जुए में न करें जेब खाली
Mukta|October 2021
कहते हैं जुए की लत में जर, जोरू और जमीन, सब दांव पर लग जाते हैं. महाभारत से ले कर आज के भारत में जुए की गंदी लत ने न जाने कितने घरों को बरबाद किया है, कितने घरों में अशांति फैलाई है. क्या आप भी इस की लत में सबकुछ खोने को तैयार हैं?
भारत भूषण श्रीवास्तव

तीजत्योहारों पर धार्मिक रीतिरिवाजों के नाम पर कई कुरीतियां भी हम ने पाल रखी हैं, जैसे होली पर शराब और भांग का नशा करना और दीवाली पर जुआ खेलना, जिस के पीछे अफवाह यह है कि आप अपनी किस्मत और आने वाले साल की आमदनी आंक सकते हैं. दीवाली पर जुए के पीछे पौराणिक कथा यह है कि इस दिन सनातनियों के सब से बड़े देवता शंकर ने अपनी पत्नी पार्वती के साथ जुआ खेला था, तब से यह रिवाज चल पड़ा.

बात सौ फीसदी सच है कि जिस धर्म के देवीदेवता तक जुआरी हों, उस के अनुयायियों को भला यह दैवीय रस्म निभाने से कौन रोक सकता है. महाभारत का जुए का किस्सा और भी ज्यादा मशहूर है जिस में कौरवों ने पांडवों से राजपाट तो दूर की बात है, उन की पत्नी द्रौपदी तक को जीत लिया था. मामा शकुनी ने ऐसे पांसे फेंके थे कि पांडव बेचारे 12 साल जंगलजंगल भटकते यहांवहां की धूल फांकते रहे थे. महाभारत की लड़ाई, जिस में हजारोंलाखों बेगुनाह मारे गए थे, के पीछे वजह यही जुआ था.

जुए के नुकसान आज भी ज्यों के त्यों हैं, फर्क इतना है कि युग, सतयुग, त्रेता या द्वापर न हो कर कलियुग है और किरदार यानी जुआरी आम लोग हैं जो पांडवों की तरह दांव पर दांव हारे हुए जुआरी की तरह लगाए चले जाते हैं लेकिन सुधरते नहीं. भोपाल के अनिमेश का ही उदाहरण लें जो पुणे में एक सौफ्टवेयर कंपनी में इंजीनियर हैं. पिछले साल दीवाली पर लौकडाउन के चलते घर नहीं आ पाए थे, सो दीवाली अपने किराए के फ्लैट में दोस्तों के साथ मनानी पड़ी. शाम को जम कर जाम छलके, फिर रात 9 बजे के करीब प्रशांत ने जुआ खेलने का प्रस्ताव रिवाज का हवाला देते रखा तो सभी पांचों दोस्तों ने हां कर दी.

दुनिया का सब से प्रचिलित खेल 'तीन पत्ती, जिस का एक और नाम फ्लैश है, शुरू हुआ तो यों ही था लेकिन खत्म यों ही नहीं हुआ. सुबह होतेहोते अनिमेष एकदो महीने की नहीं, बल्कि पूरे सालभर की सैलरी हार चुका था. 60 हजार तो नकदी गए और तकरीबन 2 लाख अनिमेश ने तुरंत औनलाइन ट्रांसफर किए, बाकी बचे और 2 लाख उस ने 6 महीनों की किस्तों में चुकाए. सालभर की बचत एक झटके में ठिकाने लग गई.

अनिमेश बताता है कि ये सेविंग के पैसे थे, जिन से वह पापा की मदद करना चाहता था. बड़ी बहन की शादी कभी भी तय हो सकती है, इस के लिए उस ने पापा से कह रखा था कि वह 5 लाख रुपए देगा. दीदी की शादी जल्द हो जाए, यह मनाते रहने वाला यह युवा अब रोज मन्नत मांगता है कि शादी अभी तय न हो क्योंकि वह दोबारा पैसे इकट्ठे कर रहा है जिस में करीब एक साल लगेगा.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM MUKTAView All

सोशल डायरीज कैफे

दीपक ने आखिरकार इंग्लिश पर विजय पाई और उस की आर्ट की तारीफ देशविदेश में होने लगी. इटली के फ्लोरेंस शहर की आर्ट गैलरी में उस की बनाई पेंटिंग्स ऊंचे दामों में बिकने लगी. इधर रूपाली प्रतीक के प्रेमजाल में फंसी रही जबकि उधर कैफे में लगी मोनालिसा की पेंटिंग दीपक के मानस पटल पर बारबार उभरती है, लेकिन...

