लाल हुआ सुर्ख
Gambhir Samachar|April 16, 2021
जिस समय देश व छत्तीसगढ़ राज्य के कर्ताधर्ता नीति-निर्माता सरकार बनाने के लिए अन्य राज्यों की चुनावी रैलियों में बेहद व्यस्त थे, उस समय छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबल के वीर जवानों पर बीजापुर में एक ऑपरेशन के बाद वापसी के दौरान तम थाना के सिगलेर से लगे जोन्नागुंडा के जंगल में नक्सलियों के बड़े झुंड ने जबरदस्त ढंग से हमला कर दिया, जहां पर नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच करीब चार घंटे तक लगातार मुठभेड़ चली.
पंडित पीके तिवारी

नक्सल ऑपरेशन के डीजी अशोक जुनेजा ने अगले दिन पुष्टि करते हुए कहा कि बीजापुर में हुई मुठभेड़ में हमारे 22 जवान मारे गये और एक जवान अब भी लापता है. अब साफ होने लगा था नक्सलियों ने बहुत बड़े पैमाने पर घातक हमला किया था. हालात की गंभीरता को भांपकर नियंत्रण करने के लिए सिस्टम के कर्ताधर्ताओ ने चुनावी रैलियों को बीच में छोड़ कर दिल्ली व छत्तीसगढ़ वापस आना उचित समझा. अब एकबार फिर हर घटना की तरह देश व छत्तीसगढ़ में आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति तेज हो गयी है. नक्सलियों से निपटने के लिए सिस्टम द्वारा सख्त कदम उठाने के लिए रणनीति बनाई जा रही है, लेकिन छत्तीसगढ़ में पहली बार इस तरह की घटना घटित नहीं हुई है. पूर्व में भी वहां पर नक्सलियों ने बड़े दुस्साहसिक कारनामे किये हैं. प्रश्न यह है कि सरकार के द्वारा क्या पूर्व में हुए बड़े हमलों के बाद जिस तरह के कदम उठाये गये क्या पुनः उसी की पुनरावृति की जाएगी या वास्तव में इस बार धरातल पर नक्सलवाद से निपटने के लिए कोई ठोस स्थाई रणनीति अपनाकर नक्सलवाद का देश से जल्द से जल्द सफाया किया जायेगा?

विचारणीय तथ्य यह हैं कि नक्सली बेखौफ होकर एक के बाद एक घटना को अंजाम देकर देश के अंदर ही रह कर केन्द्र व राज्य सरकार को बार-बार चुनौती दे रहे हैं, आखिर उनके पास सरकार से लड़ने के लिए हथियार व अन्य संसाधन लगातार कहां से आ रहे हैं? वैसे तो हमारे देश में नक्सलवाद एक बहुत बड़ी व बेहद गंभीर समस्या है, जिसके निदान के लिए सरकार को दीर्घकालीन रणनीति पर लगातार दिलो-दिमाग से कार्य करना होगा. क्योंकि इस बेहद गंभीर समस्या के चलते प्रभावित क्षेत्रों में आये दिन लोगों व सुरक्षा बलों को अपने जानमाल से हाथ धोना पड़ता है. देश के अंदर छुपे हुए गद्दारों से निपटते हुए आये दिन पैरामिलिट्री फोर्स के वीर जवानों को अपने प्राणों का बलिदान देना पड़ता है. लेकिन बेहद चिंताजनक बात यह है कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों की बेहद विकट परिस्थिति होने के बाद भी न जाने क्यों हमारे देश के नीतिनिर्माता आजतक नक्सलवाद की समस्या का स्थाई समाधान करने में नाकाम रहे हैं? बल्कि कुछ राजनेता तो समय-समय पर अपने राजनीतिक हितों को साधने के लिए नक्सलियों को संरक्षण देकर अपनी राजनीति चमकाने का कार्य करते रहते हैं.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GAMBHIR SAMACHARView All

भारत में क्यों सफल नहीं होते अलक़ायदा जैसे संगठन?

