Open Eye News Magazine - March 2024Add to Favorites

Open Eye News Magazine - March 2024Add to Favorites

Go Unlimited with Magzter GOLD

Read Open Eye News along with 8,500+ other magazines & newspapers with just one subscription  View catalog

1 Month $9.99

1 Year$99.99 $49.99

$4/month

Save 50% Hurry, Offer Ends in 12 Days
(OR)

Subscribe only to Open Eye News

1 Year $1.99

Buy this issue $0.99

Gift Open Eye News

7-Day No Questions Asked Refund7-Day No Questions
Asked Refund Policy

 ⓘ

Digital Subscription.Instant Access.

Digital Subscription
Instant Access

Verified Secure Payment

Verified Secure
Payment

In this issue

March 2024

मस्ती में सरोबार होकर मनाते हैं राजस्थान में होली

होली के अवसर पर राजस्थान के विभिन्न शहरों में कई तरह के आयोजन किए जाते हैं। राजस्थान में होली के विविध रंग देखने में आते हैं। होली के दिनों में जयपुर के इष्टदेव गोविंद देव मंदिर में नजारा देखने लायक होता है।

मस्ती में सरोबार होकर मनाते हैं राजस्थान में होली

4 mins

सीएए नागरिकता देने का कानून है, न कि छीनने का

नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए को लेकर पूरे देश में एक बार फिर से चर्चा तेज हो गई है। इससे पहले भी नागरिकता संशोधन कानून को लेकर कई बार विवाद देखने को मिल चुके हैं। इसकी लंबे समय से प्रतीक्षा थी कि नागरिकता संशोधन कानून यानी सीएए कब अमल में आएगा।

सीएए नागरिकता देने का कानून है, न कि छीनने का

4 mins

गठबंधन में उलझनों से आसान होती भाजपा की राह

इंडिया गठबन्धन लगातार कमजोर होता हुआ दिखाई दे रहा है जबकि केंद्र की सत्ता पर काबिज राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन-एनडीए में नये दलों के जुड़ने की खबरों से उसके बड़े लक्ष्य के साथ जीत की राह आसान होती जा रही है। लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने अपने सहयोगी दलों के साथ 400 सीटें जीतने का लक्ष्य निश्चित किया है।

गठबंधन में उलझनों से आसान होती भाजपा की राह

5 mins

सीएए पर भ्रम की राजनीति के निहितार्थ

भारत में नागरिकता संशोधन अधिनियम के लागू होने के बाद एक बार फिर से राजनीतिक गुणा भाग का खेल प्रारंभ हो गया है। तुष्टीकरण की राजनीति करने वाले राजनीतिक दल इस मामले में पूर्व नियोजित राजनीति ही कर रहे हैं।

सीएए पर भ्रम की राजनीति के निहितार्थ

4 mins

अठारहवीं बार बिसात पर भारत का लोकतंत्र

भारत का लोकतंत्र अठारहवीं बार बिसात पर है। लोकतंत्र को जीतने के लिए बाजियां लग रहीं है। कोई जान की बाजी लगा रहा है तो कोई ईमान की बाजी लगा रहा है। किसी ने आँखें खोलकर बाजी लगाने की तैयारी की है तो कोई आँखें बंद कर ब्लाइंड खेलने पर आमादा है।

अठारहवीं बार बिसात पर भारत का लोकतंत्र

5 mins

क्या कारण है कांग्रेस की मंद होती रोशनी के?

देश की सबसे पुरानी एवं मजबूत कांग्रेस पार्टी बिखर चुकी है, पार्टी के कद्दावर, निष्ठाशील एवं मजबूत जमीनी नेता पार्टी छोड़कर अपनी सबसे बड़ी प्रतिद्वंद्वी पार्टी भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे हैं, वह भी तब जब लोकसभा चुनाव सन्निकट है।

क्या कारण है कांग्रेस की मंद होती रोशनी के?

5 mins

लोकगीतों के संग चढ़ता है होली का रंग!

होली का रंग चढ़ने लगा है, हर कोई मदमस्त होने लगा है। प्रकृति भी खिली खिली दिखने लगी, मौसम मे गर्माहट सी होने लगी पर होली पर हुड़दंग ठीक नहीं है। होली पर बदरंगता ठीक नहीं है, होली पर होली रहना जरूरी है। बुराईयों से मुक्ति पाना जरूरी है जो भी विकार बचे है जला दो होली में आत्मा का परमात्मा से योग लगा लो होली में।

लोकगीतों के संग चढ़ता है होली का रंग!

