धोखेबाज़ तितलियाँ
Shaikshanik Sandarbh|November - December 2020
छोटे कीटों की दुनिया अद्भुत होती है। न जाने कितने सारे लोगों ने कीटों के अध्ययन में अपना जीवन लगा दिया, फिर भी दुनिया के सबसे बड़े जीवसमूह में शुमार कीट वर्ग (class) के बारे में बहुत ही कम जानकारी हमारे पास होगी।
संकेत राउत

कीट समूह में विविधता भी इतनी है कि दुनिया के सारे कीटों का अध्ययन करना भी लगभग नामुमकिन है। लेकिन इनमें से कुछ चुनिन्दा कीट वर्गों का काफी अध्ययन हो चुका है, जैसे कि तितली समूह।

तितली हमारी जीव-सृष्टि का नायाब और महत्वपूर्ण घटक है। डायनोसॉर के समय से तितलियाँ इस धरातल पर मण्डराती रही हैं। परागण की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाने वाली तितली का मानव जीवन के लिए महत्व हम नज़रन्दाज़ नहीं कर सकते। इस नाजुक और रंगीन जीव का जीवन भी बेहद दिलचस्प और रंगीन होता है।

हमें यह पता है कि जीव-सृष्टि के विकास में ज़िन्दा रहने की चुनौतियों का योगदान काफी अहम रहा है। इस धरातल पर ज़िन्दा रहने के लिए जो तरकीबें अपनाई जाती हैं वो कई बार हमें आश्चर्यचकित कर देती हैं। भीमकाय हाथी से लेकर नन्ही चींटी तक अलग-अलग जीव कई सारे दाव खेलकर अपना अस्तित्व बनाए रखते हैं।

तितली के पास भी छद्मावरण (camouflage) और अखाद्य रस जैसे रासायनिक हथियार मौजूद होते हैं। मगर आज हम जिस हथियार की बात करेंगे, उससे काफी कम ही लोग वाकिफ होंगे। यह हथियार है नकल यानी मिमिक्री का। मिमिक्री अनुकूलन का एक विशेष तरीका माना जाता है। जीव जगत में नकल कई सारे रूपों में उभरकर आती है। नकल के तरीके मुख्यतः रक्षात्मक और आक्रमक माने जाते हैं और इनमें काफी विविधता भी पाई जाती है। और तो और सिर्फ पक्षी एवं तितलियाँ ही नहीं बल्कि पेड़-पौधे भी नकल कर लेते हैं। इस लेख में हम मुख्यतः तितली की बेट्सिअन और मुलेरियन मिमिक्री से रूबरू होंगे जिसमें तितली की कुछ प्रजातियाँ अन्य प्रजातियों की तितलियों के रंग धारण करके उनकी लगभग हुबहू नकल करती हैं। लेकिन तितली में इनके अलावा ब्रोवेरिअन और ऑटोमिमिक्री जैसे नकल के अन्य प्रारूप भी देखे गए हैं।

लेकिन ऐसे नकल करने की ज़रूरत भला तितली को क्यों होगी? तो इस सवाल का जवाब देने से पहले मैं एक और रोचक बात आपको बताना चाहूँगा।

कुछ तितलियाँ जहरीली होती हैं

क्या? सच में? हाँ, तितली की कुछ प्रजातियाँ जहरीली, मतलब भक्षक के लिए अखाद्य मानी जाती हैं। ऐसी तितलियों का स्वाद बेहद घिनौना होता है। मिसाल के तौर पर अपने आस-पड़ोस में नज़र डालेंगे तो कॉमन रोज़ (Pachliopta aristolochiae), स्ट्राइप्ड टाइगर (Danaus genutia), प्लेन टाइगर (Danaus chrysippus), ब्लू टाइगर (Tirumala limniace) और कॉमन क्रो (Euploea core) जैसी कुछ तितलियों की प्रजातियाँ आप आसानीसे देख सकते हैं। बाग में या घास के मैदानों में और शहर में भी आप इन्हें देख सकते हैं। ज़हरीली तितली की बात सुनकर आपके दिमाग में शायद खलबली मची होगी, तो दिल की बढ़ी हुई धड़कन को शान्त करके पहले जहरीली तितलियों के बारे में थोड़ी जानकारी और लेते हैं। चलो, पता लगाते हैं कि ये तितलियाँ जहरीली कैसे बन जाती हैं।

कहाँ से आता है तितली में ज़हर?

