डूबता मरु जहाज
India Today Hindi|May 12, 2021
राजस्थान में ऊंट कानून अपने राज्य पशु को बचाने के लिए बना था, लेकिन वह ऊंटों की घटती तादाद और ऊंटपालकों की मायूसी का कारण बन गया, क्या गहलोत सरकार ऊंटों की रक्षा कर पाएगी?
रोहित परिहार

अपने राज्य पशु ऊंट की आबादी में तेज गिरावट को रोकने के लिए राजस्थान में बेशक कोशिशें जारी हैं. पिछले महीने एक कैबिनेट उपसमिति ने उसे खत्म करने की सिफारिश की जिसे पशुपालन विभाग की विशेष सचिव आरुषि मलिक 'एक किस्म का इंस्पेक्टर और परमिट राज" कहती हैं. यह 2015 के राजस्थान ऊंट (वध निषेध और अस्थायी प्रव्रजन या निर्यात विनियमन) कानून की वजह से हुआ है. इससे ऊंटों का व्यापार, उनकी ढुलाई और मौत को उनके वध और फौजदारी मुकदमे से जोड़ गया है. इस कानून के जरिए तब की भाजपा सरकार ने ऊंटों की तादाद में गिरावट को रोकने के लिए उन्हें "पवित्र गाय" जैसा दर्जा दे दिया था. अब गहलोत सरकार ऊंट कानून के प्रावधानों को हल्का कर रही है और गिरावट को रोकने के लिए बीकानेर के राष्ट्रीय ऊंट अनुसंधान केंद्र (एनआरसीसी) की मदद भी ले रही है. कैबिनेट उपसमिति ने आधा दर्जन संशोधनों की सिफारिश की है जिनमें केवल वध के लिए सजा/प्रतिबंध और बिक्री के लिए ढुलाई की इजाजत शामिल हैं.

ऊंट कानून के चलते ऊंट मेलों में ऊंटों की खरीद-फरोख्त में नाटकीय गिरावट आई. एनआरसीसी ने यह खुद पाया है. 2014 में उसने 40 ऊंट नीलामी के लिए पेश किए और सभी को 30,000 रुपए की औसत कीमत पर खरीदार मिल गए. 2018 में 50 में से 30 को कोई खरीदार नहीं मिला और 2019 में 30 में से 22 नहीं बिक पाए. औसत कीमत घटकर 3,500 रुपए पर आ गई, जबकि सबसे कम बोली 2,000 रुपए की थी. 2016 के पुष्कर ऊंट मेले में 2000 ऊंट बिके थे, जबकि 2018 में 800 ही बिके. कई साल से ऊंटों के संरक्षण में सक्रिय सदरी स्थित लोकहित पशुपालक संस्थान के निदेशक हनवंत सिंह राठौर कहते हैं कि दशक भर पहले भी अच्छे ऊंट की कीमत 70,000 रु. मिल जाती थी, कई बार साल भर के बछड़े भी 15,000 रु. में बिक जाते थे.

घटती तादाद

राष्ट्रीय पशु आनुवंशिक संसाधन ब्यूरो (एनवीएजीआर) के मुताबिक, भारत में कूबड़ वाले ऊंटों की नौ नस्लें हैं. इनमें से पांच (बीकानेरी, जेसलमेरी, जालौरी, मारवाड़ी और मेवाड़ी) राजस्थान से निकली हैं. मेवाती ऊंट राजस्थान और हरियाणा में पाए जाते हैं, जबकि कच्छी और खराई गुजराती हैं और मालवी मध्य प्रदेश के हैं. दोहरे कूबड़ वाले बैक्ट्रियाई ऊंट लद्दाख की मुंब्रा घाटी में हैं.

