राम मंदिर और देशरत्न डॉ.राजेन्द्र प्रसाद की धर्मनिरपेक्षता पर सवाल
Gambhir Samachar|February 01, 2021
दशकों की कानूनी लड़ाई के बाद अंततः सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ कर दिया . अब वहां पर भव्य श्री राम मंदिर बनेगा. इसी क्रम में राम जन्मभूमि मंदिर न्यास ने मंदिर के निर्माण के लिए सबसे सहयोग राशि मांगी है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मांगी थी. राष्ट्रपति जी ने मदिर निर्माण के लिए पहला दान दिया. उन्होंने इसके लिए 5,01,000 (पांच लाख एक) रुपए का दान दिया और इस अभियान की सफलता के लिए अपनी व्यक्तिगत शुभकामनाएं भी दी.
आर.के. सिन्हा

दशकों की कानूनी लड़ाई के बाद अंततः सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ कर दिया. अब वहां पर भव्य श्री राम मंदिर बनेगा. इसी क्रम में राम जन्मभूमि मंदिर न्यास ने मंदिर के निर्माण के लिए सबसे सहयोग राशि मांगी है.राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से भी मांगी थी. राष्ट्रपति जी ने मंदिर निर्माण के लिए पहला दान दिया. उन्होंने इसके लिए 5,01,000 (पांच लाख एक) रुपए का दान दिया और इस अभियान की सफलता के लिए अपनी व्यक्तिगत शुभकामनाएं भी दी. याद रखिए कि वे देश के राष्ट्रपति होने के साथ-साथ एक नागरिक भी हैं. उनकी भी अपनी धार्मिक आस्थाएं और निष्ठाएं हैं.इसलिए अगर उन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए एक राशि दे दी तो कुछ सेक्युलरवादी जल-भुन क्यों गए. वे कह रहे हैं कि राष्ट्रपति पद पर बैठे इंसान को धार्मिक क्रियाकलापों से अपने को दूर रखना चाहिए. क्यों? क्या ऐसा कहीं संविधान में लिखा है क्या?

संविधान में राम-कृष्ण

राष्ट्रपति जी पर सवाल खड़े करने वाले जरा ठीक से पता कर लें कि भारत के संविधान की मूल प्रति में राम, कृष्ण और नटराज के चित्र क्यों हैं. यही नहीं, हमारे संविधान की मूल प्रति पर शांति का उपदेश देते हुये भगवान बुद्ध भी और पूर्व सभ्यता के प्रतीक मोहन जोदाड़ों के चित्र भी हैं जो अब कायदे से पाकिस्तान के अंग है. हिन्दू धर्म के एक और अहम प्रतीक अष्ट कमल भी संविधान की मूल प्रति पर हर जगह मौजूद हैं. पूरा मुखपृष्ठ ही कमल दल को संजोकर बनाया हुआ है. संविधान की मूल प्रति में मुगल बादशाह अकबर भी दिख रहे हैं और सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह भी वहां मौजूद हैं. मैसूर के सुल्तान टीपू और 1857 की वीरांगना रानी लक्ष्मी बाई के चित्र भी संविधान की मूल प्रति पर उकेरे गए हैं. तो राष्ट्रपति जी पर सवालिया निशान खड़े करने वाले जान लें कि हमारा संविधान नास्तिक भारत के निर्माण की वकालत तो कदापि नहीं करता. यह देश की समृद्ध संस्कृति और सभी प्रकार की धार्मिक आस्थाओं का पूरा सम्मान करता है.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GAMBHIR SAMACHARView All

ऑक्सीजन पर सियासत

कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात तो महाराष्ट्र, दिल्ली, यूपी और कई और भी राज्यों में करीब करीब एक जैसे ही हैं, लेकिन दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी के चलते अस्पतालों में भर्ती मरीजों की जान पर बन आयी है. ऑक्सीजन न मिलने की वजह से तो वेंटिलेटर पर रहे 22 मरीजों की महाराष्ट्र के अस्पताल में भी मौत हो गयी, लेकिन वहां ऑक्सीजन की कमी नहीं थी, बल्कि, गैस लीक होने के चलते करीब आधे घंटे तक मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचने में रुकावट आ गयी.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

भाजपा के लिए खतरनाक है मोदी का आत्मनिर्भर भारत अभियान!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान का मकसद तो यही है कि हर बात के लिए सारे लोग सरकार का मुंह न देखते रहें जितना भी संभव हो सके खुद भी कुछ न कुछ करें और अपने आस पास के लोगों को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करें.जब देश का प्रत्येक नागरिक आत्मनिर्भनर बनने की कोशिश करेगा तो सरकार पर काम का बोझ कम होगा और सरकार लोगों की बुनियादी जरूरतों को छोड़ आगे के बारे में सोचेगी. ये समझाइश भी इसीलिए रही है कि कोई ये न सोचे कि सरकार ने आपके लिए क्या किया हमेशा लोग ये सोचें कि देश के लिए हमने क्या किया?

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

प्रकृति के अनुरूप थे हमारे पुरखे!

