एकीकृत कृषि प्रणाली अपना कर किसान कमाएं ज्यादा मुनाफा
Modern Kheti - Hindi|15th Nov 2020
चूजे लाकर उनको पाल कर बेंचे तो अधिक लाभ कमा सकते हैं। मूर्गी से अंडों की कमाई अलग, मुर्गियों को बेच कर अलग व चूजों को बेच कर अलग से, इसी व्यवसाय में किसान ज्यादा मुनाफा कमा सकता है।
इंजी. राजकुमार

हरियाणा राज्य में लगभग 65-70% जनसंख्या गांवों में अपना गुजारा खेतीबाड़ी करके करती है। हरियाणा का किसान (खासकर दक्षिणी हरियाणा) बहुत मेहनत करता है लेकिन नई तकनीकी व ज्ञान के अभाव के कारण अधिक कमाई नहीं कर पाता। आज समय की मांग के अनुसार व घटते हुए जोत, साथसाथ बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण खेतीबाड़ी (परम्परागत) में बहुत अधिक बदलाव की आवश्यकता है। दक्षिणी हरियाणा में ज्यादातर किसान बाजरा, कपास, सरसों, गेहूं की फसलें उगाते हैं। इन फसलों में लागत अधिक लगने से किसानों को शुद्ध लाभ कम ही मिल पाता है।

अब मैं यहां एकीकृत कृषि प्रणाली की तकनीकी बारिकी से व्याख्या करने की कोशिश करूंगा। एकीकृत कृषि प्रणाली वह होती है जो कि एक ही छत के नीचे या एक ही खेत में सारी कृषि व्यवसायिक प्रणालियां चालित होती है। एकीकृत कृषि प्रणाली आज की मांग है, जो कि सभी किसान भाई जानते हैं कि एक या दो फसलों पर गुजारा नहीं हो सकता। यहां एक हैक्टेयर के हिसाब से एकीकृत कृषि प्रणाली का मॉडल तैयार करके किसानों को समझाया गया है कि, ये कितने ज्यादा मुनाफा दे सकता है।

एकीकृत कृषि प्रणाली में किसान भाई इस प्रकार से अपने खेत को बांट कर खेती कर सकता है:

फसलों में बाजरा, ग्वार, मूंग, कपास, सरसों, गेहूं, आदि की फसलें 1.8 हैक्टेयर जमीन में अपने हिसाब से लगा सकता है। इसी जमीन में किसान भाई किन्नू, अमरूद, नींबू, औषधीय फसलें भी कर सकता है। जब तक तीन साल का बाग न हो जाए तब तक किसान उसमें ये उपरोक्त फसलों को लगा सकता है। किसानों से अनुरोध किया जाता है कि मेहनत के साथ खेती करें तो कम मजदूरी में ज्यादा लाभ कमा सकते हैं। इसके पूरे खेत के किनारों पर नींबू के पेड़ लगाकर अधिक लाभ कमा सकता है।

Continue reading your story on the app

Continue reading your story in the magazine

MORE STORIES FROM MODERN KHETI - HINDIView All

किसानी मसलों का शाश्वत समाधान कैसे हो?

आज के भारतीय किसान संघर्ष ने दुनिया के इतिहास में विलक्षण तारीख लिख दी है। सरकार जितनी जोर के साथ इस संघर्ष को कुचलने का प्रयत्न कर रही है, इस संघर्ष की पकड़ उससे भी ज्यादा मजबूत होती जा रही है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th January 2021

किसान आंदोलन निर्णय की प्रतीक्षा में...

भारत सरकार ने इस वर्ष किसानों के नाम पर तीन कानून लागू किये हैं। पहला किसान सुशक्तिकरण और संरक्षण कीमत असवाशन और खेती सेवा समझौता कानून, दूसरा किसान उत्पादन व्यापार और व्यापार प्रोत्साहन और सुविधा कानून और तीसरा जरूरी वस्तु (संशोधन) अध्यादेश ।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th January 2021

गोभी वर्गीय फसलों में घातक काला सड़न (ब्लैक रोट) रोग व रोकथाम

पौधों की पत्तियों पर अंग्रेजी के अक्षर वी के आकार के हरितहीन, मुरझाए हुए धब्बे बनने शुरू होते हैं, जो बाद में पूरी पत्ती पर फैल जाते हैं। इस तरह से पत्ती एक और के किनारे से सूखना और मुड़ना आरंभ कर देती है और बाद में सूखकर मर जाती है। पत्तियों की नसें अंदर से काली पड़ जाती हैं। पौधों के तनों के अंदर भी काले रंग का द्रव्य दिखाई पड़ता है जो कि संक्रमण का कारण बनता है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th January 2021

आखिर क्यों है खेती कानूनों को लेकर किसानों का विरोध?

इन दिनों में किसान खेती कानूनों के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहा है, जो उसके अस्तित्व के लिए खतरा बन रहे हैं और जिन्होंने उसको शारीरिक, आर्थिक और भावनात्मिक तौर पर प्रभावित किया है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th January 2021

पशुपालक की जागरूकता समय की आवश्यकता

पशुपालक गलती करके पीड़ित पशु के मुंह में हाथ डाल बैठते हैं, जिससे वो रेबीज से पीड़ित हो जाते हैं। कुछ पशुओं में पशु धरती पर पांव मार मार के गिरने लगते हैं तथा बेकाबू हो जाते हैं। कुछ पशुओं में अधरंग हो जाता है तथा पशु की मौत भी हो जाती है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th January 2021

डेयरी पशुओं को खरीदते समय प्रजनन जांच जरूरी क्यों?

