बागी की वापसी
India Today Hindi|July 21, 2021
नवजोत सिंह सिद्धू ने 30 जून को सोशल मीडिया पर एक तस्वीर पोस्ट की, जिसमें वे कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ नजर आ रहे हैं.
अनिलेश एस. महाजन

क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू और प्रियंका के बीच कथित तौर पर चार घंटे चर्चा हुई तथा यह तस्वीर इस बात का सबूत थी कि प्रियंका और राहुल, दोनों उन्हें तवज्जो देते हैं. खासतौर से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ सिद्धू की वर्तमान तनातनी के मद्देनजर यह तस्वीर विशेष रूप से महत्वपूर्ण है क्योंकि शुरू में गांधी परिवार ने तो कैप्टन से मिलने तक से मना कर दिया था. वैसे, बाद में 6 जुलाई को सोनिया गांधी ने कैप्टन से मुलाकात की.

अपने गृह राज्य में सिद्धू की छवि एक महत्वाकांक्षी, तेजतर्रार और विद्रोही स्वभाव के नेता की है. पंजाब के समृद्ध जट सिख समुदाय से आने वाले ये क्रिकेट स्टार, राजनीति में उतरे और बहुत जल्द भीड़ को खींचने वाले लोकप्रिय नेता बन गए. सिद्धू के भाजपा छोड़कर कांग्रेस में आने से पहले भाजपा ने लगभग 13 वर्षों तक उनका बढ़िया इस्तेमाल किया. असल में, उनकी वाक्पटुता एक बड़ी वजह है जिससे राज्य के 83 पार्टी विधायकों में से बहुत कम के सिद्ध के प्रति वफादार होने के बावजूद, कांग्रेस उन्हें समायोजित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करती है.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM INDIA TODAY HINDIView All

युद्ध या शांति?

असम सरकार ने 11 सितंबर को सशस्त्र बल (विशेषाधिकार) अधिनियम, (एएफएसपीए), 1958 के तहत राज्य के अशांत क्षेत्र के दर्जे को फिर से अगले छह महीने के लिए विस्तार दे दिया है. राज्य सरकार ने इस विस्तार के पीछे की वजह को अभी तक नहीं बताया है. वहीं, इस कदम को ऐसे समय में उठाया गया है जब केंद्र और राज्य सरकार, दोनों की अगुआई भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कर रही है, और जिसका लगातार यह दावा रहा है कि पूर्वोत्तर के इस राज्य में अब शांति वापस आ गई है.

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

दो नायबों की दास्तान

उत्साह से भरी भाजपा ने 2025 के बिहार विधानसभा चुनाव के लिए 'आत्मनिर्भर' योजना तैयार की है. दो वर्तमान उप-मुख्यमंत्री इसके लिए मंच तैयार कर रहे

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

दाने-दाने में है दम पर सेहतमंद न हो जाएं बेदम

सरकार की ओर से फोर्टिफाइड चावल को राष्ट्रीय मानक बनाना सुविचारित कदम है, लेकिन विशेषज्ञ पोषक तत्वों की अधिकता से होने वाले जोखिमों के प्रति कर रहे हैं आगाह

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

दीदी मतलब अब कारोबार

ममता बनर्जी सरकार को टाटा के लिए फिर से रेड कार्पेट बिछाने में एक दशक और तीन विधानसभा चुनावों में जीत का समय लगा. ममता नंदीग्राम-सिंगूर में टाटा नैनो फैक्ट्री (2006-08) के लिए भूमि अधिग्रहण के खिलाफ किसानों के आंदोलन के दम पर सत्ता में आई थीं और उनकी सरकार लंबे समय तक अपनी उद्योग विरोधी छवि से मुक्त नहीं हो पाई.

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

दिक्कत भरी शुरुआत

रक्षा मंत्रालय की पनडुब्बियां, लड़ाकू विमान, युद्धक टैंक और हेलिकॉप्टर निर्माण के लिए दूसरी उत्पादन शृंखला बनाने की महत्वाकांक्षी योजना सुस्ती का शिकार हो गई है

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

गुलदारों से गुलजार गलियारा

झालाना रिजर्व फॉरेस्ट में लेपर्ड सफारी की कामयाबी से उत्साहित होकर झालाना से सरिस्का तक लेपर्ड कॉरिडोर बनाने की योजना

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

एसेट मॉनिटाइजेशन- इस बार बड़ा ख्वाब

मोदी सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र की संपत्तियों के 'मॉनिटाइजेशन' यानी निजी क्षेत्र को लंबे वक्त के लिए लीज पर देकर अगले चार वर्षों में 6 लाख करोड़ रुपए उगाहने की ख्वाहिश, क्या वह इस बड़े बदलाव में कामयाब हो पाएगी?

