1 से 21 मुखी रुद्राक्षः परिचय और लाभ
Jyotish Sagar|July 2021
रुद्राक्ष विशेषांक

खट्राक्ष शब्द 'रुद्र' और 'अक्ष' इन दो शब्दों से मिलकर बना है, जो इसकी उत्पत्ति का परिचय देते हैं। 'रुद्र' अर्थात् भगवान् शिव; 'अक्ष' अर्थात् नेत्र। भगवान शिव के नेत्र से निकले जल से ही रुद्राक्ष की उत्पत्ति हुई है। इसलिए इन्हें 'रुद्राक्ष' कहा जाता है। रुद्राक्ष प्रकृति प्रदत्त दैवीय उपहार है, जो अनेक दिव्य विशेषताओं के कारण मानव जीवन के लिए उपयोगी है। इनके आध्यात्मिक लाभ तो सर्वविदित हैं ही, वरन् इनके सांसारिक लाभ भी कम नहीं हैं। अपने आध्यात्मिक लाभों के चलते ये देवी-देवताओं और संत-महात्माओं के लिए अत्यन्त प्रिय रहे हैं। धन-सम्पत्ति, ऐश्वर्य, कॅरिअर में उन्नति, मनोकामनापूर्ति, ग्रहशान्ति इत्यादि लाभों के कारण वर्तमान में रुद्राक्ष अत्यधिक लोकप्रिय हो गए हैं। इनके धारण करने से सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति होती है और धारणकर्ता के 'ओरा' में सकारात्मक परिवर्तन दिखाई देता है। यह आधुनिक यन्त्रों द्वारा जाँचा भी गया है। मेडिटेशन, कुण्डलिनी जागरण एवं अन्य साधनाओं में रुद्राक्ष सहायक हैं। इसी भाँति आधुनिक शोधों से ज्ञात हुआ है कि रुद्राक्ष धारण करने से अनेक रोगों में लाभ मिलता है। खतचाप, हृदयरोग, मनोरोग इत्यादि रोगों में रुद्राक्षों के प्रत्यक्ष प्रभाव देखे गए हैं।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM JYOTISH SAGARView All

गणेश का विलक्षण स्वरुप

गणेश भी वैदिक देवता हैं, किन्तु इनका नाम वेदों में गणेश न होकर 'ब्रह्मणस्पति' है। जो वेद में 'ब्रह्मणस्पति' के नाम से अनेक सूत्रों में अभिहित किए गए हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

किन ग्रहयोगों से होता है पितृदोष?

पितृदोष का विचार ज्योतिषशास्त्र में अनेक स्थानों पर किया गया है। यहाँ पितृदोष को 'पितृशाप', 'मातृ-शाप', 'भ्रातृशाप', 'पितृकोप', 'प्रेतकोप' इत्यादि नामों से भी जाना जाता है।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

रुद्रेश्वर मन्दिर अब विश्व धरोहर

काकतीय रुद्रेश्वर मन्दिर, वारंगल

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

कब होती है ग्रहबाधा?

भविष्य का आकलन करने के लिए ज्योतिष में अनेक विधाएँ प्रचलित हैं। घर से किसी काम के लिए निकलते समय शुभ शकुन मिल जाते हैं, तो कार्य पूरा होने की उम्मीद बंध जाती है, इसके विपरीत अशुभ शकुन मिलने पर सफलता पर प्रश्नवाचक चिह्न ला जाता है।

1 min read
Jyotish Sagar
September 2021

धन-सम्पन्नता और सुख देने वाली हस्तरेखाएँ

मनुष्य को कर्म तो सतत करना पड़ता है, क्योंकि जीवन चलने का बाग है, परन्तु सतत कर्म के बाद जो चीज मिलती है, उसे ही अंत में 'किस्मत' कहा जाता है। मनुष्य के जीवन में किस्मत की ऐसी अवधारणा के बीच हाधों की लकीरों में छिपे अपने भाग्य को जानने और समझने के लिए हस्त अध्ययन भी एक कारवार उपकरण के रूप में साबित होता है ...

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

रिचर्ड ब्रैन्सन- अन्तरिक्ष व्यवसाय में ऐतिहासिक छलाँग

एयरलाइंस के क्षेत्र में इनको अच्छी सफलता मिली, अन्य अन्तरिक्ष पर्यटन के क्षेत्र में भी अच्छी सफलता मिलने की उम्मीद है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार लगभग 600 लोगों ने अन्तरिक्ष सैर की एडवांस बुकिंग करवा रखी है।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

पर्यटन के लिए खुला अन्तरिक्ष

अन्तरिक्ष की सैर

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

जानें कब होगा कल्कि अवतार?

