घरेलू हिंसा की गहरी होती जड़ें
Grehlakshmi|April 2021
हम भले ही समाज के अच्छे पहलुओं की चर्चा कर लें, लेकिन महिलाओं के प्रति आम सामाजिक नजरिया बहुत सकारात्मक नहीं है। बल्कि घरेलू हिंसा तक को कई बार सहज और सामाजिक चलन का हिस्सा मानकर इसकी अनदेरवी करके परिवार के हित में महिलाओं को समझौता कर लेने की सलाह भी दी जाती है।
ललित गर्ग

कोरोना के संक्रमण पर काबू पाने के लिए लगाई गई पूर्णबंदी के दौर में व्यापक पैमाने पर लोगों को रोजगार और रोजी-रोटी से वंचित होना पड़ा और इसके साथ-साथ घर में कैद की स्थिति में असंतुलन, आक्रामकता एवं तनावपूर्ण रहने की नौबत आई। जाहिर है, यह दोतरफा दबाव की स्थिति थी, जिसने जीवन में अनेकानेक बदलावों के साथ व्यवहार में निराशा, हताशा और हिंसा की मनोवृत्ति को बढ़ाया। इस दौरान महिलाओं एवं बच्चों से मारपीट, उनकी प्रताड़ना, अपमान आदि की घटनाएं बढ़ीं। पति-पत्नी और पूरा परिवार लम्बे समय तक घर के अंदर रहने को मजबूर हुआ, जिससे जीवन में ऊब, चिड़चिडापन एवं वैचारिक टकराव कुछ अधिक तीखे हुए और महिलाओं एवं बच्चों के साथ मारपीट की घटनाएं बढ़ीं।

इन नये बने त्रासद हालातों की पड़ताल करने के लिये राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण की ओर से देश के बाईस राज्यों और केंद्र प्रदेशों में एक अध्ययन कराया गया जिसमें घरेलू हिंसा के बीच महिलाओं की मौजूदा स्थिति को लेकर जो तस्वीर उभरी है, वह चिंताजनक है और हमारे अब तक के सामाजिक विकास पर सवालिया निशान है। महिलाओं की आजादी छीनने की कोशिशें और उससे जुड़ी हिंसक एवं त्रासदीपूर्ण घटनाओं ने बार-बार हम सबको शर्मसार किया है। भारत के विकास की गाथा पर यह नया अध्ययन किसी तमाचे से कम नहीं है। इस व्यापक अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक कई राज्यों में तीस फीसद से ज्यादा महिलाएं अपने पति द्वारा शारीरिक और यौन हिंसा की शिकार हुई हैं। सबसे बुरी दशा कर्नाटक, असम, मिजोरम, तेलंगाना और बिहार में है। कर्नाटक में पीड़ित महिलाओं की तादाद करीब पैंतालीस फीसद और बिहार में चालीस फीसद है। दूसरे राज्यों में भी स्थिति इससे बहुत अलग नहीं है। कोविड19 महामारी के मद्देनजर ऐसी घटनाओं में तेज इजाफा होने की आशंकाएं भावी पारिवारिक संरचना के लिये चिन्ताजनक है। संयुक्त राष्ट्र भी कोरोना महाव्याधि के दौर में महिलाओं और लड़कियों के प्रति घरेलू हिंसा के मामलों में 'भयावह बढ़ोतरी' दर्ज किये जाने पर चिंता जता चुका है। यह बेहद अफसोसजनक है कि जिस महामारी की चुनौतियों से उपजी परिस्थितियों से पुरुषों और महिलाओं को बराबर स्तर पर जूझना पड़ रहा है, उसमें महिलाओं को इसकी दोहरी मार झेलनी पड़ी है।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GREHLAKSHMIView All

ब्यूटी पार्लर शरणम् गच्छामि...??

पहले महिलायें घर में चूल्हा-चौका देवती थी आज उन्हें खुद ऐसा बनना होता है कि वह दूसरो को अपने लुक से चौंका दे। पहले उसे अबला माना जाता था लेकिन अब उसे बला की खूबसूरत कहलाने में यकीन है।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

बॉलीवुड हसीनाओं की तरह पीले रंग में सजें आप

पीला रंग हमेशा से ही आंखों को सुकून देने वाला होता है। इस रंग के कपड़े किसी पर भी अच्छे लगते ही हैं। यही वजह है कि बॉलीवुड के सितारे भी इस रंग के कपड़ों को अपनी पसंद मानते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

जानिए मिसकैरिज की वजह

अक्सर मिसकैरिज बहुत से कारणों की वजह से होता है और उनमें से अधिकतर कारण आपके नियंत्रण से बाहर होते हैं। अगर आप जानना चाहती हैं मिसकैरिज के कारण तो बने रहिए इस लेख के अंत तक और जानिए किन्हें होता है मिसकैरिज का सबसे अधिक खतरा।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

ताकि नौ महीने का सफर हो आसान

प्रेग्नेंट होना किसी महिला के लिए खुशी की बात होती है और इसमें आने वाली तकलीफों को सहज रूप से महसूस करके घरेलू नुस्खों से दूर कर सकते हैं और प्रेग्नेंसी को एन्जॉय कर सकते हैं। यहां एक बात ध्यान रखने वाली है कि अपनी डॉक्टर से नियमित जांच करवाना भी जरूरी है।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

क्या आप वर्चुअल मीटिंग के लिए तैयार हैं?