भारत के बारे में यह कहा जाता रहा है कि यह दुनिया का एक ऐसा मुल्क है जहां दुनिया भर से लोग आए, अपने चिंतन साथ लाए, साथ ही वे अपने देवता को भी लेकर आए. जहां से वे आए थे, आज वहां उनका चिंतन और देवता दोनों खत्म हो चुके हैं, कोई नाम लेने वाला नहीं है लेकिन भारत में वह जिंदा है. भारत में जब इस्लाम आया तो भारत की जनता ने उसका भरपूर स्वागत किया. इस्लामी देश में कोई महिला शासन कर सकती है, ऐसा उदाहरण नहीं के बराबर मिलता है लेकिन भारत में रजिया सुल्तान ने न केवल दिल्ली पर शासन किया अपितु उसका शासन पूरे सल्तनत काल का सबसे बढ़िया शासन माना जाता है.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

ब्लैक फंगस संक्रमण

आंखों से ब्रेन तक तेजी से फैल रहा है

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

देश के खिलाफ एक बड़ा षड्यंत्र?

कांग्रेस सत्ता में रहते हुए सत्ता में बने रहने के लिए और सत्ता से बाहर होने पर सत्ता में वापसी के लिए हमेशा से ही षड्यंत्र करती आयी हैइस षड्यंत्र को कांग्रेस पूरी ईमानदारी के साथ एक लिखित पुस्तिका का रूप देती है-जिसे बोलचाल की भाषा में टूलकिट कहा जाता है.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

भारत-चीन व्यापार की शर्ते बेहतर होनी चाहिए

व्यापार के शास्त्रीय सिद्धांत यह मानते हैं कि देशों को ऐसे उत्पादों के निर्माण में विशेषज्ञता हासिल करनी चाहिए, जिनमें उन्हें तुलनात्मक (लागत) लाभ हो और मांग को पूरा करने, खपत और कल्याण में सुधार के लिए अन्य उत्पादों की खरीद करना चाहिए.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

कोरोना वैक्सीन लेने में अब भी किन्तु-परन्तु क्यों?

कोरोना की काट वैक्सीन को लेकर अब भी देश में बहुत से खास और आम लोगों में डर का भाव दिखता है. वे इसे लगवाने से बच रहे हैं. आप यह भी कह सकते हैं कि उनकी वैक्सीन लगवाने में कोई दिलचस्पी ही नहीं है. इस तरह तो देश में कोरोना को मात देना कठिन होगा.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

अनूठा उदाहरण है इजराइल

इस दुनिया में मात्र दो ही देश धर्म के नाम पर अलग हुए हैं. या यूं कहे, धर्म के नाम पर नए बने हैं, वे हैं पाकिस्तान और इजरायल. दोनों के बीच महज कुछ ही महीनों का अंतर हैं. पाकिस्तान बना 14 अगस्त, 1947 के दिन और इसके ठीक नौ महीने के बाद, अर्थात 14 मई, 1948 को इजरायल की राष्ट्र के रूप में घोषणा हुई.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

केंद्र और राज्य के बिगड़ते संबंध

पश्चिम बंगाल में चुनाव के पहले से सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और सत्ता पर आने की महत्वाकांक्षी भाजपा के बीच हिंसक टकराव चल रहे थे. दस बरस से मुख्यमंत्री चली आ रहीं ममता बनर्जी सरकार के खिलाफ जनता के बीच स्वाभाविक रूप से पनपने वाले असंतोष की शिकार भी हो सकती थीं, और सत्ता से बाहर जा सकती थीं, और ऐसी ही उम्मीद में भाजपा ने वहां पर सरकार बनाने के दावे भी किए थे.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

