दरकने लगा पहाड़-दर-पहाड़
India Today Hindi|September 22, 2021
उत्तराखंड में बारिश से भूस्खलन और पहाड़ों के खिसकने का सिलसिला बंद होने का नाम नहीं ले रहा. इस बार उत्तराखंड में भारी बारिश ने कोई ऐसा जिला नहीं छोड़ा है, जहां भूस्खलन ने नुक्सान न पहुंचाया हो.
अखिलेश पांडेय

कोरोना के चलते चार धाम यात्रा अब तक शुरू न होने से भले कारोबारी निराश हों लेकिन यह भी गौरतलब है कि यात्रा होती तो इस बार भूस्खलन जिस बड़े पैमाने पर हुआ, उससे तीर्थयात्री भी प्रभावित हुए बिना नहीं रह सकते थे. बारिश के कारण आम जान जीवन को पटरी पर लाना सरकारी विभागों के लिए भी चुनौती बना हुआ है. कहीं बिखरा टनों मलबा रोड को खोलने की राह में रोड़ा बना है तो कहीं सड़क पूरी तरह बह गई है इसलिए नई सड़क कटान का प्रपोजल स्वीकृत कराकर उसको नए सिरे से काटने की फौरी जिम्मेदारी विभाग पर आन पड़ी है.

इस साल हालांकि आपदा का सिलसिला राज्य में 7 फरवरी को रैणी गांव से ऊपर टूटे ग्लेशियर से शुरू हुआ. उसके बाद बारिश के दिनों में तो पूरा रैणी गांव ही भूस्खलन की चपेट में आता चला गया. हालत यहां तक पहुंच चुकी है कि इस रैणी गांव में चिपको नेत्री गौरा देवी की लगी प्रतिमा सहित उनके संग्रहालय को भी खाली कराना पड़ा. भूस्खलन से सहमे पूरे गांववासियों को तो कई दिनों तक जंगली गुफाओं में शरण लेनी पड़ी.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM INDIA TODAY HINDIView All

सत्ताधीश

नौकरशाह नरेंद्र मोदी सरकार के लिए अपरिहार्य हैं. सरकार के पहले कार्यकाल में यह यथार्थबोध अच्छा रहा. अपने दूसरे कार्यकाल के बीच में सरकार ने प्रमुख नौकरशाहों के एक समूह पर इतनी निर्भरता बढ़ा दी है, जितना हाल के वर्षों में किसी प्रशासन में शायद ही देखा गया हो. अधिकारी विनिवेश से लेकर रक्षा मंत्रालय के पुनर्गठन तक न केवल अहम नीतिगत निर्णय लेते हैं, बल्कि उन्हें लागू भी करते हैं. उन्हें सरकार के प्रदर्शन के लिए निर्णायक माना जाता है. दक्षता और उपलब्धि का पुरस्कार सेवाविस्तार के रूप में मिलता है. प्रमुख नौकरशाह सेवानिवृत्ति के बाद पीएमओ में सलाहकार रख लिए जाते हैं. इंदिरा गांधी के बाद से मोदी सरकार का प्रधानमंत्री कार्यालय यकीनन सबसे ताकतवर है. यह राष्ट्रीय सुरक्षा से लेकर अर्थव्यवस्था और कोविङ-19 प्रबंधन तक शासन के हर पहलू को प्रभावित करता है. पूर्व नौकरशाह केंद्रीय मंत्रिमंडल तक पहुंच रहे हैं. जुलाई 2021 के फेरबदल के बाद कैबिनेट में रिकॉर्ड पांच पूर्व ब्यूरोक्रेट हैं-हरदीप पुरी, एस. जयशंकर, आर.के. सिंह, आर.पी. सिंह और अश्विनी वैष्णव. पीएमओ में दो प्रमुख पूर्व लोकसेवकप्रधानमंत्री के प्रधान सचिव पी.के. मिश्र और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त है. नौकरशाही का स्वर्ण युग है यह !

