आ गई वैक्सीन
Champak - Hindi|February Second 2021
दीया के पापा हर्ष टैलीविजन पर न्यूज देख रहे थे.यह उन की रोज की दिनचर्या थी. वे एक सरकारी अस्पताल में फार्मासिस्ट थे.
डा. के. रानी

आज न्यूज सुनते ही वे खुशी से उछल पड़े. दीया उन के पास खड़ी थी. उस ने जिज्ञासावश पूछा, “क्या हुआ पापा? आज आप न्यूज सुन कर बहुत खुश दिखाई दे रहे हैं."

"हां, बात ही कुछ ऐसी है. तुम भी सुनोगी तो उछल पड़ोगी. हमारे देश ने कोविड-19 की वैक्सीन सफलतापूर्वक बनाई है और अभीअभी प्रधानमंत्री ने टीवी पर इस की घोषणा की है," हर्ष ने उत्साह से कहा.

"क्या आप सच कह रहे हैं पापा,” दीया ने पूछा.

"हां, एकदम सच. तुम भी टीवी पर सुन सकती हो,” हर्ष ने कहा.

“यह महामारी से छुटकारा ही नहीं देगा बल्कि हमारी रक्षा भी करेगा," हर्ष बोले.

दीया ने उत्साहित हो कर पूछा, “पापा, तब तो मेरा स्कूल भी फिर से खुल जाएगा.”

"जरूर खुलेगा. लगता है तुम्हें स्कूल की याद आने हर्ष मुसकराया.

"हां, पापा, मुझे स्कूल और अपने दोस्तों की बहुत याद आ रही है. कोविड-19 महामारी के कारण हम सभी दोस्त साथ खेल भी नहीं पाते हैं. स्कूल में साथ मिल कर खेलने में बहुत मजा आता था," दीया ने जवाब दिया.

"बस, अब परेशानी का दौर खत्म होने वाला है. कुछ समय बाद ही तुम्हें फिर से स्कूल और यहां तक कि घूमनेफिरने की भी अनुमति मिल जाएगी."

“पापा, क्या यह वैक्सीन हमारे देश के वैज्ञानिकों ने बनाई है?" दीया ने पूछा.

"हां, इस महामारी से निबटने के लिए हमारे देश की कई कंपनियां वैक्सीन बनाने में जुटी हुई हैं. इन में से 'कोविशील्ड नाम की वैक्सीन सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा विदेशी सहयोग से बनाई जा रही है, जबकि एक अन्य को भारत बायोटैक कंपनी द्वारा बनाया जा रहा है. यह पूरी तरह स्वदेशी है. हमारे देश में अभी 3 कंपनियों को इस के निर्माण के लिए हरी झंडी मिली है. इस के अलावा 5 और कंपनियों में भी यह वैक्सीन परीक्षण के अंतिम चरण में है," हर्ष ने समझाया.

"लेकिन पापा, इन में से कौन सी वैक्सीन सब से अच्छी होगी? हम कैसे तय करेंगे?" दीया ने पूछा.

“वह वैक्सीन जो सब से अच्छी मानी जाती हो और सुरक्षित और असरदार भी हो, जिस से कम से कम मौतें हों. वह संक्रमण की चेन को तोड़ने वाली हो तथा उस से सौ प्रतिशत संक्रमण भी रुक जाए. अभी कुछ नहीं कहा जा सकता. यह तो टीकाकरण के परिणाम आने के बाद ही पता चल सकेगा,” हर्ष ने समझाया.

“पापा, हमें टीका कब लगेगा?" उस ने पूछा.