5 mins

जागरूक मतदाता के हाथ हो राजनीति की नकेल

देश के मतदाताओं के मन की बात जानने का दावा करने वालों अथवा अनुमान लगाने वालों का, मानना है कि आज की स्थिति को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि आम चुनाव में भाजपा को आसानी से बढ़त मिलने की संभावना है।

जागरूक मतदाता के हाथ हो राजनीति की नकेल

4 mins

यूपी के चुनावी चक्रव्यूह में फंसे राजनीतिक दल

उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों को लेकर पूरे देश मे कौतुहल दिखाई दे रहा है। लोकसभा सीटों के हिसाब से सबसे बड़े राज्य यूपी में मुकाबला त्रिकोणीय होता नजर आ रहा है। त्रिकोणीय मुकाबले में एक तरफ एनडीए के तले मोदी की 'सेना' जीत की हुंकार भर रही है तो दूसरी ओर राहुल गांधी के अगुवाई में 'इंडी' गठबंधन ताल ठोक रहा है।

यूपी के चुनावी चक्रव्यूह में फंसे राजनीतिक दल

4 mins

कांग्रेस से पलायन को लेकर गंभीर क्यों नहीं हैं आलाकमान?

कांग्रेस के दिग्गज एवं कद्दावर नेताओं में नाराजगी, हताशा एवं राजनीतिक नेतृत्व को लेकर निराशा के बादल लगातार मंडरा रहे हैं, पार्टी लगातार बिखराव एवं टूटन की ओर बढ़ रही है। पार्टी में उल्टी गिनती चल रहा है, लेकिन आश्चर्य इस बात को लेकर है कि इस उल्टी गिनती को रोकने के लिए कोई मजबूत उपाय नहीं हो रहे हैं।

कांग्रेस से पलायन को लेकर गंभीर क्यों नहीं हैं आलाकमान?

4 mins

चुनावी बांड मामले में 'सुप्रीम' फैसला है स्वागतयोग्य

लोकसभा चुनावों से ठीक पहले सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर आखिरकार भारतीय स्टेट बैंक ने चुनावी बॉन्ड खरीद का विस्तृत डेटा अदालत को पेश कर ही दिया। साथ ही यह भी सार्वजनिक कर दिया कि इन इलेक्टोरल बांड के माध्यम से किस राजनैतिक दल को कितने पैसे प्राप्त हुये।

चुनावी बांड मामले में 'सुप्रीम' फैसला है स्वागतयोग्य

4 mins

कांग्रेस राज में शराब के दो काउंटर, एक भूपेश और दूसरा सोनिया-राहुल का सीएम साय बोले - कांग्रेस डूबती हुई जहाज

पिछली कांग्रेस की भूपेश राज में भ्रष्टाचार और शराब घोटाले के दो काउंटर थे। एक राज्य सरकार यानी भूपेश बघेल का और दूसरा सोनिया-राहुल गांधी का। भूपेश सरकार ने करप्शन की सारी हदें पार कर दी थी।

कांग्रेस राज में शराब के दो काउंटर, एक भूपेश और दूसरा सोनिया-राहुल का सीएम साय बोले - कांग्रेस डूबती हुई जहाज

2 mins

ईमानदार राजनीति के परसेप्शन पर भ्रष्टाचार का तड़का

याद कीजिए! अप्रैल 2011 में दिल्ली के जंतर मंतर पर \"जन लोकपाल विधेयक\" के लिए महाराष्ट्र के रालेगांव सिद्धि निवासी, समाजसेवी गांधीवादी बाबूराव हजारे जो अन्ना हजारे के नाम से जाने जाते हैं, का \"इंडिया अगेंस्ट करप्शन ग्रुप\" के बैनर तले भ्रष्टाचार के विरुद्ध, गैर राजनैतिक, अहिंसा वादी आंदोलन लगभग चार महीने सफलतापूर्वक चला।

ईमानदार राजनीति के परसेप्शन पर भ्रष्टाचार का तड़का

4 mins

सांस्कृतिक स्वाभिमान और आर्थिक आत्मनिर्भरता से समृद्धता की पहल

मध्यप्रदेश में आध्यात्मिक, सांस्कृतिक, धार्मिक और ऐतिहासिक महत्व की नगरी उज्जयिनी अब आर्थिक आत्मनिर्भरता की दिशा में एक इतिहास रचने जा रही है।