मनुष्य को प्रकृति के करीब ला रहा है कोरोना. जी हा, आपने बिलकुल सही पढ़ा है. जब-जब मनुष्य प्रकृति के नियमों के विरुद्ध चला है, तब-तब उसे बीमारियों और संक्रमण फैलाने वाले वायरसों से दो-दो हाथ होना पड़ा है. प्राचीन समय ऋषि-मुनियों के आश्रम प्राकृतिक वातावरण के बीच हुआ करते थे और उन्हीं आश्रमों में रहकर ये ईश्वरीय ध्यान करते थे और शिष्यों को शिक्षा प्रदान किया करते थे. इतना ही नहीं ये ऋषि-मुनि प्रकृति के करीब रहकर सौ साल से ऊपर तक की आयु में भी स्वस्थ जीवन जीया करते थे. लेकिन आज हम पक्के घरों की चार दीवारी में बंद परवे, कूलर और एसी की हवा खाकर बीमार हो रहे हैं जो वायरस और संक्रमण को फैलाने में अहम भूमिका अदा करते हैं.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

फॉर्मल हुआ हर्बल

लगभग एक शताब्दी बाद दुनिया यह देखने के लिए बाध्य हुई कि एक महामारी ने पूरी धरती को एक साथ अपनी चपेट में ले लिया. तमाम आधुनिक मेडिकल साइंस इस महामारी को नियंत्रित करने में विफल साबित हुआ.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

कोरोना को हराने आई सेना

कोरोना से जंग लड़ने के लिए अब भारतीय सेना भी मोर्चे पर आ गई है. इसलिए यह उम्मीद बंधी है कि कोरोना की चालू लहर पर काबू पाने में मदद मिलेगी.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

ऑक्सीजन के क्यों पड़े लाले?

कोरोना के शिकार कई मरीज इलाज के इंतजार में दम तोड़ रहे हैं. जिन लोगों को साँस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही है उनका इलाज करने में अस्पतालों को दिन-रात एक करना पड़ रहा है. जिन लोगों को किस्मत से बेड मिल गई है, उनकी साँसें बचाने के लिए अस्पताल भारी जद्दोजहद में जुटे हैं. सोशल मीडिया और व्हॉट्स ग्रुप पर ऑक्सीजन सिलिंडरों की माँग करती अपीलों की भरमार है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

ऑक्सीजन और वनों की उपयोगिता

कोरोना वैक्सीन छोड़िए, इस संकट में लोगों को ऑक्सीजन तक नसीब नहीं हो रही है. 'कोरोना सांसे छीन रहा है', अब तक लोग सुनते आ रहे थे पर जिस तरह से सभी राज्यों में ऑक्सीजन की कमी हुई है, उसमें लोग यह दर्दनाक वाकया देखने को मजबूर हो गए हैं. आत्मा सिहर कर रह जाती है, जैसे ही कोई अखबार पढ़ो या टीवी देखो. हर तरफ कोरोना ने कोहराम मचा रखा है. उससे भी ज्यादा दुरवद यह है कि लोगों को ऑक्सीजन तक मयस्सर नहीं हो रही है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

अब बढ़ेगी पाकिस्तान की मुश्किलें

पहले से एक साथ कई मुश्किले झेल रहे पाकिस्तान के लिए अब एक और नई मुश्किलें खड़ी होने जा रही है. दरअसल, आफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया में पाकिस्तान की भूमिका रही है. इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा की है कि अफगानिस्तान में तैनात सभी अमेरिकी सैनिक सितंबर की 11 तारीख तक वापिस लौट जाएंगे. अमेरिका की इस डेडलाइन पर पाकिस्तान नजर बनाए हुए हैं. पाकिस्तान का कहना है कि अमेरिकी सैनिकों के वापस जाने को अफगान शांति प्रक्रिया से जोड़ा जाना चाहिए.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

कोरोना काल में आयुर्वेद की ओर आत्मनिर्भर भारत

आयुर्वेद प्राकृतिक एवं समग्र स्वास्थ्य की पुरातन भारतीय पद्धति है. संस्कृत मूल का यह शब्द दो धातुओं के संयोग से बना है आयुः + वेद 'आयु' अर्थात लम्बी उम्र (जीवन) और 'वेद' अर्थात विज्ञान.अतः आयुर्वेद का शाब्दिक अर्थ जीवन का विज्ञान है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

मुंबई का ऑक्सीजन मैन

देश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अस्पताल में बेड से लेकर ऑक्सीजन तक की कमी के चलते लोगों की जान जा रही है. ऐसे में मुंबई के मलाड स्थित मालवणी के 32 वर्षीय शाहनवाज शेख कुछ जिंदगियाँ बचाने के लिए मैदान में हैं.पैसों की कमी हुई, तो उन्होंने अपनी महंगी एसयूवी कार बेच दी और ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद कर लोगों को मुफ्त ऑक्सीजन देना शुरू कर दिया. सिलेंडर कम पड़े, तो अपनी सोने की चेन के साथ कुछ और जरूरी चीजें बेच दी. शाहनवाज शेख ने बताया, 'ऑक्सीजन की कमी से लोगों की जान जा रही है. ऐसे में हमारा प्रयास है कि जितना संभव हो, हम लोगों तक मुफ्त ऑक्सीजन पहुँचाएँ और लोगों की जान बचाएँ. इसके लिए हमने अपनी एसयूवी कार सहित कुछ कीमती सामान बेच दिया.'

