भारतीय रक्षा क्षेत्र को मजबूत करेगी चैफ तकनीक
Gambhir Samachar|September 16, 2021
रक्षा क्षेत्र ने देश में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. भारतीय रक्षा अनुसंधान संगठन यानी कि डीआरडीओ एक ऐसी एंटी रडार तकनीक विकसित कर रहा है, जिसके जरिए लड़ाकू विमानों को मिसाइल के हमलों से बचाया जा सकेगा.
रंजना मिश्रा

भारतीय लड़ाकू विमानों को धराशाई करने की हसरत न तो अब चीन की पूरी होने वाली है और ना ही पाकिस्तान जैसे मुल्क की, क्योंकि रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन यानी डीआरडीओ ने रडार और मिसाइलों को चकमा देने वाली वो तकनीक विकसित कर ली है, जिस तकनीक को लड़ाकू विमानों का सबसे बड़ा रक्षा कवच माना जा रहा है. एडवांस्ड चैफ टेक्नोलॉजी का विकास डीआरडीओ की जोधपुर की रक्षा प्रयोगशाला (डिफेंस लैबोरेट्री ऑफ जोधपुर) और पुणे की उच्च ऊर्जा सामग्री अनुसंधान प्रयोगशाला (हाई एनर्जी मेटेरियल्स रिसर्च लेबोरेटरी एच ई एम आर एल) ने मिलकर किया है. ये चैफ तकनीक लड़ाकू विमानों को दुश्मन के रडार से बचाएगी. सबसे पहले इस तकनीक का इस्तेमाल जगुआर जैसे लड़ाकू विमानों पर किया जाएगा, क्योंकि जगुआर विमानों पर ही इसका ट्रायल पूरा किया गया है. वायु सेना से हरी झंडी मिलने के बाद मिराज, सुखोई समेत दूसरे लड़ाकू विमानों में इसका इस्तेमाल किया जाएगा.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GAMBHIR SAMACHARView All

कब कारोबारी बनेंगे बिहारी

बिहार के उद्योग जगत पर नजर रखने वाले जानते हैं कि यहां से गुजरे कई दशकों के दौरान सिर्फ अनिल अग्रवाल (वेदांत समूह),एल्केम फार्मा और अरिस्टो फार्मा ने ही बड़े स्तर पर अपनी जगह बनाई है. अति विनम्रता से कहना चाहता हूं कि मेरे द्वारा स्थापित एसआईएस समूह भी सेवा क्षेत्र में देश का एक अहम नाम है.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

केवल हिंदू ही नहीं, सिख भी 'गुनाहगार!

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद की किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या' में हिंदुत्व की तुलना आईएसआईएस और बोको हराम जैसे कुख्यात आतंकी संगठनों से करने का विवाद बढ़ता जा रहा है.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

कसौटी कासगंज

ऐसी बात नहीं है कि यूपी के कासगंज थाने में अल्ताफ की मौत पहली घटना है, जिस पर सियासतदां सियासत चमकाने में लगे हैं. मौत के मामलों पर वैसे भी सियासत कोई नई बात नहीं है लेकिन यूपी में लिंचिंग और पुलिस की कार्रवाई को लेकर लगातार सवाल उठते रहे हैं. साल 2015 की बात है, यूपी के दादरी में अखलाक को भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला, ये गाय के नाम पर की गई मॉब लिंचिंग की संभवतः पहली घटना थी जो आने वाले वक्त में एक तयशुदा स्क्रिप्ट की तरह दोहराई जाने लगी. बीते छह साल में एक-के-बाद एक लिंचिंग की ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जिनमें मारे जाने वाले व्यक्ति की धार्मिक पहचान उसकी हत्या की वजह थी, ऐसी हत्याओं को दुनिया के कई देशों में 'हेट क्राइम' की श्रेणी में रखा जाता है. भारत में 'हेट क्राइम' के तहत आंकड़े दर्ज नहीं किए जाते.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

