कोरोना के कहर से कराह रहे गांव
Saras Salil - Hindi|June First 2021
आजकल वैश्विक महामारी कोरोना का कहर गांवदेहात के इलाकों में तेजी से बढ़ रहा है, फिर वह चाहे उत्तर प्रदेश हो, बिहार, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश या फिर कोई दूसरा राज्य ही सही, जबकि राज्य सरकारों का दावा है कि कोरोना महामारी का संक्रमण गांवों में बढ़ने से रोकने के लिए ट्रैकिंग, टैस्टिंग और ट्रीटमैंट के फार्मूले पर कई दिन से सर्वे किया जा रहा है यानी अभी तक सिर्फ सर्वे? इलाज कब शुरू होगा?
मदन कोथुनियां

खबरों के मुताबिक, राजस्थान के जिले जयपुर के देहाती इलाके चाकसू में एक ही घर में 3 मौतें कोरोना के चलते हुई हैं. यही हाल राजस्थान के टोंक जिले का है. महज 2 दिनों में टोंक के अलगअलग गांवों में कई दर्जन लोगों की एक दिन में मौत की कई खबरें थीं. इस के बाद शासनप्रशासन हरकत में आया.

जयपुर व टोंक के अलावा कई जिलों के गांवों में बुखार से मौतें होने की सूचनाएं आ रही हैं. राजस्थान के भीलवाड़ा में भी गांवों में बहुत ज्यादा मौतें हो रही हैं. इसी तरह दूसरे गांवों में भी कोरोना महामारी के बढ़ने की खबरें आ रही हैं. हालांकि सब से ज्यादा मौतें उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र के गांवों में हो रही हैं, उस से कम गुजरात, हरियाणा, राजस्थान और मध्य प्रदेश में मौतें हो रही हैं. कोरोना की पहली लहर में गांव बच गए थे, लेकिन इस बार गांवों से बुखारखांसी जैसी समस्याएं ही नहीं, बल्कि मौतों की लगातार खबरें आ रही हैं. पिछली बार शहर से लोग भाग कर गांव गए थे, लेकिन इस बार गांव के हालात भी बदतर होते जा रहे हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल कोरोना बड़े शहरों तक ही सीमित था, कसबों और गांवों के बीच कहीं कहीं लोगों के बीमार होने की खबरें आती थीं. यहां तक कि पिछले साल लौकडाउन में तकरीबन डेढ़ करोड़ प्रवासियों के शहरों से देश के गांवों में पहुंचने के बीच कोरोना से मौतों की सुर्खियां बनने वाली खबरें नहीं आई थीं, लेकिन इस बार कई राज्यों में गांव के गांव बीमार पड़े हैं, लोगों की जाने जा रही हैं. हालांकि, इन में से ज्यादातर मौतें आंकड़ों में दर्ज नहीं हो रही हैं, क्योंकि टैस्टिंग नहीं है या लोग करा नहीं रहे हैं.

राजस्थान में जयपुर जिले की चाकसू तहसील की 'भावी निर्माण सोसाइटी' के गिर्राज प्रसाद बताते हैं, "पिछले साल मुश्किल से किसी गांव से किसी आदमी की मौत की खबर आती थी, लेकिन इस बार हालात बहुत बुरे हैं. मैं आसपास के 30 किलोमीटर के गांवों में काम करता हूं. गांवों में ज्यादातर घरों में कोई न कोई बीमार है." गिर्राज प्रसाद की बात इसलिए खास हो जाती है, क्योंकि वे और उन की संस्था के साथी पिछले 6 महीने से कोरोना वारियर का रोल निभा रहे हैं.

राजस्थान के जयपुर जिले में कोथून गांव है. इस गांव के एक किसान 44 साला राजाराम, जो खुद घर में आइसोलेट हो कर अपना इलाज करा रहे हैं, के मुताबिक, गांव में 30 फीसदी लोग कोविड पौजिटिव हैं.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM SARAS SALIL - HINDIView All

गांव की औरतें: हालात बदले सोच वही

राज कपूर ने साल 1985 में फिल्म 'राम तेरी गंगा मैली'बनाई थी, जो पहाड़ के गांव पर आधारित थी. इस में हीरोइन मंदाकिनी ने गंगा का किरदार निभाया था, फिल्म का सब से चर्चित सीन वह था, जिस में मंदाकिनी झरने के नीचे नहाती है. वह एक सफेद रंग की सूती धोती पहने होती है. पानी में भीगने के चलते उस के सुडौल अंग दिखने लगते हैं.

