शाही ठाट-बाट
India Today Hindi|February 26, 2020
राजकोट के रणजीत विलास महल में तीन दिन चले भव्य और शानदार समारोह में जाडेजा राजघराने के 17वें वंशज ठाकोर साहब मांधातासिंह जाडेजा का राजतिलक किया गया
उदय माहूरकर

रियासतों को खत्म हुए भले जमाना हो गया हो, पर लगता है, शाही परंपराएं आज भी जिंदा हैं और फल फूल रही हैं. खासकर राजकोट में, जहां जनवरी के आखिरी सप्ताह में तीन दिन चले भव्य समारोह में गुजरात की पूर्व रियासत राजकोट के राजघराने के 17वें वंशज मांधातासिंह जाडेजा को ताज पहनाया गया. राजतिलक का यह भव्य समारोह 225 एकड़ में फैले रणजीत विलास महल में संपन्न हुआ. राजपुरोहित कौशिक उपाध्याय की अगुआई में 51 ब्राह्मणों ने 51 कलशों में भरे 100 जड़ी बूटियों मिश्रित 51 पवित्र नदियों के जल से अंगरखा और धोती धारण किए मांधातासिंह को रक्षा मंत्रोच्चार के बीच आनुष्ठानिक स्नान करवाया.

ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन के दौरान बॉम्बे प्रेसिडेंसी की काठियावाड़ एजेंसी में इस रियासत की स्थापना 1620 में जाडेजा राजघराने के ठाकोर साहब विभाजी अजोजी ने की थी. ब्रिटिश हुकूमत ने इसे नौ तोपों की सलामी वाली रियासत का दर्जा दिया था. इसके अधिकार क्षेत्र में 64 गांव थे. 1948 में इस रियासत ने भारतीय संघ में विलय स्वीकार किया. 1971 में राजघराने ने अपने विशेषाधिकार भी गंवा दिए, पर राजसी शान शौकत का मोह और भ्रम बना रहा. और मांधातसिंह जाडेजा का राजतिलक उसी पुराने जमाने की याद में शाही सलामी था.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM INDIA TODAY HINDIView All

बीजापुर का रक्तपात

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के आखिरी किले को ध्वस्त करने के लिए आगे बढ़ रहे सुरक्षाबल आ गए जानलेवा हमले की चपेट में

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

नई लहर की तैयारी

इस साल शेयर बाजार में कई दमदार स्टार्टअप दस्तक देने की तैयारी में हैं. स्टार्टअप की दुनिया के लिए यह बड़े बदलाव का संकेत माना जा रहा

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

फिर जले जंगल

गर्मी की दस्तक के साथ ही उत्तराखंड के वनों में आग जमीन, ग्लेशियर, खेत और वन्य जीव सबके लिए भारी मुसीबत लेकर आई

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

डॉन की उल्टी गिनती

गैंगस्टर-नेता मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी की जेल भेजा जाना योगी सरकार की जीत के तौर पर देखा जा रहा है. इस पर आगे की राजनीति के पत्ते कैसे खुलेंगे?

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

मैदान में नदारद

केरल में दुश्मनी, बंगाल में गलबहियां-क्या राहुल और प्रियंका गांधी वामदलों के साथ इन दोहरे रिश्तों के कारण ही ममता के खिलाफ चुनाव अभियान में शामिल होने से परहेज कर रहे?

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

गिरने लगे विकेट

देशमुख रिश्वत कांड

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

पश्चिम बंगाल आखिर क्यों है भाजपा के लिए इतना बड़ा दांव

सन 2019 के लोकसभा चुनावों में 42 में से 18 सीटें जीतकर शानदार प्रदर्शन भाजपा ने पश्चिम बंगाल में अपने को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस की मुख्य प्रतिद्वंद्वी के रूप में खड़ा कर लिया.

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

कैसे थमे कोविड का दूसरा थपेड़ा

कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन, टीका लगाने की झिझक, और अमूमन कोविड को लेकर बेपरवाही की वजहों से देश में संक्रमण के मामलों में खतरनाक दूसरा उछाल. अब हमें सतर्कता तथा निगरानी बढ़ाने और टीकाकरण के अभियान को रफ्तार देने से ज्यादा कुछ करने की दरकार

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

हर मोर्चे पर चौकस नजर

ममता बनर्जी को स्पष्ट बहुमत मिलने की उम्मीद, मगर जरूरत पड़ने पर राज्य में चुनाव बाद समीकरण और केंद्र में मोदी को चुनौती देने का दरवाजा भी खोला

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021

आपकी फेसबुक वॉल में लगी सेंध

फेसबुक डेटा लीक

1 min read
India Today Hindi
April 21, 2021