कांग्रेस से डरी हुई डबल इंजन सरकार
Sarita|April First 2021
कांग्रेस पार्टी का सब से खराब समय होने के बावजूद भाजपा को आज भी उस की आहट डरा रही है. मोदी और शाह अपनी सरकार के कार्यकाल की रीतिनीति और उपलब्धियों का बखान करने की जगह कांग्रेस के 70 साल का अपना पुराना राग आलाप रहे हैं. इस डर के पीछे आखिर वजह क्या है?
शैलेंद्र सिंह

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्रांउड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 65 मिनट के भाषण में अपनी मुख्य प्रतिद्वंद्वी व राज्य की सत्ता पर काबिज तृणमूल कांग्रेस के बजाय कांग्रेस पार्टी पर हमलावर रहे. उन के भाषण से यह लग रहा था कि बंगाल में ममता बनर्जी की पार्टी की नहीं, बल्कि कांग्रेस की सरकार चल रही हो.

प्रधानमंत्री ही नहीं, भाजपा के तमाम दूसरे नेता भी बंगाल में कांग्रेस विरोध को बुलंद किए हुए हैं. क्या ये भाजपाई नेता मानते हैं कि तृणमूल कांग्रेस का मूल गोत्र कांग्रेस है, हालांकि तृणमूल कांग्रेस भाजपा के साथ गठबंधन में रह चुकी है. भाजपा वह पार्टी है जिस की स्थापना के प्रेरणास्त्रोत श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं जिन का जन्म बंगाल में हुआ था. भाजपा में बंगाल के विचारों-संस्कारों-परंपरा की महक है. प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में तृणमूल कांग्रेस से अधिक कांग्रेस को कोसा.

असम विधानसभा चुनाव के लिए अपने प्रचार अभियान की शुरुआत करीमगंज से करते हुए नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर ही हमला बोलते कहा कि "कांग्रेस की नीतियों ने असम को नुकसान पहुंचाया है. उस के भ्रष्ट और वोटबैंक आधारित प्रशासन ने असम को भारत का सब से कटा हुआ राज्य बना दिया था. कांग्रेस सरकारों और उस की नीतियों ने असम को सामाजिक, सांस्कृतिक, भौगोलिक और राजनीतिक रूप से नुकसान पहुंचाया है. लोगों को गुमराह करने और वोट लेने में कांग्रेस किसी भी हद तक जा सकती है. आज कांग्रेस असम में तालाचाबी के आसपास घूम रही है जबकि उस के कुछ कार्यकर्ता इस विचारधारा के खिलाफ थे,'

बता दें कि तालाचाबी एआईयूडीएफ पार्टी का चुनाव चिह्न है. प्रधानमंत्री तालाचाबी शब्द के सहारे कांग्रेस और एआईयूडीएफ पार्टी के चुनावी तालमेल पर हमला कर रहे थे. इस समय असम में सरकार भाजपा की ही है चाहे वह दलबदल से बनी हो.

बंगाल के पुरुलिया में प्रधानमंत्री ने अपने भाषण में दिल्ली में हुए बटला हाउस एनकांउटर का जिक्र किया. जिस का पश्चिम बंगाल से कुछ लेनादेना नहीं है. इस का जिक्र करने का मुख्य कारण शायद यही है कि उन्हें तो कांग्रेस को घेरना था. उन्होंने कहा, 'दिल्ली की अदालत ने बटला हाउस मामले में ऐतिहासिक फैसला दिया है. आतंकी को फांसी की सजा हो गई. कांग्रेस इस पर सवाल उठा रही थी, तो ममता दीदी आतंकियों के साथ खड़ी दिख रही थीं. यह कैसे उन्होंने कहा साफ नहीं क्योंकि ममता तो कांग्रेस को 1998 में छोड़ चुकी थी. आतंकियों ने जांबाज पुलिसकर्मी मोहन चंद्र शर्मा को मार दिया था. बंगाल के लोग देखें और समझें कि कौन देश के साथ खड़ा था और कौन आतंकियों के. बटला हाउस एनकाउंटर 19 सितंबर 2008 को दिल्ली में जामिया क्षेत्र में हुआ था.

