बंगलादेश में हिंसा मोदीविरोध या भारतविरोध?
Sarita|April Second 2021
बंगलादेश के 50वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्य अतिथि बनाए जाने के विरोध में वहां भड़की हिंसा ने कई सवालों को खड़ा किया है.
शाहनवाज

बंगलादेश में स्वतंत्रता के 50 साल पूरे होने पर वहां की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नरेंद्र मोदी को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया. जिस के विरोध में बंगलादेश में खूनी हिंसा हुई. अल्पसंख्यकों (हिंदू), यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले छात्रों, पत्रकारों, मंदिरों, रेलगाड़ियों आदि पर हमले हुए. इन घटनाओं से 12 लोग जान गंवा चुके हैं.

ऐसे में कुछ बुनियादी सवाल हैं जिन के जवाब बंगलादेश में प्रदर्शन कर रहे लोग ही दे सकते हैं कि आखिर किस वजह से वे नरेंद्र मोदी का विरोध कर रहे हैं? क्या विरोध करने का कारण मोदी का विरोध है या वे भारत का विरोध कर रहे हैं? क्या प्रदर्शन कर रहे लोग नरेंद्र मोदी के केवल अतिथि बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं या फिर उन के गुस्से का केंद्र शेख हसीना भी हैं? आखिर नरेंद्र मोदी से बंगलादेश की जनता इतनी खफा क्यों हैं? इन सवालों के जवाब जानने के लिए सरिता की टीम ने बंगलादेश के प्रदर्शनकारी छात्रों व कुछ महत्त्वपूर्ण लोगों से बात की.

कब और कैसे शुरू हुआ विरोध

8 मार्च को बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने नरेंद्र मोदी को 26 मार्च को होने वाले समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में पधारने के लिए आमंत्रित किया. उस के बाद 15 मार्च से बंगलादेश में नरेंद्र मोदी के आगमन के खिलाफ आंदोलन शुरू हो गया. यह आंदोलन मुख्य रूप से बंगलादेश के विभिन्न वामपंथी छात्र संगठनों द्वारा शुरू किया गया. बाद में साधारण लोगों और विभिन्न इसलामी समूहों ने भी नरेंद्र मोदी के आगमन का विरोध करना शुरू कर दिया.

बंगलादेश की राजधानी ढाका स्थित जगन्नाथ यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने वाले और बंगलादेश स्टूडेंट्स यूनियन के असिस्टैंट जनरल सैक्रेटरी खैरूल हसन जहीन बताते हैं, "नरेंद्र मोदी की विभाजनकारी नीतियों के खिलाफ हमारा आंदोलन पिछले साल से ही शुरू हो चुका था. पिछले साल 17 मार्च को ही जब शेख हसीना ने नरेंद्र मोदी को राष्ट्रपिता मुजीबुर रहमान के 100वें जन्मदिवस की वर्षगांठ के अवसर पर निमंत्रित किया था तभी से ही बंगलादेश के आम व प्रगतिशील नागरिक नरेंद्र मोदी के देश में आगमन का विरोध कर रहे थे. लेकिन उस समय कोविड-19 के चलते न तो नरेंद्र मोदी यहां आए और न ही हमारा प्रोटैस्ट व आंदोलन आगे बढ़ा.

वे आगे बताते हैं, "इस प्रदर्शन में देश के विभिन्न राजनीतिक दृष्टिकोण रखने वाले लोग, विभिन्न विचारधारा के लोग, स्टूडेंट्स, शिक्षक, वरिष्ठ पत्रकार और आम नागरिक भी मौजूद रहे. इन प्रदर्शनकारियों व आंदोलनकारियों पर केवल मुसलिम होने का आरोप लगाना बड़ी भूल होगी."

खैरूल अपनी बात स्पष्ट करते हुए कहते हैं, "18 मार्च को ढाका यूनिवर्सिटी की मधुर कैंटीन में सभी प्रगतिशील छात्रों ने मिल कर एक प्रैसवार्ता का आयोजन किया था. लेकिन बंगलादेश की सत्ता में बैठी सरकार (अवामी लीग) के छात्र संगठन (बंगलादेश छात्र लीग) ने इस आयोजन पर हमला कर दिया. बंगलादेश छात्र लीग के कार्यकर्ताओं ने मोदी का विरोध कर रहे सैकड़ों बच्चों को मारापीटा और पत्रकारों के साथ भी बदसुलूकी की."