क्यों परेशान हैं सुरक्षा बलों के जवान

अभी बिल्कुल हाल ही में केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के एक कॉन्स्टेबल रीतेश रंजन ने छतीसगढ़ के सुकमा जिले के बस्तर क्षेत्र में अपने ही चार साथियों की गोली मारकर हत्या कर दी. आरोपी जवान को किसी तरह काबू में किया गया. यह गौर करने की बात है कि अपने ही साथियों पर सीआरपीएफ या अर्धसैनिक बल के किसी जवान ने पहली बार गोलियां नहीं बरसाई हैं. अगर आप गूगल करें तो देखेंगे कि इस तरह की घटनाएं बार-बार हो रही हैं. इन्हें नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

गंभीर होती वायु प्रदूषण की समस्या

पहले से ही प्रदूषण की खतरनाक स्थिति के मद्देनजर पटाखों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा लगाए गए प्रतिबंधों की धज्जियां उड़ाते हुए दिल्ली-एनसीआर में इस साल भी जिस प्रकार लोगों ने जमकर पटाखे चलाए, उससे वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) कई इलाकों में गंभीर स्तर से भी अधिक 480 तक पहुंच गया.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

महिला कार्ड के सहारे राजनीतिक जमीन की तलाश

उत्तर प्रदेश 18 वीं विधानसभा का कार्यकाल 14 मई 2022 को समाप्त हो रहा है अर्थात आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के आयोजन में कुछ महीने ही शेष हैं. चुनाव की तैयारियों का आगाज हो चुका है और तकरीबन सभी दल अपनी जीत सुनिश्चित करने हेतु पुराने वोट बैंक को सहेजने और कुछ नये वोट बैंक की तलाश में हैं ताकि उनकी सीटों में इजाफा हो सके.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

प्रियंका गांधी की बात नहीं मान रहे गहलोत!

राजस्थान कांग्रेस की कलह खत्म करने में जुटे आलाकमान के लिए सुलह की राह तैयार करना आसान नहीं है. पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलकर अपनी बात कह कर जयपुर लौटे हैं. फिर जयपुर से सचिन पायलट को सोनिया गांधी के यहां से बुलावा आया. वहां दोनों ने वही बातें कहीं जो पिछले एक साल से कह रहे थे. अभिभावक की तरह सोनिया गांधी ने कहा कि मिल-जुलकर काम कीजिए मैं रास्ता निकालती हूं. हालांकि गांधी परिवार में भी इतने आलाकमान हैं कि एक व्यक्ति मिलकर फैसला नहीं ले सकता है.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

ब्राह्मण केवल माहौल बनाने के लिए असली वोटबैंक तो मुस्लिम हैं

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर बसपा सुप्रीमो मायावती ने ब्राह्मणों पर प्रेम बरसाते हुए 'प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन' करने की घोषणा की थी. जिसके बाद सपा, कांग्रेस और भाजपा में ब्राह्मण वोटबैंक को अपने पाले में लाने के लिए होड़ मच गई थी.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

आखिर सड़क हादसों पर नियंत्रण कैसे संभव?

एक रिपोर्ट से साफ जाहिर होता है कि भारत में सड़क हादसों में लगातार इजाफा हो रहा है. इस रिपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक, 2019 में सड़क हादसों की कुल संख्या 449002 थी. जबकि 2018 में यह आकड़ा 467044 और वर्ष 2017 में 464910 था.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021

आज कांग्रेस वैसी ही 'अछूत', जैसे कभी भाजपा हुआ करती थी

कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा की तमाम कोशिशों के बाद भी जमीन से जुड़ा आम कांग्रेसी से उत्साहित नहीं नजर आ रहा है. इसकी वजह है पिछले कई चुनावों से कांग्रेस का लगातार गिरता हुआ जनाधार. इसीलिए पुराने कांग्रेसी दिग्गजों को लगता है कि यूपी में कांग्रेस जब तक पुनः मजबूत स्थिति में न आ जाए तब तक वह गठबंधन की सियासत से परहेज नहीं करे.

1 min read
Gambhir Samachar
November 16, 2021