CATEGORIES

रम जाइए 'कच्छ के रण में'

गुजरात की लोक संस्कृति और परंपरा का मेल देवना हो तो आइए कच्छ के रण महोत्सव में, जहां का प्रमुख आकर्षण है 'ग्रेट रण ऑफ कच्छ', जिसका नाम सुनते ही ऊंट, रेगिस्तान, रेत और रंग-बिरंगी पोशाकों से सजे-धजे स्थानीय निवासी और पर्यटकों का ध्यान आता है जो इस उत्सव को महोत्सव में बदलते हैं और इसे विश्व प्रसिद्ध बनाते हैं।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

पक्षाघात में आयुर्वेदिक चिकित्सा

पक्षाघात या लकवा मारना एक बहुत ही तकलीफदेह बीमारी है। इसमें शरीर काफी पीड़ा से गुजरता है । पक्षाघात शरीर के जिस अंग पर होता है उस भाग में कोई हलचल नहीं होती। पक्षाघात क्या है, क्या हैं इसके कारण, लक्षण एवं निवारण? आइए जानते हैं।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

भारतीय संस्कृति का महापर्व 'कुंम्भ'

कुम्भ हमारी भारतीय संस्कृति का अत्यंत प्राचीन महापर्व है, जो कि बारह साल में एक बार आता है। इस बार यह 15 जनवरी से 4 मार्च 2019 तक प्रयाग (इलाहाबाद) में मनाया जाएगा। कुम्भ हमारी संस्कृति के साथसाथ हमारी आस्था का भी प्रतीक है। महाकुम्भ का अर्थ क्या है? क्यों यह बारह साल में एक बार आता है तथा इसका सांस्कृतिक महत्त्व क्या है? जानिए इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

विज्ञान से भी सर्वोपरि ज्योतिष शास्त्र

वर्तमान युग विज्ञान का युग है किंतु हम ज्योतिष को नकार नहीं सकते, या कहें विज्ञान से भी सर्वोपरि है ज्योतिष, कैसे? आइए जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

ब्रेन पॉवर कैसे बढ़ाएं

सारा खेल दिमाग का है विशेष तौर पर परीक्षाओं के समय यदि दिमाग दुरुस्त तो समझो सब ठीक है। परंतु परीक्षा के समय डर के कारण तो अच्छे-अच्छों के दिमाग को जंग लग जाती है और सब कुछ जानते हुए भी गलतियां हो जाती हैं। इसलिए जरूरी है कि हम अपने ब्रेन की पावर बढ़ाएं ताकि सही समय पर इसका सही व बेहतर उपयोग हो सके।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

ज्ञान, कला और वाणी की देवी सरस्वती

वाग्देवी, वीणावादिनी तथा भारती, जैसे नामों से हमारी संस्कृति में विरव्यात देवी सरस्वती ज्ञान व विद्या की देवी हैं। उनकी आराधना से व्यक्ति परम ज्ञान प्राप्त कर सकता है। भारतीय संस्कृति में देवी सरस्वती का स्थान बहुत उच्च है। इन्हीं पूजनीय देवी सरस्वती के नाम का अर्थ, उनकी जन्म कथा तथा रूप-स्वरूप को विस्तारपूर्वक जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

क्या है आर.ओ.वॉटर का सच?

शुद्धता व स्वच्छता के नाम पर आजकल बाजार में फिल्टर पानी बेचा जा रहा है, जो हमारे सेहत के लिए ठीक नहीं है। साथ ही यह पर्यावरण के लिए गंभीर समस्या है। कैसे, जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

बसंत पंचमी से जुड़ी कथाएं और घटनाएं

विद्या की देवी सरस्वती की पूजा का पर्व बसंत पंचमी एक पवित्र हिन्दू त्योहार है। इस दिन विद्या की देवी सरस्वती की पूजा की जाती है। यह पूजा उत्तर प्रदेश, पूर्वी भारत, पश्चिमोत्तर बांग्लादेश, नेपाल और कई राष्ट्रों में बड़े उल्लास से मनायी जाती है।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

आदर्श प्रेम के प्रतीक देवी-देवता

यूं तो हर इंसान का प्रेम अपने आप में सम्पूर्ण व अनुकरणीय होता है परन्तु कुछ लोगों का प्रेम इतिहास के पन्नों पर सदा के लिए स्वर्ण अक्षरों में अंकित हो जाता है। आइये नमन करें कुछ ऐसे ही प्रेम के प्रतीकों को।

1 min read
Sadhana Path
February 2021

सूर्य उपासना का महापर्व मकर संक्रांति

मकर संक्रांति सूर्य उपासना का विशेष पर्व है, इस दिन से सूर्य उत्तरायण होना शुरू होते हैं। इस पर्व को समस्त भारत में बड़े हर्षोल्लास से मनाया जाता है। क्या है इस पर्व का महात्म्य ? आइए लेव से विस्तारपूर्वक जानें।