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM SARITAView All

स्वास्थ्य बीमा लिया क्या

आम कोरोना की दूसरी लहर ने तो आम, खासे खातेपीते लोगों की भी कमर तोड़ दी है. इलाज के खर्च का भार कम करने के लिए स्वास्थ्य बीमा एक बेहतर विकल्प है.

1 min read
Sarita
June First 2021

अनाथ बच्चे गोद लेने में भी जातीयता

'2 साल की बेटी और 2 माह के बेटे के मातापिता कोविड के कारण नहीं रहे. इन बच्चों को अगर कोई गोद लेना चाहता है तो दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क करें. ये ब्राह्मण बच्चे हैं. सभी ग्रुपों में इस पोस्ट को भेजें ताकि बच्चों को जल्दी से जल्दी मदद मिल सके.' ऐसे मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं.

1 min read
Sarita
June First 2021

"भारत में हर चीज पौलिटिकल नजरिए से देवी जाती है" मनोज मौर्य

प्रतिभाशाली मनोज मौर्य लेखन, पेंटिंग, निर्देशन कुछ भी कह लो, हर काम में माहिर हैं. वे लघु फिल्मों के रचयिता के तौर पर भी जाने जाते हैं. उन की ख्याति विदेशों तक फैली है. बतौर निर्देशक, वे एक जरमन फिल्म बना कर अब फीचर फिल्म की तरफ मुड़े हैं.

1 min read
Sarita
June First 2021

इम्यूनिटी बढ़ाएं जीवन बचाएं

शरीर में इम्यूनिटी का होना वैसे तो हैल्थ के लिए हर समय जरूरी है लेकिन कोरोनाकाल में इस बात का विशेष ध्यान रखने की जरूरत है कि इसे संतुलन में लगातार कैसे रखा जाए.

1 min read
Sarita
June First 2021

गर्भवती महिलाएं अपना और नवजात का जीवन बचाएं

कोविड संकट के दौर में गर्भवती महिलाओं को संक्रमण का अधिक जोखिम होता है. ऐसा इसलिए, क्योंकि इस समय ऐसी महिलाओं की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर होती है, जिस से खतरा अधिक बना रहता है. ऐसे में गर्भवती महिलाएं कैसे खुद को सुरक्षित रख सकती हैं.आइए जानें?

1 min read
Sarita
June First 2021

धर्म और भ्रम में डूबा रामदेव का कोरोना इलाज

लड़ाई चिकित्सा पद्धतियों के साथसाथ पैसों और हिंदुत्व की भी है. बाबा रामदेव ने कोई निरर्थक विवाद खड़ा नहीं किया है, इस के पीछे पूरा भगवा गैंग है जिसे मरते लोगों की कोई परवा नहीं. एलोपैथी पर उंगली उठाने वाले इस बाबा की धूर्तता पर पेश है यह खास रिपोर्ट.

1 min read
Sarita
June First 2021

पत्रकारिता के लिए खतरनाक भारत

वर्ल्ड प्रैस फ्रीडम इंडैक्स के अनुसार पत्रकारिता के मामले में भारत से बेहतर नेपाल और श्रीलंका जैसे पड़ोसी मुल्क हैं. भारत में सरकार निष्पक्ष पत्रकारों की आवाज दबाने के लिए उन पर राजद्रोह जैसे गंभीर मामले लगा कर उन्हें शांत करने का काम कर रही है.

1 min read
Sarita
June First 2021

नताशा नरवाल- क्रूर, बेरहम और तानाशाह सरकार की शिकार

इस समय जितनी असंवेदनशील कोरोना महामारी है उतनी ही शासन व्यवस्था हो चली है. ऐसे समय में शासन द्वारा राजनीतिक कैदियों को अपने प्रियजनों से दूर करना, यातना देने से कम नहीं है. जबकि, कई तो सिर्फ और सिर्फ इसलिए बिना अपराध साबित हुए जेलों में हैं क्योंकि वे सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ आवाज उठा रहे थे.

