अमेरिका और मास शूटिंग
Sarita|May First 2021
अमेरिका में मास शूटिंग बड़ी समस्या के तौर पर उभर रही है, जिस के लिए कहीं न कहीं नागरिकों को आर्स रखने की मंजूरी देने वाला कानून भी जिम्मेदार है. अमेरिका की जनता और नेताओं को मास शूटिंग रोकने की दिशा में कठोर कदम उठाने चाहिए वरना अमेरिका को ही नहीं, इस का दुष्प्रभाव अन्य देशों को भी झेलना पड़ सकता है.
श्री प्रकाश

अमेरिका में मास (सामूहिक) गन शूटिंग कोई नई घटना नहीं है. वाशिंगटन पोस्ट के 8 जून 2015 की एक रिपोर्ट के अनुसार, 1982 से उस समय तक लगभग 61 मास शूटिंग हो चुकी थी. गन वायलैंस आर्काइव के अनुसार, अकेले 2019 में मास शूटिंग की 417 घटनाएं घटी यानी प्रतिदिन एक शूटिंग से ज्यादा.

अमेरिकी नियम के अनुसार, किसी व्यक्ति द्वारा शूटिंग में 4 या इस से ज्यादा मृत्यु होने (शूटर को छोड़ कर) पर यह घटना मास शूटिंग कहलाती है. इस में गैंगवार, घरेलू हिंसा, आतंकवादी घटनाएं शामिल नहीं हैं. हैरानी यह भी है कि पिछले कुछ वर्षों में आम नागरिकों में गनधारकों की संख्या घटी है पर मास शूटिंग या शूटिंग में बढ़ोतरी हुई है.

5 वर्षों के दौरान प्रमुख मास शूटिंग मृतकों की संख्या

2015 में चार्ल्स टन, साउथ कैरोलिना (9), रोजबर्ग, औरेगन (9), सैन बर्नाडिनो, कैलिफोर्निया (14), 2016 में और्लेडो, फ्लोरिडा (49); 2017 में लौस वेगास, कैलिफोर्निया (58), सदरलैंड स्प्रिंग, टैक्सास (26), 2018 में पार्कलैंड, फ्लोरिडा (17), सैंटा फे, टैक्सास (9), ट्री औफ लाइफ (11), थाउजैंड ओक्स, कैलिफोर्निया (12), 2019 में वर्जिनिया बीच (12), डेटन औहियो (9), एलपैसो टैक्सास (22), इलेनौइस (45), 2020 में मिल्वौकी, विस्कौन्सिन (5), ग्रीनविले साउथ कैरोलिना (10).

नवीनतम मास शूटिंग 2 अप्रैल को सुबह अमेरिका की राजधानी स्थित कैपिटल हिल (अमेरिकी संसद) के पास फायरिंग की घटना हुई. हालांकि यह मास शूटिंग नहीं थी, फिर भी अमेरिका के संवेदनशील एरिया में गन फायरिंग की घटना थी.

मार्च 202116 मार्च को एटलांटा, जौर्जिया में (8), 22 मार्च को बोल्डर, कोलाराडो में (12) और 31 मार्च की शाम को औरेंज कैलिफोर्निया में (4) मास शूटिंग में मरने वालों के अतिरिक्त अनेक लोग घायल भी होते हैं.

मास शूटिंग के प्रमुख कारण

ज्यादातर शूटिंग व्यक्तिगत कारणों से होती है. हाल में कुछ नस्लवाद की घटनाएं भी देखने को मिली हैं. अकसर शूट करने वाला खुद को भी मार लेता है, वरना पुलिस की कार्रवाई में मारा जाता है या कभी पकड़ा जाता है.

अमेरिकी गन पौलिसी

अमेरिका के संविधान में द्वितीय संशोधन के बाद हर नागरिक को फायर आर्म रखने का अधिकार है. ज्यादातर लोग इसे मूल और निजी अधिकार मानते हैं और इस में आसानी से बदलाव के पक्ष में नहीं रहते हैं. दूसरी ओर गन रिलेटेड हिंसा और मास शूटिंग की बढ़ती घटनाएं संघ और राज्य सरकारों के लिए चिंता का विषय भी हैं. गन रिलेटेड हिंसा और मास शूटिंग के चलते अकेले 2017 में 40 हजार लोगों की मौत हुई थी.

