रोजगार योजना से 50 से 60 लाख नौकरियों की आस
Business Standard - Hindi|November 17, 2020
केंद्र सरकार का लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के तहत औपचारिक क्षेत्र में 50 से 60 लाख नौकरियां सृजित करने का है। इस योजना के जरिये कंपनियों को वित्तीय सहायता देने की घोषणा की गई है।
सोमेश झा

श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा, 'हम जून 2021 तक 50 से 60 लाख नौकरियां सृजित करने की उम्मीद कर रहे हैं। कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) के आंकड़ों से पता चला है कि महामारी की वजह से शुरुआती महीनों में करीब 20 लाख लोगों को रोजगार गंवाना पड़ा है।'

कर्मचारी भविष्य निधि सब्सिडी प्राप्त करने के लिए निजी क्षेत्र की फर्मे अक्टूबर 2020 से जून 2021 तक अपने श्रमबल में हर महीने कर्मचारियों की न्यूनतम निवल संख्या बढ़ाती रहेगी और केंद्र सरकार ऐसी फर्मों के पेरोल पर लगातार नजर रखेगी।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the newspaper

MORE STORIES FROM BUSINESS STANDARD - HINDIView All

दिल्ली में लॉकडाउन की बढ़ी अवधि, इस बार ज्यादा सख्ती

दिल्ली सरकार ने सोमवार सुबह खत्म हो रहे लॉकडाउन को एक सप्ताह के लिए और बढ़ा दिया है।

1 min read
Business Standard - Hindi
May 10, 2021

भारतीय 5जी मानक पर एयरटेल और जियो में मतभेद

सरकार 5जीआई को बढ़ावा दे रही मगर उसके कारगर होने पर उठ रहे हैं सवाल

1 min read
Business Standard - Hindi
May 10, 2021

टीके के बावजूद मास्क से बचाव

बांग्लादेश के एक अध्ययन के मुताबिक लोगों को मास्क लगाने के लिए आश्वस्त किया जा सकता है। इस शोध के कई पहलू हैं जिनमें लागत की भारी बचत एक महत्त्वपूर्ण निष्कर्ष है

1 min read
Business Standard - Hindi
May 10, 2021

टाटा संस के निवेश की चांदी

समूह की सूचीबद्ध कंपनियों के शेयर चढ़ने से निवेश मूल्य 10 लारव करोड़ रु. के पार

1 min read
Business Standard - Hindi
May 10, 2021

उड़ान के लिए अनिवार्य नहीं हो कोविड नेगेटिव रिपोर्ट

कारोबार को सुचारु ढंग से चलाने के लिए जूझ रही भारतीय विमानन कंपनियों ने केंद्र और राज्य सरकारों से हवाई यात्रियों के लिए कोविड नेगेटिव रिपोर्ट की जरूरत को खत्म करने का अनुरोध किया है। कई राज्यों ने अपने यहां आने वाले विमानन यात्रियों के लिए कोविड नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर रखी है। विमानन कंपनियों का कहना है कि इसकी जगह यात्रियों से चिकित्सक द्वारा उड़ान के लिए उपयुक्त (फिट टू फ्लाई) प्रमाणपत्र की मांग की जा सकती है।

1 min read
Business Standard - Hindi
May 10, 2021

तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू करे सरकार

उच्चतम न्यायालय ने आज केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से कहा कि कोरोना महामारी की जो तीसरी लहर आने वाली है, उससे निपटने की तैयारी शुरू की जाएं । शीर्ष अदालत ने आम लोगों की परेशानियां दूर करने के लिए चिकित्सा ऑक्सीजन का अतिरिक्त स्टॉक बढ़ाने पर ध्यान देने के लिए भी कहा है।

1 min read
Business Standard - Hindi
May 07, 2021

अमेरिका पेटेंट हटाने को राजी

इस पहल से विश्व के अधिक से अधिक देश बना पाएंगे कोविड से बचाव के टीके

1 min read
Business Standard - Hindi
May 07, 2021

टीकाकरण की रफ्तार में न आए कमी

प्रधानमंत्री ने टीकाकरण की प्रगति और अगले कुछ महीनों में टीकों का उत्पादन बढ़ाने की योजना की समीक्षा की

