सजने लगा साइबर बाजार

Hindustan Times Hindi New Delhi|July 15, 2020

We're offering this story for free to read so that you can stay updated on the COVID-19 outbreak
सजने लगा साइबर बाजार
यह किसी खुशखबरी से कम नहीं कि जब ज्यादातर उद्योग-धंधों में गिरावट दिख रही है, तब साइबर या इंटरनेट अर्थव्यवस्था लगातार सुधार और विस्तार की ओर बढ़ रही है। एप्स के जरिए बढ़ते व्यवसाय ने बड़ी उम्मीदें जगा दी हैं। अर्थव्यवस्था में इंटरनेट व्यवसाय का हिस्सा कैसे बढ़ रहा है? कहां अभी कमी है? आगे क्या स्थिति रहेगी? इन्हीं सवालों पर केंद्रित है मिहिर दलाल की रिपोर्ट..

मार्च के आखिर में भारत में लगे पहले राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन ने इंटरनेट व्यवसायों को भी नहीं छोड़ा। अगले ही महीने, मतलब अप्रैल में इंटरनेट बाजार सिमट गया। कोरोना से पहले के व्यवसाय में 15 प्रतिशत गिरावट देखी गई, लेकिन लॉकडाउन में थोड़ी ढील के बाद मई में सुधार की गति बनने लगी। ई- कॉमर्स, ऑनलाइन फार्मेसियों और डिजिटल शिक्षा जैसे क्षेत्रों में धीमी, लेकिन स्थिर वापसी दिखाई देने लगी।

बाजार अनुसंधान और सलाहकार फर्म रेडसीयरमैनेजमेंट कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड की रिपोर्ट के अनुसार, बीते जून में इंटरनेट बाजार सालाना 45 अरब डॉलर तक पहुंच गया। हालांकि यह कोरोना से पहले के 75 अरब डॉलर के उच्च स्तर से नीचे ही था, लेकिन ध्यान रहे कि अप्रैल में यह महज 10 अरब डॉलर तक गिर गया था। आंकड़े गवाह हैं, कोरोना ने इंटरनेटव्यवसायों को बहुत प्रभावित किया है। हालांकि महामारी का असर बेहद असमान रहा है। जब यात्रा, सत्कार और परिवहन जैसे क्षेत्र लगभग ढह गए हैं, तब ऑनलाइन किराने और डिजिटल शिक्षा जैसे क्षेत्रों में अभूतपूर्व उछाल दर्ज हुई है।

लॉकडाउन के समय सबसे अधिक फायदे में रही इंटरनेट कंपनियों की पहचान करने की कोशिश में, रेडसीयरने कोविड प्रभाव सूचकांक तैयार किया है, जिसे उसने मिंट के साथ एक रिपोर्ट में साझा किया है। इस सूचकांक के अनुसार, लॉकडाउन के बड़े विजेताओं में बिगबास्केट, फ्लिपकार्ट का किराना सामान मांगने का एप सुपरमार्ट और अमेजन शामिल है। इनके बाद ग्रोफर्स, नेटफ्लिक्स वफार्मइजी का नंबर आता है। अच्छा प्रदर्शन करने वालों में पेटीएम और फोनपे भी शामिल हैं।

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

July 15, 2020