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

गुजरात का गेमप्लान

गुजरात में मुख्यमंत्री बदलने के पीछे दो मकसद हैं: पाटीदार समुदाय को संतुष्ट करना और भाजपा कार्यकर्ताओं में असंतोष से निपटना. क्या नए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल 2022 के चुनाव से पहले सबको एकजुट रख पाएंगे?

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

शटर गिराकर चल दिए !

ऑटोमोबाइल सेक्टर

1 min read
India Today Hindi
September 29, 2021

मालवा में सांप्रदायिक लावा

एक के बाद एक कई सांप्रदायिक घटनाओं ने मध्य प्रदेश के समृद्ध पश्चिमी भाग मालवा को हिलाकर रख दिया है. लोग आशंकित हैं कि न जाने कब क्या हो जाए?

1 min read
India Today Hindi
September 22, 2021
RELATED STORIES

'कैप्टन' बदलकर पंजाब फतह की तैयारी

• सत्ता विरोधी लहर और वर्चस्व की लड़ाई में कमजोर पड़े अमरिंदर सिंह • 40 साल में पहली बार कैप्टन को मिली है राजनीतिक चुनौती

1 min read
Hindustan Times Hindi
September 19, 2021

दलित कांग्रेसी नेता चरणजीत सिंह चन्नी पंजाब के नये मुख्यमंत्री होंगे

कांग्रेस की पंजाब इकाई के वरिष्ठ नेता चरणजीत सिंह चन्नी को रविवार को पाटी विधायक दल का नया नेता चुना गया और अब वह राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे।

1 min read
Business Standard - Hindi
September 20, 2021

SUKHBIR'S COMEBACK QUEST

On September 3, Shiromani Akali Dal (SAD) chief Sukhbir Singh Badal suspended his statewide tour, ‘Gall Punjab Di (conversations about Punjab)’, in which he meant to cover about a hundred of the state’s 117 assembly seats.

5 mins read
India Today
September 27, 2021

Tatesar village rewarded for setting vax example

FROM an initial vaccination rate of 10 per cent, village Tatesar in North West district has now achieved 93 per cent. By doing this, the village has emerged winner of the ‘Corona Mukt Gaon Abhiyan’ which is an initiative of the district officials to step up vaccination and take the drive to the rural pockets of Delhi.

1 min read
The Morning Standard
September 11, 2021

Handmade with love

STRESSED out by her professional pursuits, Shweta Kokra, a professional hypnotherapist and counsellor, quit her job in 2017 and decided to be a stay-at-home mother.

2 mins read
The Morning Standard
September 08, 2021

Parties in Punjab worry about entry ‘ban'

The ‘ban’ on entry of BJP leaders by farmer unions agitating on three central laws is now extended to all parties

2 mins read
The Morning Standard
September 06, 2021

मौजूदा कृषि संकट से कैसे निकला जाए?

फसलों एवं सब्जियों के उत्पादन के लिए एवं फूलों व सब्जियों के बीज उत्पादन के लिए हमारे पास अनुकूल प्राकृतिक पर्यावरण है, हमें विकसित देशों की तरह फसल को ग्रीन हाऊस, पॉलीहाऊस एवं तुपका सिंचाई की सुविधा देने की कोई आवश्यकता नहीं है। इस तरह हम खेती में प्रयास एवं लागतें कम करके अच्छी क्वालिटी की कृषि फसलों की पैदावार कर सकते हैं।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
1st September 2021

Walls to Firewalls The Future of Banking

Fintech start-up Bharat Pe has been rewarded with a banking license. It raises a lot of questions. What is the ‘future’ bank going to look like? Will the physical walls crumble and give way to firewalls? Dr KS Ranjani and Dr Anjali Chopra conducted a qualitative research with both customers of digital banking services and financial service providers to understand the drivers of depth of digital banking adoption.

6 mins read
Indian Economy & Market
July 2021

Haryana Deputy CM says IAS officer will face action

SDM under fire for ‘break the heads’ remark, lathi-charge on farmers

2 mins read
The New Indian Express Chennai
August 30, 2021

Rawat meets Rahul as Punjab feud simmers

No reconciliation between Amarinder & Sidhu in sight; Manish Tewari questions silence of party high command

1 min read
The Morning Standard
August 29, 2021