रजनीकान्त 'थलाइवा' को दादा साहब फाल्के
Jyotish Sagar|May 2021
भारत सरकार ने सन् 2019 का फिल्मी क्षेत्र का सर्वोच्च पुरस्कार 'दादा साहब फाल्के' प्रसिद्ध अभिनेता लोकप्रिय रजनीकान्त को देने की घोषणा की है। यह पुरस्कार उन्हें 3 मई, 2021 को होने वाले समारोह में राष्ट्रपति द्वारा दिया जाएगा।
अवनीश पाण्डेय

'थलाइवा' के नाम से रजनीकान्त इस पुरस्कार को पाने वाली 51वीं शख्शियत हैं। सन् 2000 में उन्हें 'पद्मभूषण' तथा सन् 2016 में 'पद्मविभूषण' की प्राप्ति हो चुकी है। इन सबसे अधिक उनकी जो अपार लोकप्रियता है, वह अद्वितीय है, लोग उन्हें देवता के रूप में पूजते हैं, सम्मान करते हैं, चाहते हैं।

मैसूर प्रान्त के बंगलौर में मराठी परिवार में जन्मे रजनीकान्त का वास्तविक नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। उनके पिता रामोजी गायकवाड पुलिस कांस्टेबल थे। अपने चार भाई-बहिनों में रजनीकान्त सबसे छोटे हैं। सन् 1956 में जब पिता रिटायर्ड हुए, तो बंगलौर के हनुमन्त नगर में ये शिफ्ट हुए और वहाँ के सरकारी स्कूल में उनकी प्रारम्भिक शिक्षा हुई। 9 वर्ष की आयु में ही उनकी माता का निधन हो गया। बाद में ये रामकृष्ण मिशन से भी जुड़े, वहीं से ये थियेटर से जुड़े और उसमें अभियनय करने लगे। छठवीं कक्षा के बाद जब ये आचार्य पाठशाला पब्लिक स्कूल में पढ़ने गए, तब वहाँ भी ये नाटकों से जुड़े रहे। स्कूली शिक्षा के बाद पारिवारिक परिस्थितियों के चलते इन्होंने कई छोटी-मोटी नौकरियाँ की। यहाँ तक कि कुली का काम भी किया। बंगलौर ट्रांसपोर्ट सर्विस में ये बस कंडैक्टर के रूप में नियुक्त हुए। मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट से इन्होंने अभिनय का कोर्स किया, जिसमें आर्थिक सहायता इनके सहकर्मी राजबहादुर ने दी थी।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM JYOTISH SAGARView All

ब्लैक फंगस के ज्योतिषीय योग

पोस्ट कोविड कॉम्पलीकेशंस और ज्योतिष

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

राजर फेडरर- संन्यास अभी दर है!

18 मई, 2021 को जेनेवा ओपन में आठवीं वरीयता प्राप्त रोजर फेडरर लगभग अनजान खिलाड़ी 75वीं वरीयता प्राप्त पाब्लो एंडुजार से अपने पहले ही मैच में हार गए, तो जहाँ आलोचकों ने उनके कॅरिअर की समाप्ति की घोषणा कर दी, वहीं समर्थकों का तर्क था कि फेडरर का मुख्य लक्ष्य विंबलडन है जो कि जून-जुलाई में होने वाला है। क्लेकोर्ट की उनकी तैयारी नहीं थी।

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

बिल गेट्स- विवाह के 27 साल बाद तलाक की ओर कदम

दुनिया के चौथे सबसे अमीर बिल गेट्स ने वशिंगटन के किंग काउंटी कोर्ट में 27 साल तक दाम्पत्य जीवन बिताने के बाद तलाक की अर्जी दखिल की है।

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

प्राचीन भारत में स्वर्ण बनाने की कला!

प्राचीन भारत में रसायन विज्ञान में काफी उन्नति कर ली गई थी। ऋषि-मुनियों ने रसायन विज्ञान में कई तथ्यों को खोज निकाला था।

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

कोरोना से कभी नहीं पड़ेगा रोना यदि सीखा योगमय होकर जीना

कोरोना वायरस को आजकल कहर मचा हुआ है। यह आप सभी को ज्ञात है कि कोरोना वायरस का इफेक्ट हमारे शरीर पर कहाँ होता है और क्यों? फिर भी बता देते हैं इसका प्रभाव हमारे फेफड़ों और गले में होता है।

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

आँख का तारा बदनसीबी का मारा!

'मेरी बेटी मेरी आँखों का तारा है, लेकिन बदनसीबी की मारी भी है। जहाँ वह अच्छे से सारा बिजनस सम्भाल रही है, वहीं उसकी बदनसीबी तो देखो, उसका विवाह नहीं हो पाया। लोग मुझसे पूछते रहे कि इतनी सुन्दर सुशील, उत्तम कदकाठी की लड़की है आपकी, फिर भी अविवाहिता क्यों है?'

