बीजेपी का वोट बैंक भी मजबूत करेंगे उसके चुनाव प्रभारी
Gambhir Samachar|September 16, 2021
भाजपा सूत्रों का कहना है कि अब चुनाव लड़ना और जितना इतना आसान नहीं रह गया है. पूरा चुनाव हाईटक हो गया है. इसी लिए शीर्ष नेतृत्व को लगता है कि चुनाव जीतने के कई स्तरों पर रणनीति बनाना जरूरी है. साथ ही साथ एक ऐसी समिति भी रहेगी, जो किसी प्रोजेक्ट, किसी राजनीतिक प्रतिक्रिया आदि पर भी तत्काल निर्णय लेने में सक्षम होगी. प्रधान और ठाकुर चुनाव प्रभार देख ही रहे है.
अजय कुमार

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में चुनाव किसी भी स्तर का हो, उसका सीधा प्रभाव केन्द्र की राजनीति पर पड़ता है. यूपी से निकला कोई भी सियासी 'मैसेज' दूर तक जाता है. इसी लिए भारतीय जनता पार्टी आलाकमान ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव की तैयारी 'युद्धस्तर' पर शुरू कर दी है. बीजेपी प्रदेश में चुनाव प्रचार के लिए अपने स्टार प्रचारकों की लिस्ट तैयार करने में लगी है तो नेताओं का कार्यक्रम भी तय किया जा रहा है. किस नेता की कहां सभा रखी जाएगी,इसके लिए क्षेत्रीय और जातीय गणित का भी ख्याल रखा जा रहा है. चुनाव जीतने के लिए बीजेपी आलाकमान द्वारा कई स्तर पर रणनीति बनाई जा रही हैं. जरूरत के हिसाब से पार्टी अपना प्लान ए.बी.सी बदलती रहेगी. पार्टी आलाकमान ने यूपी में चुनाव प्रभारियों की जो बड़ी फौज तैयार की है. उसमें कई दिग्गज नेताओं के नाम कई राज्यों बीजेपी की सरकार बनवाने का रिकार्ड दर्ज है. इतना ही बीजेपी के नवनियुक्त प्रभारियों की जो लिस्ट सामने आई है,उसमें क सभी नेता मोदी की गुड लिस्ट में कभी शामिल हैं. बीजेपी की शीर्ष इकाई ने चुनाव प्रभारी और सह-प्रभारी बनाते समय जातीय समीकरण का भी पूरा ख्याल रखा है.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GAMBHIR SAMACHARView All

बीमारियों की सौगात परोस रहा है वायु प्रदूषण

दुनियाभर में वायु प्रदूषण के खतरे तेजी से बढ़ रहे हैं. वायु प्रदूषण लोगों के स्वास्थ्य को बुरी तरह से प्रभावित कर रहा है, यहां तक कि लोगों की आयु घटने का भी एक बड़ा कारण बनकर उभर रहा है.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

बेटे के बिगड़ने का जिम्मेदार कौन?

शाहरुख खान के पुत्र आर्यन को क्रूज पर ड्रग्स पार्टी के मामले में हिरासत में लिए जाने के बाद कई तरह की बातें हो रही हैं. कहा जा रहा है कि शाहरुख खान और उनकी पत्नी गौरी खान ने अपने बेटे आर्यन खान का लालन-पालन सही से नहीं किया जिससे कि वह एक बेहतर नागरिक बन कर उभरता. बेशक, इस तरह की चर्चा करना फिलहाल सही नहीं है.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

किस्सा कुर्सी का

आज से लगभग तीन वर्ष पूर्व संपन्न मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ विधानसभाओं के चुनावों में छत्तीसगढ़ एकमात्र ऐसा राज्य था जहां कांग्रेस की प्रचंड विजय ने डेढ़ दशकों से सत्तारूढ भाजपा को स्तब्ध कर दिया था.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

कोयला संकट के चलते गहरा रहा है बिजली संकट

देश के विभिन्न राज्यों की तरह उत्तर प्रदेश में भी बिजली उत्पादन के लिए कोयले का संकट गहराता जा रहा है.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

डिग्री के साथ-साथ स्किल का होना भी जरूरी

भारत में कॉलेज और यूनिवर्सिटीज तो पर्याप्त संख्या में हैं, लेकिन इनमें से कइयों की हालत ठीक नहीं है और वहां पर सीटों की भी कमी है.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

पर्व, पर्यावरण और प्रदूषण

पटाखों से होने वाला प्रदूषण भले ही अस्थायी प्रकृति का होता है लेकिन उसे और अधिक हानिकारक बना देता है. औद्योगिक इलाकों की हवा में विभिन्न मात्रा में राव, कार्बन मोनोऑक्साइड, कार्बन डाइऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और अनेक हानिकारक तथा विषैली गैसें और विषाक्त कण होते हैं. इन इलाकों में पटारवे फोड़ने से प्रदूषण की गंभीरता तथा होने वाले नुकसान का स्तर कुछ दिनों के लिए बहुत अधिक बढ़ जाता है. महानगरों में वाहनों के ईंधन से निकले धुएं के कारण सामान्यतः प्रदूषण का स्तर सुरक्षित सीमा से अधिक होता है.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

नशे की खान बनता जा रहा हैं हिंदी सिनेमा उद्योग!