कोरोना का काम तमाम करेगी 2-डीजी

डीजीसीआई के मुताबिक 2-डीजी दवा के प्रयोग से कोरोना वायरस के ग्रोथ पर प्रभावी नियंत्रण से अस्पताल में भर्ती कोरोना मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से रिकवरी हुई और इसके अलावा यह मेडिकल ऑक्सीजन की जरूरत को भी कम करती है.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

एक म्यान...और तीन तलवार

मध्यप्रदेश में 14 महीने पहले महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया की मदद से मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान और उनके निकट साथी केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की तिकड़ी में टकराव की खबरें छन-छनकर आने लगी हैं. कॉरोनकाल में ये टकराव अब तक सतह के नीचे था किन्तु अब ये टकराव सतह के ऊपर दिखाई देने लगा है.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021

शांति कब तक?

पश्चिम एशिया में युद्ध विराम हो जाने से दुनिया ने चैन की सांस ली है. लेकिन यह युद्ध विराम स्थाई होगा इसकी संभावना कम है. यह शांति कब तक रहेगी, इसे लेकर संशय बरकरार है. इसका कारण यह है कि फिलिस्तीन के साथ ही इस्लामिक दुनिया में कुछ लोग हैं जो न स्वयं शांति से रहते हैं न दूसरे को रहने देते हैं. वे किसी अन्य के स्वरूप और अस्तित्व को स्वीकार नहीं करते. सबको अपने रंग में रंगना चाहते हैं.

1 min read
Gambhir Samachar
June 1, 2021
RELATED STORIES

बीजापुर का रक्तपात

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के आखिरी किले को ध्वस्त करने के लिए आगे बढ़ रहे सुरक्षाबल आ गए जानलेवा हमले की चपेट में

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

नक्सलियों ने अगवा crpf बटालियन के जवान राकेश्वर मन्हास को रिहा कर दिया

एक बड़ी खबर निकलकर सामने आई है, नक्सलियों ने अगवा crpf बटालियन के जवान राकेश्वर मन्हास को रिहा कर दिया है। कहा जा रहा है कि धरमपाल सैनी, तेलम बोरैया दो लोगों को मध्यस्थ बनाया गया था जो आज तड़के ही तरॆम से 40 किमी दूर अज्ञात स्थान के लिए रवाना हुए थे।

1 min read
Rokthok Lekhani
April 09, 2021

लापता जवान की तस्वीर जारी, नक्सलियों ने कहा वह हमारे कब्जे में है

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में पिछले दिनों हुए नक्सली हमले के बाद लापता एक जवान की तस्वीर बुधवार को कुछ स्थानीय पत्रकारों को मिली है।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
April 08, 2021

नक्सलियों को खत्म करने लिए तेज की जाएगी लड़ाई : अमित शाह

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवानों के मारे जाने की घटना पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि सुरक्षा बलों के जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। उन्होंने कहा है कि नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई तीव्रता से जारी रहेगी तथा उसे अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
April 06, 2021

छत्तीसगढ़ नक्सली हमले का उपयुक्त समय पर यथोचित जवाब दिया जाएगा : शाह

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले का उपयुक्त समय पर यथोचित जवाब दिया जाएगा। शाह ने यह भी कहा कि मुठभेड़ के बाद छत्तीसगढ़ में तलाशी अभियान जारी है।

1 min read
Samagya
April 05, 2021

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों का हमला, 22 जवान शहीद, 31 घायल

400 नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर किया था घात लगाकर हमला

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
April 05, 2021

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने बस को उड़ाया, पांच जवान शहीद, 13 अन्य जवान घायल

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर सुरक्षा बल के जवानों को लेकर जा रही बस को मंगलवार को उड़ा दिया। घटना में पांच जवान शहीद हो गए हैं जबकि 13 अन्य जवान घायल हुए हैं। घटना के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राज्य में नक्सलियों के खिलाफ सुरक्षा बलों का अभियान और तेज होगा।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
March 24, 2021