Samay Patrika Magazine - July 2022Add to Favorites

Samay Patrika Magazine - July 2022Add to Favorites

Go Unlimited with Magzter GOLD

Read Samay Patrika along with 8,500+ other magazines & newspapers with just one subscription  View catalog

1 Month $9.99

1 Year$99.99 $49.99

$4/month

Save 50% Hurry, Offer Ends in 6 Days
(OR)

Subscribe only to Samay Patrika

Gift Samay Patrika

7-Day No Questions Asked Refund7-Day No Questions
Asked Refund Policy

 ⓘ

Digital Subscription.Instant Access.

Digital Subscription
Instant Access

Verified Secure Payment

Verified Secure
Payment

In this issue

समय पत्रिका के इस अंक में एक ऐसी किताब की चर्चा की गयी है जिससे यह साबित हो जाता है कि इंसान का वजूद जरुर है, और वह ब्रह्माण्ड की खोज में दिन—रात एक किए हुए है, लेकिन वह अब तक शून्य ही रहा है। बिल ब्रायसन की किताब 'मनुष्य, पृथ्वी और अंतरिक्ष…' एक बेहद खास किताब है। किताब के अनुसार हम निरंतर खोज में लगे हैं, मगर ब्रह्माण्ड बहुत ही विस्तृत है। साथ ही किताब यह बताती है कि समय की शुरुआत से कई अरब सजीव प्राणी धरती पर मौजूद थे और हमें जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक़ उनमें 99.9 प्रतिशत प्राणी अब मौजूद नहीं हैं। जैसा कि आप देख सकते हैं, पृथ्वी पर जीवन न केवल संक्षिप्त है, बल्कि निराशाजनक तौर पर बहुत तुच्छ भी है। इस पुस्तक में हर अध्याय तथ्यात्मक चर्चा करता है जिसे पढ़ा जाना जरुरी है।
हेमंत शर्मा की नयी पुस्तक 'देखो हमरी काशी' संस्मरण विधा में एक नवोन्मेष है। यह संस्मरण काशी की संस्कृति और बनारसी जीवन का रंगमंच प्रतीत होता है। इसमें वर्णित व्यक्तियों के जरिए काशी की संस्कृति, परंपरा और जीवनधारा की खोज की गई है। जो सदियों से सामाजिक-सांस्कृतिक जीवन के अपरिहार्य अंग रहे हैं। ऐसे लोगों को केंद्र में रखकर कथा बुनी गई है। इस पुस्तक के पात्र चाहे जो हों, वे सामाजिक जीवन में साधारण भले माने जाते हों, पर कथा में वे असाधारण हैं।
हिंदीनामा के संस्थापक अंकुश कुमार का पहला काव्य—संग्रह आया है। नाम है 'आदमी बनने के क्रम में'। उनकी इस पुस्तक की खास चर्चा की गयी है इस अंक में।
पढ़ें नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी के जीवन के प्रेरक प्रसंग से सजी पुस्तक की खास बातें।
साथ में पढ़ें नई किताबों की चर्चा।

मनुष्य, पृथ्वी और अंतरिक्ष...

लगभग हर चीज़ का संक्षिप्त इतिहास

मनुष्य, पृथ्वी और अंतरिक्ष...

10+ mins

देखो हमरी काशी बनारस का शब्द - चित्र बनाती जीवन-यात्रा

यह पुस्तक संस्मरण विधा में एक नवोन्मेष है। यह संस्मरण काशी की संस्कृति और बनारसी जीवन का रंगमंच प्रतीत होता है। इसमें वर्णित व्यक्तियों के जरिए काशी की संस्कृति, परंपरा और जीवनधारा की खोज की गई है। जो सदियों से सामाजिक-सांस्कृतिक जीवन के अपरिहार्य अंग रहे हैं। ऐसे लोगों को केंद्र में रखकर कथा बुनी गई है। इस पुस्तक के पात्र चाहे जो हों, वे सामाजिक जीवन में साधारण भले माने जाते हों, पर कथा में वे असाधारण हैं।

