Shikhar Varta - August 2016Add to Favorites

Get Shikhar Varta along with 5,000+ other magazines & newspapers

Try FREE for 7 days

bookLatest and past issues of 5,000+ magazines & newspapersphoneDigital Access. Cancel Anytime.familyShare with 4 family members.

1 Year$99.99

bookLatest and past issues of 5,000+ magazines & newspapersphoneDigital Access. Cancel Anytime.familyShare with 4 family members.
(Or)

Get Shikhar Varta

Buy this issue $0.99

bookAugust 2016 issue phoneDigital Access.

Subscription plans are currently unavailable for this magazine. If you are a Magzter GOLD user, you can read all the back issues with your subscription. If you are not a Magzter GOLD user, you can purchase the back issues and read them.

Gift Shikhar Varta

  • Magazine Details
  • In this issue

Magazine Description

In this issue

सत्तर साल में विकास से अछूते आदिवासी देश में सर्वाधिक उपेक्षित जनजातीय समूहों के लोगों की कुल जनसंख्या 27.68 लाख है और इन समुदायों की कुल संख्या 71 है। इनमें से 19 समुदाय तो ऐसे हैं, जिनकी जनसंख्या एक हजार से भी कम है। सर्वाधिक उपेक्षित जनजातीय समूह सात राज्यों महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखंड, ओडिशा, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में आबाद हैं। पचपन रुपये हुए पैंतालीस हज़ार, महंगाई ने छुआ आसमान सरकारें हमेशा कहती रहती हैं कि वे वेतन वृद्धि से बाज़ार में उत्पन्न अतिरिक्त तरलता को इस प्रकार नियमित करेंगी जिससे माँग भी बढ़े पर महंगाई न बढ़ पाए, पर कोई सरकार आज तक ऐसा नहीं कर पाई जिस कारण महंगाई बढ़ने लगती है। भारत में 1956 के बाद से महंगाई जो कि स्फीति में बदल जाती रही है, इसी कारण बढ़ी है। तीन महिलाएँ तय करेंगी भारत के बड़े सूबे का भविष्य देश में चुनावी सरगर्मी फिर तेज़ हो गयी है। यद्यपि सात विधानसभाओं के चुनाव अगले बरस 2017 में हैं लेकिन राजनीतिक उठा-पटक इतनी तेज़ हो गयी है मानो अगले ही माह मतदान होने वाला हो। अधिसंख्य पार्टियों की नज़र उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव पर है। वहाँ मुक़ाबला मुख्यतया चार पार्टियों के बीच है - काँग्रेस, भाजपा, सपा और बसपा सायबर ठगी, एक क्लिक और खाता खाली ! सुविधा के लिहाज से बैंकिंग सिस्टम में नित नई व्यवस्था जुड़ती है, लेकिन ये आपके लिए तभी तक सुखदायी हैं, जब तक आप सावधान हैं और ठगों के झांसे से दूर अन्यथा ठगों के शातिर तरीकों से चंद मिनटों में बैंक खातों में सेंध लग जाती है और वे लाखों रुपए उड़ा ले जाते हैं। राजनीति के बड़े-बड़े दिग्गज होंगे बाहर? जस्टिस आरएम लोढ़ा ने बीसीसीआई में सुधार संबंंधी अहम सिफारिशें दी हैं। लोढ़ा कमेटी जनवरी, 2015 में गठित हुई थी। 4 जनवरी, 2016 को सुप्रीम कोर्ट ने पैनल की सिफारिशें सार्वजनिक कीं। सुप्रीम कोर्ट ने ज्यादातर सिफारिशें मान ली हैं। बीसीसीआई में अब कोई भी मंत्री या आॅफिसर किसी पद पर काम नहीं कर सकता। साथ ही बीसीसीआई में अब एक व्यक्ति, एक पद कानून होगा।

  • cancel anytimeCancel Anytime [ No Commitments ]
  • digital onlyDigital Only