विगत कुछ वर्षों में और विशेषकर पिछले कुछ माह में जो मास शूटिंग की घटनाएं हुई हैं, उन से अमेरिका की चिंता बढ़ना स्वाभाविक है. एक अनुमान के अनुसार, अमेरिका में करीब 42 प्रतिशत घरों में गन मौजूद हैं. अलग राज्यों की अलग गन पौलिसी है. हर राज्य के अपने नियम हैं और जरूरी नहीं कि अगर आप ने एक राज्य के नियमानुसार गन रखी हो तो दूसरे राज्य में भी वही नियम लागू हो. ज्यादातर राज्यों में कोई भी नागरिक अपनी सुरक्षा, शिकार, शूटिंग, स्पोर्ट्स के लिए गन बिना लाइसैंस या रजिस्ट्रेशन के रख सकता है.

अमेरिकी संविधान का द्वितीय संशोधन

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM SARITAView All

स्वास्थ्य बीमा लिया क्या

आम कोरोना की दूसरी लहर ने तो आम, खासे खातेपीते लोगों की भी कमर तोड़ दी है. इलाज के खर्च का भार कम करने के लिए स्वास्थ्य बीमा एक बेहतर विकल्प है.

1 min read
Sarita
June First 2021

अनाथ बच्चे गोद लेने में भी जातीयता

'2 साल की बेटी और 2 माह के बेटे के मातापिता कोविड के कारण नहीं रहे. इन बच्चों को अगर कोई गोद लेना चाहता है तो दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क करें. ये ब्राह्मण बच्चे हैं. सभी ग्रुपों में इस पोस्ट को भेजें ताकि बच्चों को जल्दी से जल्दी मदद मिल सके.' ऐसे मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

1 min read
Sarita
June First 2021

"भारत में हर चीज पौलिटिकल नजरिए से देवी जाती है" मनोज मौर्य

प्रतिभाशाली मनोज मौर्य लेखन, पेंटिंग, निर्देशन कुछ भी कह लो, हर काम में माहिर हैं. वे लघु फिल्मों के रचयिता के तौर पर भी जाने जाते हैं. उन की ख्याति विदेशों तक फैली है. बतौर निर्देशक, वे एक जरमन फिल्म बना कर अब फीचर फिल्म की तरफ मुड़े हैं.

1 min read
Sarita
June First 2021

इम्यूनिटी बढ़ाएं जीवन बचाएं

शरीर में इम्यूनिटी का होना वैसे तो हैल्थ के लिए हर समय जरूरी है लेकिन कोरोनाकाल में इस बात का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है कि इसे संतुलन में लगातार कैसे रखा जाए.

1 min read
Sarita
June First 2021

गर्भवती महिलाएं अपना और नवजात का जीवन बचाएं

कोविड संकट के दौर में गर्भवती महिलाओं को संक्रमण का अधिक जोखिम होता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि इस समय ऐसी महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है, जिस से खतरा अधिक बना रहता है. ऐसे में गर्भवती महिलाएं कैसे खुद को सुरक्षित रख सकती हैं.आइए जानें?

1 min read
Sarita
June First 2021

धर्म और भ्रम में डूबा रामदेव का कोरोना इलाज

लड़ाई चिकित्सा पद्धतियों के साथसाथ पैसों और हिंदुत्व की भी है. बाबा रामदेव ने कोई निरर्थक विवाद खड़ा नहीं किया है, इस के पीछे पूरा भगवा गैंग है जिसे मरते लोगों की कोई परवा नहीं. एलोपैथी पर उंगली उठाने वाले इस बाबा की धूर्तता पर पेश है यह खास रिपोर्ट.

1 min read
Sarita
June First 2021

पत्रकारिता के लिए खतरनाक भारत

वर्ल्ड प्रैस फ्रीडम इंडैक्स के अनुसार पत्रकारिता के मामले में भारत से बेहतर नेपाल और श्रीलंका जैसे पड़ोसी मुल्क हैं. भारत में सरकार निष्पक्ष पत्रकारों की आवाज दबाने के लिए उन पर राजद्रोह जैसे गंभीर मामले लगा कर उन्हें शांत करने का काम कर रही है.