तितली की हर प्रजाति खास किस्म के पौधे पर अण्डे देती है जिसे तितली की उस प्रजाति का मेज़बान पौधा (होस्ट प्लांट) माना जाता है। अण्डों से बाहर आए तितली के कीटडिम्भ (लार्वा) मेज़बान पौधे की पत्तियाँ खाकर तेज़ी से बढ़ते हैं। अब यह तो आप जानते ही होंगे कि वनस्पतियों में भिन्न-भिन्न प्रकार के रसायन पाए जाते हैं। भोजन के साथ लार्वा के शरीर में ये रसायन प्रवेश पा जाते हैं और इन रसायनों के कुछ अंश वयस्क तितली के शरीर में भी बने रहते हैं। यदि किसी मेज़बान पौधे में अल्कलोइड जैसे रसायन मौजूद हों तो उस पौधे पर पले लार्वा से बनी तितली जहरीली या अखाद्य बन जाती है। ऐसी तितली का घिनौना स्वाद शिकारी को झकझोर देता है और भक्षक तुरन्त उसे झटककर फेंक देता है।

क्या इनसे डरना चाहिए?

बिलकुल भी नहीं। क्योंकि तितली के अन्दर समाए ये रसायन, तितली को खाने के बाद उसके भक्षक पर असर करते हैं। ऐसी तितली को छूने से या उसे हाथ में पकड़ने से हमें कोई खतरा नहीं होगा, लेकिन हमारे स्पर्श से तितली के नाजुक पंखों तथा शरीर को हानि पहुँच सकती है। इसलिए तितली को कभी छूने की कोशिश नहीं करनी चाहिए और तितली के ज़हरीले होने का सम्बन्ध उसके अखाद्य स्वाद से है, यह ध्यान रखना चाहिए।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM SHAIKSHANIK SANDARBHView All

CUBE – पाठशाला के छात्रों से जुड़े प्रोजेक्ट आधारित विज्ञान प्रयोग

होमी भाभ विज्ञान शिक्षा केन्द्र में CUBE (Collaboratively Understanding Biology Education), सहयोग से विज्ञान के प्रयोग करने की एक संस्कृति है।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
March - April 2021

हमारे बीच जाले बुनती और शिकार करती मकड़ियाँ

वे बहुत नन्हीं तो होती हैं लेकिन मकड़ियों का जीवन भी हमारी तरह अत्यन्त नाटकीय होता है। मकड़ियों को यह तय करना होता है कि वे अपने जाले कहाँ बनाएँ और भोजन कहाँ खोजें। कैसे अपने शत्रुओं से बचें, सम्भावित जोड़ीदार को कैसे ढूँदें और कैसे अपने शिशुओं का ख्याल रखें। है न दिलचस्प? आइए, हमारे साथ मकड़ियों के दिलचस्प संसार को खोजिए।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
March - April 2021

अम्ल, क्षार और pH आयनीकरण से लेकर बफर घोल तक

विज्ञान में पढ़ाई जाने वाली कई 'अवधारणाओं के समान उत्तरोत्तर विकास का विचार अम्ल और क्षार की अवधारणा पर भी लागू होता है। इसका मतलब है कि हम एक ही अवधारणा से बार-बार विभिन्न स्तरों पर मुलाकात करते हैं और अपनी समझ को तराशते जाते हैं। स्कूलों में इस विषय को बहुत ही चलताऊ ढंग से पढ़ाया जाता है, उससे सम्बन्धित अवधारणाओं को गहराई से टटोलने की कोशिश करता है यह आलेख। उम्मीद है कि इससे यह समझने में मदद मिलेगी कि कैसे आयनीकरण pH का निर्धारण करता है और किसी भी जलीय घोल की pH से तय होता है कि वह अम्ल की तरह बर्ताव करेगा या क्षार की तरह।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
March - April 2021

होमो लूडेन्स- खिलन्दड़ मानव

यो ज़े दे ब्लोक के साथ हुई अपनी बातचीत के कई दिनों बाद तक मेरा दिमाग इसी सवाल पर बार-बार वापस लौटता रहा: अगर सारा समाज भरोसे पर आधारित होता, तो कैसा होता?

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
March - April 2021

मेरा रोज़नामचा: शिक्षा के बारे में सीखना

"तो क्या,” उन्होंने कहा, “तुम छोड़ना क्यों चाहते हो?" “बच्चे तो हर जगह बच्चे होते हैं,” उन्होंने समझाया। मैं सहमत था। "लेकिन क्या हम इस गैर-बराबर और अन्यायी शिक्षा व्यवस्था से आँखें चुरा सकते हैं?” मैंने पूछा।- वैली स्कूल में एक बातचीत

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
January - February 2021

घोंघे की खोल में घुमाव कैसे आता है?

