अमेरिका की चुनावी धरती पर उतरने को बेताब सितारे

Dakshin Bharat Rashtramat Chennai|July 14, 2020

अमेरिका की चुनावी धरती पर उतरने को बेताब सितारे
अमेरिका में चार महीने बाद 4 नवंबर को होने जा रहे राष्ट्रपति चुनावों के आकाश कुछ सितारे भी टिमटिमाने लगे हैं। ये चमक बना पाएँगे या टूटकर धरती पर गिरेंगे, यह कुछ समय बाद ही पता चलेगा।

अब तक मैदान में दो दलों के दो चेहरे 73 वर्षीय डोनाल्ड ट्रंप और 77 साला जो बिडेन ही ख़म ठोक रहे थे लेकिन पिछले हफ्ते रैप संगीतकार कान्ये वेस्ट ने उम्मीदवार बनने का ऐलान कर दिया जिसके बाद फ़िल्मों की मशहूर मलिका व फ़ैशन की दुनिया की सबसे दौलतमंद शख़्सियत पेरिस हिल्टन ने भी राष्ट्रपति बनने की ख़्वाहिश जता दी। इन दोनों सितारों के साथ तीसरी शख़्सियत बिना दावेदार बने ही मैदान में चमकने लगी। वह हैं वेस्ट की पत्नी और अमेरिका की मशहूर रियलिटी शो स्टार किम कादर्शियां। इनमें पेरिस का दावा भले ही गंभीरता से न लिया जाए लेकिन वेस्ट के दावे को हवा में नहीं उड़ाया जा सकता। क्योंकि वेस्ट वर्ष 2015 से राष्ट्रपति पद का दावेदार बनने की मंशा जताते रहे है और यह स्पष्ट कर चुके हैं कि 2020 में नहीं तो 2024 में इस पद को हासिल कर लेंगे। उनके दावे को इसलिए भी ख़ारिज नहीं किया जा सकता क्योंकि वे अश्वेत हैं और अमेरिका में पिछले दिनों उभरे अश्वेतों के गुस्से, जिस अभियान को ब्लैक लाइव्स मैटर कहा गया था, मद्देनज़र उनकी भूमिका दोनों ही प्रमुख उम्मीदवारों की किस्मत को प्रभावित कर सकती है। अमेरिका में अफ्रीकी-अमेरिकी मूल के 5 करोड़ से ज्यादा यानी 15 प्रतिशत लोग रहते हैं। टेस्ला के सीईओ एलन मस्क उनके समर्थन की घोषणा कर चुके हैं।

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

July 14, 2020

MORE STORIES FROM DAKSHIN BHARAT RASHTRAMAT CHENNAIView All