'लंदन में पहली दीवाली'
DASTAKTIMES|November 2021
कादम्बरी मेहरा की अतीत की अनुगूंज से.....
कादम्बरी मेहरा

मेरी स्मृतियों के अमित पिटारे में एक बहुत प्रिय संयोग है जिसे याद करके आज भी आत्मा तृप्त हो जाती है। सन 1975 के जनवरी मास में मैंने भारत छोड़ा। पति देव पहले ही आ चुके थे। दो बड़े बच्चों को उनकी शिक्षा के कारण वहीं पर छोड़ना पड़ा। मेरी माँ ने उनको आने ही नहीं दिया। जब तक सर पर अपनी छत न हो, कहाँ भटकेगी? कल को कुछ काम न बना तो यहीं आएगी वापिस। दोबारा कॉल्विन में दाखिला कौन देगा?'' अतः एक बच्ची जो केवल ढाई वर्ष की थी, मेरे संग आई। जीवन संघर्ष बहुत मारक था। बच्चे बहुत याद आते थे। कमी थी तो अपने खुद के घर की।

दिन रात पाई-पाई बचाकर हमने अगले स्कूल सत्र के शुरू होने से पहले घर ले ही लिया। मगर कागजी कार्यवाही पूरी होते होते अक्टूबर आ गया। शारदीय नवरात्र में हमने घर में पाँव रखा।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM DASTAKTIMESView All

टॉप गियर में योगी सरकार विरोधी दल में कलह

उत्तर प्रदेश की राजनीति में विपक्ष का सारा दारोमदार समाजवादी पार्टी पर आन पड़ा है। योगी सरकार को सदन में दो तिहाई बहुमत प्राप्त है। तो भी विरोधी दल यानी सपा का यह संख्या बल उसको घेरने के लिए पर्याप्त है। समाजवादी पार्टी अगले चुनावों तक जनता में अपने लिए कितना समर्थन और सम्मान अर्जित कर पाती है, यह सदन और सदन से बाहर उसके प्रदर्शन पर ही निर्भर करेगा। अखिलेश यादव ने इस अवसर को अच्छी तरह पहचाना है। लेकिन जिसे कहते हैं, सिर मुढ़ाते ही ओले पड़ना, समाजवादी पार्टी शक्तिशाली विपक्ष की भूमिका में आने से पहले ही अपने आन्तरिक कलह में घिर गई है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

हाइब्रिड सुरक्षा मॉडल समय की मांग

हाइब्रिड सुरक्षा मॉडल समय की मांग है। निजी क्षेत्र की विभिन्न औद्योगिक और विनिर्माण इकाइयों को प्रभावी सुरक्षा मुहैया कराने के लिए केंद्र सरकार का अर्धसैनिक बल सीआईएसएफ और निजी सुरक्षा एजेंसियां एक साथ मिल कर काम कर सकती हैं। गृह मंत्रालय का मानना है कि सीआईएसएफ जैसे सुरक्षा बल अकेले देशभर में निजी क्षेत्र की विभिन्न औद्योगिक और विनिर्माण इकाइयों को प्रभावी सुरक्षा मुहैया नही उपलब्ध करा सकते। इसी कड़ी में सीआईएसएफ से निजी सुरक्षा एजेंसियों को प्रशिक्षण देने की जिम्मेदारी लेने पर विचार करने को भी कहा गया है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

भीमताल : मशरूम क्रांति का नया पड़ाव

उत्तराखंड के पर्वतीय ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन रोकने के लिए मशरूम की खेती को एक बड़े समाधान के रूप में देखा जा रहा है। इसीलिए नैनीताल के मुख्य विकास अधिकारी डॉ. संदीप तिवारी का कहना है कि गांवों से पलायन रोकने के लिए मशरूम उत्पादन, पॉलीहाउस योजना, बागवानी, मत्स्य पालन समेत अन्य योजनाओं से लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