देखो हमरी काशी बनारस का शब्द - चित्र बनाती जीवन-यात्रा

9 mins

कुछ अलग, कुछ ख़ास

सन्मति पब्लिशर्स ने तीन ख़ास किताबों को प्रकाशित किया जिन्हें पाठक खूब पसंद कर रहे हैं।

कुछ अलग, कुछ ख़ास

2 mins

'किताबें तब तक ही बची रहेंगी जब तक कि वे कागज़ पर लिखी जाएँगी' डॉ. अबरार मुल्तानी

डॉ. अबरार मुल्तानी एक बेस्टसेलर लेखक हैं, जिनकी किताबों के विषय विविध हैं। वे पेशे से चिकित्सक हैं। डॉ. मुल्तानी ने हिंदी और अंग्रेजी में कई सेल्फ हेल्प पुस्तकों की रचना की है, जिन्हें खूब पढ़ा जाता है। सोशल मीडिया पर भी वे काफी सक्रिय रहते हैं तथा उनके फोलॉवर्स की संख्या लाखों में है। दो साल पूर्व उन्होंने मैंड्रेक पब्लिकेशंस की शुरुआत की थी। इस प्रकाशन के जरिए क्लासिक कृतियों के साथ-साथ नए लेखकों को एक बहुत शानदार मंच मिला है। पिछले दिनों डॉ. अबरार मुल्तानी ने स्कूली शिक्षा पर एक खास किताब 'मत रहना स्कूल के भरोसे प्रकाशित की जिसमें उन्होंने शिक्षा, छात्र, अध्यापक आदि पर विस्तृत चर्चा की है। समय पत्रिका ने उनकी इस नई पुस्तक तथा प्रकाशन-लेखन से संबंधित कई विषयों पर चर्चा की, प्रस्तुत हैं बातचीत के मुख्य अंश :

'किताबें तब तक ही बची रहेंगी जब तक कि वे कागज़ पर लिखी जाएँगी'  डॉ. अबरार मुल्तानी

9 mins

मनुष्यता और प्रेम की वैचारिक पृष्ठभूमि तैयार करती कविताएँ

आदमी बनने के क्रम में

मनुष्यता और प्रेम की वैचारिक पृष्ठभूमि तैयार करती कविताएँ

4 mins

कुबेर की जीवन-गाथा के जरिए सामाजिक और आर्थिक विचार

कुबेर : लंका का पूर्व राजा

कुबेर की जीवन-गाथा के जरिए सामाजिक और आर्थिक विचार

1 min

अंतर्मन की ओर

यह पुस्तक हमें विचलित विचारों को शांत करने के लिए ध्यान का उपयोग कर वर्तमान में जीने, अपनी ऊर्जा को फिर से केंद्रित कर समस्याओं को दूर करने तथा उत्तरोत्तर आगे बढ़ने के साधन उपलब्ध कराती है

अंतर्मन की ओर

5 mins

श्रेष्ठ बनने के मार्ग पर 7 डिवाइन लॉज़

जिस प्रकार भौतिक घटना विधानों से बँधी होती है, उसी प्रकार जीवन यात्रा को नियंत्रित करने के लिए आध्यात्मिक विधान होते हैं। उनकी जानकारी से हम समझ पाते हैं कि कुछ लोग इतनी आसानी से सफल कैसे हो जाते हैं, जबकि दूसरों के लिए सफलता एक संघर्ष बनी रहती है

श्रेष्ठ बनने के मार्ग पर 7 डिवाइन लॉज़

5 mins

Read all stories from Samay Patrika

Samay Patrika Magazine Description:

PublisherSamay Patrika

CategoryFiction

LanguageHindi

FrequencyMonthly

Samay Patrika hindi magazine -all about books.

  • cancel anytimeCancel Anytime [ No Commitments ]
  • digital onlyDigital Only
MAGZTER IN THE PRESS:View All