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

सत्ता के खिलाड़ी

पिछले साल पूरी दुनिया पर धावा बोल देने वाली कोविड महामारी ने न केवल लाखों लोगों की जाने लीं और अर्थव्यवस्थाओं को बर्बाद कर दिया, बल्कि कई भूभागों की राजनैतिक व्यवस्था में भी रद्दोबदल कर डाला. भारत विनाशकारी वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में था, पर यहां कोविड का राजनैतिक असर अभी तक सामने नहीं आया है. मार्च 2020 में महामारी का प्रकोप होने के बाद छह राज्यों में चुनाव हुए, सभी अप्रैल 2021 की शुरुआत में देश में कोविड की दूसरी लहर की दस्तक से पहले. लेकिन इन राज्यों के चुनाव अभियान में कोविड चुनावी मुद्दा नहीं था. देश की राजनैतिक सत्ता व्यवस्था मोटे तौर पर जस की तस बनी हुई है, जिसमें आरएसएस-भाजपा का तंत्र शीर्ष पर मजबूती से कायम है. कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली भाजपा सरकार के खिलाफ अकेली राष्ट्रीय आवाज बने हुए हैं, पर हाल के सियासी आंदोलनों ने नए सत्ता केंद्रों के रूप में क्षेत्रीय क्षत्रपों को उभरते देखा. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस साल हुए विधानसभा चुनाव में उन्हें सत्ता से बेदखल करने के लिए चलाए गए भाजपा के जबरदस्त अभियान का न केवल डटकर मुकाबला किया, बल्कि अब खुद को मोदी के विकल्प के तौर पर भी पेश कर रही हैं. इस चाहत में उन्हें मराठा दिग्गज शरद पवार के समर्थन की दरकार होगी. इंडिया टुडे की 2021 की सियासी सत्ता वाली सूची देश में राजनैतिक विमर्श को दिशा देने वाले सबसे मजबूत खिलाड़ियों का खाका पेश करती है.

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

आधे इधर, आधे उधर जाएंगे?

सिनेमाघरों के खुलने के ऐलान के साथ ही इससे जुड़े हजारों लोगों के चेहरे खिले. दूसरी ओर अब दर्शकों के उधर मुड़ने की संभावनाओं के मद्देनजर ओटीटी प्लेटफॉर्म भी बदल रहे रणनीति

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

शिखर समूह

इसे चाहे लचीलेपन की ताकत कह लें, लेकिन आगे के पन्नों पर नमूदार 50 दिग्गजों में से ज्यादातर ऊंचे और असरदार लोगों की हमारी सालाना फेहरिस्त में पिछले कई बार से बने हुए हैं. इसमें कोई शक नहीं कि वैश्विक स्वास्थ्य संकट और उसकी वजह से घोर आर्थिक बदहाली के दौरान सत्ता, संपदा और शोहरत का कवच साथ होना अच्छा है और महामारी की शुरुआत के बाद यह 'रसूखदार लोगों' की हमारी दूसरी फेहरिस्त है. फिर भी ऐसे साल में जब बहुत-से नीचे की ओर लुढ़क रहे हों, कामयाबी की बागडोर थामे रखना सिर्फ विशेषाधिकार के बूते संभव नहीं. ऐसे अनिश्चित दौर में देश के कारोबार, संस्कृति और मनोरंजन जगत की प्रमुख शख्सियतें खुद को प्रासंगिक बनाए रखकर ही शिखर पर बनी रह सकती हैं. उद्योग दिग्गज दूसरी लहर के संकट के दौर में अनिवार्य सामान और सेवाएं मुहैया कर मैन्युफैक्चरिंग के पहियों को गति देते रहे. डिजिटल रुझान वालों को महामारी से भारी उछाल मिली. बड़ी फार्मा कंपनियों ने जरूरी दवाइयां मुहैया कराके रसूख और साख का नया आभामंडल हासिल किया. अब महामारी के आतंक की जगह उम्मीद का नाजुक एहसास अंगडाई ले रहा है, हमारी फेहरिस्त उनकी प्रतिभा और भूमिका की भी कायल है जो घोर अंधेरे दिनों में हमारा दिल बहलाते रहे और हमें एकजुट किए रखा.

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

दुनिया में देसी

पश्चिम के सर्वोच्च राजनैतिक पदों पर 'कमला', 'ऋषि' और 'प्रीति' का विराजमान होना महज वक्त की ही बात थी. हमारी जबान से इन नामों का इतनी सहजता से निकलना कहीं न कहीं बेहद रोमांचक है. इनसे जो अपनापन हमें महसूस होता है, वह पूरी तरह मनगढंत नहीं है. मौजूदा अमेरिकी उपराष्ट्रपति और ब्रिटिश चांसलर के साथ हमारी जो साझा सांस्कृतिक विरासत है, राष्ट्रीयता और वंशावली के अक्सर सीमित करने वाले रूपकों से आगे जाती है. ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल जब मैनचेस्टर में कंजरवेटिव पार्टी के साथियों के साथ 'सेवा' की अहमियत पर बात करती हैं, तो वे भारतीयता को अपने विमर्श का हिस्सा बना रही होती हैं.

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

सबसे पुरानी पार्टी के नए तेवर

अक्तूबर महीने की 16 तारीख को कांग्रेस कार्यसमिति ( (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के दौरान महासचिव (संगठन)के.सी. वेणुगोपाल ने पार्टी संगठन के लिए अरसे से लंबित चुनाव का कार्यक्रम जारी किया.

