पर्यावरण के प्रति जागरूकता
Champak - Hindi|December FIrst 2021
कहानी
दीप्ति सिंह

आनंदवन में सभी जानवर आपस में मिलजुल कर रहते थे. एल्मो हाथी भी वहां रहता था. वह अन्य जानवरों से एकदम अलग था. उसे साफसुथरे और स्वच्छ पर्यावरण में रहने की आदत थी, जबकि अन्य जानवरों को गंदगी फैलाने और गंदे पर्यावरण में रहना पसंद था.

एल्मो कभी भी अपने घर के आसपास कूड़ाकरकट इकट्ठा नहीं होने देता था. यही कारण था कि वह हमेशा स्वस्थ रहता था कभी भी बीमार नहीं होता था.

बचपन से ही उस के मातापिता ने उसे साफसफाई की शिक्षा दी थी साथ ही उसे अपने आसपास की जगह को साफ रखना सिखाया था. उसे बताया गया था कि अगर साफसफाई नहीं रखी जाएगी तो बीमारी फैलेगी और डाक्टर के पास जाना पड़ेगा.

एल्मो को इंजैक्शन से बहुत डर लगता था, इसलिए वह हमेशा अपने आसपास की सफाई पर विशेष ध्यान देता था .

एल्मो की साफसुथरा रहने की आदत को देख कर

अन्य जानवर उस का मजाक उड़ाते थे. वह दूसरे जानवरों की बातें सुन कर निराश नहीं होता था, बल्कि उन्हें भी साफसुथरा रहने की सलाह देता था.

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM CHAMPAK - HINDIView All

बड़ी जीत

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

रहस्यमय गंध

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

समुद्र का रंग

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

हमारे और उन के लिए सोडियम की जरूरत

तितलियों के पैर में स्वाद ज्ञानेंद्री यानी टेस्ट सेंसर होते हैं. इसलिए वे फूलों के परागरस को पीने से पहले ही अपने पैरों से इस के स्वाद को के जान लेती हैं.

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

उपहार

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

शहद का चोर

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

चंपकवन के नए मेहमान

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

अनोखी धरोहर

बच्चों के लिए एक छोटी सी कहानी

1 min read
Champak - Hindi
April Second 2022

हैटी की होली

कहानी • हैटी की होली

1 min read
Champak - Hindi
March Second 2022

रंग के छींटे

कहानी • रंग के छींटे

1 min read
Champak - Hindi
March Second 2022