1 min read
Sarita
June First 2021

ब्लैक फंगस रंग बदलती मौत

ब्लैक फंगस इन्फैक्शन या म्यूकरमाइकोसिस कोई रहस्यमय बीमारी नहीं है, लेकिन यह अभी तक दुर्लभ बीमारियों की श्रेणी में गिनी जाती थी. भारतीय चिकित्सा विज्ञान परिषद के मुताबिक म्यूकरमाइकोसिस ऐसा दुर्लभ फंगस इन्फैक्शन है जो शरीर में बहुत तेजी से फैलता है. इस बीमारी से साइनस, दिमाग, आंख और फेफड़ों पर बुरा असर पड़ता है.

1 min read
Sarita
June First 2021

सर्वे और ट्विटर पर खुल रही है पोल प्रधानमंत्री की हवाहवाई छवि

कल तक जो लोग नरेंद्र मोदी के बारे में सच सुनने से ही भड़क जाया करते थे वे आज खामोश रहने पर मजबूर हैं और खुद को दिमागी तौर पर सच स्वीकारने व उस का सामना करने को तैयार कर रहे हैं. लोगों में हो रहा यह बदलाव प्रधानमंत्री की हवाहवाई राजनीति का नतीजा है जिस में 'काम कम नाम ज्यादा' चमक रहा था और अब इस का हवाई गुब्बारा फूट रहा है.

1 min read
Sarita
June First 2021
RELATED STORIES

COUNTRIES URGE DRUG COMPANIES TO SHARE VACCINE KNOW-HOW

In an industrial neighborhood on the outskirts of Bangladesh’s largest city lies a factory with gleaming new equipment imported from Germany, its immaculate hallways lined with hermetically sealed rooms. It is operating at just a quarter of its capacity.

6 mins read
Techlife News
Techlife News #488

The Book That Launched a Factory

WHAT INSPIRES ME.

2 mins read
Entrepreneur
October - November 2020

12 años de inundaciones

Una inundación puede cambiar tu vida o incluso destruirla. En todo el mundo, en la última década, el número de desastres aumentó en un 50% y se espera que el riesgo de estos eventos continúe su progresión en los próximos años. El fotógrafo Gideon Mendel se ha sumergido en el agua de diversos países para ir más allá de las estadísticas y dar una cara a las víctimas de las inundaciones. Después de un viaje de 12 años a vidas inundadas, nos muestra, de una manera muy conmovedora, el rostro humano del cambio climático.

10 mins read
Marie Claire México
Septiembre 2019

Wolfenstein: Youngblood Series - At Its Worst And Best

Wolfenstein: Youngblood is the series at its worst and best.

7 mins read
PC Gamer US Edition
November 2019

Tech Firms Struggle To Police Content While Avoiding Bias

Take the post down. Put it back up. Stop policing speech. Start silencing extremists.

5 mins read
Techlife News
August 31, 2019

Tech Firms Struggle To Police Content While Avoiding Bias

Take the post down. Put it back up. Stop policing speech. Start silencing extremists.

5 mins read
AppleMagazine
August 30, 2019

What Is The Online Forum 8Chan?

An anonymous online forum called 8chan has drawn attention in the wake of mass shootings in Texas and Ohio because violent U.S. extremists have used it to share tips and encourage one another.

3 mins read
Techlife News
August 10, 2019

No, There's Still No Link Between Video Games And Violence

Do video games trigger violent behavior? Scientific studies have found no link. But the persistent theory is back in the headlines following Saturday’s mass shooting in El Paso, Texas.

3 mins read
Techlife News
August 10, 2019

Twitter Bans ‘Dehumanizing' Posts Toward Religious Groups

Twitter now prohibits hate speech that targets religious groups by using dehumanizing language, a ban it says may extend to other categories like race and gender.

1 min read
Techlife News
July 13, 2019

Why Are We So Angry?

The untold story of how we all got so mad at one another

10+ mins read
The Atlantic
January/February 2019