1 min read
Sarita
June First 2021

नताशा नरवाल- क्रूर, बेरहम और तानाशाह सरकार की शिकार

इस समय जितनी असंवेदनशील कोरोना महामारी है उतनी ही शासन व्यवस्था हो चली है. ऐसे समय में शासन द्वारा राजनीतिक कैदियों को अपने प्रियजनों से दूर करना, यातना देने से कम नहीं है. जबकि, कई तो सिर्फ और सिर्फ इसलिए बिना अपराध साबित हुए जेलों में हैं क्योंकि वे सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ आवाज उठा रहे थे.

1 min read
Sarita
June First 2021

ब्लैक फंगस रंग बदलती मौत

ब्लैक फंगस इन्फैक्शन या म्यूकरमाइकोसिस कोई रहस्यमय बीमारी नहीं है, लेकिन यह अभी तक दुर्लभ बीमारियों की श्रेणी में गिनी जाती थी. भारतीय चिकित्सा विज्ञान परिषद के मुताबिक म्यूकरमाइकोसिस ऐसा दुर्लभ फंगस इन्फैक्शन है जो शरीर में बहुत तेजी से फैलता है. इस बीमारी से साइनस, दिमाग, आंख और फेफड़ों पर बुरा असर पड़ता है.

1 min read
Sarita
June First 2021

सर्वे और ट्विटर पर खुल रही है पोल प्रधानमंत्री की हवाहवाई छवि

कल तक जो लोग नरेंद्र मोदी के बारे में सच सुनने से ही भड़क जाया करते थे वे आज खामोश रहने पर मजबूर हैं और खुद को दिमागी तौर पर सच स्वीकारने व उस का सामना करने को तैयार कर रहे हैं. लोगों में हो रहा यह बदलाव प्रधानमंत्री की हवाहवाई राजनीति का नतीजा है जिस में 'काम कम नाम ज्यादा' चमक रहा था और अब इस का हवाई गुब्बारा फूट रहा है.

1 min read
Sarita
June First 2021
RELATED STORIES

An Exclusive Interview With Daniel Sackheim

Daniel Sackheim is an American Film & Television director and producer best known for his highly acclaimed series as HBO's True Detective Season 3, Game of Thrones, and FX's The Americans.

10+ mins read
Lens Magazine
May 2021

PENTAGON TO STEALTH FOES: BRING IT ON!

Preps for cyberwar as rogue nations chisel away

3 mins read
National Enquirer
May 31, 2021

FBI – Two of a Kind

Playing agents on FBI is serious business. But when Missy Peregrym and Zeeko Zaki get together to talk about their roles, the conversation is a lot more fun than fierce.

3 mins read
CBS Watch! Magazine
May/June 2021

Saving Youngstown. Again

One U.S. president after another has promised to turn this Rust Belt city around. Now Joe Biden is planning to steer millions of dollars in federal funding to revive manufacturing. So where are the jobs?

10+ mins read
Bloomberg Markets
June - July 2021

Averting a Telehealth Cliff

As legal relaxations on remote health care expire, supporters scramble to keep them

4 mins read
Bloomberg Businessweek
May 24, 2021

TRADITIONAL TO MIXED!

OBSERVATIONS ON THE JOURNEY FROM TKD TO MMA COURTESY OF ANTHONY “SHOWTIME” PETTIS

10+ mins read
Black Belt
June/July 2021

How To End Extreme Child Poverty

Buried deep in the latest pandemic stimulus package is a transformative approach to helping families.

10+ mins read
The Atlantic
June 2021

Black Land Matters

After a century of dispossession, young Black farmers are restoring their rightful place in American agriculture.

10+ mins read
Mother Jones
May/June 2021

Watching The Watchers

Let’s stop freaking out over kids’ pandemic screen time

4 mins read
Mother Jones
May/June 2021

Decoding the Price Signals

What’s real, what’s transitory, what’s base-effect distortion? Let’s cut through the noise

5 mins read
Bloomberg Businessweek
May 17, 2021