कॉग्निजेंट करेगी एक लाख भर्तियां
Business Standard - Hindi|July 30, 2021
ग्राहक कंपनियों की डिजिटल बदलाव की मांग देखते हुए नैस्डैक में सूचीबद्ध आईटी सेवा प्रदाता कॉग्निजेंट ने वित्त वर्ष के लिए आय का अपना अनुमान बढ़ाकर 9 से 10 फीसदी कर दिया है। पहले कंपनी ने कैलेंडर वर्ष 2021 की पहली तिमाही के लिए 5.5 फीसदी से 7.5 फीसदी आय वृद्धि का अनुमान लगाया था।
शिवानी शिंदे

• चालू वित्त वर्ष में एक लाख अनुभवी पेशेवरों के साथ 30,000 फ्रेशर नियुक्त करेगी

• कंपनी 2022 में भी 45,000 नए इंजीनियर नियुक्त करेगी

• कॉग्निजेंट में नौकरी छोड़ने की दर उद्योग में सबसे अधिक

30 जून को समाप्त दूसरी तिमाही (कंपनी का वित्त वर्ष जनवरी से दिसंबर का होता है) में कॉग्निजेंट की आय स्थिर मुद्रा के आधार पर 12 फीसदी बढ़कर 4.6 अरब डॉलर रही, जो इसके अनुमान से कहीं ज्यादा है। कंपनी ने दूसरी तिमाही के लिए 8.9 से 9 फीसदी आय बढ़ने का अनुमान लगाया था। पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही के मुकाबले जून 2021 तिमाही में कंपनी की डिजिटल आय 20 फीसदी बढ़ी और कंपनी की कुल आय में इसकी हिस्सेदारी 44 फीसदी हो गई। कॉग्निजेंट ने 2019 से अब तक क्लाउड और डिजिटल सेवाओं पर अधिग्रहण के जरिये 2 अरब डॉलर खर्च किए हैं । जून 2021 तिमाही में कंपनी ने वित्तीय सेवाओं को छोड़कर सभी श्रेणियों में बेहतर प्रदर्शन किया है। कॉग्निजेंट के मुख्य कार्याधिकारी ब्रायन हम्फ्रीज ने कहा, 'दूसरी तिमाही हमारे लिए अच्छी साबित हुई। हमने बाजार की तेजी से बढ़ रही श्रेणियों को ध्यान में रखकर निवेश किया है और ग्राहकों के कारोबार को आधुनिक बनाने के लिए हम अपनी क्षमता और साझेदारी का भी विस्तार कर रहे हैं।'

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the newspaper

MORE STORIES FROM BUSINESS STANDARD - HINDIView All

हरियाणा में पूरा होने को है दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे

केंद्रीय राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने महत्त्वाकांक्षी दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे परियोजना के पूरा होने की समयसीमा मार्च 2023 निर्धारित की है। एक्सप्रेसवे के हरियाणा वाले हिस्से में से 80 से 90 फीसदी निर्माण कार्य पूरा भी हो चुका है। हालांकि, चुनौती इसके गुजरात वाले खंड में है जहां पर विभिन्न हिस्सों पर अब तक निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 17, 2021

वोडा आइडिया को सरकारी राहत

विश्लेषकों की राय में बकाये को इक्विटी में बदला तो सरकार की बड़ी हिस्सेदारी होगी

1 min read
Business Standard - Hindi
September 17, 2021

24 नए मंत्रियों में सभी नए चेहरे

गुजरात में सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर जातीय एवं क्षेत्रीय समीकरण साधना शुरू कर दिया है।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 17, 2021

जीएसटी परिषद में क्षतिपूर्ति और पेट्रोलियम पर होगी चर्चा

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) परिषद की बैठक शुक्रवार को लखनऊ में आयोजित हो रही है।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 17, 2021

एनएआरसीएल को सरकारी गारंटी

फंसे कर्ज के समाधान के लिए राष्ट्रीय परिसंपत्ति पुर्नगठन कंपनी (एनएआरसीएल) द्वारा जारी की जाने वाली प्रतिभूति रसीदों को सरकारी गारंटी मिल गई है।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 17, 2021

सरकार बेचेगी हिदुस्तान कॉपर की 10 फीसदी हिस्सेदारी

केंद्र सरकार ऑफर फॉर सेल के जरिये हिंदुस्तान कॉपर की 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी और इस कदम से विनिवेश प्राप्ति के तौर पर सरकार को 1,120 करोड़ रुपये हासिल होंगे।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 16, 2021

टीका निर्यात बहाली पर हो रहा विचार

मोदी की अमेरिका यात्रा से पहले

1 min read
Business Standard - Hindi
September 16, 2021

वाहन, ड्रोन उद्योग के लिए प्रोत्साहन मंजूर

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने आज ड्रोन और वाहन उद्योग की घरेलू विनिर्माण क्षमता बढ़ाने के लिए 26,058 करोड़ रुपये की उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना को मंजूरी दे दी। इन वाहनों में इलेक्ट्रिकल एवं हाइड्रोजन फ्यूल सेल वाहन भी शामिल होंगे।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 16, 2021

कश्मीर मुद्दा उठाने पर भारत ने आलोचना की

भारत ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) में कश्मीर मुद्दा उठाने पर पाकिस्तान और इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की बुधवार को आलोचना करते हुए कहा कि ओआईसी ने लाचार होकर खुद पर पाकिस्तान को हावी हो जाने दिया।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 16, 2021

दूरसंचार क्षेत्र को राहत की कॉल

100 फीसदी एफडीआई, एजीआर बकाया 4 साल तक टालने सहित कई सुधारों को मंजूरी

1 min read
Business Standard - Hindi
September 16, 2021
RELATED STORIES

The Trouble With Full Employment

Figuring out when the economy has reached maximum employment is no easy thing. Just ask the Fed

6 mins read
Bloomberg Businessweek
January 27 - February 03, 2020

Building Your Dream Team?

