Business Standard - Hindi - July 23, 2024Add to Favorites

Business Standard - Hindi - July 23, 2024Add to Favorites

Go Unlimited with Magzter GOLD

Read Business Standard - Hindi along with 9,000+ other magazines & newspapers with just one subscription  View catalog

1 Month $9.99

1 Year$99.99 $49.99

$4/month

Save 50%
Hurry, Offer Ends in 11 Days
(OR)

Subscribe only to Business Standard - Hindi

1 Year $25.99

Buy this issue $0.99

Gift Business Standard - Hindi

7-Day No Questions Asked Refund7-Day No Questions
Asked Refund Policy

 ⓘ

Digital Subscription.Instant Access.

Digital Subscription
Instant Access

Verified Secure Payment

Verified Secure
Payment

In this issue

July 23, 2024

चुनौतियों के लिए सतर्क हैं: नागेश्वरन

मुख्य आर्थिक सलाहकार वी अनंत नागेश्वरन ने आज कहा कि वह भारत की वृद्धि की संभावनाओं से उत्साहित हैं मगर सतर्क भी हैं।

चुनौतियों के लिए सतर्क हैं: नागेश्वरन

2 mins

2030 तक हर साल 80 लाख नौकरियों की दरकार

नौकरियों के लिए निजी क्षेत्र का भी लेना होगा साथ

2030 तक हर साल 80 लाख नौकरियों की दरकार

3 mins

बजट में कर बदलाव पर निवेशक सतर्क

बेंचमार्क सूचकांकों में शुक्रवार के अपने रिकॉर्ड शीर्ष स्तर की तुलना में गिरावट आई है, जबकि बाजार में उतार-चढ़ाव का पैमाना इंडिया वीआईएक्स पिछले एक सप्ताह में लगभग 10 प्रतिशत बढ़ गया है।

बजट में कर बदलाव पर निवेशक सतर्क

1 min

रिलायंस-डिज्नी विलय करार पर सीसीआई की नजर

भारतीय प्रतिस्पर्द्धा आयोग (सीसीआई) ने रिलायंस इंडस्ट्रीज और वॉल्ट डिज़्नी, दोनों कंपनियों के बीच 8.5 अरब डॉलर के मीडिया संपत्ति विलय से जुड़े लगभग 100 प्रश्न पूछे हैं, जिसमें खेल अधिकारों से जुड़े ब्योरे भी शामिल हैं। दो सूत्रों ने बताया कि सीसीआई इस सौदे की जांच पर काम कर रहा है।

रिलायंस-डिज्नी विलय करार पर सीसीआई की नजर

2 mins

कोल इंडिया के खाते में आया ग्रेफाइट ब्लॉक

देश की प्रमुख कोयला खनन कंपनी, कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने महत्वपूर्ण खनिज खनन क्षेत्र में कदम रखा है।

कोल इंडिया के खाते में आया ग्रेफाइट ब्लॉक

1 min

जेएसडब्ल्यू इन्फ्रा की नजर एंड-टु-एंड लॉजिस्टक्स पर

कंपनी ने लॉजिस्टिक्स फर्म नवकार कॉरपोरेशन में बहुलांश हिस्सेदारी हासिल की है

जेएसडब्ल्यू इन्फ्रा की नजर एंड-टु-एंड लॉजिस्टक्स पर

2 mins

महंगाई का लक्ष्य तय करने में खाद्य वस्तुओं की कीमतों पर न हो विचार

आपूर्ति से जुड़ी होती हैं कीमतें

महंगाई का लक्ष्य तय करने में खाद्य वस्तुओं की कीमतों पर न हो विचार

2 mins

मध्य अवधि में 7% से अधिक दर से बढ़ सकता है भारत

व्यापक आर्थिक दृष्टिकोण

मध्य अवधि में 7% से अधिक दर से बढ़ सकता है भारत

3 mins

बहुआयामी गरीबी से बाहर निकले 13.5 करोड़ भारतीय

आर्थिक समीक्षा 2023-24 में कहा गया है कि वर्ष 2015-16 से 2019-21 के दौरान 13.5 करोड़ भारतीय बहुआयामी गरीबी से बाहर आ गए हैं। यह महत्त्वपूर्ण प्रगति राष्ट्रीय बहुआयामी गरीबी सूचकांक (एमपीआई) में तेज गिरावट से पता चली है। एमपीआई 2015-16 में 0.117 था जो 2019-21 में आधा गिरकर 0.066 हो गया।

बहुआयामी गरीबी से बाहर निकले 13.5 करोड़ भारतीय

2 mins

भारत का ओवरटाइम वेतन प्रीमियम प्रतिस्पर्धियों से ज्यादा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा आज संसद में पेश की गई आर्थिक समीक्षा 2023-24 में बताया गया कि अधिकांश देशों की तुलना में भारत में ओवरटाइम वेतन प्रीमियम अधिक है।

भारत का ओवरटाइम वेतन प्रीमियम प्रतिस्पर्धियों से ज्यादा

1 min

रोजगार सृजन पर देना होगा जोर

वित्त वर्ष 2023-24 की आर्थिक समीक्षा में कहा गया है कि भारत में निजी क्षेत्र की कंपनियों को सरकार से रोजगार सृजन की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और नई निर्माण क्षमताओं में निवेश करना चाहिए, जिससे कि देश 2047 तक विकसित भारत बनने की अपनी यात्रा पूरी कर सके।

रोजगार सृजन पर देना होगा जोर

2 mins

वास्तविक अर्थव्यवस्था के बारे में बहुत बढ़ा - चढ़ाकर दावे कर रहा बाजार

डेरिवेटिव सेगमेंट में खुदरा निवेशकों की बढ़ती दिलचस्पी को लेकर चिंता जताई गई है, जहां रोजाना औसत कारोबार लगातार 400 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा है

वास्तविक अर्थव्यवस्था के बारे में बहुत बढ़ा - चढ़ाकर दावे कर रहा बाजार

3 mins

असमानता दूर करने में अहम कर नीतियां

भारत को 10 करोड़ रुपये से ज्यादा की शुद्ध परिसंपत्ति पर 2 फीसदी कर लगाने और 33 फीसदी विरासत कर लेने की दरकार है

असमानता दूर करने में अहम कर नीतियां

3 mins

'अमृतकाल के लिए मील का पत्थर बजट'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरोप लगाया कि विपक्ष निर्वाचित सरकार की आवाज को दबाने की कर रहा कोशिश

'अमृतकाल के लिए मील का पत्थर बजट'

3 mins

Read all stories from Business Standard - Hindi

Business Standard - Hindi Newspaper Description:

PublisherBusiness Standard Private Ltd

CategoryNewspaper

LanguageHindi

FrequencyDaily

Business Standard Hindi is India's first complete Hindi Business Newspaper. Created for the discerning business reader, the newspaper brings together the most credible and quality business news content closer to you in the language of your choice.
Business Standard Hindi is best suited for Entrepreneurs, Investors, Students and individuals interested in quality Business content.

  • cancel anytimeCancel Anytime [ No Commitments ]
  • digital onlyDigital Only
MAGZTER IN THE PRESS:View All