बीते विधानसभा चुनावों के निहितार्थ
Uday India Hindi|May 16, 2021
अप्रैल में हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में सिर्फ पश्चिम बंगाल की चर्चा होना स्वाभाविक है।
उमेश चतुर्वेदी

294 सीटों वाली पश्चिम बंगाल विधानसभा के चुनाव राष्ट्रीय चर्चा का विषय बनने की वजह रहा वहां झोंकी भारतीय जनता पार्टी की ताकत। भारतीय जनता पार्टी के पूर्ववर्ती संगठन भारतीय जनसंघ की स्थापना करने वाले डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जन्मभूमि में भाजपा अब तक कोई उल्लेखनीय सफलता नहीं हासिल कर पाई थी। भाजपा का सपना रहा है कि वह अपने पुण्यपुरूष की जन्मभूमि में अपनी ताकत दिखाए। हालिया बीते चुनावों में भाजपा ने अपनी वही चाहत पूरी करने की कोशिश की। लेकिन वह पूरी नहीं हो पाई।

इतिहास विजेताओं का ही ना सिर्फ सम्मान करता है, उसे ही याद रखता है। लेकिन इतिहास के कुछ गवाह ऐसे भी होते हैं, जो विजेताओं और पराजितों की लड़ाई के पीछे की अंतःपुर की कहानियों को भी दर्ज करते हैं। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत को वामधारा का वर्चस्व वाला राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया सांप्रदायिकता और विशेषकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हार के तौर पर दिखा रहा है। इसके अलावा उससे उम्मीद ही नहीं की जा सकती। लेकिन उसे नहीं भूलना चाहिए कि इन्हीं चुनावों के ठीक पहले यानी 2016 के विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पश्चिम बंगाल में महज दस फीसद वोट और तीन सीटें ही मिली थीं। 1967 में बांग्ला कांग्रेस की अगुआई में बने गठबंधन में सिर्फ एक विधायक से खाता खोलने वाली भाजपा या जनसंघ को राज्य में कभी बड़ी सफलता नहीं मिली। लेकिन इस बार उसके रिकॉर्ड 77 विधायक विधानसभा पहुंचने में कामयाब रहे। उसे लोकसभा 2019 की तुलना में बेशक करीब दो फीसद कम वोट मिले। वैसे यह अस्वाभाविक भी नहीं था। पश्चिम बंगाल के सत्ता शीर्ष पर 34 साल तक रहे वामपंथ और देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के साथ ही फुरफुराशरीफ के मौलाना वाला गठबंधन इस चुनाव में कोई कमाल नहीं दिखा पाया और इनका खाता तक नहीं खुल पाया। जबकि पिछली विधानसभा में दोनों को मिलाकर 76 विधायक थे। स्पष्ट है कि मामला दोतरफा हो गया और उसमें ममता बनर्जी को विजय मिली। लेकिन इसके लिए उन्हें चंडीपाठ करना पड़ा, व्हीलचेयर पर बैठकर नाटक करना पड़ा। जैसे ही दो मई को नतीजे आए, वे व्हीलचेयर से उठ खड़ी हुई और सीधे राजभवन की सीढ़ियां नापते हुए शपथ लेने पहुंच गई। यह दृश्य वामपंथी वर्चस्व वाले मीडिया को नजर नहीं आया होगा, लेकिन पश्चिम बंगाल की जनता देख ही रही होगी। इस पूरी कवायद में एक बात और उल्लेखनीय रही कि अपनी पार्टी को ममता जिताने में भले ही कामयाब रहीं, लेकिन वे खुद नंदीग्राम से हार गई।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM UDAY INDIA HINDIView All

पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा कारण और निवारण

सच तो यह है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की जीत के बाद हुई हिंसा राजनीतिक नहीं है, उसके पीछे वहां की जनसांख्यिकीय स्थिति मुख्य कारक है। पश्चिम बंगाल में 30 से 35 प्रतिशत आबादी मुसलमानों की है। वे सत्ता को उपकरण बनाकर वहां हिंसा का मजहबी कुचक्र रच रहे हैं। ताकि शांति और सुरक्षा को सर्वोपरि रखने वाली बची-खुची हिंदू जाति भी वहां से पलायन कर जाए। ध्रुवीकरण को कारण मानने और ऐसा विश्लेषण करने वाले विद्वान या तो कायर हैं या दुहरे चरित्र वाले!