केवल प्रधानमंत्री मोदी ही नहीं, गृहमंत्री और भाजपा के नंबर दो नेता अमित शाह भी कांग्रेस विरोध को ही बारबार दोहरा रहे हैं. असम के मार्गरीटा में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस धर्म के नाम पर राज्य को बांट रही है. कांग्रेस ने उन दलों के साथ गठबंधन किया जो देश को तोड़ना चाहते हैं. कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है. वह असम में बदरुद्दीन अजमल की एआईयूडीएफ के साथ है तो केरल में मुसलिम लीग के बंगाल में उस ने इंडियन सैक्युलर फ्रंट के साथ गठबंधन किया है. अमित शाह ने यह भी कहा कि अजमल के हाथों में असम सुरक्षित नहीं रहेगा. असम के लोग यह तय कर सकते हैं कि उन की भलाई को ले कर कौन चिंतित है नरेंद्र मोदी या बदरुद्दीन अजमल?

बंगाल में बांकुरा की रैली में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस एक ही थाली के चट्टेबट्टे हैं. उन्होंने भी दोहराया कि अलगअलग चुनाव लड़ कर भी ये दोनों दल एकदूसरे की मदद कर रहे हैं. कांग्रेस देश को तोड़ने वालों के साथ है. अमित शाह ने यह भी कहा कि भाजपा सत्ता में आई तो सीएए कानून लागू करेगी. 2014 तक कांग्रेस ने कैसे देश को तोड़ा यह सफाई देने की जरूरत उन्होंने नहीं समझी.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM SARITAView All

बंगाल चुनाव में 'राम नाम' की लूट

बंगाल में जहां धर्म कभी चुनावी मुद्दा नहीं रहा, वहां 'राम' के नाम पर भाजपा ने धर्म को हावी करने का प्रयास किया है. 'राम' अब भाजपा के प्रचारक जैसे लगने लगे हैं जिन्हें मुंह में रख भाजपाई दिग्गज राज्य में जहांतहां रैलियां कर झूठ परोस रहे हैं.

1 min read
Sarita
April Second 2021

बंगलादेश में हिंसा मोदीविरोध या भारतविरोध?

बंगलादेश के 50वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आयोजित समारोह में हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मुख्य अतिथि बनाए जाने के विरोध में वहां भड़की हिंसा ने कई सवालों को खड़ा किया है.

1 min read
Sarita
April Second 2021

जीएनसीटी दिल्ली एक्ट 2021 केजरीवाल सरकार पर मोदी का कब्जा

आखिर दिल्ली पर राज किस का है? एक तरफ 70 में से 62 विधानसभा सीटों पर जीत दर्ज कर भारी बहुमत से जीती आम आदमी पार्टी की सरकार है, दूसरी तरफ मोदी सरकार के बनाए उपराज्यपाल हैं. दिल्ली के अधिकारों के घाव को अब कुरेदा नहीं जा रहा, बल्कि इस बार कानूनी जूतों से मसल डाला गया है.

1 min read
Sarita
April Second 2021

लाइलाज नक्सलवाद बेबस सरकार

सत्ता अगर वाकई बंदूक की नली से मिलती, जैसा कि नक्सली मानते हैं, तो दुनियाभर में राज आतंकियों का होता. लोकतांत्रिक व्यवस्था में खामियां और कमजोरियां हैं और अब तो शोषण व तानाशाही भी लोकतंत्र की ओट में होने लगे हैं. लेकिन हिंसक और सशस्त्र विरोध यानी नक्सलवाद इस का हल नहीं है, न ही सरकार का हिंसक जवाब इस का हल है.

1 min read
Sarita
April Second 2021

कोरोना वैक्सीन लगवा रहे हैं?

कोरोना वायरस संक्रमण की चौथी लहर बहुत तेजी से लोगों को अपनी चपेट में लेती जा रही है. ऐसे में जल्द से जल्द वैक्सीन पाने की होड़ में अस्पतालों में भारी भीड़ उमड़ रही है. मगर वैक्सीन लेने से पहले सावधानी जरूरी है.

1 min read
Sarita
April Second 2021

किडनी फेल होने की वजह मोटापा तो नहीं

शरीर का वजन बढ़ने से किडनी पर दबाव पड़ता है. किडनी शरीर में टौक्सिंस को फिल्टर करने का काम करती है. वजन बढ़ने पर किडनी को टौक्सिंस को फिल्टर करने में काफी मेहनत करनी पड़ती है.

1 min read
Sarita
April Second 2021

हैंड सैनिटाइजर खरीदने से पहले जान लें

सैनिटाइजर में अल्कोहल होने से वह हाथों की त्वचा से वायरस को घेरने वाले एन्वेलप प्रोटीन को नष्ट करता है. जिन सैनिटाइजरों में अल्कोहल की मात्रा 60 फीसदी से कम होती है वे वायरस नष्ट करने में कम प्रभावी होते हैं अथवा अप्रभावी होते हैं.

