राफेल नडाल- जल्दी ही कोर्ट में वापस लौटेंगे नडाल
Jyotish Sagar|July 2021
विंबलडन 28 जून से आरम्भ हो रहा है और 23 जुलाई से टोक्यो ओलम्प्रेिक आरम्भ होंगे। नडाल द्वारा इन दोनों टूर्नामेंटों के हटने की घोषणा को कुछ विशेषज्ञ उनके कॅरिअर की समाप्ति मान रहे हैं, परन्तु स्वयं नडाल इसे आगे तक कॅरिअर को चलाने के लिए एक तैयारी के रूप में ले रहे हैं। आइए, ज्योतिष की दृष्टि से देखें कि क्या नडाल टेनिस कोर्ट में वापस लौटेंगे अथवा यह कॅरिअर की समाप्ति है?
अवनीश पाण्डेय

टेनिस के महान खिलाड़ियां में शामिल दुनिया के तीसरे नम्बर के खिलाड़ी राफेल नडाल ने 17 जून को विंबलडन और टोक्यो ओलम्पिक से हटने का फैसला लिया है। इसके लिए उन्होंने अपनी तैयारी और फिटनेट का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि अभी-अभी फ्रेंच ओपन समाप्त हुआ है, दो सप्ताह बाद विंबलडन शुरू होने वाला है। दोनों टूर्नामेंटों के बीच केवल 14 दिन का समय रखा गया है। नडाल ने कहा कि बलेकोर्ट में खेलने के बाद इतनी जल्दी शरीर को रिकवर करना आसान नहीं होता। ऐसे में मेरे लिए खेलना असम्भव था। उन्होंने कहा कि यह फैसला लेना मेरे लिए बिल्कुल भी आसान नहीं था, लेकिन अपने शरीर को देखते हुए और अपने कॅरिअर को बड़ा करने के लिए यह निर्णय लेना जरूरी था।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM JYOTISH SAGARView All

गणेश का विलक्षण स्वरुप

गणेश भी वैदिक देवता हैं, किन्तु इनका नाम वेदों में गणेश न होकर 'ब्रह्मणस्पति' है। जो वेद में 'ब्रह्मणस्पति' के नाम से अनेक सूत्रों में अभिहित किए गए हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

किन ग्रहयोगों से होता है पितृदोष?

पितृदोष का विचार ज्योतिषशास्त्र में अनेक स्थानों पर किया गया है। यहाँ पितृदोष को 'पितृशाप', 'मातृ-शाप', 'भ्रातृशाप', 'पितृकोप', 'प्रेतकोप' इत्यादि नामों से भी जाना जाता है।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

रुद्रेश्वर मन्दिर अब विश्व धरोहर

काकतीय रुद्रेश्वर मन्दिर, वारंगल

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

कब होती है ग्रहबाधा?

भविष्य का आकलन करने के लिए ज्योतिष में अनेक विधाएँ प्रचलित हैं। घर से किसी काम के लिए निकलते समय शुभ शकुन मिल जाते हैं, तो कार्य पूरा होने की उम्मीद बंध जाती है, इसके विपरीत अशुभ शकुन मिलने पर सफलता पर प्रश्नवाचक चिह्न ला जाता है।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

धन-सम्पन्नता और सुख देने वाली हस्तरेखाएँ

मनुष्य को कर्म तो सतत करना पड़ता है, क्योंकि जीवन चलने का बाग है, परन्तु सतत कर्म के बाद जो चीज मिलती है, उसे ही अंत में 'किस्मत' कहा जाता है। मनुष्य के जीवन में किस्मत की ऐसी अवधारणा के बीच हाधों की लकीरों में छिपे अपने भाग्य को जानने और समझने के लिए हस्त अध्ययन भी एक कारवार उपकरण के रूप में साबित होता है ...

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

रिचर्ड ब्रैन्सन- अन्तरिक्ष व्यवसाय में ऐतिहासिक छलाँग

एयरलाइंस के क्षेत्र में इनको अच्छी सफलता मिली, अन्य अन्तरिक्ष पर्यटन के क्षेत्र में भी अच्छी सफलता मिलने की उम्मीद है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार लगभग 600 लोगों ने अन्तरिक्ष सैर की एडवांस बुकिंग करवा रखी है।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

पर्यटन के लिए खुला अन्तरिक्ष

अन्तरिक्ष की सैर

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

जानें कब होगा कल्कि अवतार?