1 min read
Business Standard - Hindi
May 07, 2021

अंतरराष्ट्रीय बंदरगाहों पर भारतीय चालक दलों की मुश्किल

कोविड-19 महामारी के संक्रमण को देखते हुए विदेशी बंदरगाहों पर भारतीय चालक दल की अदला-बदली पर पाबंदी

1 min read
Business Standard - Hindi
May 07, 2021

मॉल किराया 40 से 50 फीसदी घटा

कोरोनावायरस की महामारी का असर मॉल पर बहुत ज्यादा पड़ा है। मॉल में पट्टे पर दुकानें देने में मदद करने वाले सलाहकारों के मुताबिक साल की पहली तिमाही में बड़े शहरों में मॉल के किराये 40-50 फीसदी तक घटे हैं और आगे इनमें ज्यादा गिरावट के आसार हैं। पिछले एक दशक में किराये में यह सबसे तेज गिरावट बताई जा रही है।

1 min read
Business Standard - Hindi
May 07, 2021
RELATED STORIES

Smart Beta For Volatile Times

In the equity market not everything goes up in tandem and comes down in that order. There are themes and factors that play differently in different periods of the business cycle, market cycle and investor sentiment. The following report provides some insights

8 mins read
Dalal Street Investment Journal
April 12, 2021

अब नौकरीपेशा ही नहीं बाकी लोग भी लगा सकेंगे ईपीएफओ में पैसा

अब कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) में नौकरी पेशा के अलावा भी लोग निवेश कर सकेंगे। इससे उन्हें अच्छा ब्याज मिलेगा और भविष्य के लिए अच्छा खास फंड भी एकत्र हो सकेगा। दरअसल, केंद्र सरकार ईपीएफओ के तहत अलग से एक फंड बना सकती है।

1 min read
Haribhoomi Delhi
March 14, 2021

A Greater Sense of Urgency for Reforms

The pandemic has brought a realisation that we need greater public health infrastructure so that we are ready for any calamity of this order in the future

4 mins read
Business Today
February 07, 2021

अगले 15 दिनों में आएगा PF खाते में पैसा, एक SMS भेज कर चेक करें अपना बैलेंस

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन वित्त वर्ष 2019-20 के लिए करीब छह करोड़ अंशधारकों के कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) खातों में दिसंबर के अंत तक एकमुश्त 8.5 प्रतिशत का ब्याज डालेगा। इससे पहले सितंबर में श्रम मंत्री संतोष गंगवार की अगुवाई में हुई न्यासियों की बैठक में ईपीएफओ ने ब्याज को 8.15 प्रतिशत और 0.35 प्रतिशत की दो किस्तों में डालने का फैसला किया था।

1 min read
Rokthok Lekhani
December 15, 2020

अक्तूबर में ईपीएफओ के 18 लाख सदस्य घटे

अप्रैल के बाद पहली बार गिरावट, योगदान देने वाली 30,800 कंपनियां कम हुई

1 min read
Hindustan Times Hindi
November 19, 2020

Making ETF A Part Of Your Portfolio

Why do exchange traded funds (ETFs) suffer from low investor participation even when they have generated better returns than index funds in the same period? The following report provides insights into the ETFs and how they function while pointing out their merits and demerits in terms of retail investing

10+ mins read
Dalal Street Investment Journal
October 26, 2020

भारतीय अर्थव्यवस्था फिर पटरी पर लौट रही

ईपीएफओ में योगदान देने वाली कंपनियों की संख्या बढ़ी, नतीजों से भी मिले अच्छे संकेत

1 min read
Hindustan Times Hindi
August 21, 2020

A HARROWING TASK NO MORE

Online withdrawal of EPF makes the entire process simpler and quicker

3 mins read
India Today
May 04, 2020

12 दिनों में 6000 सदस्यों ने निकाले ₹12 करोड़

12 दिनों में 6000 सदस्यों ने निकाले ₹12 करोड़

1 min read
Prabhat Khabar Bhagalpur
April 23, 2020

Investing In 2020

There is a clear divergence between the Indian economy and markets. While the economy continues to face challenges, the markets remain buoyant. What does an investor do in these interesting times? Over the next few pages, Fortune India gives a peak into the road ahead across sectors.

4 mins read
Fortune India
February 2020