1 min read
Sadhana Path
January 2021

विश्व भर में नववर्ष का स्वागत

पूरी दुनिया में नए साल के स्वागत की तैयारी कई दिन पहले से ही शुरू हो जाती है। सभी देशों में इसे मनाने की अपनी-अपनी परम्पराएं हैं, पूरी दुनिया में नए साल का स्वागत कैसे होता है। आइए जानते हैं।

1 min read
Sadhana Path
January 2021

मेवों में छिपा है सेहत का राज

सर्दियों के आते ही रवांसी, जुकाम, बुरवार जैसी छोटी-मोटी बीमारियां परेशान कर देती हैं। महज गरम कपड़े पहनना और चाय-कॉफी पीना ही पर्याप्त नहीं होता। सर्दियों में सूरवे मेवे आपको फ्लू, सर्दी, कफ आदि कई रोगों से बचाते हैं और रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करते हैं। जानें सेहत से जुड़े इनके लाभ इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
January 2021

हर्ष, उमंग एवं सद्भावना का त्योहार- लोहड़ी

लोहड़ी की बात करते ही आंखों के सामने छा जाती है आग, मूंगफली और रेवड़ी की तस्वीर और साथ ही उभर आता है ढोल और भंगडे का शोर, क्यों? आइये जानते हैं।

1 min read
Sadhana Path
January 2021

भारतीय संविधान का प्रतीक गणतंत्र दिवस

गणतंत्र दिवस का नाम लेते ही हमारे मन मस्तिष्क में 26 जनवरी को राजपथ पर चलती परेड का दृश्य उभर आता है। जबकि इसका संबध हमारे देश के संविधान से है जो इस दिन पारित हुआ था। क्या है इस संविधान का इतिहास व महत्त्व आइए जानते हैं।

1 min read
Sadhana Path
January 2021

ओशो ने कभी अपने अधिकारों का स्वामित्व नहीं किया

ओशो की शिष्या एवं एडवोकेट, मा प्रेम संगीत नियमित रूप से 'विहा कनेक्शन' और 'ओशो न्यूज' के लिए लिखती हैं। आपको पता ही होगा कि अमेरिका में करीब दस साल तक चले मुकदमे में दिल्ली की 'ओशो वर्ल्ड' नामक संस्था की विजय घोषित करते हुए, न्यायाधीश ने स्पष्ट निर्णय दिया था कि 'ओशो' शब्द को कॉपीराइट कराने का अधिकार किसी को भी नहीं हो सकता है। तब यू.एस.ए. से पराजित होकर ओशो इंटरनेशनल फाउंडेशन (ओ.आई.एफ.) ने नया षड्यंत्र रचायूरोप में कॉपीराइट कराने की कोशिश की। वहां पर 'ओशो लोटस' नामक संस्था ने विरोध में आपत्ति उठाते हुए मुकद्दमा दायर किया। किंतु ओ.आई.एफ.की जीत हुईसत्य की नहीं, झूठ-फरेब की जो कि शीघ्र ही उजागर होने लगे।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

ऐसे रहें सर्दियों में भी फिट

सर्दियों के मौसम में जितना खुद को ठंड से बचाना जरूरी है, उतना ही जरूरी है खुद को फिट ररवना भी। कैसे रख सकते हैं आप अपने को इन सर्दियों में फिट? आइए लेख से जानें।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

पृथ्वी पर घटा चमत्कार था रजनीशपुरम

अमेरिका के ओरेगोन में बना रजनीशपुरम आज एक बार फिर चर्चा में है, और चर्चा का कारण नेटफ्लिक्स पर आई डॉक्यूमेंट्री 'वाइल्ड-वाइल्ड कंट्री' है। जिसमें ओशो के अमेरिका में बसने और वहां रजनीशपुरम के बनाने और मिटाने की कहानी को दर्शाया गया है। आरिवर रजनीशपुरम था क्या, क्या रजनीशपुरम की हकीकत वही थी जिसे फिल्म में दिरवाया गया या कुछ और? अमेरिका में ओशो को जेल क्यों जाना पड़ा? क्या रजनीशपुरम ओशो की असफलता का कारण था? इन सभी प्रश्नों के उत्तर आइए ओशो की जुबानी ही जानते हैं।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

ठण्डी हवाएं और स्वास्थ्य समस्याए

सर्दी के इस मौसम में हमारा शरीर स्वस्थ रहे उसके लिए कई सावधानियां बरतनी जरूरी है वरना आप रोग की चपेट में आ सकते हैं। ऐसी ही कुछ सावधानियों को आइए जानें लेख से।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

शीला की कहानी ओशो की जुबानी

फिल्म 'वाइल्ड-वाइल्ड कंट्री' भले ही ओशो के हर प्रेमी व विरोधी ने न देवी हो पर सवाल देर-सबेर उभर ही गए हैं या भविष्य में उभर ही जाएंगे। सवाल, बवाल न बने, इसके लिए जरूरी है, शीला के बयानों पर ओशो के जवाब।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

