Dirty men and dirty looks
THE WEEK|August 08, 2021
WhatsApp university forwards are always obnoxious. But some are first-amongst-equals, or obnoxious-est. And the one that claimed that honour, this fortnight, was something that did the rounds right after Mirabai Chanu’s incredible silver-winning performance at the Tokyo Olympics.
ANUJA CHAUHAN

It basically stated (in chaste Hindi, and Devanagari script) that Chanu, Mary Kom and Manika Batra all have male coaches and managers, whom they trust, respect and obey without question, and that should be a lesson to all womenkind—that if you trust, respect and obey the men in your life, then you, too, will achieve worldwide fame and glory.

For the men who would immediately respond, hey don’t get mad, it’s just a joke, where’s your sense of humour, I would reply: well, for one thing, Larry Nassar.

This sexual predator and paedophile is currently serving a 176-year-sentence for abusing more than 300 girls and women, many of them while their parents were in the room, while he was the US gymnastics team doctor. He could get away with this abuse because those girls and their families trusted, respected and obeyed him without question.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM THE WEEKView All

High on command

The ruthless removal of Amarinder Singh shows a newfound decisiveness in the Congress high command. But the bravado has not answered the existential questions that the party and the Gandhis face

10+ mins read
THE WEEK
October 03, 2021

The flying workhorse

Known for precision and reliability, the MQ-9 Reaper combat drones will boost India’s offensive capabilities

4 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

Will do my best to protect Punjab from anti-nationals like Sidhu

INTERVIEW Amarinder Singh, former Punjab chief minister

5 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

Club class

In the turbulence of geopolitics, India seeks a balance between groupings and bilateral ties

5 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

FREE TO FLOW

Stepping down from T20 captaincy could help Virat Kohli rediscover the superstar batsman in him

5 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

Coping by copying

The Congress leadership in Kerala is converting the party into a semi-cadre organisation for its revival

2 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

SILENT SPECIALISTS

Anaesthetists are a rare breed, barely seen or heard. They work tirelessly, ensuring painless surgeries for patients. But little is known about their work and the pressure involved

10+ mins read
THE WEEK
October 03, 2021

Fight to the finish

With elections on the horizon, Mayawati is hoping for a strong comeback

4 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

Beyond Bhabanipur

Mamata Banerjee wants to not only win Bhabanipur, but also weaken the BJP in West Bengal

5 mins read
THE WEEK
October 03, 2021

A MOUTHFUL OF AVADH

A few connoisseurs and chefs are trying to revive erstwhile Avadhi dishes in their authentic form

5 mins read
THE WEEK
October 03, 2021
RELATED STORIES

टोक्यो ओलिंपिक जज्बे के सहारे जरूरतों से जूझते चैंपियन

देश में होनहार खिलाड़ियों की कमी नहीं है, इस के बावजूद हम ओलिंपिक खेलों में एक बार में 7 से ज्यादा मैडल नहीं ला पाए हैं. इस के कई कारण हैं. लेकिन इस से पदक जीतने वाले उन खिलाड़ियों के जज्बे को कम नहीं समझा जाना चाहिए जो विपरीत परिस्थितियों में भी मैडल हासिल कर पोडियम पर खड़े हुए हैं.

1 min read
Sarita
August Second 2021

ओलिंपिक-2021- खिलाड़ी बेटियां हम से है जमाना

भेदभाव की शिकार रहीं भारतीय खिलाड़ी बेटियों ने अपने दम पर जो मुकाम बनाया है, वह दकियानूसी सोच वालों के दांत खट्टे करने के लिए काफी है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
August Second 2021

स्वर्णिम भारत

भारत के लिए ऐतिहासिक रहा टोक्यो ओलम्पिक'

1 min read
Kendra Bharati - केन्द्र भारती
September 2021

शाबाश! भारत की बेटियां

टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारत की महिला एथलीटों ने कमाल कर दिया। राह में तमाम मुश्किलें थीं, लेकिन इन्होंने अंतर्राष्ट्रीय खेल फलक पर देश को नयी ऊंचाई पर पहुंचा दिया।

1 min read
Vanitha Hindi
September 2021

खेल नीति से दिखने लगी मैदान में चमक

ओलंपिक के सवा सौ साल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है, जब भारत ने सात पदक जीते हैं। एक अरब 40 करोड़ की जनसंख्या और दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देश के लिए यह उपलब्धि कुछ खास नहीं है। लेकिन अतीत की ओर झांके तो यह उपलब्धि भी कम नहीं है। इसके पहले भारत ने लंदन ओलंपिक में छह पदक जीते थे।

1 min read
Uday India Hindi
August 22, 2021

बदलते भारत की तस्वीर को बयां करता टोक्यो ओलंपिक

बदलते भारत की तस्वीर कों बयां करता टोक्यो ओलंपिक 'पढोगे लिखोगे, बनोगे नवाब, खेलोगे कूदोगे, होगे खराब' अक्सर घर में बड़े बुजुर्गों से इस वाक्य को आपने कई बार सुना होगा, क्योंकि पुराने समय में एक धारणा थी कि सिर्फ पढ़ाई करने से बच्चे का भविष्य सुधरता है। इसी कारण माता-पिता अपने बच्चों को खेल कूद से दूर रखते थे। लेकिन, अब जमाना बदल चुका है।

1 min read
Uday India Hindi
August 22, 2021

समय है टॉप्स पे जाने का

हर चार साल बाद जब ओलंपिक का मौसम आता है तो ये सवाल अपने आप खड़ा हो जाता है कि हममें वह काबिलियत क्यों नहीं।

1 min read
Uday India Hindi
August 22, 2021

ओलपिक में एक नई शुरूआत और स्वर्णिम समापन

टोक्यो ओलंपिक में गांव व छोटे शहरों से आये खिलाड़ियों ने अविश्वसनीय प्रदर्शन करके देश का गौरव बढ़ाया है.

1 min read
Gambhir Samachar
August 16, 2021

पूर्वोत्तर की बेटियां

पूर्वोत्तर की बेटियां मेहनत से नहीं कतराती। लकड़ियां काटने वे पहाड़ों पर चढ़ती हैं। घर-गृहस्थी का सामान लेकर ऊंचाई पर बने अपने घर आती और जाती हैं। वहां की महिलाएं ज्यादा मेहनती और कामकाजी मानी जाती हैं। इन्हीं गतिविधियों से उनमें खेल का आधार तैयार होता है।

1 min read
DASTAKTIMES
July 2021

लाजवाब बेटियों का चमत्कार

तमाम दिक्कतों और दुश्वारियों के बावजूद देश की महिला खिलाड़ियों ने हमारा सिर ऊंचा किया, मगर कुल पदक तालिका निराशजनक, भविष्य में ओलंपिक पदक हासिल करने का यह है ब्लूप्रिंट

1 min read
India Today Hindi
August 18, 2021