1 min read
Mukta
December 2021

म्यूजिकल रिऐलिटी शो खोज से खोने का सफर

टीवी म्यूजिक शोज ने संगीत दुनिया को कई सिंगर दिए जिन्होंने सुरतालों में अपना योगदान दिया और अपनेअपने समय में लोगों को अपनी आवाज से मंत्रमुग्ध किया. आज भी टीवी म्यूजिक शोज नए टैलेंट निकाल रहे हैं. ये शोज कितने कारगर साबित होते हैं, जानते हैं इन मशहूर हस्तियों से....

1 min read
Mukta
December 2021

हत्या बनाम आत्महत्या

उस के मस्तिष्क में विचार तालाब की लहरों की तरह उठगिर रहे थे. वह तालाब की लहरों को एकटक देखते हुए अपनी बदनामी को ले कर चिंतित था. कुछ देर बाद उसे होश नहीं रहा. गोताखोरों ने उसे खोज कर निकाला.

1 min read
Mukta
December 2021

सम्मान के ये कैसे हकदार

क्या इस देश में समाज को सकारात्मक दिशा दिखाने वाले लोगों की कमी हो गई है जो फिल्म जगत के ऐयाश लोगों, देश तोड़ने वालों, नफरत फैलाने वालों और नकारात्मक छवि पेश करने वालों को पद्मश्री जैसे सर्वोच्च सम्मान से नवाजा जा रहा है?

1 min read
Mukta
December 2021

औरत की शक्ति को दबाया नहीं जा सकता

बहुमुखी प्रतिभा के धनी ध्रुव वर्मा ने 6 वर्ष की उम्र में अभिनय में कदम रख दिया था. 30 से अधिक नुक्कड़ नाटक करने वाले ध्रुव अभिनय को अपना पैशन मानते हैं. अब वे इंडियन-पोलिश फिल्म 'नो मीस नो' में नजर आने वाले हैं. आइए जानें उन्हीं से उन की अभिनय जर्नी के बारे में.

1 min read
Mukta
December 2021

बौयफ्रैंड पर भरोसा अपराध नहीं

आमतौर पर देखा जाता है कि लड़कियां बौयफ्रैंड बनाने से झिझकती हैं, उन्हें कई तरह की चिंताएं सताने लगती हैं. बौयफ्रैंड रखने में बुराई नहीं, हां, इस रिश्ते को कहां तक कैसे ले कर जाना है, यह सोचना अहम होता है.

1 min read
Mukta
December 2021

व्हाट्सऐप ग्रुप में अश्लील मैसेज आए तो क्या करें

इंटरनैट ने जहां एक तरफ जीवन को आसान बनाया, वहीं दूसरी तरफ इस की खामियां भी सामने आई हैं. पहले जो मनचले लड़के गलीमहल्ले में स्कूलकालेज जाती लड़कियों को आतेजाते परेशान किया करते थे, अब वे सोशल मीडिया में परेशान करने लगे हैं.

1 min read
Mukta
December 2021

दहेज माने क्या

दहेज लेना अपराध है फिर भी लोग लेते हैं, और देने वाले भी देते हैं, चाहे खुले मुंह से या दबे हाथ से, पर लेते जरूर हैं, आखिर दहेज क्यों? चलो तर्क करें.

1 min read
Mukta
December 2021

अविवाहित लड़कियों पर प्रश्नचिह्न क्यों

लड़की 18 वर्ष की हुई नहीं कि घरपरिवार में लड़की की शादी करवा देना सिर से बोझ उतरने जैसा बन जाता है. कुछ लड़कियां कई वजहों से देर तक शादी नहीं करती तो उन पर चहुंओर से छींटाकशी शुरू हो जाती है. सवाल यह है कि अविवाहित लड़कियों पर समाज इतना प्रश्नचिह्न क्यों लगाता है?

1 min read
Mukta
December 2021

सोशल मीडिया बनता ब्लैकमेलिंग का अड्डा

सावधान, इन दिनों सोशल मीडिया ब्लैकमेलिंग का अड्डा बनता जा रहा है. पहले दोस्ती, फिर सैक्स्टिग और अंत में ब्लैकमेलिंग के जरिए लाखों रुपए ऐंठे जा रहे हैं. ऐसा शातिर गिरोह द्वारा योजनापूर्ण तरीके से किया जा रहा है. आप भी इस की गिरफ्त में तो नहीं?

1 min read
Mukta
November 2021