सीएए को हथियार बनाएगी कांग्रेस
Gambhir Samachar|April 01, 2021
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पश्चिम बंगाल को अपनी तरफ से करीब करीब बीजेपी के हवाले ही कर दिया है, लेकिन तमिलनाडु और केरल के साथ साथ असम में भी काफी मेहनत कर रहे हैं.
जलज श्रीवास्तव

असम विधानसभा की 126 सीटों के लिए शुरू के तीन चरणों में वोट डाले जाने हैं 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल. 27 मार्च को 47 सीटों पर 1 अप्रैल को 39 और तीसरे चरण में 6 अप्रैल को 40 सीटों पर वोटिंग होनी है. काउंटिंग तो सभी की एक ही साथ 2 मई को ही होगी. राहुल गांधी बीजेपी के खिलाफ उसी का पसंदीदा हथियार सीएए (CAA) लागू किये जाने का इस्तेमाल कर रहे हैं. राहुल गांधी की पूरी कोशिश है कि असम विधानसभा चुनाव में सीएए चुनावी मुद्दा बन जाये, जबकि सत्ताधारी बीजेपी इसे हर कदम पर खारिज करने का प्रयास कर रही है.जब भी बात उठती है, बीजेपी नेता जोर देकर कहते हैं कि सीएए कोई मुद्दा नहीं है. 2019 में सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन असम में ही जोर पकड़े थे और फिर दिल्ली होते हुए उत्तर प्रदेश में भी उसके हिंसक रूप देखे गये. ये तभी की बात है जब झारखंड में विधानसभा के चुनाव हो रहे थे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झारखंड की चुनावी रैली के मंच से असम में लोगों से शांति बनाये रखने की अपील करनी पड़ी थी.लेकिन तब सीएए लागू करने पर मोदी सरकार का जो जोर देखने को मिलता था, अब नहीं है. दिखावे के लिए ही सही, लेकिन चुनावों तक तो होल्ड कर ही लिया गया है. झारखंड के बाद जब दिल्ली में विधानसभा के चुनाव हुए तो सीएए विरोध का सबसे बड़ा मैदान शाहीन बाग बना था. तभी चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेतृत्व को ललकारते हुए सीएए विरोध के लिए राजघाट तक पहुंचा दिया, जहां सोनिया गांधी ने संविधान की प्रस्तावना का पाठ भी किया. सीएए विरोध की राजनीति के चलते प्रशांत किशोर को नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू में उपाध्यक्ष पद गंवाना पड़ा था, राहत की बात बस ये रही कि उनके क्लाइंट अरविंद केजरीवाल चुनाव जीत गये.2016 के असम चुनाव से पहले प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार की सलाह पर कांग्रेस और बदरुद्दीन अजमल की क्षेत्रीय पार्टी एआईयूडीएफ के बीच चुनावी गठबंधन की खूब कोशिश की थी, लेकिन कांग्रेस के तत्कालीन मुख्यमंत्री तरुण गोगोई के अड़ जाने के कारण वो समझौता नहीं हो सका. तब की गलतियों को राहुल गांधी सुधारने की कोशिश जरूर कर रहे हैं, लेकिन कितना? राहुल गांधी तब न तो तरुण गोगोई को बदरुद्दीन अजमल से समझौते के लिए मना पाये और न ही हिमंत बिस्वा सरमा को कांग्रेस में रोक पाये. तरुण गोगोई की गैर मौजूदगी में राहुल गांधी के फेवरिट गौरव गोगोई कमान संभाले हुए हैं और वही हिमंत बिस्वा सरमा बीजेपी की तरफ से मोर्चा संभाले हुए हैं.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM GAMBHIR SAMACHARView All

ऑक्सीजन पर सियासत

कोरोना वायरस से पैदा हुए हालात तो महाराष्ट्र, दिल्ली, यूपी और कई और भी राज्यों में करीब करीब एक जैसे ही हैं, लेकिन दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी के चलते अस्पतालों में भर्ती मरीजों की जान पर बन आयी है. ऑक्सीजन न मिलने की वजह से तो वेंटिलेटर पर रहे 22 मरीजों की महाराष्ट्र के अस्पताल में भी मौत हो गयी, लेकिन वहां ऑक्सीजन की कमी नहीं थी, बल्कि, गैस लीक होने के चलते करीब आधे घंटे तक मरीजों तक ऑक्सीजन पहुंचने में रुकावट आ गयी.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