1 min read
India Today Hindi
November 03, 2021

सोने सी खरी बात

जादुई सोचः कैसे काम करता है खेल जगत के दो ध्रुव तारों का दिमाग

1 min read
India Today Hindi
October 27, 2021

वापसी की उड़ान

एयर इंडिया का निजीकरण देर से 1 सही केंद्र की मोदी सरकार के लिए बड़ी राहत की तरह होनी चाहिए, जो कारोबार से छुटकारा पाकर राजकाज पर फोकस करने के वादे पर अपनी प्रत्यक्ष नाकामी पर काफी आलोचना की शिकार हो चुकी है. हालांकि एयर इंडिया के लिए टाटा घराने की 18,000 करोड़ रुपए की बोली कोई महाराजा की कीमत नहीं था, फिर भी टाटा की बोली केंद्र सरकार के रिजर्व प्राइस से 40 फीसद अधिक और दूसरी बोली लगाने वाले स्पाइस जेट के मालिक अजय सिंह से करीब 20 फीसद अधिक थी. हालांकि, इस सौदे से सरकार को 2,700 करोड़ रुपए ही मिलेंगे, बाकी 15,300 करोड़ रुपए का कर्ज टाटा के मत्थे रहेगा.

1 min read
India Today Hindi
October 27, 2021

बेहतर ढंग से सामान्य स्थिति कैसे हो बहाल

जलवायु परिवर्तन से लेकर महामारी तक, अर्थव्यवस्था से लेकर भूराजनैतिक शक्ति परिवर्तन तक...इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के 19वें संस्करण ने इस दशक में हमारी जिंदगियों को गढ़ने वाली चार बड़ी धाराओं को समझने का जतन किया

1 min read
India Today Hindi
October 27, 2021

चलती का नाम इलेक्ट्रिक गाड़ी

मिशन इलेक्ट्रिकः पथ-प्रदर्शकों से मिलें. भारत कैसे हरित अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ रहा है नितिन गडकरी, केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री

1 min read
India Today Hindi
October 27, 2021
RELATED STORIES

नदी में कार गिरी,नोएडा के तीन लोगों की मौत

उत्तराखंड में बदरीनाथ हाईवे पर रविवार शाम को हुआ हादसा, तीन लोग गंभीर रूप से हुए घायल

1 min read
Hindustan Times Hindi
October 18, 2021

बदरीनाथ हाईवे पर हुआ भूस्खलन, सैकड़ों फंसे

वाहनों की लंबी कतार

1 min read
Hari Bhoomi
September 30, 2021

“I GO WITH THE FLOW….”

AN ACTOR, ENTREPRENEUR, AND A PHYSIOTHERAPIST, THE STAR ACTRESS IN MAYDAY, AAKANKSHA SINGH KNOWS HOW TO DO IT ALL.

3 mins read
GlobalSpa
August 2021

उत्तराखंड में भूस्खलन से सड़कें बंद

पीपलकोटी के पास मलबा आने से बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बाधित

1 min read
Hindustan Times Hindi
August 02, 2021

इंडोनेशिया में भूस्खलन से आई बाढ़ में मारने वालों की संख्या 126 हुई

पूर्वी इंडोनेशिया में भूस्खलन और बाढ़ की घटनाओं में जान गंवाने वालों की संख्या 126 तक पहुंच गई है और दर्जनों लोग अब भी लापता हैं।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
April 08, 2021

इंडोनेशिया में भूस्खलन और बाढ़ से 41 की मौत

इंडोनेशिया के पूर्वी हिस्से में मूसलाधार बारिश के कारण हुए भूस्खलन एवं अचानक आई बाढ़ में कम से कम 41 लोगों की मौत हो गई है और हजारों लोग बेघर हो गए हैं।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
April 05, 2021

If You Think Positive Covid Is A Big Opportunity

Senior Vice President and Head of Legal, ESSAR CAPITAL, Badrinath Durvasula, holds forth on his professional journey, the essence of leadership, working from home, books and more…

10+ mins read
Legal Era
December 2020

Merging into the Ocean

Sit back and surrender yourself to this inspirational article by Barbara Ann Briggs. Her words, augmented by quotes from the masters, throw light on the joy and true nature of surrender.

7 mins read
Life Positive
January 2021

बदरीनाथ में 1.9 करोड़ से यूपी सरकार का पर्यटक आवास गृह बनेगा

यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों ने किया भूमि पूजन, 40 बेड के यूपी पर्यटक आवास गृह का निर्माण नए सीजन से शुरू होगा

1 min read
Hindustan Times Hindi
November 18, 2020

State of apathy

With promises made to Nirbhaya’s family unkept, her ancestral village lies neglected

5 mins read
THE WEEK
March 22, 2020