ट्रेडिशनल मेडिसिंस के क्षेत्र में बजता भारत का डंका

डब्ल्यूएचओ ग्लोबल सेंटर फॉर ट्रेडिशनल मेडिसिन, विश्व में अपनी तरह का पहला केन्द्र है, जिसका 19 अप्रैल, 2022 को जामनगर में उद्घाटन किया गया। इस केन्द्र का लक्ष्य पारंपरिक चिकित्सा की क्षमता को तकनीकी प्रगति और साक्ष्य - आधारित अनुसंधान के साथ एकीकृत करना है। जामनगर इसके आधार के रूप में कार्य करेगा और इस नए केंद्र का उद्देश्य विश्व को शामिल करना और उसे लाभान्वित करना है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

चारधाम यात्रा श्रद्धालुओं के आतिथ्य को तैयार धामी सरकार

यात्रियों को देवभूमि में दिल खोलकर स्वागत हो और उन्हें किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो, इसके लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अधिकारियों को सभी व्यवस्थाएं समय पर दुरस्त करने के निर्देश दिए हैं। यात्रा से जुड़ी सभी तैयारियों पर मुख्यमंत्री स्वयं नजर बनाए हुए हैं। अब तक एक लाख से अधिक यात्री चारधाम यात्रा के लिए अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

मुस्लिम तुष्टीकरण - राज्य सरकारें हिन्दुओं को घोषित कर सकती हैं अल्पसंख्यक

हाल ही में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग अधिनियम 1992 चर्चा में रहा क्योंकि हाल ही में एक याचिका दायर करके केंद्र सरकार द्वारा अल्पसंख्यकों को दर्जा देने के अधिकार पर चुनौती पेश की गई है और ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि हाल ही में केंद्र सरकार ने इस बात पर विचार करना शुरू किया था कि जिन राज्यों में हिंदुओं की संख्या काफी कम हो गई है वहां पर हिंदुओं को अल्पसंख्यक घोषित कर दिया जाए, इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को 4 सप्ताह का समय देते हुए इस बारे में स्पष्टीकरण देने को कहा है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

सियासत की नयी तस्वीर गढते धामी उत्तराखंड की राजनीति में नए युग का आगाज

धामी के बहाने सिर्फ भाजपा ही नहीं, उत्तराखंड की सियासी तस्वीर बदलने जा रही है। प्रदेश की राजनीति में भुवन चंद खंडूरी, भगत सिंह कोश्यारी, विजय बहुगुणा, हरीश रावत, हरक सिंह, दिवाकर भट्ट, काशी सिंह ऐरी का युग अब लगभग खत्म सा हो गया है। रमेश पोखरियाल निशंक, त्रिवेंद्र सिंह रावत, अजय भट्ट, मदन कौशिक, सतपाल महाराज और गणेश जोशी की सियासी पारी भी ढलान पर है। राज्य की सियासत को हर कहीं अब नए नेतृत्व की दरकार है। वैसे भी भाजपा रणनीतिक रूप से तमाम राज्यों में नए नेतृत्व पर फोकस कर ही रही है। इसी क्रम में उत्तराखंड में भी भाजपा का सियासी दौर बदल रहा है।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

जीरो टॉलरेंस और सुशासन हमारी प्रतिबद्धता : धामी

उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी अपनी नई पारी में बदले - बदले से नजर आ रहे हैं।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

जम्मू कश्मीर के लिए 20 हजार करोड़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सांबा में 3100 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से बनी बनिहाल काजीगुंड सड़क सुरंग का उद्घाटन किया। कुल 8.45 किलोमीटर लंबी यह सुरंग सड़क मार्ग से बनिहाल और काजीगुंड के बीच की दूरी को 16 किलोमीटर कम कर देगी और यात्रा में लगने वाले समय में लगभग डेढ घंटे की कमी ला देगी।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022

गांधी परिवार का विकल्प है ही कहां!