1 min read
Saras Salil - Hindi
August Second 2021

टोक्यो ओलिंपिक: खिलाड़ी गाली के नहीं इज्जत के हकदार

ओलिंपिक खेलों में शिरकत करना इज्जत और गौरव की बात है. ऐसे में अगर वंदना कटारिया और दूसरी महिला खिलाड़ी हौकी के सैमीफाइनल मुकाबले में अच्छा खेल नहीं दिखा पाईं, तो क्या किसी एक खिलाड़ी को उस की जाति को ले कर उसे या उस के परिवार वालों को गाली दी जानी चाहिए या फिर खिलाड़ी का जोश बढ़ाना चाहिए?

1 min read
Saras Salil - Hindi
August Second 2021

लोकतंत्र का माफियाकरण

साल 2022 के 15 अगस्त को आजादी की 75वीं सालगिरह मनाई जाएगी. इस के लिए अमृत महोत्सव' की बड़े पैमाने पर तैयारी चल रही है. 26 जनवरी, 2022 को हमारा लोकतंत्र भी 72वें साल में दाखिल हो जाएगा.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July Second 2021

गरीबों के लिए कौन अच्छा मायावती अखिलेश या प्रियंका

कांग्रेस हमेशा से राजनीति में सभी जाति, धर्म और गरीब व कमजोर तबके को साथ ले कर चलती रही है. समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने बीसी, एससी और कमजोर तबके की राजनीति की है.

1 min read
Saras Salil - Hindi
August First 2021

पापी पेट का सवाल है

शहर में बहुमंजिला इमारत का काम जोरों पर था. ठेकेदार आज ही एक ट्रक में ढेर सारे मजदूर ले कर आया था. सभी मजदूर भेड़बकरियों की तरह ढूंस कर लाए गए थे और आते ही ठेकेदार ने मजदूरों को काम पर लगा दिया था.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July First 2021

न्यूड वीडियो कालिंग से 'लुटते लोग

मध्य प्रदेश में ग्वालियर की शिंदे की छावनी में रहने वाले 32 साला जयराज सिंह तोमर (बदला हुआ नाम) अपने ह्वाट्सएप पर मैसेज देख रहे थे कि तभी उन के पास एक अनजान फोन नंबर से वीडियो काल आया.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July First 2021

दहशत की देन कोरोना माता

जहां एक तरफ कोरोना ने पूरी दुनिया में तबाही मचा रखी है, वहीं उत्तर प्रदेश के प्रयागराज मंडल के प्रतापगढ़ जिले में कोरोना से कुछ लोगों की मौत के बाद गांव वाले इतना ज्यादा डर गए कि उन्होंने कोरोना माता का मंदिर ही बना लिया.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July First 2021

लोग हैं कि जीने नहीं देते

साल 1991 में आई फिल्म 'लम्हे' एक ऐसी प्रेम कहानी थी, जिसे भारतीय दर्शकों ने सिरे से नकार दिया था. वजह, हीरो अनिल कपूर श्रीदेवी से प्यार करता है, पर वह किसी दूसरे आदमी से शादी कर लेती है.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July First 2021

कमाल राशिद खान बदनामी से कमाया नाम

दशहरा त्योहार से पहले होने वाली गलीमहल्ले की रामलीला में भी आयोजक ऐसा रावण ढूंढ़ते हैं, जो अट्टहास अच्छा कर सके. जो हनुमान को 'तुच्छ वानर', 'अदना सा मर्कट' और रामलक्ष्मण को 'निरीह प्राणी', 'दरदर भटकते वनवासी' वगैरह कह कर अपनी भारी आवाज में हंसे, ताकि दर्शक डर जाएं.

1 min read
Saras Salil - Hindi
June Second 2021

ओलिंपियन सुशील कुमार गले में मैडल हाथ में मौत

आजकल पहलवान सुशील कुमार फिर सुर्खियों में हैं, पर इस बार उन्होंने देश के लिए कोई मैडल नहीं जीता है, बल्कि मामला एक मर्डर का है, जिस के लिए उन्हें गिरफ्तार किया जा चुका है.

