मेरा सफर बालों के संग
Grihshobha - Hindi|April Second 2021
जब से मैं ने होश संभाला था, अपने बालों को एक सुनामी जैसा पाया था. 12 या 13 वर्ष की उम्र उस समय (90 के दशक में) इतनी ज्यादा नहीं होती थी कि मुझे कुछ समझ आता. तेल से तो उस समय मेरा दूरदूर तक नाता नहीं था.
रितु वर्मा

शायद ही कभी तेल को बालों में लगाया हो. मेरे बाल बहुत घने थे जिस के लिए अधिकतर लोग तरसते हैं. मेरी सहेलियां और दूरपास की रिश्ते की बहनें मेरे जैसे बाल चाहती थी. मेरे बाल वेवी थे, इसलिए बिना ड्रायर के ही हमेशा फूले हुए लगते थे.

बाल क्योंकि वेवी थे, इसलिए मेरी मम्मी हमेशा बौयकट ही करवाती थीं. बौयकट के कारण मुझे अपना साधारण चेहरा और अधिक साधारण लगता था. कंडीशनर, स्पा इत्यादि का तब प्रचलन नहीं था. बाल धोने के लिए हमें हफ्ते में 1 बार ही शैंपू मिलता था. हफ्ते में बाकी दिन मुझे नहाने के साबुन से ही बाल धोने पड़ते थे. साबुन से धोने के कारण और तेल या अन्य कोई घरेलू नुसखा न अपनाने के कारण मेरे कड़े बाल और अधिक रूखे और कड़े हो गए थे.

फिर भी बिना किसी प्रकार की देखभाल के भी मेरे बाल न झड़ते थे, न टूटते थे. जब मैं कालेज में आई तो स्टैपकट करा लिया जो मेरे बालों के टैक्स्चर के कारण अच्छा लगता था. फिर शुरू हुआ इक्कादुक्का सफेद बालों में मेहंदी लगाना. हर 15 दिन बाद मैं मेहंदी लगा लेती थी, बाल चमकने के साथसाथ बहुत सख्त भी हो गए थे. ये सारे प्रयोग मैं चाची, नानी इत्यादि के घरेलू नुसखों की मदद से कर रही थी.

शैंपू और कंडीशनर का चुनाव

जब भी बाल कटाने जाती तो हमेशा कहा जाता कि मेहंदी की एक परत मेरे बालों पर जम गई है. अधिक मेहंदी बालों के लिए नुकसानदेह है. पर मैं ने अधिक ध्यान नहीं दिया. विवाह के बाद मेरे ब्यूटी रूटीन में कंडीशनर भी जुड़ गया. अब मैं हफ्ते में 3 दिन बाल धोती थी और बाद में कंडीशनर लगाती थी. पर यहां भी मैं ने एक गलती करी कि मैं ने शैंपू और कंडीशनर का चुनाव अपने बालों के हिसाब से नहीं, बल्कि मूल्य के हिसाब से किया.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GRIHSHOBHA - HINDIView All

लगन पर भारी कोरोना महामारी

शादी बाजार में एक बार फिर से सन्नाटा है और जिन लोगों की आजीविका शादी समारोहों से चलती थी, कोरोना ने इन से न सिर्फ काम छीन लिया है, सरकार की गलत नीतियों की वजह से दो जून की रोटी मिलनी भी मुश्किल हो रही...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

धर्म से ही है लैंगिक असमानता

धर्म कोई भी हो, किसी न किसी रूप में स्त्रियों के प्रति लिंग आधारित भेदभाव करता ही है और यह बाद में किस तरह अत्याचार का कारण बन जाता है, क्या जानना नहीं चाहेंगे...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

तो तीसरी लहर बच्चों पर रहेगी बेअसर

कोरोनाकाल में बच्चों को ले कर चिंतित हैं, तो यह जानकारी आप के लिए ही है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

फेस सीरम रखे स्किन को जवां

स्किन के अनुसार फेस सीरम का चुनाव किस तरह आप की त्वचा के लिए फायदेमंद है, जरूर जानिए...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

