15 दिन साथ रहा मौत का साया
Manohar Kahaniyan|April 2020
एडवोकेट अकरम अंसारी का अपहरण फिल्मी अंदाज में किया था. बदमाश 50 लाख रुपए की फिरौती मांग रहे थे. पुलिस ने उन्हें फिरौती भी दे दी लेकिन बाद में अपहर्ता पुलिस के चंगुल में ऐसे फंसे कि.
दिनेश बैजल 'राज'

फिरोजाबाद जिले के थाना दक्षिण के अंतर्गत एक मोहल्ला है राजपूताना. यहीं के निवासी 35 वर्षीय मोहम्मद अकरम अंसारी पेशे से वकील हैं. वह 3 फरवरी, 2020 को आगरा के बोदला निवासी अपने रिश्तेदार की बीमार बेटी को देखने के लिए आगरा के श्रीराम अस्पताल गए थे.

बीमार बेटी को देखने के बाद वकील अकरम अंसारी घर जाने के लिए शाम के समय अस्पताल से निकले. चूंकि उन्हें बस अड्डे से बस पकड़नी थी, इसलिए बस अड्डा तक जाने के लिए उन के साढ़ फैज अंसारी ने उन्हें कारगिल चौराहे से एक आटो में बैठा दिया था, लेकिन वह घर नहीं पहुंचे.

परिजन सारी रात बेचैनी से अकरम अंसारी का इंतजार करते रहे. बारबार वह अकरम को फोन मिला रहे थे, लेकिन उन का फोन स्विच्ड औफ आ रहा था. इस से घरवालों की चिंता बढ़ रही थी. अगली सुबह अकरम के भाई असलम उन्हें तलाशने के लिए आगरा पहुंचे.

वहां पता चला कि साढ़ फैज अंसारी ने उन्हें बस अड्डा जाने वाले एक आटो में बैठा दिया था. वहां से वह कहां गए, किसी को पता नहीं. इस के बाद असलम ने भाई को रिश्तेदारी व अन्य परिचितों के यहां तलाशा. लेकिन अकरम कहीं नहीं मिले. तब असलम ने आगरा के थाना सिकंदरा में भाई की गुमशुदगी दर्ज करा दी.

दूसरे दिन बुधवार को दोपहर डेढ़ बजे वकील अकरम के छोटे भाई असलम के पास एक फोन आया. फोन करने वाले ने कहा, अकरम हमारे कब्जे में है. अगर उस की सलामती चाहते हो तो 50 लाख रुपए का इंतजाम कर लो. फिरौती की रकम कहां पहुंचानी है, इस बारे में फिर से फोन कर के बताएंगे और अगर, पुलिस को बताया तो ठीक नहीं होगा.

इस पर असलम ने कहा, इतनी बड़ी रकम उन के पास नहीं है.

इस पर अपहर्ताओं ने कहा, हमें पता है कि तुम्हारे 4 मकान हैं. इसलिए रुपयों का इंतजाम कर लो. इस के बाद फोन कट गया.

फिरौती मांगने से असलम का परिवार दहशत में आ गया. असलम ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी पुलिस को दी. इस पर सिकंदरा के थानाप्रभारी ने तुरंत अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया. इस के बाद उन्होंने एक पुलिस टीम को अकरम की बरामदगी के लिए लगा दिया.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM MANOHAR KAHANIYANView All

ममिता हत्याकांड से कठघरे में बीजद सरकार

ओडिशा में महिला शिक्षिका ममिता मेहेर की सनसनीखेज हत्या में प्रदेश के गृह राज्यमंत्री दिव्यशंकर मिश्रा का नाम उछलने से नवीन पटनायक सरकार सकते में है. आखिर देश में कब तक और कितनी निर्भयाएं इस तरह हवस और हत्या का शिकार बनती रहेंगी?