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021
RELATED STORIES

निर्मल मन जन सो मोहि पावा...

अयोध्या में श्रीराम मन्दिर के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। इससे पूरे भारत में अपूर्व आनंद की लहर उठी है। लोग, श्रीराम मन्दिर के निर्माण कार्य में कुछ न कुछ अर्पित करना चाहते हैं और देश में इसके लिए अनगिनत लोगों ने अपने मेहनत की कमाई का कुछ अंश अर्पित किया है। इस कार्य में छोटे आयु के बाल-बलिकाओं और गरीब से गरीब व्यक्ति ने भी आगे बढ़कर योगदान किया है।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
April 2021

अयोध्या-अपराजेय आस्था की नगरी

श्री राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विध्वंस कांड इस सदी की प्रमुस्वतम महत्त्वपूर्ण धार्मिक-राजनैतिक घटना मानी जाती है लेकिन सच तो यह है कि अयोध्या, जिसका अर्थ ही है 'वह स्थल जिसके विरुद्ध कभी युद्ध न किया जा सके', उसका हृदय स्थल सदियों से ध्वंस एवं निर्माण का इतिहास रचते रहे हैं।

1 min read
Sadhana Path
April 2021

पर्यटन के माध्यम से भगवान श्रीराम को जानें

श्रीराम से जुड़े धार्मिक पर्यटन स्थलों के दर्शन और पर्यटन दोनों का ही आनंद लेना चाहते हैं तो आईआरसीटीसी के स्पेशल ट्रेन 'श्री रामायण एक्सप्रेस' में टिकट कराइए और भारत ही नहीं श्रीलंका और नेपाल में भी श्रीराम से जुड़े धार्मिक स्थलों के दर्शन करिए।

1 min read
Sadhana Path
April 2021

श्री राम से जुड़े प्रमुख तीर्थ व मंदिर

प्रभु राम ने अपने जीवन चरित्र से इस धरा पर रहने वाले मनुष्यों के लिए आदर्शों की स्थापना की। अपने सभी संबंधों में वह आदर्श की कसौटी पर पूर्णतः खरे उतरे। देश के हर कोने में उन्हें पूजा जाता है, न केवल भगवान राम बल्कि उनके जीवन से जुड़े क्षेत्रों को भी तीर्थ के समान ही समझा जाता है। यहां हम आपको राम जी से जुड़े ऐसे ही तीर्थ व मंदिरों से रूबरू करवा रहे हैं।

1 min read
Sadhana Path
April 2021

जब अयोध्या में लग गया था हँसने पर प्रतिबंध!

आनन्द रामायण में कई अनूठी कथाएँ मिलती हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
April 2021

ऑपरेशन पुष्प नगर-अयोध्यापुरी

इंदौर जिला कलेक्टर मनीष सिंह की देखरेख में जिला प्रशासन पुलिस विभाग और सहकारिता विभाग के द्वारा मिलकर चलाए गए ऑपरेशन पुष्प नगर और अयोध्यापुरी ने पूरे प्रदेश में सबसे बड़ी कार्रवाई का कीर्तिमान बना लिया है। इन दोनों कॉलोनियों के प्लाट धारकों को अब उनके अधिकार का प्लाट तो मिल जाएगा, लेकिन इस प्लाट पर मकान बनाने के लिए उन्हें अभी और इंतजार करना होगा

1 min read
Rising Indore
24 February 2021

करीब 1,100 करोड़ की लागत से तीन साल में पूरा होगा राम मंदिर का निर्माण

राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के एक महत्वपूर्ण पदाधिकारी ने कहा है कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण कार्य करीब तीन साल में पूरा होगा और उसपर करीब 1,100 करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत आने की संभावना है।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
January 25, 2021

अयोध्या में राम मंदिर के नींव का निर्माण शुरू

अयोध्या के राम जन्मभूमि में रामलला के गर्भ गृह स्थल पर गुरुवार से नींव के निर्माण का कार्य शुरू कर दिया गया।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
January 22, 2021

राम मंदिर भारत के स्वाभिमान और गौरव का प्रतीक होगा : आरएसएस

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने बृहस्पतिवार को कहा कि अयोध्या में बनने वाला राम मंदिर भारत के स्वाभिमान और गौरव का प्रतीक होगा तथा इसका भूमिपूजन समारोह देश के इतिहास में एक महत्वपूर्ण मोड़ था।

1 min read
Samagya
January 08, 2021

नौ माह बाद अयोध्या और वाराणसी के लिए तीन स्पेशल ट्रेन की मिलेगी सुविधा

ट्रैन हफ्ते में दो-दो दिन चलेंगी

1 min read
Haribhoomi Delhi
January 07, 2021