अभी हिंदी सिनेमा के बादशाह की उपाधी से सुसज्जित किंग खान, शाहरुख खान के पुत्र आर्यन खान व अनेक प्रख्यात लोगों के पुत्र एक क्रूज पर होने वाली पार्टी में नशे के आरोप में गिरफ्तार किये गये. इस पर खूब चर्चा भी हुई.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

चल गया जादू

लोकसभा चुनाव 2019 में मिली अभूतपूर्व सफलता के बाद भाजपा के कई बड़े नेताओं ने पश्चिम बंगाल में अपना डेरा जमा लिया था. चुनाव प्रचार में भी टीएमसी मुखिया के सामने भाजपा के स्टार प्रचारकों की फौज शामिल रही. विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने पाला बदल कर भाजपा का दामन थाम लिया. लेकिन, इनमें से कोई भी नेता ममता बनर्जी के 'कद' को चुनौती देने लायक नहीं बन पाया.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

गांधी फैमली को बीजेपी राज में ही क्यों नजर आता है खोट

कॉग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका वाड्रा लखीमपुर खीरी में हुई घटना को योगी सरकार के खिलाफ अधिक से अधिक तूल देना चाहती हैं ताकि उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव में कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाया जा सके.

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021

ऑनलाइन सुरक्षा के मामले में लिंग विभाजन चिंताजनक....

आए दिन हम सभी किसी न किसी दिवस विशेष का हिस्सा बनते, लेकिन क्या वह दिवस अपने सकल उद्देश्यों को प्राप्त कर पाता है?

1 min read
Gambhir Samachar
October 16, 2021
RELATED STORIES

Building a Work of Art

To celebrate the release of the 2022 Indian Chief the legend-ary motorcycle company got together two of the world’s most sought after builders, Paul Cox and Keino Sasaki, to customize a bike for celebrated tattoo artist Nikko Hurtado.

10+ mins read
Inked
Summer lifestyle 2021

Good player, great teammate, but expendable

Right after the Jets lost to Kansas City, 35-9, Nov. 2, it was announced they traded linebacker Avery Williamson to Pittsburgh, along with a 2022 seventh-round pick, in exchange for a 2022 fifth-round pick.

7 mins read
NY Jets Confidential
December 2020

India Election Body Struggles With Scale Of Fake Information

When India’s Election Commission announced last month that its code of conduct would have to be followed by social media companies as well as political parties, some analysts scoffed, saying it lacked the capacity and speed required to check the spread of fake news ahead of a multi-phase general election that begins April 11.

4 mins read
AppleMagazine
April 5, 2019

India At A Crossroads

India is known as the land of contradictions, and recent events do little to undermine that reputation.

6 mins read
Reason magazine
January 2019

Parties milk ‘GDP' issue to the hilt to reach out to voters

T Collecting Tax Of ₹40 On One Litre Petrol: BJP

2 mins read
The Times of India Hyderabad
October 24, 2021

BJP rules out leadership change in Goa after AAP's claims about CM Sawant

Goa CM To Be Replaced Two-Three Months Ahead Of The Elections In The State, Says Delhi Dy CM Sisodia

1 min read
The Times of India Delhi
October 24, 2021

EC rushes 20 companies of central forces to Huzurabad

BJP, TRS Cadre Come To Blows During Campaign

1 min read
The Times of India Hyderabad
October 23, 2021

BJP IN GOA:BREWING DISCONTENT

BJP IN GOA

4 mins read
India Today
November 01, 2021

THE CLOUT WIELDERS

THE GLOBAL COVID PANDEMIC, which hit the world last year, not only took away the lives of millions and devastated economies, it also reorganised the political order in many regions. India was among the countries hit the hardest by the ravaging virus, yet, the political impact of Covid is still not evident. Six states went to polls since the pandemic broke out in India in March 2020—all before the second wave of Covid hit the country in early April 2021—but it was not an electoral issue during the campaigns. The political power order of the country has remained largely unchanged with the RSS-BJP ecosystem firmly entrenched at the top. While de facto Congress chief Rahul Gandhi remains the sole national voice against the Prime Minister Narendra Modi-led BJP government, recent political movements have seen the emergence of regional satraps as new power centres. West Bengal chief minister Mamata Banerjee not only withstood a massive BJP campaign to dethrone her in the assembly poll earlier this year but is also now projecting herself as an alternative to Modi. In this quest, she will need the support of Maratha stalwart Sharad Pawar, who is the unofficial nerve centre of the Maharashtra government. The India Today political power list of 2021 provides a quick overview of the strongest players giving direction to the political discourse in the country.

8 mins read
India Today
November 01, 2021

महंगाई से परेशान हो चुकी है जनता, मोदी सरकार की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

आज देश के अधिकांश घरों में रसोई गैस के माध्यम से ही खाना पकाया जाता है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी लोगों ने पारंपरिक चूल्हों पर लकड़ी से खाना पकाना छोड़ दिया है। इस कारण घरेलू गैस सिलेंडरों की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी से आम आदमी का नाराज होना स्वाभाविक ही है।

1 min read
Open Eye News
September 2021