1 min read
Sarita
April Second 2021

बिगड़ती अर्थव्यवस्था का जिम्मेदार कौन कोरोना या सरकार की नीतियां

देश की अर्थव्यवस्था इस समय नाजुक दौर से गुजर रही है. लोगों के पास खर्च करने को पैसा नहीं है जबकि महंगाई चरम पर है. सरकार इस स्थिति का जिम्मेदार कोरोना को बता रही है. लेकिन क्या सिर्फ कोरोना ही जिम्मेदार है?

1 min read
Sarita
April First 2021

बच्चों की इम्यूनिटी को बढ़ाएं ऐसे

छोटे बच्चों में इम्यूनिटी कम होने के चलते अधिक इन्फैक्शन होने का खतरा बना रहता है. इस कारण आजकल पेरेंट्स के सामने सब से बड़ा प्रश्न बच्चों की हैल्दी डाइट को ले कर रहता है. सो यहां जानते हैं कि बच्चों की इम्यूनिटी कैसे बढ़ाएं.

1 min read
Sarita
April First 2021

धर्म बेचता ओटीटी

हिंदी के ओटीटी प्लेटफौर्स पर अब धर्म और सैक्स का कारोबार फलफूल रहा है. युवाओं का ब्रेनवाश करने के लिए धर्म को सैक्स की चाशनी में डुबो कर बेचा जा रहा है. जीवन व देश के मुद्दों की बातें गायब हैं. वही हो रहा है जो सरकार व धर्म के ठेकेदार चाहते हैं. कभीकभार थोड़ा सच कोई परोस भी देता है तो धर्म के धंधेबाज व अंधभक्त इतना हल्ला मचाते हैं कि देश, धर्म तथा संस्कृति सब खतरे में पड़ते नजर आने लगते हैं. पेश है इस गोरखधंधे पर खास रिपोर्ट.

1 min read
Sarita
April First 2021
RELATED STORIES

Loss and profit

With his challengers failing to deliver West Bengal for the BJP, Shivraj Singh Chouhan’s chair appears to be safe for now

4 mins read
THE WEEK
May 23, 2021

हिमंत बिस्वा सरमा ने असम के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

भाजपा नेता और पूर्वोत्तर प्रजातांत्रिक गठबंधन के संयोजक हिमंत बिस्वा सरमा ने असम के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में सोमवार को शपथ ली।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
May 11, 2021

READY FOR BATTLE

ASSAM ELECTION 2021

8 mins read
Northeast Today
March 2021

भाजपा के विस्तार में अहम होगा असम का यह नेतृत्व परिवर्तन

कांग्रेसी पृष्ठभूमि से रहे सरमा किसी बड़े राज्य में भाजपा के पहले मुख्यमंत्री

1 min read
Hindustan Times Hindi
May 10, 2021

THE WAKE-UP CALL

Disappointing results in the assembly polls raise questions about the BJP’s overdependence on Brand Modi

4 mins read
India Today
May 17, 2021

AN UPHILL CLIMB

The new incumbent has the unenviable task of managing the Covid upsurge and balancing the state’s finances

5 mins read
India Today
May 17, 2021

TAKING DAAKOR BOSON TO THE WORLD

Two artists are using visually appealing artwork to spark conversations about Assam, and the region

6 mins read
Eclectic Northeast
March 2021

JANUARY 1-15, 2003 | FOREST RIGHTS - DEEP IN THE WOODS

A murky battle rages inside India’s forests and court rooms. Are the recent eviction drives misdirected at forest dwellers?

3 mins read
Down To Earth
May 01, 2021

असम में मुख्यमंत्री के नाम पर भाजपा कर रही मंथन

सर्वानंद सोनोवाल और हेमंत विश्व सरमा के बीचपद को लेकर होना है फैसला

1 min read
Hindustan Times Hindi
May 04, 2021

पश्चिम बंगाल में तृणमूल, असम-पुडुचेरी में राजग, केरल में वाम मोर्चा, तमिलनाडु में द्रमुक को सत्ता

देश के पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने प्रचंड बहुमत से तीसरी बार सत्ता में वापसी की है जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) असम में सत्ता अपने पास रखने में कामयाब रही तथा पड्डचेरी में इसने कांग्रेस को सत्ता से बेदखल कर दिया है। केरल में वाम मोर्चा ने दोबारा सत्ता में वापसी की है जबकि तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक को करारा झटका देते हुए द्रमुक सत्ता हासिल करने में कामयाब रही है।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
May 04, 2021