Anusanadhan: A Multidisciplinary International Journal - Volume 2 - 2017 - Issue 1-3Add to Favorites

Get Anusanadhan: A Multidisciplinary International Journal - Volume 2 - 2017 along with 5,000+ other magazines & newspapers

Try FREE for 7 days

bookLatest and past issues of 5,000+ magazines & newspapersphoneDigital Access. Cancel Anytime.familyShare with 4 family members.

1 Year$99.99

bookLatest and past issues of 5,000+ magazines & newspapersphoneDigital Access. Cancel Anytime.familyShare with 4 family members.
(Or)

Get Anusanadhan: A Multidisciplinary International Journal - Volume 2 - 2017

Buy this issue $18.99

bookIssue 1-3 issue phoneDigital Access.

Gift Anusanadhan: A Multidisciplinary International Journal - Volume 2 - 2017

  • Journal Details
  • In this issue

Journal Description

In this issue

अनुसंधान (अंतर-अनुशासन की अंतर्राष्ट्रीय शोध पत्रिका) ज्ञान के विस्तार के साथ है कि मानव जीवन और ज्ञान विभिन्न विषयों की सीमा में सीमित नहीं है। इसका संबंध ज्ञान की विविध धाराओं और शाखाओं के रूप में व्याप्त है। सामाजिक विज्ञान के शोध क्षेत्र एवं विज्ञान के विविध शोध भी स्वभावतः एवं प्रवृत्तिगत रूप से अंतर अनुशासनात्मक हैं। मानव जीवन की व्यापकता और जटिलता को समझने के लिए शिक्षा और शोध क्षेत्र में अंतर-अनुशासनात्मक द्ष्टिकोण का विकास किया जाना अनिवार्य है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए एडीआर प्रकाशन ने हिन्दी में अंतर्राष्ट्रीय पत्रिका अनुसंधान के प्रकाशन का निश्चय किया है। Focus and Scope इस पत्रिका में निम्नांकित क्षेत्रों के अंतर अनुशासनात्मक एवं विविध विषयों केे शोध पत्र को प्रकाशन के लिए स्वीकार किया जा सकता है। 1. समाज शास्त्र, अर्थशास्त्र, राजनीति विज्ञान, मनोविज्ञान आदि, 2. भाषा, भाषा विज्ञान, तकनीकि लेखन, 3. भूगोल, भूगर्भ शास्त्र, रिमोट सेंसिंग, पर्यावरण, परिस्थितिकीय, 4. विज्ञान एवं तकनीकि, 5. कम्प्यूटर विज्ञान, सूचना प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग, 6. भौतिक विज्ञान, रसायन, गणित, मानविकीय, वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, 7. इतिहास, धर्म, दर्शन, 8. विधि, मानव अधिकार, अंतर्राष्ट्रीय विधि, श्रम विधि, 9. प्रबंधन, संगठन, 10. चिकित्सा, आयुर्वेदज्ञान, मेडीकल, प्राकृतिक चिकित्सा, योग, वैकल्पिक चिकित्सा।

  • cancel anytimeCancel Anytime [ No Commitments ]
  • digital onlyDigital Only