1 min read
Saras Salil - Hindi
June Second 2021
RELATED STORIES

LAWSUIT SAYS FOXCONN COST GOVERNMENTS HUNDREDS OF MILLIONS

Worldwide electronics leader Foxconn Technology Group violated terms of its contract in Wisconsin, while local governments spend hundreds of millions of dollars to prepare for the project, a lawsuit filed by a real estate development company alleges.

2 mins read
Techlife News
Techlife News #484

WALGREENS DIVES INTO PRIMARY CARE WITH CLINIC EXPANSION

Walgreens will squeeze primary care clinics into as many as 700 of its U.S. stores over the next few years in a major expansion of the care it offers customers.

2 mins read
AppleMagazine
AppleMagazine #454

गांव गुलजार

हिंदुस्तान का प्राण गांवों में बसता है. यह उक्ति बीते कुछ वर्षों में अप्रासंगिक हो चली थी, लेकिन समय के चक्र ने फिर इसे प्रासंगिक बना दिया है. बीते मार्च 2019 से न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया के तौर तरिकों को कोविड-19 ने बदलने पर मजबूर कर दिया है. इससे भारत के गांव भी अछूते नहीं रहे. यह बदलाव 360 डिग्री पर देखने को मिल रहे हैं. यह एक आम बात थी कि गांवों में या तो बुजुर्गों की संख्या ज्यादा थी या फिर बच्चों और किशोरों की. युवा शिक्षारोजगार-कैरियर के लिए लगातार गांव से पलायन कर रहा था लिजाहा गांव विरान और शहर गुलजार होने लगे.

1 min read
Gambhir Samachar
August 16, 2021

कटे खेतों में बीनना

20 मार्च जब मैं हॉस्टल से घर गया, तो यह सोचकर गया था कि मैं बोर्ड के बचे हुए दो पेपर देने ज़्यादा से ज़्यादा दस दिनों में वापस आ जाऊँगा। मैं अपनी विज्ञान और हिन्दी की पुस्तकें भी साथ ले गया था ताकि तैयारी कर सकूँ। लेकिन लॉकडाउन बढ़ता रहा। और मैं लगभग 3 महीने (सटीक से पूरे 82 दिन) बाद हॉस्टल लौटा। बोर्ड के लम्बित पेपर रद्द कर दिए गए हैं और परिणाम घोषित होने वाले हैं। मेरा छोटा भाई नितेश (जो छह साल का है) अभी भी घर पर है। मैं इसलिए आया हूँ क्योंकि आईटीआई के आवेदन की घोषणा हो गई है और मुझे फॉर्म भरने हैं।

1 min read
Chakmak
July 2021

यूपी में पहली बार ग्राम प्रधानों और किसानों को मिलने जा रहा अपना पंचायत भवन

योगी सरकार की पहल:

1 min read
Samagya
June 24, 2021

भुतहा जामुन

हमारे गाँव में जामुन का एक पेड़ था। उसके जामुन इतने मीठे थे कि दाँत लगाओ तो मानो मुँह में शर्बत घुल जाए। पर एक अजीब बात थी। उस जामुन में कोई बीज नहीं होता था। लोग कहते थे कि उस पेड़ पर एक भूत रहता था। उसे जामुन के बीज खास पसन्द थे।

1 min read
Chakmak
May 2021

Miley's wild weekend!

AFTER OPENING UP ABOUT HER SOBRIETY JOURNEY, THE SINGLE SINGER IS LETTING LOOSE

3 mins read
WHO
March 29, 2021

Sussex secrets

A manor and a villa on the site of a lost mill are two examples of the fine country houses in this home county

4 mins read
Country Life UK
March 10, 2021

गांव के विकास के लिए मतभेदों को भूलकर सामूहिक एकता दिखाना आवश्यक है: पालक मंत्री एकनाथ शिंदे

ग्राम पंचायत गाँव के समग्र विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। यदि प्रत्येक ग्राम पंचायत आत्मनिर्भर हो जाए, तो राज्य के समग्र विकास को बढ़ावा मिलता है।

1 min read
Rokthok Lekhani
February 19, 2021

PIT LOOMS TO PRÊT

How Uttar Pradesh is leading the revival of khadi fabric in the country

6 mins read
THE WEEK
January 31, 2021