बलात्कार जीवन का अंत नहीं.....।
Grehlakshmi|November 2020
हमें कई बार यह जुमला सुनने को मिलता है कि बेटी की इज्जत शीशे के समान होती है एक बार टूट जाए तो फिर नहीं जुड़ती। हमें अपनी यह सोच भी बदलनी होगी। बलात्कार जैसी घटनाओं से किसी भी पीड़िता की इज्जत कम नहीं होती। हमें उसे उतना ही मान सम्मान देने की जरूरत है, जितना हम औरों को देते हैं...
प्रेमलता यदु

जब भी किसी प्रकार की कोई दुर्घटना घटित होती है,हम क्या करते हैं? पीड़ित को संबल देते हैं, उसकी पीड़ा को कम करने का प्रयास करते हैं। पूरा परिवार उस घटनाक्रम से उसे बाहर निकालने की पूर्ण चेष्टा में लग जाता है, चाहे उस हादसे में पीड़ित ने अपना कोई अंग खो दिया हो, या फिर पूर्ण रूप से अपाहिज ही क्यों ना हो गया हो। परिवार का हर सदस्य उसकी ताकत बन साथ खड़ा रहता है,ताकि उसका मनोबल बना रहे, लेकिन बलात्कार या बलात्कार के पश्चात जिन्हें मार दिया जाता है या जो समाज और लोकलाज के भय से स्वयं अपने जीवन का अंत कर लेती हैं, उनका अध्याय ही समाप्त हो जाता है या फिर सारा परिवार और समाज उस पीड़िता के लिए सहानुभूति एवं दया दिखाते हुए इंसाफ़ की लड़ाई लड़ते हुए सड़क पर उतर आता है किंतु उस पीड़िता का क्या, जो बलात्कार के बाद अधमरी लाश के रुप में बच जाती है। उसके प्रति सभी का रवैया क्यों पूरी तरह से बदल जाता है?

क्यों समाज और समाज के तथाकथित बुद्धिजीवी वर्ग में यह बहस छिड़ जाती है कि इस घटना के पीछे गलती किसकी थी? और फिर अंत में पीड़िता को ही परम्पराओं एवं संस्कृति की दुहाई देते हुए दोषी के कटघरे में यह कहते हुए खड़ा कर दिया जाता है कि लड़कियों को अपने हद में रहना चाहिए, उन्हें अपनी अस्मिता और सीमा को ध्यान रखते हुए छोटे कपड़े नहीं पहनने चाहिए। देर रात तक घर से बाहर अकेले नहीं घूमना चाहिए। हमारे समाज में यह सारी बंदिशें केवल लड़कियों पर ही क्यों लगाई जाती है? लड़कों को क्यों कुछ नहीं कहा जाता? क्यों उन्हें उनकी हदें नहीं बताई जाती। क्यों उन्हें नारी जाति के सम्मान के प्रति जागरूक नहीं किया जाता? ऐसे अनेक सवाल हैं जो अब तक निरुत्तरित ही हैं।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GREHLAKSHMIView All

फिल्में, जो करें मोटिवेट

फिल्मों का असल जिंदगी से जुड़ाव होता है, लेकिन यही फिल्में असल लगने वाली परिस्थितियों से बाहर निकलने का जज्बा भी सिरवाती हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

मन और तन कीजिए स्वस्थ साउंड हीलिंग थेरेपी से

कई लोग नाश्ता नहीं करते, काफी सारे फास्ट फूड्स या जंक फूड्स रवाते हैं और बड़े पैमाने पर सप्लीमेंट फूड्स पर ही रहते हैं। ऐसा देरवा गया है स्वतंत्र महसूस करने के लिए करते हैं या फिर अपने पैसे से अपनी आजादी का प्रदर्शन करना चाहते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

महिला सुरक्षा कानूनः संशोधन और निर्माण

महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों की बढ़ती संख्या को देखते हुए यह जरूरी है कि महिलाएं उनकी सुरक्षा के लिए निर्धारित कानूनों के बारे में जागरूक हों।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

भाई-बहनों में झगड़े-विकास में साधक या बाधक

भाई-बहनों में झगड़े-लड़ाई होना तो बेहद आम बात है और हर घर की कहानी है। भले उनमे एक-दो साल का अंतर हो या फिर छह-सात साल का, उससे कोई फर्क नहीं पड़ता। इन झगड़ों में उनका प्यार भी छुपा होता है और तकरार भी। और कई बार बच्चे जिंदगी के जरूरी सबक भी इन झगड़ों से ही सीख जाते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

