धर्मान्तरण अर्थात हिंसा
Kendra Bharati - केन्द्र भारती|November 2021
१६८१ में मीनाक्षीपुरम् में जब रातोंरात धर्मान्तरण किया गया तब पूरे देश में वह एक बड़ा समाचार बन गया और चिन्ता का विषय भी। यदि विवेकानन्द केन्द्र सांस्कृतिक मूल्यों के आधार पर सेवा कार्य शुरू करे तो अनेक समाज हितैषी सहायता करने तैयार थे। केन्द्र ने यह कार्य करना निश्चित किया। जिनका जन्म इस महान संस्कृति में हुआ है ऐसे कोई भी इस ज्ञान से वंचित नहीं रहने चाहिए। यह उनका जन्मसिद्ध अधिकार है कि वे अपनी संस्कृति को जाने और उसके प्रति गर्व करे । और यह बहुत दुःखदायी होता है जब इस महान संस्कृति में जन्मे कुछ ईसाई और मुस्लिम दूसरों की देवी-देवताओं का सम्मान करनेवाले धर्मान्तरण करने लगते हैं। विवेकानन्द केन्द्र के ग्राम विकास प्रकल्प की शुरुवात वंचितों की सेवा करने तथा उनको स्वयं के प्रति एवं अपनी सांस्कृतिक परम्पराओं के प्रति आत्मविश्वासपूर्ण बनाने के लिए हुई।
निवेदिता मिड़े

दक्षिण तमिलनाडु के चार जिलों में जब हमने 'विवेकानन्द केन्द्र ग्राम विकास प्रकल्प' आरम्भ किया तब हम, प्रारम्भ में, युवक महान को ठुकराकर और युवतियों के लिए अलग-अलग अनेक निवासी शिविर चलाते थे। हम सब किसी मंदिर में रहते थे, पासवाले नदी या नहर में स्नान करते थे और भोजन, शिविराथीं लड़कियां बारी बारी से बना लेती थीं। और कभी-कभी सम्भव होने पर हम भोजन बनाने के लिए किसी रसोइए को भी बुला लेते थे। मुझे अभी भी याद है, हमने श्रीवकुंटम् और आलवारतिरुनगरी में शिविर लगाये थे। वहाँ पर विशाल विष्णु मन्दिर है। वैसे तो वहाँ भगवान विष्णु के ६ बृहद मन्दिर है जो नव-तिरुपति नाम से प्रसिद्ध है।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM KENDRA BHARATI - केन्द्र भारतीView All

श्रोता-धर्म

चरित्र निर्माण की कुंजी , १

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

वचनेश त्रिपाठी

स्थानिय विभूतियों की कथा

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

महर्षि चरक के नाम की शपथ लेंगे चिकित्सा विज्ञान के छात्र

राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए १७ सौ वर्ष पुरानी व्यवस्था को बदलने की अनुशंसा की है।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

भारतमाता के निष्ठावान पुत्र स्वातंत्र्यवीर सावरकर

२५ मर जयन्ती पर विशेष

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

भगवान बुद्ध एक निष्काम कर्मयोगी

भगवान् बुद्ध मेरे इष्टदेव हैं- मेरे ईश्वर हैं । उनका कोई ईश्वरवाद नहीं, वे स्वयं ईश्वर थे। इस पर मेरा पूर्ण विश्वास है।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

भगवान परशुराम

३ मई, जयन्ती पर विशेष

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

परस्पर सौहार्दपूर्ण समाज : सहनशील, आघात-रोधक, समझदार

'बिहार प्रान्त वार्षिक बैठक' के लिए जब मेरा बिहार का प्रवास हुआ तब 'गया' जाना हुआ था।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

छाया से मार देनेवाली राक्षसी

श्री हनुगत कथा १२

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

कर्मयोग श्लोक संग्रह

व्याख्या

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022

'इस्लाम' की अव्यवस्थाओं के कठोर आलोचक थे बाबा साहेब आम्बेडकर

बाबा साहेब डॉ. भीमराव रामजी आम्बेडकर द्वारा की गईं हिन्दू धर्म की आलोचनात्मक टीकाओं को खूब उभारा जाता है, इसके पीछे की मंशा ठीक नहीं होती।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
May 2022