Start with great benefits and attract great people.

2 mins read
Inc.
September 2018

अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उद्योगों को रोजगार के अवसर तेजी से बढ़ाने होंगे

वर्ष 1947 में भारत की आजादी के तुरंत बाद भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि क्षेत्र का योगदान लगभग 55 प्रतिशत पाया गया था, जो आज घटकर 16-18 प्रतिशत के बीच रह गया है, हालांकि देश में लगभग 60 प्रतिशत के आसपास आबादी आज भी गांवों में ही निवास करती है। वर्ष 1947 के बाद से आज सेवा क्षेत्र का योगदान 60 प्रतिशत से अधिक हो गया है।

1 min read
Open Eye News
August 2021

कमी कहीं आपमें तो नहीं?

समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए नौकरी बदलना सही विकल्प नहीं। संभव है कि कमियां आपके पुराने ऑफिस और वहां के लोगों में नहीं, आप में हो। कैसे इन खामियों से पाएं छुटकारा, बता रही हैं अमृता प्रियदर्शी

1 min read
Anokhi
September 11, 2021

कोर्ट की आड़ में क्यों लटकती है भर्तियां?

आखिर सरकार कोर्ट की आड़ लेकर भर्ती क्यों नहीं करना चाहती? क्या ये अंदर खाने भ्रष्टाचार की दस्तक तो नहीं है. अगर ऐसा नहीं तो फिर क्यों सरकार भर्ती नहीं कर रही है. और दूसरी बात सरकार कॉन्ट्रैक्ट पर कर्मचारी क्यों रखती है. रखती है तो शर्ते साफ-साफ क्यों नहीं है? आखिर क्यों ये कॉन्ट्रक्ट के कर्मचारी हर बार रेगुलर भर्ती में बाधा डालते है. इस सांठ-गांठ के राज उजागर होने चाहिए और सरकार को रेगुलर भर्ती नियमित अंतराल पर करनी चाहिए. सालों से नौकरी की बाट देख रहें है हरियाणा के बीटेक आई. टी.आई. अनुदेशक. आये दिन ट्विटर ट्रेंड में बेरोजगार युवाओं के ट्वीट्स से नौकरी के गुहारों की झड़ी देखने को मिल रही है.

1 min read
Gambhir Samachar
September 1, 2021

अधर में प्रतियोगी युवा सरकारी नौकरी का लालच

सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे ज्यादातर ऐसे सक्षम युवा हैं जिन्हें संभव है कि सीट की कमी और सरकारी कुव्यवस्था के चलते सरकारी नौकरी नहीं मिलने वाली, लेकिन परिवार की एक बड़ी पूंजी अभी तक वे इन तैयारियों में उम्मीद के सहारे खर्च कर चुके हैं. ऐसे में प्रतियोगी युवाओं का भविष्य अंधकार में गहराता जा रहा है. ये वे युवा हैं जो सबकुछ दांव पर लगा कर एक अनिश्चित भविष्य की तरफ बढ़ रहे हैं.

1 min read
Sarita
August First 2021

मोदी का नया कैबिनेट- भानुमती का फुस कुनबा

प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी के कैबिनेट विस्तार की जिस तरह छीछालेदर हो रही है वह अभूतपूर्व कही जा सकती है. आखिर असल वजह क्या है...

1 min read
Sarita
July Second 2021

नौकरी खोने वालों का पीएफ 2022 तक भरेगी सरकार

वित्त मंत्री का बड़ा ऐलान 'उभरते सितारे फंड' लॉन्च

1 min read
Hari Bhoomi
August 22, 2021

गांव गुलजार

हिंदुस्तान का प्राण गांवों में बसता है. यह उक्ति बीते कुछ वर्षों में अप्रासंगिक हो चली थी, लेकिन समय के चक्र ने फिर इसे प्रासंगिक बना दिया है. बीते मार्च 2019 से न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया के तौर तरिकों को कोविड-19 ने बदलने पर मजबूर कर दिया है. इससे भारत के गांव भी अछूते नहीं रहे. यह बदलाव 360 डिग्री पर देखने को मिल रहे हैं. यह एक आम बात थी कि गांवों में या तो बुजुर्गों की संख्या ज्यादा थी या फिर बच्चों और किशोरों की. युवा शिक्षारोजगार-कैरियर के लिए लगातार गांव से पलायन कर रहा था लिजाहा गांव विरान और शहर गुलजार होने लगे.

1 min read
Gambhir Samachar
August 16, 2021

सावधान! आगे खतरनाक मोड़ है

छीजती बचत, घटती आमदनी और नौकरियों के जाने से पैदा जबरदस्त तंगहाली के चलते सरकार की आर्थिक नीतियों में लोगों का भरोसा डगमगाया

1 min read
India Today Hindi
August 25, 2021