माफिया से माननीय बनाने का खूनी सफर
Manohar Kahaniyan|January 2021
पूर्वांचल को रक्तांचल में डुबोने वाला डौन बृजेश सिंह
सुनील वर्मा

बृजेश सिंह एक होनहार छात्र था, लेकिन सन 1984 में हुई उस के पिता की हत्या के बाद उस के जीवन की दिशा ही बदल गई. पिता के हत्यारों को उस ने न सिर्फ मौत के घाट उतारा बल्कि जरायम के सहारे वह पूर्वांचल का डौन बन गया. इतना ही नहीं उस ने...

पूर्वांचल की जमीन को बाहुबलियों की जमीन के नाम से जाना जाता है. ऐसा लगता है कि इस जमीन पर माफिया सरगनाओं की फसल उगती है. सब से बड़ी बात यह है कि अपराध से शुरू हुआ इन माफिया सरगनाओं का सफर एक दिन पुलिस की गोली खा कर खत्म होता है. लेकिन ऐसे सरगनाओं की भी एक बड़ी फेहरिस्त है, जो अपने इसी बाहुबल के सहारे सियासत की ऊंचाइयों तक पहुंच गए.

पूर्वांचल की धरती पर कई माफियाओं का जन्म हुआ है. कुछ माफिया तो ऐसे हैं, जिन की कहानी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है. राजनीति के गलियारों में इन की धमक अकसर सुनाई देती रहती है. इन माफियाओं ने प्रदेश में ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों में भी आतंक का खूनी खेल खेला.

अपराध की संगीन वारदातों को अंजाम दे कर पूर्वांचल की धरती दहलाने वाले इन्हीं माफिया में एक नाम है बृजेश सिंह का, जिन्होंने जुर्म की दुनिया को दहलाने के बाद अब सियासत में अपनी जमीन तैयार कर ली है. लेकिन राजनीति का लबादा ओढ़ने के बाद भी बृजेश सिंह के ऊपर जेल में रह कर रंगदारी वसूलने, ठेके पर हत्या कराने और टेंडर सिंडीकेट चलाने के आरोप लगते रहे हैं.

बृजेश सिंह की कहानी किसी फिल्म की स्टोरी से कम नहीं है. वह एक ऐसा माफिया सरगना रहा, जिस का आतंक उत्तर प्रदेश में ही नहीं बल्कि दूसरे राज्यों में भी देखा जाता था.

बृजेश सिंह उर्फ अरुण कुमार सिंह का जन्म वाराणसी के धरहरा गांव में एक संपन्न परिवार में हुआ था. उस के पिता रविंद्र सिंह इलाके के रसूखदार लोगों में गिने जाते थे. सियासी तौर पर भी उन का रुतबा कम नहीं था और इलाकाई राजनीति में सक्रिय रहते थे. बृजेश सिंह बचपन से ही पढ़ाईलिखाई में काफी होनहार था.

सन 1984 में इंटरमीडिएट की परीक्षा में उस ने बहुत अच्छे अंक हासिल किए थे. उस के बाद बृजेश ने बनारस के यूपी कालेज से बीएससी की पढ़ाई की. वहां भी उस का नाम होनहार छात्रों की श्रेणी में आता था.

बृजेश सिंह के पिता रविंद्र सिंह को अपने होनहार बेटे से काफी लगाव था और इसीलिए वह चाहते थे कि बृजेश पढ़लिख कर अच्छा इंसान बने. समाज में उस का नाम हो.

लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था. 27 अगस्त, 1984 को वाराणसी के धौरहरा गांव में बृजेश के पिता रविंद्र सिंह की इलाके की राजनीति की रंजिश में हत्या कर दी गई. इस काम को उन के सियासी विरोधी हरिहर सिंह और पांचू सिंह ने साथियों के साथ मिल कर अंजाम दिया था.

राजनीतिक वर्चस्व की लड़ाई में पिता की मौत ने बृजेश सिंह के मन में बदले की भावना को जन्म दे दिया. इसी भावना के चलते बृजेश ने जानेअनजाने में अपराध की दुनिया में अपना कदम बढ़ा दिया.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM MANOHAR KAHANIYANView All

सुरंग के रास्ते 540 किलो चांदी की चोरी

जिस तरह सुरंग खोद कर डा. सुनीत सोनी के तहखाने से 540 किलोग्राम चांदी की 18 सिल्लियां चुराई गईं, वह हैरतंगेज था. लेकिन इस से भी हैरतंगेज बात यह थी कि यह काम डा.सुनीत के उसी दोस्त शेखर ने कराया था, जिस ने इतनी चांदी खरीदवाई और बक्सों में भर कर डाक्टर के क्लीनिक के फर्श में दबवाई. कैसे हुआ यह सब...