राजस्थानी ऊंट की आबादी में गिरावट पहली बार 1990 के दशक के आखिर में दर्ज की गई थी. 1998 और 2003 के बीच राजस्थान में एक-चौथाई ऊंट कम होकर 5,00,000 रह गए, जबकि दशक भर पहले 7,56,000 थे. 2012 आते-आते 3,26,000 और 2019 में महज 2,13,000 रह गए. 2012 के बाद हरियाणा और उत्तर प्रदेश (और कुछ हद तक गुजरात) में भी ऊंटों की आबादी में भारी कमी आई. अब पूरे भारत में महज 2,50,000 ऊंट (जिनमें 86 फीसद राजस्थान में) बचे हैं. जिस देश में कभी ऊंटों की तीसरी सबसे बड़ी आबादी हुआ करती थी, वह अब 46 देशों के शीर्ष 10 में भी नहीं है.

ऊंट से मिलने वाली चीजें उन्हें बचाने में मददगार हैं?

एनआरसीसी की कई संस्थानों के साथ अनुसंधान परियोजनाएं चल रही हैं. इनका उद्देश्य ऊंच से मिलने वाली चीजों का इस्तेमाल ढूंढना है

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM INDIA TODAY HINDIView All

"अर्थव्यवस्था एक बड़ी चुनौती से दो-चार है पर उससे निबटने की हमारी परी तैयारी है"

कोविड की दूसरी लहर के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था भले फिर से गहरे संकट में नजर आ रही हो लेकिन केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के आत्मविश्वास को देखकर लगता है कि स्थिति पूरी तरह से सरकार के नियंत्रण में है. ग्रुप एडिटोरियल डायरेक्टर राज चेंगप्पा बिजनेस टुडे के संपादक राजीव दुबे के साथ एक एक्सक्लूसिव बातचीत में वे अर्थव्यवस्था में नई जान डालने की योजना का खुलासा करती हैं. उसी बातचीत के अंशः

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

देहात में छिपा दानव

ग्रामीण भारत में बेहद अपर्याप्त स्वास्थ्य ढांचे की बात सबको पता है, लेकिन आधिकारिक अनुमान संकट पर पर्दा डालते है जिससे महामारी के खिलाफ लड़ाई और मुश्किल हो जाती है।

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

दंगल में भला कौन सुशील

हत्या के मामले में एक ओलंपिक पदक विजेता की गिरफ्तारी ने भारतीय कुश्ती की ग्लैमरस दुनिया की कठोर वास्तविकताओं पर से परदा उठाया

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

तेजपाल बनाम राज्य अब हाइकोर्ट में

पत्रकारर-लेखक तरुण तेजपाल को कथित यौन उत्पीड़न के सनसनीखेज मामले में बरी करने के फैसले को गोवा सरकार ने चुनौती दी है. मील का पत्थर माने जाने वाले इस मामले में आखिर क्यों एक और ट्रायल होने जा रहा है

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

कोविड प्रभावित गांव हैं चुनाव की समरभूमि

मई की 22 तारीख को, समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के पैतृक गांव सैफई का पहली बार किसी गैर-सपाई मुख्यमंत्री ने दौरा किया. दरअसल, उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, इटावा जिले के सैफई में स्थित उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं. सैफई विश्वविद्यालय के 200 बिस्तरों वाले एल-3 कोविड अस्पताल और सैफई ब्लॉक के गीजा गांव में कोविड को लेकर सरकारी तैयारियों का निरीक्षण करने के बहाने, योगी का गांव का यह दौरा एक सुविचारित कदम था.

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

क्यों सुलग उठी रसोई?

पश्चिम दिल्ली के टैगोर गार्डन में रहने वाले 40 वर्षीय अजय कुमार को इन दिनों कोरोना वायरस के अलावा महंगाई भी डरा रही है. महीने के राशन का बिल बिना सामान बढ़ाए भी बढ़ा जा रहा है.