सममिति यानी सिमेट्री कई पौधों, जन्तुओं और यहाँ तक कि पानी जैसे कुछ अणुओं का भी गुण होता है। लेकिन घोंघे और उसके कुण्डलित खोल में यह बात नहीं है।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
January - February 2021

कोरोना काल में बच्चों की मनोस्थिति पर एक नज़र

परिचय घरों से बाहर न निकल पाना, लोगों से नहीं मिलना, आसपास का सूनापन और टीवी पर दिन-भर कोविड से जुड़ी खबरें देखना जब हम सब बड़ों पर इतना असर कर रहा था, तो यह सब बच्चों पर किस प्रकार का प्रभाव डाल रहा होगा! अध्ययन बताते हैं कि तनाव बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य और सीखने की प्रक्रिया पर गहरा प्रभाव डाल सकता है। तनावपूर्ण परिस्थितियों में जीने से बच्चों में बेचैनी, डर, मूड ऊपर-नीचे होना और अन्य मानसिक बीमारियों से ग्रसित होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
January - February 2021

एक फूटा थर्मामीटर और सविनय अवज्ञा

चम्पारन में सविनय अवज्ञा आन्दोलन के बीज जर्मनी में बी.ए.एस.एफ.की प्रयोगशाला में बोए गए थे क्योंकि इतना सस्ता उत्पादन होने के बाद भारत के किसानों को नील का उत्पादन बन्द कर देना पड़ा था।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
January - February 2021

शून्य पर समझ

अगर मैं आपसे पूछू कि ओ, डक और लव में क्या समानता है, तो आप या तो थोड़ा चुप रहेंगे या कहेंगे कि कुछ भी समानता नहीं या कहेंगे कुछ समानता हो सकती है, पर अभी मुझे सूझ नहीं रहा है।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
January - February 2021

धोखेबाज़ तितलियाँ

छोटे कीटों की दुनिया अद्भुत होती है। न जाने कितने सारे लोगों ने कीटों के अध्ययन में अपना जीवन लगा दिया, फिर भी दुनिया के सबसे बड़े जीवसमूह में शुमार कीट वर्ग (class) के बारे में बहुत ही कम जानकारी हमारे पास होगी।

1 min read
Shaikshanik Sandarbh
November - December 2020
RELATED STORIES

Behind The Cover

Butterflies may seem delicate, but they are surprisingly tough.

1 min read
Popular Science
Winter 2020

Friend & Fellow: Ant Man

Meet biology great Edward O. Wilson

8 mins read
Muse Science Magazine for Kids
July/August 2020

Is The Stethoscope Dying? High-Tech Rivals Pose A Threat

Two centuries after its invention, the stethoscope — the very symbol of the medical profession — is facing an uncertain prognosis.

3 mins read
Techlife News
October 26, 2019

Destellos en la oscuridad

Una fotógrafa desvía su mirada de la inestabilidad y la violencia en México para enfocarse en la belleza efímera de una de las maravillas naturales del país.

3 mins read
National Geographic en Español
Julio 2019

En busca de la chinche besucona

¿Por qué se sabe tan poco acerca de una infección parasitaria que afecta aproximadamente a 300 000 personas en Estados Unidos? Porque es una enfermedad que azota a los pobres.

8 mins read
National Geographic en Español
Junio 2019

El menú del futuro – Insectos, hierbas y hamburguesas vegetarianas

Si te imaginas bichos en tu dieta futura, cambia esa imagen de una tarántula en una brocheta por la de un batido.

7 mins read
National Geographic en Español
Noviembre 2018

An Invasive Asian Pest Threatens To Spread Destruction Across The U.S.

A bizarre invasive pest from Asia is spreading fast and putting billions of dollars worth of resources at risk

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
October 08, 2018

How Do You Stop the Biggest Gas Leak Ever?

Plugging the biggest gas leak on record.

10+ mins read
Bloomberg Businessweek
February 15 - February 21, 2016

उचित स्प्रे टैक्नॉलोजी की आवश्यकता

किसान फसलों के उत्पादन में वृद्धि करने के लिए अधिक से अधिक स्प्रे कर रहे हैं। परन्तु कीट व रोगों पर फिर भी पूरी तरह से नियंत्रण नहीं हो रहा बल्कि स्प्रों की संख्या बढ़ने से उनकी लागतों में वृद्धि अवश्य हो रही है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th September 2021

जीवित मलेरिया परजीवी से निर्मित टीके की सफलता

हर वर्ष मलेरिया से लगभग चार लाख लोगों की मौत होती है। दवाइयों तथा कीटनाशक युक्त मच्छरदानी वगैरह से मलेरिया पर नियंत्रण में मदद मिली है लेकिन टीका मलेरिया नियंत्रण में मील का पत्थर साबित हो सकता है। मलेरिया के एक प्रायोगिक टीके के शुरुआती चरण में आशाजनक परिणाम मिले हैं।

1 min read
Srote
September 2021