मेकअप
Champak - Hindi|October First 2020
मेकअप
पिहू दीवार के पास खड़ी हो गई, लेकिन मां बहुत नाराज थीं, पिहू ने लिपस्टिक का गलत इस्तेमाल किया था और यह कोई पहली बार नहीं किया था. मां की मेकअप किट पर हमेशा पिहू की नजर रहती थी. यदि मां ने किट खुली छोड़ दी तो जो कुछ भी पिहू के हाथ लगता वह उसे खत्म कर देती. चाहे वह आई लाइनर हो या फिर लिपस्टिक. 5 साल की बच्ची मेकअप की विशेषज्ञ थी.
स्वप्निल श्रीवास्तव

पिहू अकेली लड़की थी वह स्कूल में या पड़ोस के पार्क में अपने दोस्तों से मिलती थी. बाकी समय वह अपने खिलौनों के साथ अकेले ही बिताती थी. खिलौनों का उस के पास काफी बड़ा संग्रह था. वह सौफ्ट टौय से प्यार करती थी. हर जन्मदिन या त्योहार पर वह केवल सौफ्ट टौय ही मांगती थी. उस के पास कई तरह के टेडीबियर, डौल, बंदर, कुत्ते, हाथी, खरगोश और गेंडे थे.

पिहू अपने सौफ्ट टौयज और मां की मेकअप किट के साथ समय बिताती थी. बंदर, हाथी और अन्य खिलौनों का वह हमेशा मेकअप करती थी. उन की हालत पिहू ने ऐसी कर दी थी कि कोई सोच भी नहीं सकता था कि उन का असली कलर कैसा था. गंदगी, धूल और मेकअप के कारण वे सुस्त और बेडौल दिख रहे थे. लेकिन पिहू उन से काफी प्यार करती थी और उन का खूब मेकअप करती थी.

आज मां ने पिहू को धमकी दी थी कि अगर वह लिपस्टिक लेगी तो वे उस के सभी खिलौने रद्दी वाले को दे देंगी. “पिहू, तुम ने सभी खिलौने और मेरी महंगी लिपस्टिक बरबाद कर दी है," मां ने उसे डांटते हुए कहा.

पिहू ने मदद के लिए पापा की तरफ देखा, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं कहा. लड़ाई पिहू के पसंदीदा खिलौनों और मां की लिपस्टिक के बीच थी. पिहू ने चुप रहना ही बेहतर समझा. तीनों ने चुपचाप दिन का खाना खाया और फिर मां अपने कमरे में, पापा बालकनी में और पिहू भी अपने कमरे में चली गई. उस ने दुखी मन से अपने खिलौनों को देखा और कहा, “कल रविवार है. सुबह रद्दी वाला आएगा और सारे खिलौने ले जाएगा."

यह सुन कर खिलौने भी परेशान थे. उन्होंने कुछ नहीं कहा, लेकिन दुखी हो गए.

पिहू चुपचाप पापा के पास गई और फुसफुसाते हुए बोली, “कृपया आप मां को मेरे खिलौने रद्दी वाले को न देने दें."

पापा ने कहा, “पिहू, तुम ने अपने खिलौनों को देखा है? वे पहले कैसे दिखते थे और अब कैसे दिखते हैं? इन पर तुम ने मां की लिपस्टिक को बरबाद कर दिया है. तुम जानती हो कि वे कितनी गुस्सा हैं?"

उस ने सिर हिलाते हुए कहा, "हां पापा, हां, पापा...' "

अब तक मां का गुस्सा थोड़ा शांत हो गया था. वे पिहू और पापा को बात करते हुए देख रही थीं. उन्होंने गंभीर आवाज में मुसकराते हुए कहा, “कुछ मत करो, कोई बहाना नहीं चलेगा, कल तुम्हारे सारे खिलौने रद्दी वाले को दे दिए जाएंगे."

आप की पिहू जानती थी कि यह सही समय है. उस ने बुदबुदाते हुए कहा, “मां, प्लीज, मैं मेकअप किट को अब कभी हाथ नहीं लगाऊंगी, मैं प्रौमिस करती हूं, पापा, प्लीज आप मां को बताओ.''

पापा ने मां को देखा और उन से अनुरोध किया, "अरे भई, मान जाओ, अब पिहू दोबारा ऐसा नहीं करेगी.

"मां, आज से मैं आप की लिपस्टिक, आई लाइनर और अन्य किसी भी मेकअप के सामान को कभी हाथ नहीं लगाऊंगी, मैं वादा करती हूं,” पिहू ने कहा.

मां चेहरा सख्त बनाते हुए बोली, “एक बात और सुन लो. आज के बाद किसी भी खिलौने का तुम मेकअप नहीं करोगी. क्या तुम प्रौमिस करती हो?"

articleRead

You can read up to 3 premium stories before you subscribe to Magzter GOLD

Log in, if you are already a subscriber

GoldLogo

Get unlimited access to thousands of curated premium stories, newspapers and 5,000+ magazines

READ THE ENTIRE ISSUE

October First 2020