नहीं उतरा उड़ता पंजाब
Outlook Hindi|October 05, 2020
नहीं उतरा उड़ता पंजाब
चार हफ्ते में नशे का जाल खत्म करने का कैप्टन अमरिंदर का वादा साढ़े तीन साल में भी अधूरा
हरीश मानव

राज्य में नशा 2017 के विधानसभा चुनावों में ऐसा सियासी मुद्दा बना कि कांग्रेस को कुर्सी मिल गई और अकाली दलभाजपा गठजोड़ जमीन सूंघने लगा। लेकिन सत्ता हासिल होते ही हुक्मरानों के दिलोदिमाग से नशा उतर गया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदंर सिंह का चार हफ्ते में नशे के खात्मे का दावा भी कहीं नहीं टिका। इन साढ़े तीन वर्षों में नशा रोकने की कोशिशें तो हुईं पर खात्मे जैसा मंजर कोरोना के दौर में लगे कयूं में भी कहीं नजर नहीं आया। अगस्त के तीन दिनों में ही नशीली शराब के सेवन से तरनतारन और अमृतसर जिले में 140 जानें चली गईं। नशा तस्करों का गढ़ माने जाने वाले लुधियाना में पिछले पांच महीनों में स्पेशल टॉस्क फोर्स(एसटीएफ) ने सिर्फ 17 नशा तस्करों को गिरफ्तार किया है। कोरोना के दौर में नशा तो नहीं थमा है पर धरपकड़ कम हो गई है। राज्य के करीब 3000 से अधिक पुलिसवाले कोरोना संक्रमित हुए हैं जिसके चलते छापेमारी ढीली है। सो, इन पांच महीनों में राज्य में नशा तस्करों और नशेड़ियों की धरपकड़ का रिकॉर्ड भी राज्य पुलिस मुख्यालय में उपलब्ध नहीं है।

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories, newspapers and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

October 05, 2020