राज्यों के रसूखदार
India Today Hindi|October 28, 2020
राज्यों के रसूखदार
रसूख के मुख्यतः पांच स्रोत हैं: राजनीति और सरकार, कारोबार, मनोरंजन, धर्म और मीडिया.खेलकूद और सिनेमा-टीवी को मनोरंजन के दायरे में रख सकते हैं. लेकिन लोकतंत्र में सबसे ज्यादा रसूखदार व्यक्ति सत्ताधारी राजनेता होते हैं, जिनके पास विभिन्न नीतियों और योजनाओं के जरिए लोगों के जीवन में बदलाव लाने और उन्हें प्रभावित करने की अकूत शक्ति होती है.
मोहम्मद वकास

रसूख के मुख्यतः पांच स्रोत हैं: राजनीति और सरकार, कारोबार, मनोरंजन, धर्म और मीडिया.खेलकूद और सिनेमा-टीवी को मनोरंजन के दायरे में रख सकते हैं. लेकिन लोकतंत्र में सबसे ज्यादा रसूखदार व्यक्ति सत्ताधारी राजनेता होते हैं, जिनके पास विभिन्न नीतियों और योजनाओं के जरिए लोगों के जीवन में बदलाव लाने और उन्हें प्रभावित करने की अकूत शक्ति होती है. लोकतंत्र में नेता की शक्ति का स्रोत लोग होते हैं, जो उन्हें चुनकर भेजते हैं. नेता सरकार का गठन करने के बाद प्रशासनिक अमले में अपनी पसंद के अफसरों को चुनते हैं और उन्हें उन वादों को पूरा करने की जिम्मेदारी सौंपते हैं जिनके आधार पर उन्हें सत्ता मिलती है. नौकरशाहों की यह टीम राज्य के मामलों में सबसे प्रभावशाली होती है. अमूमन मुख्य या प्रमुख सचिव स्तर का अफसर अपनी टीम को लीड करता है और मुख्यमंत्री की योजनाओं को अमली जामा पहनाता है.

मुख्यमंत्री और उनकी टीम के कामकाज के आधार पर ही उन्हें आंका जाता है. बिहार के लोगों ने नीतीश कुमार को तीन बार सत्ता यूं ही नहीं सौंपी. नीतीश कुमार ने अपनी प्रशासनिक टीम की बदौलत सड़क-बिजली जैसी बुनियादी जरूरतों के मामले में राज्य की काया बदल दी. लेकिन राजनेताओं के सिर्फ कामकाज ही जरूरी नहीं है बल्कि उनकी सूझबूझ भी उन्हें सत्ता में बनाए रखती है. हरियाणा में मनोहरलाल खट्टर ने वक्त रहते दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी से गठजोड़ न किया होता तो शायद वे दोबारा मुख्यमंत्री नहीं बन पाते. रसूखदार बनने की ललक ही हर राजनेता को सत्ता में पहुंचने के लिए प्रेरित करती है. मध्य प्रदेश में शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व कांग्रेसी ज्योतिरादित्य सिंधिया की मदद से कमलनाथ को सत्ता से बेदखल कर दिया और एक बार फिर मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठ गए. लेकिन राजस्थान में अशोक गहलोत ने तख्तापलट की कोशिश को नाकाम कर दिया.

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories, newspapers and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

October 28, 2020