भाजपा के लिए खतरनाक है मोदी का आत्मनिर्भर भारत अभियान!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत अभियान का मकसद तो यही है कि हर बात के लिए सारे लोग सरकार का मुंह न देखते रहें जितना भी संभव हो सके खुद भी कुछ न कुछ करें और अपने आस पास के लोगों को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करें.जब देश का प्रत्येक नागरिक आत्मनिर्भनर बनने की कोशिश करेगा तो सरकार पर काम का बोझ कम होगा और सरकार लोगों की बुनियादी जरूरतों को छोड़ आगे के बारे में सोचेगी. ये समझाइश भी इसीलिए रही है कि कोई ये न सोचे कि सरकार ने आपके लिए क्या किया हमेशा लोग ये सोचें कि देश के लिए हमने क्या किया?

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

प्रकृति के अनुरूप थे हमारे पुरखे!

मनुष्य को प्रकृति के करीब ला रहा है कोरोना. जी हा, आपने बिलकुल सही पढ़ा है. जब-जब मनुष्य प्रकृति के नियमों के विरुद्ध चला है, तब-तब उसे बीमारियों और संक्रमण फैलाने वाले वायरसों से दो-दो हाथ होना पड़ा है. प्राचीन समय ऋषि-मुनियों के आश्रम प्राकृतिक वातावरण के बीच हुआ करते थे और उन्हीं आश्रमों में रहकर ये ईश्वरीय ध्यान करते थे और शिष्यों को शिक्षा प्रदान किया करते थे. इतना ही नहीं ये ऋषि-मुनि प्रकृति के करीब रहकर सौ साल से ऊपर तक की आयु में भी स्वस्थ जीवन जीया करते थे. लेकिन आज हम पक्के घरों की चार दीवारी में बंद परवे, कूलर और एसी की हवा खाकर बीमार हो रहे हैं जो वायरस और संक्रमण को फैलाने में अहम भूमिका अदा करते हैं.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

फॉर्मल हुआ हर्बल

लगभग एक शताब्दी बाद दुनिया यह देखने के लिए बाध्य हुई कि एक महामारी ने पूरी धरती को एक साथ अपनी चपेट में ले लिया. तमाम आधुनिक मेडिकल साइंस इस महामारी को नियंत्रित करने में विफल साबित हुआ.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

कोरोना को हराने आई सेना

कोरोना से जंग लड़ने के लिए अब भारतीय सेना भी मोर्चे पर आ गई है. इसलिए यह उम्मीद बंधी है कि कोरोना की चालू लहर पर काबू पाने में मदद मिलेगी.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

ऑक्सीजन के क्यों पड़े लाले?

कोरोना के शिकार कई मरीज इलाज के इंतजार में दम तोड़ रहे हैं. जिन लोगों को साँस लेने में ज्यादा तकलीफ हो रही है उनका इलाज करने में अस्पतालों को दिन-रात एक करना पड़ रहा है. जिन लोगों को किस्मत से बेड मिल गई है, उनकी साँसें बचाने के लिए अस्पताल भारी जद्दोजहद में जुटे हैं. सोशल मीडिया और व्हॉट्स ग्रुप पर ऑक्सीजन सिलिंडरों की माँग करती अपीलों की भरमार है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

ऑक्सीजन और वनों की उपयोगिता

कोरोना वैक्सीन छोड़िए, इस संकट में लोगों को ऑक्सीजन तक नसीब नहीं हो रही है. 'कोरोना सांसे छीन रहा है', अब तक लोग सुनते आ रहे थे पर जिस तरह से सभी राज्यों में ऑक्सीजन की कमी हुई है, उसमें लोग यह दर्दनाक वाकया देखने को मजबूर हो गए हैं. आत्मा सिहर कर रह जाती है, जैसे ही कोई अखबार पढ़ो या टीवी देखो. हर तरफ कोरोना ने कोहराम मचा रखा है. उससे भी ज्यादा दुरवद यह है कि लोगों को ऑक्सीजन तक मयस्सर नहीं हो रही है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