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

मदरसा शिक्षा के उप-उत्पाद

पिछले दिनों की कुछ घटनाओं पर जरा पुनर्विचार कीजिए। फ्रांस में पैगंबर साहब के कार्टून के नाम पर क्रमबद्ध हिंसा, उस हिंसा के पक्ष में भारत सहित अनेक देशों में हुए बड़े आंदोलन, अफ्रीकी देश मोजांबिक में आईएस के कट्टरपंथी द्वारा "अल्लाह हू अकबर" के नारे के साथ बर्बरता पूर्वक 50 से अधिक लोगों की हत्या, काबुल में सैकड़ों लोगों की हत्या आदि घटनाएं मीडिया व सोशल मीडिया पर चर्चित रही।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

सावधान न्यायपालिका सीमा लांघी जा रही है

अगर न्यायिक सक्रियता का सच्चा अर्थ जानना हो तो ब्लैक्स लॉ डिक्शनरी की मदद लेनी होगी, जिसके मुताबिक...... "न्यायिक निर्णयप्रक्रिया का वह दर्शन है, जिसमें जज सार्वजनिक नीति के बारे में अपने फैसलों में अन्य बातों के अलावा अपने व्यक्तिगत विचारों को भी तवज्जो देते हैं।"

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

यूपी में भाजपा की चुनौतियां दोबारा पांच साल की राह में खड़े हैं अगले छह माह!

यूपी में चुनाव अगले साल फरवरी-मार्च में होने हैं। वैसे में तकनीकी रूप से आठ-नौ माह भले बचे हों लेकिन व्यावहारिक तौर पर भाजपा नेतृत्व के पास यूपी में फिर से सत्ता में वापसी के हालात बनाने के लिए इस साल के बचे तकरीबन छह माह का वक्त ही है। यानी इन छह महीनों में वह क्या और कैसे कदम उठाती है उसकी कामयाबी एवं उससे बना माहौल ही फिर से पांच साल के लिए सत्ता पाने की राह तय करेंगे।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

लक्षद्वीप विकास के आड़े आता इस्लामिक कट्टरवाद

लक्षद्वीप में लगभग 12 उपद्वीप समूह है जिनमें शामिल है अगत्ती, अमीनी, कवारत्ती, मिनिकॉय, किल्टन, आंड्रोट, बंगाराम, बित्रा, चेटलत, कदमत, और कल्पेनी। बित्रा इनमें सबसे छोटा उपद्वीप है। यह क्षेत्र आकर्षक समुद्र तटों और हरे-भरे परिदृश्य के लिए जाना जाता है। रेतीले समुद्र तट, वनस्पतियों और जीवो की प्रचुरता पर्यटन की दृष्टि से इस क्षेत्र को और उपयोगी बनाती है। कवारत्ती लक्षद्वीप समूह की राजधानी और लक्षद्वीप समूह का प्रमुख राज्य है।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

चिकित्सा पद्धति कोई भी हो लक्ष्य मात्र मानव कल्याण हो

विगत कुछ दिनों से देश में आयुर्वेद बनाम ऐलोपैथी की जंग छिड़ी हुई है। बाबा रामदेव के एक बयान का इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने पुरजोर विरोध किया है। हालांकि बाबा रामदेव ने अपना बयान वापस ले लिया है परन्तु फिर भी बात आईएमए द्वारा बाबा पर एक हजार करोड़ रुपए की मानहानि के दावे के साथ-साथ न्यायालय का दरवाजा खटखटाने से लेकर देशद्रोह के आरोपों तक पहुंच गई है।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

उत्तर प्रदेश की कयासबाजी पर पटाक्षेप

कहा जा रहा है कि योगी को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने बचाया है। वैसे भी योगी जी जिस तरह की राजनीति कर रहे हैं, जैसे प्रशासनिक फैसले ले रहे हैं, वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की वैचारिक राजनीतिक के करीब पड़ता है। यूं भी भारतीय जनता पार्टी के जितने भी मुख्यमंत्री हैं, उनमें सिर्फ योगी ही ऐसे हैं, जिनकी पूरे देश में पहचान है। यही वजह है कि उन्हें त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल से लेकर केरल तक में चुनाव प्रचार में भेजा जाता है और वहां भारी भीड़ जुटती है। उन्हें देश का एक बड़ा वर्ग भाजपा के भावी नेतृत्वकर्ता के रूप में भी देखता है। कुछ राजनीतिक जानकारों का कहना है कि उत्तर प्रदेश जैसे बेपटरी राज्य की व्यवस्था को चलाना अगर संभव हो पा रहा है तो उसकी बड़ी वजह योगी जी की अक्रवड़ शैली भी है।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