1 min read
Manohar Kahaniyan
April 2021

एक ऐसा भी 'मासूम'

बंगलादेश में फांसी की सजा पाया मासूम भारत आ गया था. वह अपने दोस्त सरवर और उस के परिवार के साथ रहने लगा. इसी दौरान अचानक सरवर गायब हो गया तो मासूम उस की पत्नी का शौहर बन कर फरजी दस्तावेजों में सरवर बन कर रहने लगा. लेकिन दिल्ली पुलिस...

1 min read
Manohar Kahaniyan
April 2021

रवि-पुजारी एक बड़बोला डौन

करीब 20 सालों से फरार रंगदारी, हत्या समेत लगभग 200 मामलों में वांटेड फिल्मी हस्तियों, बिल्डरों, नेताओं और बिजनेसमैनों को धमकी दे कर पैसे की उगाही करने वाला कुख्यात गैंगस्टर रवि पुजारी आखिर पकड़ा ही गया. कर्नाटक पुलिस उसे पश्चिमी अफ्रीकी देश सेनेगल से भारत ले तो आई, पर क्या उस का अंजाम भी छोटा राजन जैसा ही...

1 min read
Manohar Kahaniyan
March 2021

रंगीन सपनों का संगीन जहर

गौरव हलधर डाक्टरी की पढ़ाई करतेकरते प्रीति मेहरा के जाल में ऐसा फंसा कि जान के लाले पड़ गए. डा. प्रीति को गौरव को रंगीन सपने दिखाने की जिम्मेदारी उस के ही साथी डा. अभिषेक ने सौंपी थी. भला हो नोएडा एसटीएफ का जिस ने समय रहते...

1 min read
Manohar Kahaniyan
March 2021

हम सभी कुछ न कुछ जुर्म जीवन में करते हैं -रोनित रॉय (अभिनेता)

धारावाहिक 'कसौटी जिंदगी की' में एक बिजनेस टाईकून ऋषभ बजाज की भूमिका निभाकर घर-घर चर्चित हुए अभिनेता रोनित रॉय से कोई अपरिचित नहीं. उन्हें टीवी का अमिताभ बच्चन कहा जाता है. वे टीवी पर सबसे अधिक फीस लेने वाले कलाकार के रूप में भी जाने जाते हैं. उन्होंने टीवी धारावाहिकों के अलावा कई फिल्मों, वेब सीरीज और टीवी शो में काम किया है.

1 min read
Manohar Kahaniyan
March 2021

सुपरकौप सौम्या सांबशिवन हिमाचल की शोरनी

शायराना मिजाज की सौम्या सांबशिवन किसी भी दबाव में काम नहीं करतीं. उन के लिए कानून व्यवस्था और देशहित पहले है, बाकी बाद में. लेकिन ऐसे ईमानदार अफसरों को सरकार और उच्च अधिकारी चैन से कहां रहने देते हैं. देखना है हिमाचल की इस शेरनी का अंजाम....

1 min read
Manohar Kahaniyan
February 2021

आईपीएस शिवदीप लांडे रियल हीरो

शिवदीप लांडे ईमानदार ही नहीं, रौबिनहुड की छवि वाले पुलिस अधिकारी हैं. उन्होंने अपनी ड्यूटी को दिलोजान से निभाया और कई बार जान भी दांव पर लगाई. ट्रांसफर कहीं भी हुआ, लांडे ने अपनी कार्यशैली नहीं बदली. दूसरे अधिकारियों से अलग हट कर काम करने से ही उन्हें...

1 min read
Manohar Kahaniyan
February 2021

जिंदगी का सफर

ख्वाब टूटे हैं मगर हौसले अभी जिंदा हैं, मैं वह नारी हूं जिस से मुश्किलें भी शर्मिंदा हैं

1 min read
Manohar Kahaniyan
February 2021

महाराष्ट्र की पहली लेडी सुपरकोप मर्दानी आईपीएस

मीरा बोरवंकर ने अपने कार्यकाल में बहादुरी भरे कारनामे किए, उन के लिए वह पुलिस में सुपरकोप के नाम से जानी जाती थीं. निस्संदेह मीरा जैसे पुलिस अफसर वरदी की गरिमा रखने के लिए...