"अभी हमें थोड़ा सा इंतजार करना होगा. सब से पहले इसे उन लोगों को लगाना बहुत जरूरी है, जो महामारी से दूसरों के बचाव में दिनरात काम कर रहे हैं. सब से पहले यह वैक्सीन स्वास्थ्यकर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और गंभीर रूप से बीमार सीनियर सिटीजन को लगेगी. उस के बाद हम सब का नंबर आएगा," हर्ष ने बताया.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM CHAMPAK - HINDIView All

काला भूत

ऐसा लगता है, गर्मियों की शुरुआत हो चुकी है,” इंदु खरगोश ने बीना बुलबुल से कहा.

1 min read
Champak - Hindi
May Second 2021

मिल गया खजाना

गिन्नी ने जैसे ही मोबाइल पर यह समाचार पढा, वह खुशी से उछल पड़ी.

1 min read
Champak - Hindi
May Second 2021

चंपकवन में शरणार्थी

चंपकवन के महाराजा शेरसिंह सुबह समाचारपत्र पढ़ रहे थे. पड़ोसी जंगलों रैडवुड और ग्रीनवुड के बीच चल रहे युद्ध के समाचार से वे खिन्न हो गए थे. जब वे दोनों जंगलों के निर्दोष जानवरों के बारे में सोच रहे थे, तभी चंपकवन का सुरक्षा प्रमुख यानी सिक्युरिटी चीफ रौकी कुत्ते ने गुफा में प्रवेश किया.

1 min read
Champak - Hindi
May Second 2021

कैंप में चिप्स के पैकेट्स

मौसम बदल गया था. ठिठुरती ठंड अपना बोरियाबिस्तर समेट कर जा चुकी थी और इस के साथ ही बढ़ गई थी चुनमुन और तान्या की उछलकूद. अब वे घर में कहां टिकने वाले थे. अमेरिका से आए चाचा वहां रह रहे थे. इस के अलावा उन्हें अपने भतीजे और भतीजी की चापलूसी करने की आदत थी.

1 min read
Champak - Hindi
May Second 2021

रैना की पहाड़ यात्रा

रैना चुहिया गरमी सहन नहीं कर पाती थी. इसलिए इस बार उस ने फैसला किया कि गरमी से बचने के लिए पहाड़ों की सैर करेगी, लेकिन वह वहां जाएगी कैसे? ये तो उस ने सोचा ही नहीं था. इन दिनों वह दिनरात इसी उधेड़बुन में लगी रहती थी.

1 min read
Champak - Hindi
May Second 2021

गजब का सहायक फुरू

फुरू ने कहा, "लेकिन मालिक, मैं तो उसे नहीं जानता हूं. मैं उसे कैसे पहचानूंगा?"

1 min read
Champak - Hindi
May First 2021

पंखों की प्रशंसक फराह

फराह एक छोटी सी खूबसूरत लड़की, पंखों की प्रशंसक थी. उस के मम्मीपापा के कमरे में एक लाल रंग का सीलिंग फैन था. दादीमां के कमरे में छत का सफेद पंखा था. फराह के पास ब्लू कलर का एक टेबल फैन था. उस के बाद भी फराह की शिकायत थी, "हमारे स्टोररूम और काम के एरिया में एक भी पंखा नहीं है. मुझे अपनी पम्मी बिल्ली के लिए भी एक छोटे से पीले रंग के पंखे की जरूरत है."

1 min read
Champak - Hindi
May First 2021

प्यारे नर्स भैया

पारस के पापा पेशे से डाक्टर थे. उन का अपना नर्सिंगहोम था, जिस में मरीजों के रहने के लिए दस कमरे व एक औपरेशन थियेटर था. समयसमय पर और भी डाक्टर वहां आते थे. इस के अलावा उन्होंने मरीजों की देखभाल करने के लिए कुछ नर्से भी नियुक्त की थीं.