अब बढ़ेगी पाकिस्तान की मुश्किलें

पहले से एक साथ कई मुश्किले झेल रहे पाकिस्तान के लिए अब एक और नई मुश्किलें खड़ी होने जा रही है. दरअसल, आफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया में पाकिस्तान की भूमिका रही है. इसी बीच अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने घोषणा की है कि अफगानिस्तान में तैनात सभी अमेरिकी सैनिक सितंबर की 11 तारीख तक वापिस लौट जाएंगे. अमेरिका की इस डेडलाइन पर पाकिस्तान नजर बनाए हुए हैं. पाकिस्तान का कहना है कि अमेरिकी सैनिकों के वापस जाने को अफगान शांति प्रक्रिया से जोड़ा जाना चाहिए.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

कोरोना काल में आयुर्वेद की ओर आत्मनिर्भर भारत

आयुर्वेद प्राकृतिक एवं समग्र स्वास्थ्य की पुरातन भारतीय पद्धति है. संस्कृत मूल का यह शब्द दो धातुओं के संयोग से बना है आयुः + वेद 'आयु' अर्थात लम्बी उम्र (जीवन) और 'वेद' अर्थात विज्ञान.अतः आयुर्वेद का शाब्दिक अर्थ जीवन का विज्ञान है.

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021

मुंबई का ऑक्सीजन मैन

देश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान अस्पताल में बेड से लेकर ऑक्सीजन तक की कमी के चलते लोगों की जान जा रही है. ऐसे में मुंबई के मलाड स्थित मालवणी के 32 वर्षीय शाहनवाज शेख कुछ जिंदगियाँ बचाने के लिए मैदान में हैं.पैसों की कमी हुई, तो उन्होंने अपनी महंगी एसयूवी कार बेच दी और ऑक्सीजन सिलेंडर खरीद कर लोगों को मुफ्त ऑक्सीजन देना शुरू कर दिया. सिलेंडर कम पड़े, तो अपनी सोने की चेन के साथ कुछ और जरूरी चीजें बेच दी. शाहनवाज शेख ने बताया, 'ऑक्सीजन की कमी से लोगों की जान जा रही है. ऐसे में हमारा प्रयास है कि जितना संभव हो, हम लोगों तक मुफ्त ऑक्सीजन पहुँचाएँ और लोगों की जान बचाएँ. इसके लिए हमने अपनी एसयूवी कार सहित कुछ कीमती सामान बेच दिया.'

1 min read
Gambhir Samachar
May 01, 2021
RELATED STORIES

2020 Año de la Gran Transformación – Cáncer

El 2020 es un año clave en el tema de la pareja. Asimismo, el Universo te impulsa a sanar tus relaciones interpersonales. Será muy importante que haya un equilibrio entre lo que das y lo que recibes.

7 mins read
Vanidades México
Diciembre 25 - 2019

'Mis implantes de seno me provocaron cáncer'

Imagina escuchar que tienes cáncer y, por si fuera poco, sentir que es tu culpa porque decidiste hacerte una cirugía cosmética. Esa es la difícil realidad que enfrenta un creciente número de mujeres, a las que se les diagnostica un tipo raro de cáncer, causado por los implantes de seno texturizados. Una de ellas ayuda a WH a investigar esta pesadilla.

10+ mins read
Women's Health en Español
Noviembre 2019

El de Sinaloa, un cártel aún sólido

El rescate de Ovidio Guzmán López el jueves 17 en Culiacán evidenció que el Cártel de Sinaloa sigue teniendo fuerza, pese a su fragmentación. Comandado por El Mayo Zambada y los hijos del Chapo, el grupo criminal mantiene una extensa red de alianzas y pingües negocios en gran parte del mundo. Sin embargo, el día en cuestión los sicarios a su servicio se excedieron, lo que tendrá consecuencias para la organización que durante años intentó que la gente tuviera una impresión positiva de ella.