सतयुग में भगवान् श्रीविष्णु के चार अबतार हुए-मत्स्यावतार, कूमवितार, बराहावतार और नृसिंहावतार। दैत्य शंखासुर का बध करने तथा वेदों का उद्धार करने हेतु मत्स्यावतार, पृथ्वी का भार बहन करने हेतु कूर्मावतार, सागर में विलीन धरती का उद्धार करने तथा दैत्य हिरण्याक्ष का बध करने हेतु बराहावतार तथा हिरण्यकशिपु का बध करने तथा भक्तराज प्रहाद की रक्षा के लिए नृसिंहावतार सतयुग में हुए।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

ट्रेजिडी किंग दिलीप कुमार- हिन्दी सिनेमा के स्वर्णिम युग का अन्त

अमिताभ बच्चन ने उनको श्रद्धांजलि देते हुए लिखा कि एक संस्थान चला गया। हिन्दी सिनेमा का इतिहास जब कभी लिखा जाएगा, यह हमेशा दिलीप कुमार से पहले और उनके बाद कहलाएगा। एक युग पर परदा गिरा, दुबारा कभी न होने के लिए।

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021

उपलब्धिदायक हैं दशाएँ

लियोनेल मेस्सी

1 min read
Jyotish Sagar
August 2021
RELATED STORIES

HUGH: FAME Almost Killed Me

AFTER BECOMING A SUPERSTAR IN THE ’90S, HUGH GRANT WENT ON A HARD-PARTYING, SELF-DESTRUCTIVE SPIRAL THAT LASTED DECADES.

2 mins read
Star
December 21, 2020

THE BREWHOOD REVOLUTION'S FIRST TEST

The craft brewery explosion has reshaped urban neighborhoods. Can it survive this?

4 mins read
Charlotte Magazine
June 2020

भाजपा, आरएसएस के लोग हिंदू नहीं हैं, सिर्फ हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं : राहुल

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा पर आरोप लगाया कि ये लोग हिंदू नहीं हैं, ये सिर्फ हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
September 16, 2021

डिजिटल उपस्थिति से ही हो जाएगा विवाह पंजीयन

दिल्ली हाईकोर्ट का निर्णय

1 min read
Hari Bhoomi
September 12, 2021

धर्म से बड़ी भारतीयता, यह कब स्वीकार करेंगे हम...

हिन्दी सिनेमा में एक बहुत ही मशहूर गीत है कि, 'मांझी जो नाव डुबोए, उसे कौन बचाये? जी हां इस गीत से शुरुआत इसलिए, क्योंकि जब देश और समाज को चलाने वाले लोग ही देश और समाज की भलाई से इतर सोचेंगे, फिर देश तरक्की की बिसात पर आगे कैसे बढ़ पाएगा?

1 min read
Gambhir Samachar
September 1, 2021

श्रीकृष्ण के जीवन से सीखें कृष्ण-तत्त्व उभारने की कला

जो सच्चे प्रेमरस (भगवत्प्रेम-रस) को समझे बिना संसार में प्रेम खोजते हैं वे दुःखी हो जाते हैं।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
August 2021

जन्माष्टमी मनाने के परम्परागत रूप

जन्माष्टमी का पर्व हिंदुओं में बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। भले ही इस पर्व को मनाने के तरीके हर सम्प्रदाय में थोड़े-थोड़े भिन्न हैं, पर भाव बिल्कुल एक ही है कि अपने बाल रूप प्रभु का अन्तर्मन से खूब लाड़ लड़ाना और आनन्दित होना। बड़े मंदिरों में और जिनके घरों में भी ठाकुरजी की विधिवत सेवा होती है, वहां पांच-छह दिन पहले से ही तैयारियां प्रारंभ हो जाती हैं।

1 min read
Sadhana Path
August 2021

सत्शिष्य के लक्षण

परम शांत अवस्था से बढ़कर व शांति के अनुभव से बढ़कर और कोई जगत में श्रेष्ठ अनुभव नहीं माना गया।

1 min read
vishvaguru ojaswi
July 2021

स्वामी श्री लीलाशाहजी जीवन दर्शन

साधु-संग मनुष्य जीवन को कुंदन (सोना) बनानेवाला है।

1 min read
vishvaguru ojaswi
July 2021

आशारामजी बापू के साथ अन्याय कब तक ? संत-समाज

महान आत्मा तो वे हैं जो महान परमात्मा में ही शांत व आनंदित रहते हैं, परितृप्त रहते हैं।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
July 2021