कोविड महामारी और भारतीय नवाचार

भारत के स्टार्टअप्स विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नए-नए नवाचार के साथ अपनी मिसाल कायम कर रहे हैं। कोविड-19 की दूसरी लहर के खिलाफ जंग में भी ये स्टार्टअप्स अपना पूरा योगदान दे रहे हैं। इसी श्रृंखला की कड़ी में मुंबई के एक स्टार्टअप ने बहुत ही महत्पूर्ण अविष्कार किया है। मुंबई स्थित स्टार्टअप इंद्रा वाटर ने एक पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट विकसित किया है। यह एन 95 मास्क, कोट, दस्ताने और गाउन से बीमारी पैदा करने वाले सार्स-कोव-2 वायरस के किसी भी संभावित निशान को मिटा देती है।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

उत्तरप्रदेश में भाजपा के रामबाण बने रामभक्त योगी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना नियंत्रण में योगी के द्वारा उठाए गए कदमों और त्वरित कार्यवाही के लिए योगी की भारी सराहना करते रहे हैं। न सिर्फ हिंदुस्तान में बल्कि पूरी दुनिया ने योगी के समर्पित भाव से कोरोना नियंत्रण के लिए रात-दिन एक करके जो प्रयास किए हैं उनकी भारी प्रशंसा की है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन और इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा की गई टिप्पणी से योगी की लोकप्रियता और भी अधिक बढ़ गई है। जनता में उनके प्रति उनका कार्य देखकर विश्वास और भी गहरा हुआ है।

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को हिंदू-मुस्लिम रंग देने की शरारत

इस बहाने मोदी को औरंगजेब, हिटलर और तालिबानी कहना सहनशीलता की पराकाष्ठा

1 min read
Uday India Hindi
June 13, 2021
RELATED STORIES

Wolfenstein: Youngblood Series - At Its Worst And Best

Wolfenstein: Youngblood is the series at its worst and best.

7 mins read
PC Gamer US Edition
November 2019

Tech Firms Struggle To Police Content While Avoiding Bias

Take the post down. Put it back up. Stop policing speech. Start silencing extremists.

5 mins read
Techlife News
August 31, 2019

Tech Firms Struggle To Police Content While Avoiding Bias

Take the post down. Put it back up. Stop policing speech. Start silencing extremists.

5 mins read
AppleMagazine
August 30, 2019

What Is The Online Forum 8Chan?

An anonymous online forum called 8chan has drawn attention in the wake of mass shootings in Texas and Ohio because violent U.S. extremists have used it to share tips and encourage one another.

3 mins read
Techlife News
August 10, 2019

No, There's Still No Link Between Video Games And Violence

Do video games trigger violent behavior? Scientific studies have found no link. But the persistent theory is back in the headlines following Saturday’s mass shooting in El Paso, Texas.

3 mins read
Techlife News
August 10, 2019

Twitter Bans ‘Dehumanizing' Posts Toward Religious Groups

Twitter now prohibits hate speech that targets religious groups by using dehumanizing language, a ban it says may extend to other categories like race and gender.

1 min read
Techlife News
July 13, 2019

India Election Body Struggles With Scale Of Fake Information

When India’s Election Commission announced last month that its code of conduct would have to be followed by social media companies as well as political parties, some analysts scoffed, saying it lacked the capacity and speed required to check the spread of fake news ahead of a multi-phase general election that begins April 11.

4 mins read
AppleMagazine
April 5, 2019

Why Are We So Angry?

The untold story of how we all got so mad at one another

10+ mins read
The Atlantic
January/February 2019

India At A Crossroads

India is known as the land of contradictions, and recent events do little to undermine that reputation.

6 mins read
Reason magazine
January 2019

Fake News In Brazil

For Stela Wanda Pereira da Silva, the breaking point came when her father posted a video of a woman getting assassinated to the family’s private WhatsApp group, calling it an example of the violence that would ensue if leftist Workers’ Party candidate Fernando Haddad prevailed in Brazil’s presidential election.

9 mins read
Bloomberg Businessweek
November 5,2018