कोरोना की नई लहर बदहाली में फंसे सिनेमाघर

यह सही है कि कोरोना की वजह से सिनेमाघरों की स्थिति अच्छी नहीं है, मगर इस बदहाली के लिए सिर्फ कोरोना ही जिम्मेदार है या फिर कोई गहरी साजिश रची जा रही है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

क्यों जरूरी है हाथों की सफाई

हाथों की नियमित सफाई से आप किस तरह गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं, जरूर जानिए...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

कोरोना औरत के कंधे पर बढ़ा बोझ

कोरोना से उपजी त्रासदी में महिलाएं किस तरह खुद की जान दांव पर लगा कर अपने परिवार की जिंदगी बचाने में लगी हैं, जान कर हैरान रह जाएंगे आप...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

कामकाजी महिलाएं हुनर पर भारी आर्थिक आजादी

आखिर क्या वजह है कि समाज के लगभग हर वर्ग में अपनी मेहनत से खुद की पहचान बनाने वाली महिलाएं आर्थिक मोरचे पर पुरुषों से आगे नहीं निकल पा रही हैं...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

सेहत बना सकती हैं 9 आदतें

अपनी आदतों में बदलाव ला कर आप खुद के साथ परिवार को किस तरह सेहतमंद रख सकती हैं, यह हम आप को बताते हैं...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May Second 2021

खुद को दें क्वालिटी टाइम

परिवार के साथ आप अपने लिए भी समय निकाल सकती हैं, कुछ इस तरह...

1 min read
Grihshobha - Hindi
May First 2021
RELATED STORIES

10 Ways To Make Your Hair Healthy Again

While genetics play a key role, your diet, the weather, pollution, and your overall approach to hair care are all critical to maintaining your crowning glory. Shinier, healthy hair is just 10 tricks away.

2 mins read
Women Fitness
May - June 2020

¿Funciona en la vida real? – Lavado de cabello semanal

Reducir la frecuencia con que usas shampoo a la misma con que horneas una bandeja de galletas o lavas tus sábanas, ¿te traerá pelo más sano (y unos cuantos minutos más de sueño)? Una colaboradora lo pone a prueba.

3 mins read
Women's Health en Español
Diciembre 2019

Prolongando el cabello

Conoce la primera compañía de extensiones de pelo humano financiada por empresas del mundo. ¿Su objetivo? Ser el Airbnb de los salones de belleza.

10 mins read
Forbes México
Octubre - Noviembre 2019

7 trucos para que tu pelo crezca

¿Lob? No sabemos de qué nos hablas.

3 mins read
Seventeen México
Septiembre 2019

Good Hair Days Ahead!

Hair products can be hella expensive (but they’re kinda, sorta worth it, too!). However, if you want healthy, lustrous locks on a budget, we’ve got options that’ll do the job just as well.

7 mins read
Cosmopolitan India
March 2021

Melena rejuvenecida

Si pensabas que con sólo tinte se soluciona todo, error, necesitas conocer la raíz del asunto.

3 mins read
Vanidades México
Febrero 04 -2021

बाल नहीं रहेंगे अब चिपचिपे

बालों में नियमित रूप से तेल लगाना अच्छी बात है, पर बालों का चिपचिपा होना उनकी सेहत के साथ लुक के लिए भी ठीक नहीं। कैसे चिपचिपे बालों से पाएं छुटकारा

1 min read
Anokhi
November 21, 2020

Biotecnología

Melisse Shaban, creadora de la firma Virtue, utiliza una nueva tecnología de queratina patentada que promete mejorar la salud y la calidad del pelo, ya que actúa y repara donde más se necesita: en las fibras dañadas.

2 mins read
L'Officiel México
No. 68 Noviembre 2020

Monsoon Care: Essentials for Healthy Hair & Scalp

This monsoon, get the best professional care with these salon-favourite product ranges.

5 mins read
Beauty Launchpad India
August 2020

Exactly What Your Hair Needs (According to Your Zodiac Sign)

We have done the astro math and you’d be surprised how well it works.

7 mins read
Cosmopolitan India
July 2020