कांग्रेस के पास बहुत सीमित विकल्प ही उपलब्ध हैं। ऐसे में प्रशांत किशोर की बातों को आत्मसात करना उसके लिए पार्टी के लोग एकदम हितकर मानते हैं। प्रशांत किशोर चुनाव विशेषज्ञ हैं और उन्होंने कांग्रेस के हालातों पर गहराई से अध्ययन कर अपने प्रस्ताव तैयार किए हैं। वे सोनिया गांधी व दूसरे नेताओं के समक्ष इन्हीं प्रस्तावों पर प्रजेंटेशन भी दे चुके हैं। कांग्रेस के साथ दिक्कत यह है कि विभिन्न राज्यों में उसका वोट बैंक उसके पास से तेजी से खिसक रहा है। उत्तर प्रदेश इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। उसे उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव में कूल दो सीटें और 3 प्रतिशत से भी कम वोट मिले हैं।

1 min read
DASTAKTIMES
May 2022
RELATED STORIES

An Epic Phone-a-Thon

India’s smartphone shoppers will be spoiled for choice this festive season

4 mins read
Bloomberg Businessweek
November 09, 2020

दीवाली आधी मीठी आधी फीकी

इस दीवाली लोगों का हाथ तंग है और अनापशनाप बढ़ती महंगाई ने त्योहार के उत्साह पर पानी फेर दिया है. इस के बाद भी मन में कहीं शुभलाभ की दबी इच्छा है जो हर हाल में खुश रहने का संदेश देती है. दीवाली का अपना एक आर्थिक व सामाजिक महत्त्व है लेकिन इस साल सबकुछ ठीकठाक नहीं है.

1 min read
Sarita
November First 2021

उत्सवी खानपान यों रखें सेहत का ध्यान

खानपान के इन तरीकों से न सिर्फ त्योहार अच्छे से मना सकेंगे, आप की सेहत भी अच्छी रहेगी.

1 min read
Grihshobha - Hindi
October Second 2021

त्योहार की शोभा बढ़ाती रंगोली

रोशनी के त्योहार में रंगोली के रंग भी घुलमिल जाएं तो रौनक देखते ही बनती है...

1 min read
Grihshobha - Hindi
November First 2021

फ्रेश लुक के लिए 5 फेस मास्क

इस दीवाली घर के सभी कामों को करते हुए मिनटों में फ्रेश लुक पा सकती हैं. कैसे, यह हम आप को बताते हैं...

1 min read
Grihshobha - Hindi
November First 2021

मुश्किल नहीं धन की देवी को खुश करना

दीपावली में मां लक्ष्मी आपके घर आए इसके लिए सही तरीके से पूजा-पाठ के साथ-साथ वास्तु से जुड़ी कुछ और चीजों को ध्यान में रखना जरूरी होता है। मां लक्ष्मी की आराधना के दौरान किन चीजों को ध्यान में रखें

1 min read
Anokhi
October 30, 2021

कर लीजिए तैयारी लक्ष्मी हैं आने वाली

लक्ष्मी मां आने वाली हैं। उन्हें रिझाने, अपने घर बुलाने और प्रसन्न करने के लिए आपको कुछ विशेष काम करने होते हैं। जिसके लिए आपको माता की पसंद और ना पसंद का ख्याल रखना होता है। वह क्या हैं और आप उनका प्रयोग कैसे कर सकती हैं

1 min read
Anokhi
October 30, 2021

इस बार झटपट होगी सफाई

दौड़तीभागती जिंदगी में आम दिनों की सफाई ही बड़ा काम है। ऐसे में दिवाली की सफाई के कहने ही क्या! पर, थोड़ी समझदारी से इस काम को भी आसानी से किया जा सकता है।

1 min read
Anokhi
October 30, 2021

रजनीकांत ने दी लगातार 9वीं 100 करोड़ी फिल्म...

दक्षिण भारत के सुपर सितारे रजनीकांत ने 70 वर्ष की उम्र के बावजूद वहां पर अपना सुपर पॉवर जारी रखा है।

1 min read
Hari Bhoomi
November 10, 2021

होस्टल वाली दीवाली

जो लोग होस्टल में रहे हैं उन्हें पता है कि वे उन की जिंदगी के कभी न भूलने वाले पल हैं. होस्टल की जिंदगी मजेदार भी होती है और परेशानियों से भरी भी. बावजूद इस के, होस्टल में रह कर त्योहारों के समय जो खुशियां मिलती हैं, जो आजादी और मस्ती मिलती है, वह कहीं और नहीं मिलती.

1 min read
Mukta
October 2021