कोरोना के बाद से ही लोगों को वर्चुअल प्लेटफॉर्म में रहने की आदत सी पड़ गई है, जिसके जरिये ना लोग सिर्फ अपना काम कर रहे हैं, दूर रहकर अपनों से मिल रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ बात वर्चुअल स्पीड डेटिंग की करें तो यह दोस्तों, सहकर्मियों, सहपाठियों से ऑनलाइन कांटेक्ट करने का सबसे शानदार तरीका है।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

कोविड से जुड़ी जानकारी सुझाव और सलाह

अगर आप कोविड मरीज हैं या आपके परिवार में कोई संक्रमित है या फिर किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हैं, जो पॉजिटिव है तो आपके लिए कोविड-19 की हर जानकारी रखना बहुत जरूरी है। वैसे भी भारत अब तीसरी वेव की तरफ बढ़ रहा है। ऐसे में सबकी हर संभव कोशिश होनी चाहिए सुरक्षित रहने की।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

आज भी अभिशप्त है विधवाओं का जीवन

आज से पचास-साठ वर्ष पूर्व के आम भारतीय परिवारों में कम उम्र में विधवा हो गई महिलाओं की जो स्थिति थी, उसके चित्र अभी भी मन की बारी के पृष्ठों पर साकार नजर आते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

7 ऐसे योग आसन जो आपकी फर्टिलिटी को बढ़ाए

आजकल हम सभी की लाइफस्टाइल बहुत खराब होती जा रही है, जिस कारण हम सबको बहुत सी स्वास्थ्य समस्याएं सहनी पड़ती हैं, जिनमें से एक है बांझपन या इनफर्टिलिटी। अगर आप फर्टिलिटी बढ़ाना चाहती हैं तो जरूर ट्राई करिए ये योगासन।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

इम्युनिटी मजबूत तो बच्चा तंदुरुस्त

बच्चों की इम्युनिटी मजबूत करना आज के समय में बहुत जरूरी है। बच्चों की इम्युनिटी के लिए फायदेमंद खाने से जुड़ी सभी बातें बता रही हैं छत्रपति शाहू जी महाराज यूनिवर्सिटी, कानपुर में असिस्टेंट प्रोफेसर और पोषण विशेषज्ञ डॉ.भारती दीक्षित

1 min read
Grehlakshmi
June 2021

मोटापा दूर करने के 14 उपाय

आज महिलाओं के लिए मोटापा एक गंभीर चिंता का कारण बन चुका है। अगर आप भी मोटापे से परेशान महिलाओं की श्रेणी में शामिल हैं तो जरूरी है कि आप स्वास्थ्य के प्रति सचेत हो जाएं।

1 min read
Grehlakshmi
June 2021
RELATED STORIES

You Grew It Alone. Now Can You Lead?

Nnenna Stella, founder of the fashion accessories brand the Wrap Life, talks staffing up with Lisa Price, founder of beauty brand Carol’s Daughter.

7 mins read
Inc.
May - June 2021

The Right To An Abortion Isn't Going Away

While overturning Roe v. Wade would lead to new restrictions in many states, legal access to abortion would be unaffected in most of the country.

10+ mins read
Reason magazine
May 2021

A Decade of Women Who Submit

For the past decade an international community of women and nonbinary writers have been working to claim space for themselves in an industry historically dominated by men. Known as Women Who Submit (WWS), the group supports and empowers its members to submit their work in spite of publishing’s inequities. Their achievements have been extraordinary: This July, the organization celebrates its tenth year, with twenty-seven chapters across the United States and Mexico, more than one hundred fifty successful book and magazine publication credits by its members in 2020, and a devoted community of writers, editors, and publishers.

4 mins read
Poets & Writers Magazine
May - June 2021

Katara McCarty – Exhale

Katara McCarty is the source and inspiration for Exhale, a well-being App for Black, Indigenous, and Women of Color. In December 2020, she was interviewed by Mamata Venkat about her life-long journey creating resources for some of the most marginalized people in society, and her approach to spirituality.

10+ mins read
Heartfulness eMagazine
May 2021

Disorder on the Court

With Rafa, Roger, and Serena in the twilight of their careers, pro tennis is struggling to reform itself. Some players are taking matters into their own hands.

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
March 29 - April 05, 2021

Fulfilling Ways to Spend Retirement

LIVING IN RETIREMENT

3 mins read
Kiplinger's Personal Finance
April 2021

Will Feminists Please Stop Calling The Cops?

The Women’s Liberation Movement has gotten tied to mass incarceration. It needs to break free.

10+ mins read
Reason magazine
April 2021

Tropical Allure

Indulge in the seductive splendor of the Tahitian Islands.

6 mins read
Global Traveler
January/February 2021

A Sea Change For The Supreme Court

The Sept. 18 death of Justice Ruth Bader Ginsburg set up a political fight over the future of the high court, with Republicans determined to seat her replacement before Election Day over Democrats’ objections.

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
October 05, 2020

Google to Keep Most of Its Employees at Home Until July 2021

Google has decided that most of its 200,000 employees and contractors should work from home through next June, a sobering assessment of the pandemic’s potential staying power from the company providing the answers for the world’s most trusted internet search engine.

2 mins read
AppleMagazine
July 31, 2020