बीपी अब नहीं रहेगा कम
Anokhi|February 15, 2020
बीपी अब नहीं रहेगा कम
निम्न रक्तचाप की अनदेखी जानलेवा साबित हो सकती है, इसलिए इससे निपटने के उपायों की जानकारी जरूरी है । घरेलू नुस्खों की मदद से रक्तचाप को संतुलित करने के उपाय बता रही हैं । मोनिका अग्रवाल
मोनिका अग्रवाल

आज की इस रफ्तार भरी और अनियमित जीवनशैली में हर कोई तनाव से ग्रस्त है । इस कारण रक्तचाप में असंतुलन की शिकायत घर घर की कहानी बन चुकी है । कहीं आप निम्न रक्तचाप घर घर की कहानी बन चुकी है । कहीं आप निम्न रक्तचाप से परेशान तो नहीं हो रहीं? अगर ऐसा है तो आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है । यदि आपके बीपी की रीडिंग 90 mmhg और 60 mmhg से कम है, तो आपको हाइपोटेंशन यानी निम्न रक्तचाप की समस्या है । अकसर महिलाएं लो ब्लड प्रेशर होने की स्थिति को हल्के में ले लेती हैं, जो कि सही नहीं है । अगर रक्तचाप बहुत कम हो जाए तो ऑर्गन फेल्योर से लेकरदिल का दौरा पड़ने जैसी खतरनाक स्थिति पैदा हो सकती है ।

क्यों होता है रक्तचाप कम ?

रक्तचाप होने के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें अत्यावश्यक विटामिन जैसे बी 12 और आयरन की कमी, हार्मोन असंतुलन, डायबिटीज या लो ब्लड शुगर, हृदय की असामान्य धड़कनें, हार्ट फेल्योर, रक्त नलिकाओं का फैल जाना, स्ट्रोक, लिवर की बीमारियां, गर्भावस्था, शरीर में पानी की कमी, किसी दवा का साइड इफेक्ट, जेनेटिक कारण, तनाव या बहुत देर तक भूखा रहना आदि प्रमुख हैं । यही नहीं, निम्न रक्तचाप दिल की बीमारियों की ओर भी इशारा करता है । रक्तचाप का सीधा संबंध दिल की पंपिंग से होता है । जब धमनियों में कोई अवरोध होता है, तब ब्लड पंपिंग राणजपानपानपगरजपरापर में दिक्कत होती है और शरीर के विभिन्न अंगों तक खून सही तरीके से पहुंच नहीं पाता है।

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories, newspapers and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

February 15, 2020