सांस्कृतिक स्वाभिमान और आर्थिक आत्मनिर्भरता से समृद्धता की पहल

4 mins

कितना सार्थक है भारतीय रेल में निजी ठेकेदारों की भागीदारी

भारतीय रेल ने कुछ वर्षों पहले रेल यात्रियों को सुलभ और साफ सुथरे डिब्बों के साथ आरामदेह सफर बनाने के लिए निजी ठेकेदारों की भागीदारी से 'ऑनबोर्ड हाऊसकीपिंग सर्विसेज' शुरू की थी। माह अक्टूबर 2023 में इस सेवा में बरती जा रही लापरवाही को 'ओपन आई न्यूज' ने प्रकाशित किया था और इस मामले का अनुसरण करते हुए पत्रिका ने उच्च स्तर पर मामला पहुंचाने के साथ-साथ 'सूचना का अधिकार एक्ट' के जरिए अंदर की हकीकत जानने का प्रयास किया। आरटीआई के तहत जो दस्तावेज हासिल हुए वे काफी रोचक और आश्चर्यजनक होने के साथ-साथ ये भी सवाल खड़े करते हैं कि क्या वाकई यात्रियों के लिए बनी सेवाओं को भारतीय रेल से छीनकर निजी हाथों में सौंपने का भारतीय रेल मंत्रालय का फैसला सही था? क्या निजी हाथों में ये सेवाएं देना सार्थक सिद्ध हुआ है?

कितना सार्थक है भारतीय रेल में निजी ठेकेदारों की भागीदारी

4 mins

चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देना है स्वागतयोग्य

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरणसिंह को भारत रत्न देने की घोषणा की है, उनके नाम के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव व कृषि वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न के लिए चुना गया है, इन तीनो को ही यह सम्मान मरणोपरांत मिलेगा।

चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देना है स्वागतयोग्य

3 mins

विशेष पिछड़ी जनजातियों की बदलेगी तस्वीर

मुख्यमंत्री का पिछड़ी जनजाति के विकास पर है विशेष जोर

विशेष पिछड़ी जनजातियों की बदलेगी तस्वीर

2 mins

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हृदय में बसा है मध्यप्रदेश

चुनौतियों को संभावना में बदलने वाले राज्य का नाम मध्यप्रदेश है। यह प्रदेश तरक्की और अपेक्षाओं से भरा है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश पहले सपना था लेकिन अब हकीकत बनकर हमारी आँखों के सामने आ चुका है। प्रसंगवश है कि देश में मध्यप्रदेश की प्रशंसा होती है। स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कई बार इस राज्य की सराहना कर चुके हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हृदय में बसा है मध्यप्रदेश

3 mins

हरदा में हुए बारूदी विस्फोट से सबक लेने की जरूरत

देश के दिल मध्यप्रदेश के हरदा में हुए बारूदी विस्फोट ने पूरे सूबे को दहलाकर रख दिया है, यहां तक कि हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी तक इस हादसे से विचलित हो गए और उन्होंने भी मृतकों के आश्रितों और घायलों को आर्थिक सहायता देने की घोषणा कर दी। मध्यप्रदेश सरकार ने तो अपने हिस्से की राहत पहले ही देने का ऐलान कर दिया।

हरदा में हुए बारूदी विस्फोट से सबक लेने की जरूरत

3 mins

भारत रत्न सम्मान के साथ-साथ सियासी दाँव?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से जिन लोगों को भारत रत्न देने की घोषणा की गई है सभी लोगों ने अपने-अपने क्षेत्र में उल्लेखनीय काम किया है। लेकिन लोकसभा चुनाव के करीब होने के कारण ऐसे पुरस्कारों की घोषणा पर सवाल उठना लाजिमी है। इन पुरस्कारों के जरिए उत्तर से दक्षिण और पूरब से पश्चिम को साधने की राजनीति है।

भारत रत्न सम्मान के साथ-साथ सियासी दाँव?