1 min read
Champak - Hindi
May First 2021

जंगल में चुनाव

मध्य प्रदेश में सतपुड़ा पर्वत श्रृंखलाओं के बीच चंपकवन नाम का एक बहुत घना जंगल था. शेरसिंह वहां के राजा थे. शेरसिंह बहुत अच्छे राजा थे और वे अपनी प्रजा का पूरा ध्यान रखते थे. उस के राज में शाकाहारी और मांसाहारी दोनों ही तरह के जानवर खुशीखुशी जंगल में रहते थे. जंगल में सभी के लिए पर्याप्त खाना और पानी था, किसी को कोई परेशानी नहीं थी. इसलिए सब शेरसिंह को काफी पसंद करते थे.

1 min read
Champak - Hindi
May First 2021

शांत महारानी

नूरनाम का एक बाघ महारानी थी, जो घमंडी और गर्ममिजाज की थी. वह बिना मतलब गुर्राती, दहाड़ती और जंगल के जानवरों को डराती थी.

1 min read
Champak - Hindi
May First 2021
RELATED STORIES

बदलेगा थोक मूल्य सूचकांक

आधार वर्ष बदलकर 2017-18 और उत्पादों की संख्या करीब दोगुनी की जाएगी

1 min read
Business Standard - Hindi
June 07, 2021

घर को पहनाएं सुरक्षा कवच

सुरक्षा जरूरी है और उसके लिए जरूरी है तैयारी कैसे अपने घर से संक्रमण को बचाएं, बता रही हैं मोनिका अग्रवाल

1 min read
Anokhi
May 01, 2021

नहीं मिली शराब तो सैनिटाइजर पीकर की पार्टी, 7 लोगों की हो गई मौत

महाराष्ट्र में सात लोगों की मौत का एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। पूर्वी महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में शराब नहीं मिलने के बाद सैनिटाइजर पीने से 7 लोगों की मौत हो गई।

1 min read
Rokthok Lekhani
April 26, 2021

पोलियो टीकाकरण के दौरान लापरवाही

दवा की जगह सैनिटाइजर पीने से 2 बच्चे पहंचे अस्पताल

1 min read
Rokthok Lekhani
February 02, 2021

मुंबई/ सैनिटाइजर बोतल में हुए ब्लास्ट से महिला जली

कोरोना संकट की वजह से हैंड सैनिटाइजर हर व्यक्ति की जरूरत बन चुका है। कोरोना महामारी आने के बाद से ही सैनिटाइजर लोगों की जिंदगी की एक अहम हिस्सा हो गया है।

1 min read
Rokthok Lekhani
January 06, 2021

भविष्य का सूक्ष्मजीव-द्वैषी, अस्वस्थ समाज

कोरोनाकाल में लोगों में सूक्ष्मजीवों से सुरक्षा की चिंता बढ़ी है, जो शायद उचित भी है।

1 min read
Srote
August 2020

कोविड के विरुद्ध सबसे बड़ा हथियार मास्क और सैनिटाइजर है: डॉ.हर्षवर्धन

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, इंडियन रडक्रोस सोसाइटी (ईआरसीएस) के अध्यक्ष डॉ. हर्षवर्धन ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर मास्क और साबुन वितरित किया।

1 min read
Rokthok Lekhani
December 02, 2020

पांच लाख मास्क और सेनेटाइजर वितरण के अभियान की शुरूआत

कोरोना महामारी का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है और जब तक इसकी वैक्सीन नहीं आ जाती तब तक मास्क ही बचाव इसका बचाव है, ये कहना है प्रमुख के मुख्य सचिव निरंजन आर्य का।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
November 28, 2020

कोरोना काल में भी दुर्गा पूजा पर लगा उत्साह का रेला

चेहरे पर मास्क व बैग में सैनिटाइजर लेकर निकल पड़े लोग

1 min read
Samagya
October 23, 2020

पंजाब नेशनल बैंक कोलकाता जोन ने फेस मास्क और सैनिटाइजर वितरित किया

पंजाब नेशनल बैंक कोलकाता जोन ने सीएसआर एक्टिविटी के तहत फेस मास्क और सैनिटाइजर वितरित किया है।

1 min read
Samagya
August 20, 2020