कई बार तो ऐसी स्थिति हो जाती है कि पशुपालक मंडी में से पशु को गाभिन समझ कर खरीद कर ले आते हैं, घर में नए आए पशु के पोषण का उचित ध्यान भी रखा जाता है, प्रबंधन में कोई कमी नहीं रखी जाती, पर पशु ब्याहता नहीं है।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
1st January 2021

कृषि में साइट-विशिष्ट पोषक तत्व प्रबंधन का महत्व

किसान अकसर उर्वरक को एक दर एवं एक समय पर फसलों में डालते हैं जो कि उनकी फसल की जरूरतों के अनुरूप नहीं होता है साइटविशिष्ट पोषक तत्व प्रबंधन उन सिद्धांतों और दिशानिर्देशों को प्रदान करता है

1 min read
Modern Kheti - Hindi
1st January 2021

संघर्ष 'अन्नदाता' के अधिकारों का...

संघर्ष 'अन्नदाता' के अधिकारों का...

1 min read
Modern Kheti - Hindi
1st January 2021

किसान संघर्ष एक नये युग का आगाज

कृषि कानूनों को रद्द करवाने के लिए शुरु हुआ किसान संघर्ष आज आंदोलन का एक रुप धार चुका है। युवक, बच्चे एवं बुजुर्ग काबिल-ए-तारीफ ढंग से दिल्ली में अपनी आवाज़ पहुंचाने में सफल हुए हैं।

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th December 2020

कृषि अध्यादेश बनाम किसान

अंकित यादव (शोध छात्र), देवेन्द्र सिंह (असि. प्रो.), अंशुल सिंह (शोध छात्र), सत्यवीर सिंह (शोध छात्र ), चंद्रशेखर आजाद

1 min read
Modern Kheti - Hindi
15th December 2020
RELATED STORIES

Beyond Organic: Buy Regenerative!

Improving soil health is an overlooked key for nutrient-dense food and a healthier planet. We can support farming that has this focus through the products we purchase.

7 mins read
Better Nutrition
January 2021

A Good Egg

For building a kinder, more sustainable hen-laying ecosystem.

5 mins read
Inc.
Winter 2020 - 2021

Smart Farming: The Growing Role of Precision Agriculture and Biotech

Efficiency and sustainabiility go hand-in-hand, with an added bonus: farmers improve crop yields

5 mins read
Fast Company
Winter 2020/2021

Prairie Dogs

A traditionally low-end meat gets the gourmet treatment at this McClain County ranch.

3 mins read
Oklahoma Today
March/April 2020

Tomar Says Invisible Force Wants Agitation To Go On

Agriculture minister asserts govt is sympathetic, farmers adamant

2 mins read
The Morning Standard
January 25, 2021

सुप्रीम सुनवाई: सर्वोच्च अदालत ने कहा यह कानून व्यवस्था से जुड़ा मसला ट्रैक्टर रैली को मंजूरी पर पुलिस फैसला करे:कोर्ट

समर्थन : किसान आंदोलन में महिलाओं ने संभाला मोर्चा

1 min read
Hindustan Times Hindi
January 19, 2021

पश्चिम बंगाल की तानाशाही सरकार को जनता देगी मुंहतोड़ जवाबः जगत प्रकाश नड्डा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीजगत प्रकाश नड्डा ने 9 जनवरी 2021 को पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में जगदानंदपुर (कटवा) के ग्राम मैदान में कृषक सुरक्षा ग्राम सभा को संबोधित कर राज्य भर में भाजपा द्वारा विधानसभा चुनाव से पहले आयोजित किये जाने वाले 40,000 सभाओं की शुरुआत की। इस कार्यक्रम के पश्चात् उन्होंने जगदानंदपुर गांव में घर-घर जाकर एक मुट्ठी चावल संग्रह' अभियान का शुभारंभ किया।2021 विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी राज्य के सभी 73 लाख किसानों के घर-घर पहुंचेगी और उनसे एक मुट्टी चावला का संग्रह करेगी। श्री नड्डा ने इस अभियान का शुभारंभ करने के पश्चात् जगदानंदपुर गांव में ही एक किसान परिवार के घर दोपहर का भोजन किया। इससे पहले बर्धमान के काजी नजरुल इस्लाम एयरपोर्ट पर उतरने पर पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा श्रीनड्डा का भव्य स्वागत किया गया। उन्होंने सबसे पहले कटवा के पास प्रसिद्ध श्री राधा गोबिंद मंदिर में पूजा-अर्चना की और पश्चिम बंगाल सहित पूरे भारतवर्ष की मंगलकामना का आशीर्वाद प्राप्त किया।

1 min read
Kamal Sandesh (Hindi)
January 16, 2021

सार्थक संवाद से ही निकलेगा समाधान

कृषि क्षेत्र में लाए गए तीन सुधारवादी कानूनों के विरोध में किसान इन दिनों सड़कों पर उतर आए हैं।

1 min read
Open Eye News
December 2020

किसान संगठनों ने 11 वें दौर की वार्ता से पहले खारिज किए सरकार के प्रस्ताव

किसान संगठनों ने बृहस्पतिवार को तीन कृषि कानूनों के क्रियान्वयन को डेढ़ साल तक स्थगित रखने और समाधान का रास्ता निकालने के लिए एक समिति के गठन संबंधी केन्द्र सरकार के प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

1 min read
Samagya
January 22, 2021

सीमाओं पर बढ़ाई सुरक्षा

समर्थकों के जुटने की संभावना को देखते हुए लगातार की जा रही है गश्त

1 min read
Haribhoomi Delhi
January 21, 2021