1 min read
Manohar Kahaniyan
February 2021

सोनिया नारंग राजनीतिज्ञों को भी सिखाया सबक

सोनिया नारंग वह दबंग महिला आईपीएस हैं जो न मुख्यमंत्री के सामने झुकी, न लोकायुक्त के सामने. उन्होंने वही किया जो एक ईमानदार पुलिस अधिकारी को करना चाहिए. यही वजह है कि कर्नाटक के लोग सीबीआई से ज्यादा सोनिया की जांच पर...

1 min read
Manohar Kahaniyan
February 2021
RELATED STORIES

How Jazz Saved Hip-Hop Again

The story of two South Los Angeles music scenes and Kendrick Lamar's genre-bending album To Pimp a Butterfly.

9 mins read
Playboy Magazine US
May 2016

पूरी दुनिया में पहुंचेगी पूर्वांचल की मिठास : योगी

मुंडेरवा व पिपराइच चीनी मिलों में सल्फर रहित प्लांट का सीएम ने किया लोकार्पण

1 min read
Sugar Times
December 2020

भुट्टन ने बताया था,रोहिणी में छिपा है कुलदीप

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने शनिवार रात भूपेंद्र मान उर्फ भुट्टन को दबोचने के चार घंटे बाद ही फज्जा को मार गिराया

1 min read
Hindustan Times Hindi
March 29, 2021

योगी के शहर में विकास की गंगा

पूर्वांचल के प्रमुख शहर गोरखपुर में जिस स्तर पर विकास के काम हो रहे हैं, उनसे बड़े हिस्से के लोगों को सीधा लाभ पहुंचेगा. परोक्ष लाभ तो पूरे प्रदेश को होगा

1 min read
India Today Hindi
February 24, 2021

मार्च तक पूरा होगा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण, अप्रैल में मोदी करेंगे उद्घाटन : योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि छह लेन के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण मार्च तक पूरा हो जाएगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अप्रैल में इसका उद्घाटन करेंगे।

1 min read
Samagya
February 09, 2021

शासन की टेढ़ी नजर पर कुख्यात डौन मुख्तार अंसारी

मुख्तार अंसारी का जन्म एक प्रतिष्ठित परिवार में हुआ था, लेकिन छात्र जीवन में बृजेश सिंह से हुई दुश्मनी की वजह से वह अपराध के गर्त में उतरता चला गया. परिवार का राजनीतिक संरक्षण मिलने पर वह एक ऐसा माफिया डौन बना कि...

1 min read
Satyakatha
January 2021

नितिन गडकरी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से बक्सर को जोडने का किया एलान

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बिहार सरकार की बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा करते हुए आज उत्तर प्रदेश के लखनऊ से गाजीपुर तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे से बक्सर को भी जोड़ने का एलान कर दिया।

1 min read
Dakshin Bharat Rashtramat Chennai
December 11, 2020

एसआईटी ने की विकास दुबे की संपत्ति की प्रवर्तन निदेशालय से जांच की सिफारिश

कानपुर के बिकरू गांव में जुलाई में आठ पुलिसकर्मियों की सामूहिक हत्या की जांच करने वाले विशेष जांच दल (एसआईटी) ने इस घटना के मास्टरमाइंड रहे विकास दुबे द्वारा जुटाई गई 150 करोड़ रुपये की संपत्ति की प्रवर्तन निदेशालय से जांच की सिफारिश की है।

1 min read
Samagya
December 02, 2020

Large And In Charge

Nkunzi tries to get his estranged wives MaMlambo and MaNgcobo under one roof after murdering his rivals.

3 mins read
TVPlus - English
27 August 2020

विकास दुबे ऐनकाउंटर कई राज हुए दफन

आखिरकाउंटर में उत्तर प्रदेश खिरकार एक तथाकथित ऐनकाउंटर में उत्तर प्रदेश एसटीएफ द्वारा गैंगस्टर विकास दुबे के साथ ही एक गहरे सच की भी हत्या कर दी गई. अपराध, राजनीति, कारोबार और पुलिस के नैक्सस के भंडाफोड़ का जो खतरा विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद से लगातार कई सफेदपोशों और खाकीधारियों के सिर पर मंडरा रहा था, वह विकास दुबे की हत्या के साथ ही खत्म हो गया है.

1 min read
Saras Salil - Hindi
July Second 2020