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

आखिर कैसे रफ्तार पकड़े अर्थव्यवस्था

कोविड की दूसरी घातक लहर ने पहले से लहूलुहान अर्थव्यवस्था की चूलें हिला दी, उपभोक्ताओं का भरोसा, उद्योग-धंधों और रोजी-रोजगार की बहाली के लिए अब असाधारण नजरिए और कदमों की दरकार

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

अर्थव्यवस्था बहाली का बेहतरीन नुस्खा

कोविड की दूसरी लहर ने देश की आर्थिक बहाली की नाजुक डोर पीछे खींच ली, बोर्ड ऑफ इंडिया टुडे इकोनॉमिस्ट्स का नजरिया कि कैसे लौटेगी गाड़ी पटरी पर

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

अमरिंदर इस तूफान से पार पा जाएंगे?

यह पहली बार नहीं है जब पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को पार्टी के भीतर से उठे असंतोष का सामना करना पड़ रहा है. मुख्यमंत्री के रूप में अपने पहले कार्यकाल (2002-07) के दौरान, साल 2005 में उनकी डिप्टी राजिंदर कौर भट्टल ने विद्रोह का नेतृत्व किया था.

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021

मोदी-ममता की नई जंग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में ममता बनर्जी के लिए अपने तीसरे कार्यकाल का पहला महीना बड़ा तूफानी रहा. ऐसा प्रतीत होता है कि भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने चुनावी हार को दिल से लगा लिया है और वह ममता सरकार पर लगातार दबाव बनाए रखना चाहती है. कई केंद्रीय टीम राज्य में कानून और व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा करने के लिए उतारी जा चुकी हैं और ऐसा लगता है कि वर्षों से चल रहे घोटालों की जांच के लिए जांच एजेंसियों की नींद अचानक खुल गई है.

1 min read
India Today Hindi
June 16, 2021
RELATED STORIES

An Exclusive Interview With Nandakumar Narasimhan

The Little Red Train

10+ mins read
Lens Magazine
March 2021

Ladakh and Rajasthan

The Royal Biker Boys

5 mins read
Adventure Motorcycle (ADVMoto)
May-June 2020

पंजाब के बाद अब राजस्थान कांग्रेस में कलह

पायलट समर्थक विधायकों ने गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोला, राजस्थान की समिति कर सकती है सुनवाई

1 min read
Hindustan Times Hindi
June 11, 2021

पायलट खेमे के 3 से 4 विधायक मंत्री बन सकते हैं

राजस्थान में सियासी डैमेज कंट्रोल की कोशिश:

1 min read
Samagya
June 10, 2021

गहलोत ने फिर केन्द्र से वैक्सीन फ्री करने की मांग की

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज केन्द्र सरकार से फिर मांग की है कि वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम के लिए लगाए जा रहे टीके पूरे देश में नि:शुल्क लगाए जाने चाहिए।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
June 01, 2021

NEW VOCATION

WEAVERS AND PRISON INMATES FROM RURAL RAJASTHAN TURN DESIGNERS FOR MANCHAHA, AN ONGOING INITIATIVE

1 min read
AD Architectural Digest India
May - June 2021

PINK CITY'S NEW JEWEL LEELA PALACE

The recently launched palace property joins The Leela Group’s iconic hotels in Delhi and Udaipur to cater to leisure travellers sojourning through the popular tourist circuit.

1 min read
Outlook Traveller
May 2021

राजस्थान उपचुनाव : उम्मीदवारों को सहानुभूति वोटों का मिला सहारा

देश के चार राज्यों और एक केन्द्र शासित प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव परिणाम तथा देश में कोरोना महामारी के कारण मचे हाहाकार के मध्य राजस्थान की तीन विधानसभाओं सीटों राजसमंद, सहाड़ा और सुजानगढ़ के लिए भी रविवार को मतगणना हुई।

1 min read
Uday India Hindi
May 16, 2021

India records 3,876 Covid fatalities

EARLY TREND OF DECLINE IN FRESH COVID-19 CASES, DEATHS, SAYS GOVT

3 mins read
Millennium Post Delhi
May 12, 2021

I LIKE THE GREENERY AND MOUNTAINS OF SWITZERLAND — AJINKYA RAHANE

TRAVEL & LEISURE

1 min read
Cricket Today
May 07, 2021