यबोध फैलाती दीपावली

लक्ष्मी की आराधना होनी चाहिए क्योंकि लक्ष्मी का संबंध धन से नहीं वरन उसकी पवित्रता से है। लक्ष्मी अशुद्ध, अपवित्र और अप्राकृतिक से कभी नहीं जुड़ती। इस नाते जिसका आस्वादनभोजन अशुद्ध है, जिसकी भाषा-वाणी अपवित्र है, जिसका संस्कार-विहार अप्राकृतिक है, वह लक्ष्मी का आशीर्वाद कैसे प्राप्त कर सकता है। सच्ची और स्थाई लक्ष्मी वही है जो शील और मर्यादा से पायी जाए।

1 min read
Rajasthan Diary
November 2020

खुशियों की जगमग में भांति-भांति की रीत

आज भी प्रचलन में है मारवाड़मेवाड़ की ये कुछ खास परम्पराएं

1 min read
Rajasthan Diary
November 2020

कोरोना काल में पटाखों पर न देंजोर, सबसे बुरा है इसका शोर

इस बार दीपावली केवल दीप जलाकर ही मनाएं तो यह मानवता की सेवा होगी। हमने और आपने अगर इस बार पटाखे जलाए तो कोविङ-19 के दौर में यह धूमधड़ाका सभी के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। पटाखों से निकलने वाला जहरीला धुआं में और जहर घोल देगा और ऑक्सीजन लेने में लोगों को दिक्कत होगी। पटाखे न जलाकर हम कई लोगों की जान जोखिम में डालने से बच जाएंगे।

1 min read
Rajasthan Diary
November 2020

दीवाली से अधिक छठ पूजा के समय महानगर में बढ़ा प्रदूषण का स्तर

प्रदूषित शहरों की लिस्ट में हावड़ा सबसे ऊपर

1 min read
Samagya
November 20, 2020

दीपोत्सव

जिस देश की संस्कृति में जन्म से लेकर मृत्यु तक को उत्सव की तरह मनाया जाता हो वहां यही कहा जा सकता है कि यहां हर पल की उत्सवता एक स्वभाव एवं जीवन दर्शन बनकर हमारे जीवन में रची-बसी है। हमारे देश की आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक विरासत अनेक विविधताओं और रंगों को समेटे हुए हैं ।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
November 2020