मेरी खूबसूरती मेरे लंबे बालों में है

लंबे खूबसूरत बालों की तारीफ तो आप आए दिन सुनती ही होंगी। फिल्मी हीरो, शायरों, यहां तक कि विज्ञापन की दुनिया में भी लंबे बाल लहराते और अपना जादू बिखेरते दिरवेंगे। लेकिन आज जहां छोटे बालों का प्रचलन जोरों पर है, तब भी महिलाओं और युवतियों के बीच लंबे बालों का फैशन कम नहीं हुआ है और उनका व्यक्तित्व निरवार उन्हें और भी खूबसूरत बनाते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

वेबसिरीज में भी दिखेंगी शिल्पा शिंदे

शिल्पा शिंदे को कौन नहीं जानता! छोटे पर्दे की अभिनेत्री शिल्पा शिंदे जल्द ही पौरुषपुर' नाम की वेब सिरीज में नजर आएंगी, जिसमें वो अपने लुक और किरदार से लोगों का दिल जीत लेंगी।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

घर पर ही अगर पार्लर सेवाएं लेना चाहती हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

कोरोना संक्रमण के कारण लोगों रखासकर महिलाओं में आज भी एक डर है। इस डर को दूर भगाने और सभी महिलाओं को विश्वास दिलाने के लिए अब बहुत से नामी पार्लर आगे आए और उन्होंने धीरे-धीरे अपनी सेवाओं को चलाना शुरू किया।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

न्यूबॉर्न बेबी एंड मदर केयर के 21 टिप्स

मां और शिशु के रिश्ते को किसी भी परिभाषा में बयां नहीं किया जा सकता। इसकी शुरुआत मां की कोरव से होती है, जहां बच्चा नौ महीने तक रहकर खुद को सुरक्षित महसूस करता है। गर्भ से बाहर आते ही मां-बच्चे दोनों की दुनिया बदल जाती है और दोनों को ही विशेष देखभाल की जरूरत होती है।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

ऊन खरीदते समय रखें इन बातों का ध्यान

अगर आपको स्वेटर बुनने का शौक है तो ऊन की पररव भी होगी। फिर भी कभी-कभार जल्दबाजी में या रात के समय ऊन खरीदने में धोरवा हो ही जाता है। इसलिए ऊन की खरीदारी संबंधी हमारे कछ सुझाव आपके काम आ सकते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021

गजब ड्रेपिंग गजब साड़ी

साड़ी का ड्रेप अगर अच्छे से बना हो तो साधारण सी साड़ी भी बढ़िया दिरखती है। ड्रेप आर्टिस्ट डॉली जैन के ड्रेपिंग स्टाइल कुछ ऐसे ही हैं और साड़ी का बिलकुल अलग रूप सामने लाते हैं।

1 min read
Grehlakshmi
January 2021
RELATED STORIES

WILL CITIES SURVIVE 2020?

COVID-19 IS REIGNITING OLD DEBATES ABOUT ZONING, PUBLIC HEALTH, URBAN PLANNING, AND SUBURBAN SPRAWL.

10+ mins read
Reason magazine
January 2021

Recruiting - TOP TECH TALENT AT LOW COST?

It’s possible. The crisis has created a great hiring opportunity for companies, so long as you approach it the right way, through the right channels.

6 mins read
Entrepreneur
Startups Fall - Winter 2020

Why British Police Shows Are Better

When you take away guns and shootings, you have more time to explore grief, guilt, and the psychological complexity of crime.

7 mins read
The Atlantic
November 2020

Norton 360 Deluxe: Good protection with added features make it an excellent value

Norton 360 Deluxe offers excellent value with solid protection, and a good amount of extra features.

5 mins read
PCWorld
October 2020

A Sea Change For The Supreme Court

The Sept. 18 death of Justice Ruth Bader Ginsburg set up a political fight over the future of the high court, with Republicans determined to seat her replacement before Election Day over Democrats’ objections.

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
October 05, 2020

Travel: Down, but not out

Travel has taken a big hit, and travel advisors will play a big part in tapping the industry’s resilience – and pent-up demand

7 mins read
Business Traveler
October/November 2020

Nicola Gratteri – MOB Justice

An Italian prosecutor takes on his country’s most powerful crime syndicate.

10+ mins read
The Atlantic
October 2020

THE WAVE FILES

After the “soul-crushing” slog of Hemispheres, the planets seemed to align for Rush when it came time to record their next album, 1980’s Permanent Waves.

10+ mins read
Guitar World
October 2020

BIG-TIME RUSH FAN

Dream Theater maestro JOHN PETRUCCI geeks out on Permanent Waves, Alex Lifeson’s “How is that even possible?” solos and the undeniable majesty of Rush

10+ mins read
Guitar World
October 2020

Boss of the Beach

For 40 years, the city’s LIFEGUARD CORPS has been mired in controversy—falsified drowning reports, sexual-assault allegations, drugs, and alcohol—and for 40 years it’s been run by one man: PETER STEIN.

10+ mins read
New York magazine
June 22 - July 05, 2020