जिंदगी की बाजी जीतने के 15 सबक
Grihshobha - Hindi|February Second 2021
माना कि जीवन में समस्याएं हैं मगर इन से उबरने के भी तो उपाय हैं. कोरोनाकाल ने हमें अपनी गलतियों से सबक ले कर जिंदगी को फिर से खुशनुमा बनाने का अवसर दिया है...
गरिमा पंकज

कोरोना ने हमारी जिंदगी पूरी तरह से बदल डाली है. हमारी मस्ती, फुजूलखर्ची, आए दिन रैस्टोरैंट्स में पार्टी,खानापीना, बेमतलब भी घूमने निकल जाना, कभी शौपिंग, कभी मूवी तो कभी रिश्तेदारों का आनाजाना धूममस्ती इन सब पर विराम लग चुका है. ज्यादातर लोग वर्क फ्रोम होम कर रहे हैं. लोगों के बेमतलब आनेजाने पर ब्रेक लग गया है. मास्क और सैनिटाइजर जीवन के अहम हिस्से बन गए हैं.

ऐसे में यदि आप भी बीती जिंदगी से कुछ सबक ले कर आने वाली जिंदगी को बेहतर अंदाज में जीना चाहते हैं तो अपनी जीवनशैली, सोच और जीने के तरीके में कुछ इस तरह के बदलाव लाएं ताकि एक सुकून भरी जिंदगी की शुरुआत कर सकें.

रिश्तों को संजोना सीखें

रिश्ते आप की जिंदगी में अहम भूमिका निभाते हैं. परेशानी के समय इंसान अपने घर की तरफ ही भागता है. हम ने कोरोनाकाल में देखा कि किस तरह लोग शहर छोड़ कर अपनेअपने गांव की तरफ भाग रहे थे. दरअसल, हर इंसान को पता होता है कि अजनबी शहर में तकलीफ के समय आप अकेले होते हैं. इस से तकलीफ अधिक बड़ी महसूस होती है.

पर जब आप अपनों के बीच होते हैं तो मिलजुल कर हर तकलीफ से नजात पा जाते हैं. भले ही तकलीफ खत्म न हो पर दर्द बांट कर उसे सहना आसान हो जाता है. मांबाप, भाईबहन जिन्हें आप कितना भी बुरा क्यों न कहें पर जब बीमारी हारी या कोई परेशानी आती है तो वही हमारा संबल बनते हैं.

इसलिए हमेशा अपने रिश्तों को सहेज कर रखना चाहिए. उन्हें एहसास दिलाते रहना चाहिए कि आप उन्हें कितना प्यार करते हैं. जिस तरह बैंकों और दूसरी जगहों पर आप समयसमय पर रुपए जमा करते हैं वैसे ही रिश्तों में भी निवेश कीजिए. थोडाथोड़ा प्यार बांट कर रिश्तों की बगिया को गुलजार रखिए, एक समय आएगा जब यही बगिया आप की जिंदगी को सींच कर फिर से हरीभरी बना देगी.

मंदिरा की अनिल के साथ लव मैरिज हुई थी. अनिल हमेशा से मंदिरा की हर बात मानता था. शादी के बाद मंदिरा और अनिल मुश्किल से 2-4 महीने सब के साथ रहे. इस बाद अनिल ने मंदिरा की सलाह पर अलग होने का फैसला ले लिया. मांबाप उन के इस फैसले से बहुत दुखी थे, मगर मंदिरा को ससुराल रास नहीं आ रही थी.

सास ने बहू का हाथ थाम कर कहा, “बेटा साथ रहने में क्या बुराई है ? इतना बड़ा घर है. तुझे कोई परेशानी नहीं होगी."

मंदिरा ने साफ जवाब दिया, "मम्मीजी घर कितना भी बड़ा हो पर लोगों की भीड़ तो देखो ननद, देवर, जेठजी, जेठानीजी, आप, पापाजी और नंदू इतने लोगों के बीच मेरा दम घुटता है. उस पर यह रिश्तेदारों का आनाजाना. मुझे बचपन से मम्मीपापा के साथ अकेले रहने की आदत है. अब शादी के बाद पति के साथ अकेली घर ले कर रहूंगी. मैं ने अनिल से पहले ही कह दिया था.

मां ने बेटे की तरफ देखा फिर नजरें झुका ली. अनिल और मंदिरा ने दूसरी लोकैलिटी में एक अच्छा सा घर लिया और वहां रहने लगे. वक्त गुजरता रहा. मंदिरा आराम से अकेली पति के साथ रहती और खाली समय में टीवी देखती या मोबाइल पर सहेलियों के साथ लगी रहती.

वह अपने ससुराल वालों की कभी कोई खोजखबर भी नहीं लेती थी. न अनिल को उन के घर जाने देती. अनिल की अच्छीखासी कमाई होने लगी. उन्हें किसी चीज की कमी नहीं थी.

इस बीच कोरोना का प्रकोप शुरू हुआ. अनिल की नौकरी छूट गई. मंदिरा इस समय प्रैगनेंट थी. आर्थिक समस्याएं सिर उठाने लगीं. मुसीबत तब और बढ़ गई जब अनिल कोरोना पौजिटिव निकला. मंदिरा के हाथपैर फूल गए. अब वह अपनी और गर्भ के बच्चे की चिंता करे या पति की. उस ने अपनी मां को फोन लगाया, मगर वे खुद बीमार थीं.