4 mins

ज्ञान नेत्र से उजाला फैलाती गरिमा

कुदरत के खेल भी निराले हैं। व्यक्ति के लिये एक रास्ता बंद करती है सौ रास्ते खोल भी देती है। लौकिक दृष्टि लेती है तो अलौकिक दृष्टि दे देती है। हरियाणा के महेंद्रगढ़ जनपद के नावदी गांव की गरिमा ने इस बात को साबित किया। जब नौ साल पहले गरिमा पैदा हुई तो दृष्टिबाधित थी।

ज्ञान नेत्र से उजाला फैलाती गरिमा

3 mins

जन जातीय जन-मन कल्याण के प्रेरक प्रधानमंत्री

आज मध्यप्रदेश हर्षित है, उत्साहित है। देश के लोकप्रिय और यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी झाबुआ में आयोजित जन जातीय सम्मेलन को संबोधित करने पधार रहे हैं। आज का दिन विशिष्ट है। आज पं. दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि है जो समर्पण दिवस के रूप में मनाई जा रही है।

जन जातीय जन-मन कल्याण के प्रेरक प्रधानमंत्री

4 mins

राष्ट्र निर्माता एवं आदर्श व्यक्तित्व के पर्याय महर्षि दयानंद सरस्वती

आधुनिक हिंदू पुनर्जागरण के निर्माता, समाज सुधारक, आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानंद सरस्वती जी का जन्म 12 फरवरी, 1824 को गुजरात के टंकारा में हुआ था। उनकी माताजी का नाम यशोधाबाई और पिताजी करशन लालजी तिवारी थे।

राष्ट्र निर्माता एवं आदर्श व्यक्तित्व के पर्याय महर्षि दयानंद सरस्वती

4 mins

आरक्षण पर नेहरू और मोदी की सोच में फर्क क्या?

जिस दिन नरेन्द्र मोदी संसद के भीतर राष्ट्रपति के अभिभाषण पर बोल रहे थे, वो अपनी सरकार में महिला, नौजवान आदि के नाम पर किये गये काम गिना रहे थे। इस बीच किसी विपक्षी सांसद ने यह कहकर टोक दिया कि आपने अल्पसंख्यकों का नाम नहीं लिया। इस पर प्रधानमंत्री मोदी इतने नाराज हुए कि लगभग बिफरते हुए कहा कि कब तक समाज को टुकड़ों में बांटते रहोगे।

आरक्षण पर नेहरू और मोदी की सोच में फर्क क्या?

4 mins

माओवादी आतंक प्रभावित गांवों में लागू होगी 'नियद नेल्लानार योजना'

मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय ने आज विधानसभा में माओवादी आतंक प्रभावित क्षेत्रों के गांवों के लिए 'नियद नेल्लानार योजना' अर्थात 'आपका अच्छा गांव योजना' प्रारंभ करने की बड़ी घोषणा की। इस योजना के तहत माओवादी आतंक प्रभावित क्षेत्रों में प्रारंभ किए गए 14 ये कैंपों की 5 किलोमीटर की परिधि के गांवों में 25 से अधिक मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही इन गांवों के ग्रामीणों को शासन की 32 व्यक्ति मूलक योजनाओं का लाभ दिलाया जाएगा। नए कैम्प पुलिस का ही नहीं विकास का भी कैम्प होगा।

माओवादी आतंक प्रभावित गांवों में लागू होगी 'नियद नेल्लानार योजना'

2 mins

तेजस्वी का "तेज" क्या राष्ट्रीय राजनीति में युवा "चेतना को चैतन्य" कर नेतृत्व करेगा? - तेजस्वी का तहलका

सामने प्रत्यक्ष दिख रही निश्चित हार की मानसिकता से उबर कर, उपर उठकर और पिताजी की दाग नुमा छवि के वटवृक्ष के नीचे चलने के बावजूद उक्त घेरे (च व्यूह) से निष्कलंक बाहर निकल कर आ जाना, एक नई युवा राष्ट्रीय राजनीति को इंगित करता है कि तेजस्वी \"उथले पानी की मछली नहीं है\"। फिर \"सुशासन बाबू\" की छवि लिए राष्ट्रीय राजनीति के स्थापित क्षितिज राजनीतिक अनुभव में अपने से कई गुना बड़े, उम्र दराज, पांच बार की जीत, परन्तु कभी भी पूर्ण बहुमत प्राप्त न करने के बावजूद 17 साल में नौंवी बार बने ऐसे बिहार के ऐसे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सत्ता को चुनौती देते हुए, विधानसभा में अपने 'तेज' से तेजस्वी ने सबको 'चमका' दिया। जिस तत्परता, कौशल व शालीनता के साथ \"अपशब्दों\" (जो आज की राजनीति का अंलकारित महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है), का प्रयोग किए बिना विधानसभा में अपनी बात रख कर \"राजा दशरथ\", \"माता कैकयी\" का उल्लेख कर सामने वाले की बोलती बंद कर उन्हें भौंचक्का कर देना, तेजस्वी यादव का यह एक नया \"एंग्री मैन\" का रूप है।

