CATEGORIES

रोग निवारण की अनंत शक्ति आपमें ही है!

सारी सृष्टि का स्वामी अपना आत्मा है, उसका अनादर करना अपना घात करना है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

मंत्रशक्ति से आरोग्यता व अन्य लाभ

('मंत्रशक्ति से आरोग्यता' गतांक का शेष)

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

बंधन केवल मान्यता है

जीव बंधन से जकड़ा हुआ है। कर्म में बंधन है पाप-पुण्य का। भोग में बंधन है सुख-दुःख का। प्रेम में बंधन है संयोगवियोग का। सृष्टि में चारों ओर भय, बंधन और परतंत्रता ही नजर आते हैं। ऐसे में भय से, बंधन से, पराधीनता से मुक्ति कैसे हो, यह जिज्ञासा उत्पन्न होती है।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

... फिर गीता समझ में आ जाती है

भगवान श्रीकृष्ण की गीता मानवमात्र के जीवन को ज्ञान से, आनंद से, समता के सौंदर्य से सजाने में सक्षम है।

4 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

घटता पशुधन फिर भी दूध की भरमार... कहाँ से आ रहा है इतना दूध?

लम्पी रोग से झुलसती, मरती गायें

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

जीवन के विकास के दो पंख

जब सुख लेने की चाह चली गयी तो आप अपने-आपमें सुखी हैं।

4 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

आत्मसाक्षात्कार दिवस पर पूज्य बापूजी का मंगलमय संदेश

करना और पाना है माया, करना-पाना जहाँ से गुजर जाता है वह है आत्मानुभव।

4 mins read
Rishi Prasad Hindi
November 2022

स्वास्थ्य - कल्याण की बातें

(तन, मन, अंतरात्मा के) उत्तम स्वास्थ्य का मूल 'श्रद्धा' है।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

शरीर की दवाई कम करो, मन की दवाई करो

यदि मन अपनी असलियत का चिंतन करता है तो वह मन ही परब्रह्मरूप हो जाता है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

रोग निवारण की अनंत शक्ति आपमें ही है!

मनुष्य अपने `मुक्त स्वभाव को जान सकता है, अपने परम स्वभाव को पा सकता है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

ईश्वर के रास्ते पग रख दिया तो पीछे हटना क्यों?

दुर्बलता के विचारों को पोषना अपने लिए खड्डा खोदना है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

मन का प्रभाव तन पर

ईश्वर के जगत में ऊँचे-से-ऊँचा कोई प्राणी बना है तो वह मनुष्य है।

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

भगवान के पिता : मेरे गुरुदेव

ब्रह्मलीन साँई श्री लीलाशाहजी महाराज का महानिर्वाण दिवस : २ नवम्बर

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

ऋषियों द्वारा दिया गया अमूल्य उपहार : दीपावली

दीपावली पर्व : २२ से २६ अक्टूबर

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

रोग का रहस्य और निरोगता का मूल

जो अपने को शरीर मानेगा और मन के साथ जुड़ा रहेगा वह पूर्ण संतुष्ट कभी नहीं होगा।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

दीपावली पर लक्ष्मीप्राप्ति के लिए लक्ष्मीजी का मूलमंत्र

किसीको त्रिलोकी का राज्य भी मिल जाय पर ब्रह्मविद्या नहीं मिली तो वह व्यक्तिअभागा है।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

आयुर्वेद के क्षेत्र में संत श्री आशारामजी बापू का योगदान

शाश्वत संबंध की स्मृति किये बिना जीव का कहीं परम कल्याण नहीं होता।

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
October 2022

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर पूज्य बापूजी द्वारा भेजा गया पावन संदेश

कैसी अद्भुत है श्रीकृष्ण की समता !

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

दोष प्रकृति में हैं और निर्दोष होने का सामर्थ्य तुममें है

मन को वश करने की कुंजी

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

सबसे ऊँची विद्या क्या है ?

आप अपने आत्मा-परमात्मा में बैठो।

1 min read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

ईश्वर के रास्ते पग रख दिया तो पीछे हटना क्यों ?

विद्यार्थी संस्कार

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

लम्बी आयु की सरल कुंजी

दीर्घायु का साधन

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

शुभ संकल्प की अथाह शक्ति को उजागर करनेवाला पर्व

रक्षाबंधन पर पूज्य बापूजी का मंगलमय संदेश

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
September 2022

वटवृक्ष का महत्त्व क्यों?

दूसरे के हित की भावना से बुद्धि में अच्छे स्फुरण होने लगते हैं।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

जीवन में गुरु की अनिवार्यता

जो गुरु व परमात्मा के प्रति अहोभाव रखते हैं, उन्हें प्रेमाभक्ति, परमात्म-रस मिलता है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

... तभी आपकी जन्माष्टमी पूर्ण हुई

जन्माष्टमी : १८ व १९ अगस्त

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

सद्गुरु देते भवरोग से मुक्ति की युक्ति

ब्रह्मज्ञानी गुरु की भली प्रकार सेवा करनी चाहिए, उनका बड़ा उपकार है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

श्रवणद्वादशी - व्रत की कथा

भविष्य पुराण में श्रवणद्वादशी के व्रत की सुंदर कथा आती है।

2 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

पात्रता विकसित कीजिये

अपना कल्याण करना हो तो संतों का संग, सत्शास्त्र का विचार, भगवन्नाम-जप - इन तीनों को महत्त्व दे दो।

3 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

यदि ईश्वर के रास्ते जाने से कोई रोके तो...

वे धनभागी हैं जो आत्मविश्रांति के रास्ते चल पड़ते हैं।

5 mins read
Rishi Prasad Hindi
August 2022

Page 1 of 7

1234567 Next