सतयुग में भगवान् श्रीविष्णु के चार अबतार हुए-मत्स्यावतार, कूमवितार, बराहावतार और नृसिंहावतार। दैत्य शंखासुर का बध करने तथा वेदों का उद्धार करने हेतु मत्स्यावतार, पृथ्वी का भार बहन करने हेतु कूर्मावतार, सागर में विलीन धरती का उद्धार करने तथा दैत्य हिरण्याक्ष का बध करने हेतु बराहावतार तथा हिरण्यकशिपु का बध करने तथा भक्तराज प्रहाद की रक्षा के लिए नृसिंहावतार सतयुग में हुए।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

ट्रेजिडी किंग दिलीप कुमार- हिन्दी सिनेमा के स्वर्णिम युग का अन्त

अमिताभ बच्चन ने उनको श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि एक संस्थान चला गया। हिन्दी सिनेमा का इतिहास जब कभी लिखा जाएगा, यह हमेशा दिलीप कुमार से पहले और उनके बाद कहलाएगा। एक युग पर परदा गिरा, दुबारा कभी न होने के लिए।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

उपलब्धिदायक हैं दशाएँ

लियोनेल मेस्सी

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021
RELATED STORIES

Hey Trader, What's Your Sign?

It’s tough to beat the market. Are you desperate enough to consult the stars?

10 mins read
Bloomberg Businessweek
July 30, 2018

ठग बाबाओं के चंगुल में फंसे तो गए

अनपढ़ ही नहीं, पढ़ेलिखे और आधुनिक कहलाने वाले लोग भी किस तरह बाबाओं के चक्कर में आ कर अपना सबकुछ दांव पर लगा देते हैं, जान कर हैरान रह जाएंगे आप...

1 min read
Grihshobha - Hindi
July Second 2021

क्या आपकी कुंडली में धन प्राप्ति योग है?

धन की चाह सबकी होती है लेकिन धन केवल मात्र हमारे चाहने भर से नहीं मिल जाता, इसके लिए कुंडली में धन योग का होना भी आवश्यक है। कुंडली में कैसे धन योग है या नहीं एवं धन प्राप्ति के टोटके जानें इस लेख से।

1 min read
Sadhana Path
July 2021

शुक्र ग्रह और ज्योतिष

शुक्र के निकट जाने वाला पहला अंतरिक्ष यान मैरीनर 2 था, जिसने 1962 में यात्रा की। अभी तक लगभग 20 यानों का उपयोग शुक्र के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जा चुका है। रूसी यान 'वेनेरा' सबसे पहले शुक्र पर उतरा। हाल ही में अमेरिकी यान 'मैगेलन' ने रडार द्वारा शुक्र की सतह के विस्तृत चित्र उपलब्ध कराये हैं। शुक्र पर संभवतः किसी समय, पृथ्वी की तरह, अपार जल मौजूद था। मगर यह वाष्पन द्वारा समाप्त हो गया। अब शुक्र की सतह पूर्णतः शुष्क है।

1 min read
Sadhana Path
May 2021

खगोल और ज्योतिष विद्या में अग्रणी थे कश्मीरी पंडित

धरती पर स्वर्ग है कश्मीर, कश्यप ऋषि की तपोभूमि है कश्मीर और कश्मीरी पंडितों की जन्मस्थली है कश्मीर। लेकिन यह दुर्भाग्य है कि कश्मीर पर अधिकांश समय गैरकश्मीरियों का अधिकार रहा। वर्तमान में भी मूल निवासी कश्मीरी पंडितों को बलपूर्वक कश्मीर से भगा दिया गया। तत्कालीन केन्द्र सरकार मूक दर्शक बनकर देखत रही। आज वे अपनी जन्मस्थली से मानसिक पीड़ा झेलते हुए भारत में ही अन्य जगहों पर विस्थापित जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
April 2021

Written In The Stars

Find out how astrology can help you on your way to a happy and healthy home—and how it can’t!

2 mins read
SquareRooms
January 2021

कुंडली मिलान

समाज को बांटे रखने का बड़ा हथियार

1 min read
Sarita
December First 2020

शोध और आविष्कार... संस्कृत बनेगी नासा की भाषा

संस्कृत पढ़ने से गणित और विज्ञान की शिक्षा ग्रहण करने में आसानी होती है

1 min read
vishvaguru ojaswi
November 2020

ज्योतिष में रत्नों का महत्त्व

रत्न आभूषणों के रूप में शरीर की शोभा तो बढ़ाते ही हैं, साथ ही अपनी दैवीय शक्ति के प्रभाव के कारण रोगों का निवारण भी करते हैं। क्या है रत्न, क्या है इनका महत्त्व तथा उन्हें कैसे करें जागृत आदि जानें लेव से।

1 min read
Sadhana Path
August 2020

नारी हर दोष की मारी

समाज को आधुनिक बनाने के नाम पर ऐसे आविष्कारों और खोज का क्या फायदा जब आधी आबादी आज भी धर्मकर्म और दोष के चंगुल में छटपटा रही है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
August First 2020