तेजस्वी का "तेज" क्या राष्ट्रीय राजनीति में युवा "चेतना को चैतन्य" कर नेतृत्व करेगा? - तेजस्वी का तहलका

6 mins

वर्तमान के वर्धमान अनंत यात्रा पर

जैन संत आचार्यश्री विद्यासागर जी महाराज शनिवार-रविवार की दरमियानी रात संल्लेखना पूर्वक समाधि (देह त्याग) ले ली। छत्तीसगढ़ के डोंगरगढ़ स्थित चन्द्रगिरी तीर्थ से आध्यात्मिक चेतना का यह तेजस्वी सूर्य अपनी अनंत यात्रा के लिए प्रस्थान कर गया। संत के रूप में पूज्यश्री का संपूर्ण जीवन ही दर्शन का सुदर्शन संदर्भ है। जिनके आचरण में ही जीवों के लिए करूणा पल्लवित होती हो, जिनके विचारों में प्राणी मात्र के कल्याण का शुभ संकल्प हो, जिनकी देशना में जन-मन के अंतःकरण की जागृति का संदेश हो, ऐसी दिव्यात्मा की भू-लोक से अनुपस्थिति अनंतकाल तक अंधेरे की उपस्थिति का अनुभव करवाएगी।

वर्तमान के वर्धमान अनंत यात्रा पर

2 mins

परीक्षार्थी योद्धा की तरह, मित्रों से बढ़ता है मनोबल

आज की चुनौतियों भरे शैक्षणिक परिदृश्य में जब परीक्षाएं किसी पर्वत की ऊंची चोटी पर चढ़ाई के समान श्रमसाध्य महसूस होती हों तो तनाव से घिरना स्वाभाविक है। ऐसी चढ़ाई जिसमें हर कोई उम्मीदों की भारी गठरी लादकर चल रहा हो तब हमउम्र साथियों का सहयोग निश्चित ही यात्रा की चुनौतियां कम करने वाला होता है।

परीक्षार्थी योद्धा की तरह, मित्रों से बढ़ता है मनोबल

4 mins

क्या ऑनलाइन शॉपिंग भी असर डाल सकती है पर्यावरण पर?

आधुनिक उपभोक्तावाद को बढ़ता ऑनलाइन शॉपिंग बाजार ग्राहकों के लिए तो काफी सुविधाजनक हो रहा है, मगर यह भी एक सच्चाई है कि इस क्षेत्र में उपयोग होने वाले पैकेजिंग कॉर्टन बनाने में करोडों वृक्षों की बलि चढ़ जाती है।

क्या ऑनलाइन शॉपिंग भी असर डाल सकती है पर्यावरण पर?

2 mins

सांसों को रोकता वायु प्रदूषण

दुनिया की सबसे गंभीर समस्याओं में शामिल हो चुका 'वायु प्रदूषण' इस समय ऐसे स्तर पर पहुंच चुका है कि यह दुनिया भर के लोगों की सांसें रोकने लगा है। रिसर्च के मुताबिक पर्यावरण से जुड़े वैज्ञानिकों ने ऐसे तथ्य खोज निकाले हैं जो समय से पहले मौत का जोखिम पैदा करते हैं।

सांसों को रोकता वायु प्रदूषण

2 mins

Read all stories from Open Eye News

Open Eye News Magazine Description:

PublisherOpen Eye Media Publications

CategoryNews

LanguageHindi

FrequencyMonthly

Open Eye News is an informative political, social and investigative news magazine published from Bhopal, Madhya Pradesh, that believes in journalism for public interest. The articles and reporting from different levels given in it are fascinating, insightful and packed with unique content. It is a purely unbiased feature of local influence with a national perspective. Our targeted readers are the common man, influential people, intellectuals and decision-makers of important segments of the state. Open Eye News fully perceives the local issues and provides comprehensive coverage on the same. A unique publication printed in both English and Hindi keeping the suitability and comfort of both kinds of readers in mind.

  • cancel anytimeCancel Anytime [ No Commitments ]
  • digital onlyDigital Only
MAGZTER IN THE PRESS:View All