सर्वाधिक लोकप्रिय पेय-चाय

कई लोगों में चाय की दिवानगी इस कदर है कि बिना चाय पीएं उनका दिन शुरू ही नहीं होता। भारत में तो चाय पीनापिलाना एक आम रिवाज सा है। वहीं इसका इतिहास भी रवासा दिलचस्प है।

1 min read
Sadhana Path
December 2020

स्वाद ही नहीं, सेहत भी जरूरी

त्योहारों का मौसम आते ही तरह-तरह के पकवानों का भी दौर शुरू हो जाता है, लेकिन त्योहारों के मौसम में अपने खान-पान और सेहत पर विशेष ध्यान देना आवश्यक है नहीं तो कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

विदेशों में भी लोकप्रिय दीपावली

दीपावली के अवसर पर कश्मीर से कन्याकुमारी तक दीपों की जगमगाहट और पटारवों की गूंज होती है। लेकिन यह त्योहार सरहद और सात समंदर पार भी उसी उत्साह और उमंग से मनाया जाता है। कहां और कैसे, जानें लेख से।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

भारत में सूर्योपासना एवं सूर्य मन्दिर

जीवन का आधार एवं शक्ति प्रदाता सूर्य है, ऐसा वर्णन करती अनेक ऋचाएं वेदों में आती हैं। भारतीय महाद्वीप में भी सूर्य उपासना की युगों पुरानी परंपरा के दर्शन सूर्य मंदिरों में होते हैं।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

बाल मजदूरी की आग में झुलसता बचपन

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन के आंकलन के अनुसार पूरे विश्व में लगभग 12 करोड़ बाल श्रमिक हैं जिनमें से अकेले भारत में ही 3 करोड़ बाल श्रमिक हैं। सबसे अधिक बाल श्रमिक ग्रामीण क्षेत्रों में हैं, जो प्रायः बंधुआ मजदूर के रूप में रखेतों में या ईंट भट्ठों पर कार्य करते हैं।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

सिर्फ एक ही ईश्वर है और उसका नाम है सत्यः नानक

सिखों के प्रथम गुरु थे नानक । अंधविश्वास एवं आडंबरों के विरोधी गुरुनानक का प्रकाश उत्सव अर्थात् उनका जन्मदिन कार्तिक पूर्णिमा को मनाया जाता है । गुरु नानक का मानना था कि ईश्वर कण-कण में व्याप्त है । संपूर्ण विश्व उन्हें सांप्रदायिक एकता, शांति एवं सद्भाव के लिए स्मरण करता है।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

धर्म की साधना होती है, शिक्षा नहीं

इस दुनिया में दो-तीन अरब लोग हैं। चार-छः अरब आंखें हैं। एक अंधे आदमी की दो आंखों का जो मूल्य है, वह छ: अरब आंखों का नहीं है। मैं आपसे यह कहना चाहूंगा। अपने भीतर श्रद्धा की जगह विवेक को जगाने के उपाय करने चाहिए और विवेक को जगाने के क्या नियम हो सकते हैं, उस संबंध में थोड़ी-सी बात आपसे कहूं।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

सीढ़ियां चढ़ें, सूप पिएं और वजन घटाएं

बढ़ते वजन और मोटापे से आज हर दूसरा व्यक्ति ग्रस्त है । वयस्क से लेकर छोटे बच्चे भी इस कतार में शामिल हैं। अस्त-व्यस्त जीवनशैली भी बढ़ते मोटापे का एक कारण है। कुछ आसान तरीकों को अपनाकर हम अपना शरीर सुडौल बना सकते हैं। कैसे, जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

रंग-बिरंगी आतिशबाजी का सफर

रंग-बिरंगी आतिशबाजियां हर खुशी के मौके को और भी रंगीन कर देती हैं। लेकिन इन आतिशबाजियों की परंपरा कब, कहां और कैसे शुरू हुई, जानते हैं इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

पंच पर्वो का महापर्व दीपावली

दीपावली यानी आनन्द और उल्लास का उत्सव तथा प्रकाश का पर्व । दीपावली का पर्व धन-प्राप्ति अनुष्ठान के लिए सर्वोत्तम माना जाता है लेकिन दीपावली का महान पर्व अकेले ही नहीं आता है, इसके साथ ही आते हैं पांच महान पर्व, जिन्हें हम पंचपर्व के रूप में मनाते हैं। इन पंच पर्वो का हिन्दू धर्म में महत्त्व जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

बड़ी अनोखी है कार्तिक स्नान की महिमा

हिन्दू धर्म में पूर्णिमा का महत्त्वपूर्ण स्थान है । बारह पूर्णिमाओं में कार्तिक पूर्णिमा का महत्त्व सर्वाधिक है। मान्यता है कि इस दिन गंगा स्नान करने से पुण्य फल की प्राप्ति होती है।

1 min read
Sadhana Path
November 2020

Page 1 of 6

123456 Next