हार कर उस ने अपनी सास को सारी परिस्थितियों से अवगत कराया. सास ने सारी बात सुनते ही अपना सामान पैक किया और मंदिरा के पास रहने आ गईं.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GRIHSHOBHA - HINDIView All

ममता बनर्जी से दीदी तक का सफर

राजनीति में जहां आज रूतबा और पैसा है, वहीं ममता की सादगी ही उन की पहचान है. ममता से दीदी और फिर मुख्यमंत्री बनने का उन का सफर बेहद रोचक है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
April First 2021

शादी तब तक नहीं जब तक कमाऊ नहीं

लड़कियों को भी पढ़लिख कर कमाऊ बनने की छूट देना हर मां-बाप के लिए क्यों जरूरी है हम आप को बताते हैं...

1 min read
Grihshobha - Hindi
April First 2021

त्वचा को दें फूलों सा निखार

शरीर की त्वचा को कुदरती चमक देना चाहती हैं, तो ये ब्यूटी टिप्स आजमा कर देखें...

1 min read
Grihshobha - Hindi
April First 2021

इम्यूनिटी के साथ ऐसे बढ़ाएं ब्यूटी

अगर गरमियों में भी खुद की फिटनैस से दूसरों की तारीफ बटोरना चाहती हैं, तो यह जानकारी आप के लिए ही है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
April First 2021

हिंदी फिल्म से मेरी एक बड़ी पहचान बनेगी सयानी दत्ता

बंगला फिल्मों में शोहरत बटोरने वाली सयानी की चर्चा बौलीवुड की उन की पहली ही फिल्म से आजकल क्यों हो रही है, जानिए खुद उन्हीं से...

1 min read
Grihshobha - Hindi
April First 2021

ब्रैस्ट पंप अब मुश्किलें हुईं आसान

ब्रैस्ट पंप का सही उपयोग कैसे करें, जरूर जानिए...

1 min read
Grihshobha - Hindi
March Second 2021

ओटीटी पर महिला प्रधान फिल्मों का बोलबाला

पुरुषप्रधान इंडस्ट्री में महिलाप्रधान फिल्मों को प्राथमिकता क्यों मिल रही है, जानना नहीं चाहेंगी...

1 min read
Grihshobha - Hindi
March Second 2021

औरतों की हालत हर जगह एक सी है आहाना कुमरा

फिल्मों में बोल्डनेस की वजह से चर्चा में रहीं अहाना कुमरा ने बातचीत के दौरान कई बातों का खुलासा किया, जिन्हें जान कर आप भी चौंक जाएंगे...

1 min read
Grihshobha - Hindi
March Second 2021

नवजात की त्वचा का रखें खास खयाल

शिशु की नाजुक त्वचा की सही देखभाल करने के ये तरीके आप भी जानें...

1 min read
Grihshobha - Hindi
March Second 2021

साइकिल चलाएं सेहत पाएं

रोजाना कुछ देर साइकिल चलाने के इतने फायदे जान कर आप को हैरानी होगी...

1 min read
Grihshobha - Hindi
March Second 2021
RELATED STORIES

MOLDY GOLDIE!

Face is a disaster at age 75 after endless procedures

2 mins read
Globe
March 15, 2021

The Committee on Life and Death

As COVID-19 has overwhelmed hospitals, the lack of clear bioethical guidelines has meant that doctors have had to make wrenching life-and-death decisions on the fly. The result has been chaos and unnecessary suffering, among both patients and clinicians. As the country prepares to distribute vaccines, we’re at risk of reprising this chaos.

10+ mins read
The Atlantic
January - February 2021

WILL CITIES SURVIVE 2020?

COVID-19 IS REIGNITING OLD DEBATES ABOUT ZONING, PUBLIC HEALTH, URBAN PLANNING, AND SUBURBAN SPRAWL.

10+ mins read
Reason magazine
January 2021

Recruiting - TOP TECH TALENT AT LOW COST?

It’s possible. The crisis has created a great hiring opportunity for companies, so long as you approach it the right way, through the right channels.

6 mins read
Entrepreneur
Startups Fall - Winter 2020

Norton 360 Deluxe: Good protection with added features make it an excellent value

Norton 360 Deluxe offers excellent value with solid protection, and a good amount of extra features.

5 mins read
PCWorld
October 2020

Travel: Down, but not out

Travel has taken a big hit, and travel advisors will play a big part in tapping the industry’s resilience – and pent-up demand

7 mins read
Business Traveler
October/November 2020

THE WAVE FILES

After the “soul-crushing” slog of Hemispheres, the planets seemed to align for Rush when it came time to record their next album, 1980’s Permanent Waves.

10+ mins read
Guitar World
October 2020

BIG-TIME RUSH FAN

Dream Theater maestro JOHN PETRUCCI geeks out on Permanent Waves, Alex Lifeson’s “How is that even possible?” solos and the undeniable majesty of Rush

10+ mins read
Guitar World
October 2020

FAMILY PRIDE

Many Hands Helped Create this Daily Driver

7 mins read
Street Trucks
August 2020

Boss of the Beach

For 40 years, the city’s LIFEGUARD CORPS has been mired in controversy—falsified drowning reports, sexual-assault allegations, drugs, and alcohol—and for 40 years it’s been run by one man: PETER STEIN.

10+ mins read
New York magazine
June 22 - July 05, 2020