10+ mins read
Revista Proceso
October 27, 2019

Culiacán, la decisión precipitada

Un cuerpo de vigilantes del Grupo de Análisis e Información del Narcotráfico –dependiente de la Sedena– montaba guardia cerca de un domicilio en Culiacán al que se suponía que podría llegar Ovidio Guzmán, contra quien hay una orden de aprehensión con fines de extradición a Estados Unidos. Poco antes de las dos de la tarde del jueves 17, en efecto, el objetivo arribó a esa vigilada casa y el grupo de élite decidió actuar “en caliente”, aun antes de obtener la indispensable orden de cateo. El resultado, de todos conocido, fue la captura y liberación del hijo del Chapo, en una violenta y confusa tarde culiacanense.

10 mins read
Revista Proceso
October 27, 2019

La vida sexual después del cáncer de mama

Sentirte bien con tu cuerpo, aun cuando haya cambiado a consecuencia de este padecimiento, te ayudará a vivir tu sexualidad con libertad y plenitud, igual o mejor que como lo hacías antes.

5 mins read
Cosmopolitan en Español - México
Octubre 20 - 2019

Confrontación de vida

El tiempo es el mayor enemigo durante una enfermedad, es indispensable llegar antes que él para combatir un Cáncer de Mama.

4 mins read
Marie Claire México
Octubre 2019

Las ganancias del “Chapo”, una deuda difícil de cobrar para Washington

Según cálculos de Washington, El Chapo Guzmán habría acumulado una fortuna de 12 mil 666 millones 191 mil 704 dólares como producto de la venta de drogas en suelo estadunidense. A partir de testimonios de narcotraficantes mexicanos y colombianos, rendidos durante el juicio al líder del Cártel de Sinaloa, el Departamento de Justicia hizo la suma y obtuvo esa cifra, que ahora se considera deuda del sinaloense con el gobierno de Estados Unidos. Pero según especialistas, ese dinero será imposible de recuperar, porque ha sido sometido a diversos procedimientos de lavado.

10 mins read
Revista Proceso
July 28, 2019

Don't Worry, Be Sunny!

El sol está a casi 150 millones de kilómetros de la tierra, así que la distancia entre la estrella y tu piel es larga, pero sabemos que exponernos a sus rayos sin protección es dañino. Corte a: sombra constante, bloqueador 50+ y un miedo terrible a sus efectos. ¿Dónde está la capa de ozono cuando la necesitas? Mejor cambia de perspectiva y disponte a disfrutar de él como lo hacen las abejas y las aves. Su luz tiene beneficios asombrosos para quienes deciden ver el lado brillante de las cosas, literal...

4 mins read
Cosmopolitan en Español - México
Marzo 06 - 2019

Un año con 'El Chapo'

En una larga conversación con el director de Proceso, Rafael Rodríguez Castañeda, el que fue comisionado nacional de Seguridad del gobierno de Enrique Peña Nieto de agosto de 2015 hasta diciembre de 2018, Renato Sales Heredia, hizo un relato de su experiencia personal en torno de Joaquín Guzmán Loera. Un testimonio vívido, profuso en observaciones y datos precisos, anécdotas y escenas de color, reflexiones y conclusiones. Terminado el juicio del Chapo en Brooklyn, con el veredicto de culpable y la casi segura sentencia a cadena perpetua de quien fuera líder del Cártel de Sinaloa –considerado por la revista Forbes entre los hombres más ricos del planeta–, Rodríguez Castañeda y Sales acordaron publicar la siguiente narración, bajo la firma del exfuncionario de seguridad.

10+ mins read
Revista Proceso
February 17, 2019

Future

Hacer las preguntas correctas puede ayudarte a darle la vuelta a la página. Stefano Vighi, nuestro astrólogo de cabecera, ha identificado la mejor forma de cuestionarse dependiendo de cada signo (y con muchos pronósticos). Así que, ¿qué esperas?, busca tu horóscopo y publícalo como #AstroCosmo. No olvides etiquetar a tus gemelos astrales.

10+ mins read
Cosmopolitan en Español - México
Diciembre 23 - 2018