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

CLAT में सफलता के ज्योतिषीय योग

कन्सोर्टियम ऑव नेशनल लॉ यूनिवर्सिटीज CLAT 2021 के लिए 1 जून से 15 जून के मध्य आवेदन आमंत्रित कर रहा है। वर्तमान समय में युवाओं में CLAT अत्यधिक लोकप्रिय बन चुका है। लाखों की संख्या में परीक्षार्थी इस परीक्षा को देते हैं और इसके माध्यम से 22 राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालयों में एलएलबी में प्रवेश लेकर लॉ से सम्बन्धित कॅरिअर सुनिश्चित करते हैं।

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

शनि-ज्योतिष का व्यावहारिक स्वरूप

शनि जयन्ती (10 जून, 2021) पर विशेष ...

1 min read
Jyotish Sagar
June 2021

लक्ष्मीनृसिंह की उपासना से अभीष्ट सिद्धि

श्री नृसिंह जयन्ती (25 मई, 2021)

1 min read
Jyotish Sagar
May 2021

महर्षि अत्रि के आश्रम में श्रीराम

मुझपराधड़ों श्रीराम को देखकर शरभंग जी अति प्रसन्न हुए और बोले “हे कृपालु रघुवीर मैं ब्रह्मलोक को जा रहा था, इतने में ही मैंने सुना की आप वन में आ रहे हैं, तब से मैं आपकी राह देख रहा हूँ। आज आपको देखकर मेरी छाती शीतल हो गई। हे नाथ! मैं सब साधनों से हीन हूँ। आपने अपना दीन सेवक जानकर की है। अब इस दीन के कल्याण के लिए तब तक यहाँ ठहरिए, जब तक मैं शरीर को छोड़कर आपसे आपके धाम में न मिलूँ।"

1 min read
Jyotish Sagar
May 2021
RELATED STORIES

Hey Trader, What's Your Sign?

It’s tough to beat the market. Are you desperate enough to consult the stars?

10 mins read
Bloomberg Businessweek
July 30, 2018

रजनीकांत ने कोविड-19 रोधी टीके की दूसरी खुराक ली

अभिनेता रजनीकांत ने बृहस्पितवार को यहां एक अस्पातल में कोविशील्ड टीके की दूसरी खुराक ली।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
May 14, 2021

शुक्र ग्रह और ज्योतिष

शुक्र के निकट जाने वाला पहला अंतरिक्ष यान मैरीनर 2 था, जिसने 1962 में यात्रा की। अभी तक लगभग 20 यानों का उपयोग शुक्र के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए किया जा चुका है। रूसी यान 'वेनेरा' सबसे पहले शुक्र पर उतरा। हाल ही में अमेरिकी यान 'मैगेलन' ने रडार द्वारा शुक्र की सतह के विस्तृत चित्र उपलब्ध कराये हैं। शुक्र पर संभवतः किसी समय, पृथ्वी की तरह, अपार जल मौजूद था। मगर यह वाष्पन द्वारा समाप्त हो गया। अब शुक्र की सतह पूर्णतः शुष्क है।

1 min read
Sadhana Path
May 2021

खगोल और ज्योतिष विद्या में अग्रणी थे कश्मीरी पंडित

धरती पर स्वर्ग है कश्मीर, कश्यप ऋषि की तपोभूमि है कश्मीर और कश्मीरी पंडितों की जन्मस्थली है कश्मीर। लेकिन यह दुर्भाग्य है कि कश्मीर पर अधिकांश समय गैरकश्मीरियों का अधिकार रहा। वर्तमान में भी मूल निवासी कश्मीरी पंडितों को बलपूर्वक कश्मीर से भगा दिया गया। तत्कालीन केन्द्र सरकार मूक दर्शक बनकर देखत रही। आज वे अपनी जन्मस्थली से मानसिक पीड़ा झेलते हुए भारत में ही अन्य जगहों पर विस्थापित जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
April 2021

Written In The Stars

Find out how astrology can help you on your way to a happy and healthy home—and how it can’t!

2 mins read
SquareRooms
January 2021

कुंडली मिलान

समाज को बांटे रखने का बड़ा हथियार

1 min read
Sarita
December First 2020

शोध और आविष्कार... संस्कृत बनेगी नासा की भाषा

संस्कृत पढ़ने से गणित और विज्ञान की शिक्षा ग्रहण करने में आसानी होती है

1 min read
vishvaguru ojaswi
November 2020

क्या कहती है कंगना कुंडली

पहली बार किसी अभिनेत्री ने बॉलीवुड के दिग्गजों को सवालों की भट्ठी में झोंक दिया। आखिर क्यों है कंगना इतनी बेखौफ और बेबाक, बता रहे हैं 3 भविष्यवक्ता

1 min read
Vanitha Hindi
November 2020

ज्योतिष में रत्नों का महत्त्व

रत्न आभूषणों के रूप में शरीर की शोभा तो बढ़ाते ही हैं, साथ ही अपनी दैवीय शक्ति के प्रभाव के कारण रोगों का निवारण भी करते हैं। क्या है रत्न, क्या है इनका महत्त्व तथा उन्हें कैसे करें जागृत आदि जानें लेव से।

1 min read
Sadhana Path
August 2020

नारी हर दोष की मारी

समाज को आधुनिक बनाने के नाम पर ऐसे आविष्कारों और खोज का क्या फायदा जब आधी आबादी आज भी धर्मकर्म और दोष के चंगुल में छटपटा रही है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
August First 2020