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

मेटावर्स आभासी दुनिया की आजादी

मेटावर्स आधुनिक तकनीकी की एक काल्पनिक दुनिया होगी, जहां घर बैठे आप दुनिया के किसी भी माल में घूम कर शौपिंग का अहसास कर सकते हैं. मेटावर्स से हमारी जिंदगी में काफी कुछ बदल जाएगा, लेकिन अब सवाल यही उठ रहा है कि इस में कोई अपराध होगा तो उस से कैसे निपटा जाएगा?

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

बहन के प्यार का साइड इफेक्ट

गगन उर्फ गौतम नहीं चाहता था कि उस की सौतेली बहन नंदिनी मोहल्ले के दूसरी बिरादरी के युवक से प्यार करे. लेकिन नंदिनी भी जिद्दी थी. अपनी जिद पूरी करने के लिए उस ने भाई गगन की पूर्व प्रेमिका ममता के साथ मिल कर भाई के खिलाफ ऐसी खूनी साजिश रची कि...

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

बीवी और मंगेतर को मारने वाला नाइट्रोजन गैस किलर

बठिंडा की रहने वाली सोनू के जीवन में खुशियों की सौगात आने वाली थी, क्योंकि एक लंबे इंतजार के बाद उस की शादी उस के प्रेमी और मंगेतर नवनिंदर से होने वाली थी. पटियाला में मंगेतर नवनिंदर के साथ दिल खोल शौपिंग के बाद वह एक दिन अचानक से गायब हो गई. बाद में इस का राज खुला तो...

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

करोड़ों की चोरियां कर बना सैबिनहुड

इरफान उर्फ उजाला ऐसा चोर है जो ड्राइवर के साथ जगुआर ले कर चोरी करने जाता है. करोड़ों की चोरी करने वाला यह चोर क्षेत्र के लोगों की दिल खोल कर आर्थिक मदद करता है, तभी तो वह क्षेत्र का रौबिनहुड है. हाल ही में उस ने गाजियाबाद के व्यापारी के घर से करोड़ों रुपए की ज्वैलरी पर हाथ साफ किया तो पता चला कि...

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

शिवसेना नेत्री का सैक्स रैकेट

शिवसेना नेत्री अनुपमा तिवारी की इलाके में एक समाजसेवी, साहित्यकार और पत्रकार के रूप में पहचान थी. लेकिन जब पुलिस ने उसे जिस्मफरोशी का धंधा करने के आरोप में गिरफ्तार किया तो उस भगवाधारी की ऐसी कलई खुली कि...

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

दुबई में रची हत्या की साजिश

रामाकृष्णनन का दुबई में अच्छा कारोबार था. पत्नी विशाला गनिगा और बेटी के साथ घरगृहस्थी हंसीखुशी से चल रही थी. इसी दौरान ऐसा क्या हुआ कि विशाला के भारत आने पर रामाकृष्णनन को दुबई में बैठ कर ही पत्नी की मौत की साजिश रचनी पड़ी?

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

अजबगजब बौनों का गांव उम्र बढ़ती है लंबाई नहीं

जानकारी

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

इंसाफ 27 साल बाद

देश में आम आदमी को अदालत से इंसाफ मिलने में कितना समय लगता है. इस का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक महिला वकील को केवल मारपीट का इंसाफ पाने में 27 साल लग गए. ये इंसाफ ये उन्हें तब मिला जब वह वकील से जज बनने के बाद रिटायर भी हो गईं.

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021

2 महिलाओं की बलि दे कर संतान पाने का औनलाइन अनुष्ठान

आईवीएफ तकनीक और गोद लेने जैसी सुविधाओं के होते हुए भी तांत्रिकों का मायाजाल कम नहीं हुआ है. निस्संतान दंपति द्वारा गोद भरने के लिए अपनाया जाने वाला तांत्रिक अनुष्ठान अंधविश्वास जनित अपराध को ही बढ़ावा देता है. सचेत करने वाली इस अपराध कहानी में संतान की खातिर ग्वालियर में 2 महिलाओं को बलि चढ़ाने की घटना इस का ताजा उदाहरण है.

1 min read
Manohar Kahaniyan
December 2021